राजा की बहन बनना चाहती थी PM, भाई ने कहा- राजनीति से ऊपर हैं हम, हटा नाम तो बोलीं- मुझे माफ करना

थाईलैंड (Thailand) की राजकुमारी उबोलरत्ना (Ubolratana Rajakanya Sirivadhana Barnavadi) को प्रधानमंत्री पद की दौड़ के लिए सोमवार को औपचारिक रूप से अयोग्य घोषित कर दिया गया.

राजा की बहन बनना चाहती थी PM, भाई ने कहा- राजनीति से ऊपर हैं हम, हटा नाम तो बोलीं- मुझे माफ करना

राजा की बेटी बनना चाहती थी प्रधानमंत्री, पिता ने कहा- राजनीति से ऊपर हैं हम.

थाईलैंड (Thailand) की राजकुमारी उबोलरत्ना (Ubolratana Rajakanya Sirivadhana Barnavadi) को प्रधानमंत्री पद की दौड़ के लिए सोमवार को औपचारिक रूप से अयोग्य घोषित कर दिया गया जिससे प्रभावशाली शिनवात्रा वंश से जुड़ी पार्टी के साथ उनके संक्षिप्त राजनीतिक जुड़ाव पर विराम लग गया है. यह घटनाक्रम तब हुआ है जब कुछ दिन पहले राजकुमारी के भाई एवं देश के राजा ने उनकी उम्मीदवारी के खिलाफ कड़ा राजादेश जारी किया था. नाम हटने के बाद थाई राजकुमारी ने इंस्टाग्राम पर लिखा- 'मुझे माफ करना, मैं बस देश के लिए काम करना चाहती थी और थाई लोगों ने ऐसी समस्याएं पैदा की हैं जो इस युग में नहीं होनी चाहिए थीं.'

अपनी 'खास फसलों' का खुद ऑनलाइन कारोबार करता है यह किसान, 25 लाख का है टर्नओवर

देश में शुक्रवार को उसी समय से अनिश्चितता और अटकलें थीं जब थाई रक्षा पार्टी ने यह विस्फोटक घोषणा की कि राजा महा वजीरलोंगकोर्न की बड़ी बहन 24 मार्च को होने वाले प्रधानमंत्री पद के चुनाव में उसकी उम्मीदवार होंगी. लेकिन राजा ने उनकी अभूतपूर्व राजनीतिक आकांक्षाओं पर तब अंकुश लगा दिया जब राजादेश में कहा गया कि राज परिवार राजनीति से ऊपर है. आदेश में उन्होंने अपनी बहन की उम्मीदवारी को ‘‘अनुचित'' बताया. थाईलैंड में राजा के शब्दों को अंतिम माना जाता है. 

थाईलैंड में तूफान 'पाबुक' की दस्तक, भारी बारिश से बाढ़ और भूस्खलन का खतरा बढ़ा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

निर्वाचन आयोग ने सोमवार को उबोलरत्ना का नाम प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवारों की सूची में से औपचारिक रूप से हटा दिया. इसने एक बयान में कहा, 'निर्वाचन आयोग ने थाई रक्षा चार्ट पार्टी द्वारा प्रस्तावित राजकुमारी उबोलरत्ना के नाम को हटाकर आज उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी है.'

सत्तारूढ़ जुंटा नेता प्रयुत चान ओ चा के खिलाफ आसन्न तख्तापलट और सेना में शीर्ष स्तर पर बदलाव संबंधी हैशटैग थाई ट्विटर परछाया रहा. सोमवार को जुंटा प्रमुख प्रयुत को आसन्न तख्तापलट की खबरों को खारिज करना पड़ा और उन्होंने इसे 'फर्जी खबर' करार दिया.    उन्होंने गवर्नमेंट हाउस में पत्रकारों से कहा, 'अफवाह...? हम जांच कर रहे हैं. फर्जी खबर.'