NDTV Khabar

अगर ऐसा रहा तो थाईलैंड की गुफा में फंसे 12 खिलाड़ियों को निकालना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होगा

थाईलैंड में गुफा में फंसे 12 बच्चों व उनके फुटबॉल कोच को बचाने में बचावकर्मियों को प्रतिकूल मौसम का सामना करना पड़ रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अगर ऐसा रहा तो थाईलैंड की गुफा में फंसे 12 खिलाड़ियों को निकालना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होगा

थाईलैंड : गुफा में फंसे बच्चों को बचाने में मौसम बड़ी चुनौती.

थाईलैंड में गुफा में फंसे 12 बच्चों व उनके फुटबॉल कोच को बचाने में बचावकर्मियों को प्रतिकूल मौसम का सामना करना पड़ रहा है. चिआंग राय के गवर्नर नारोंगसाक ओसोथानकोर्न ने गुरुवार सुबह संवाददाता सम्मेलन में कहा,"पहले हमारे सामने समय को लेकर चुनौती थी लेकिन अब मौसम चुनौती बना हुआ है." बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, चिआंग राय क्षेत्र में जल्द ही भारी बारिश होने की संभावना है जिससे जलस्तर बढ़ सकता है, जिससे थाम लुआंग गुफा परिसर में बच्चों के लिए जोखिम बढ़ सकता है.

गुफा में जैसे ही पहुंचा कैमरा तो ये करते दिखे फंसे हुए खिलाड़ी, कही ऐसी बात

चिआंग राय में बीते कुछ दिनों में मौसम शुष्क रहा है. बचावकर्ता विचार कर रहे है कि समूह को सुरक्षित कैसे बाहर निकाला जाए. नारोंगसाक के अनुसार, अगर बारिश रुक जाती है तो संभावना है कि समूह थाम लुआंग गुफा परिसर से बाहर निकल सकता है. गुफा के प्रवेश द्वारा से लेकर जिस स्थान पर बच्चों और उनके कोच ने शरण ली है, उस स्थान तक पहुंचने में 11 घंटे का समय लगता है. इसमें छह घंटे जाने और पांच घंटे लौटन में लगते हैं. 


गुफा में जिंदा मिले 12 फुटबॉल खिलाड़ी, उनको बचाने के लिए सेना कर रही है ये काम

टिप्पणियां

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार तक लगभग 128 मिलियन लीटर पानी को पंप के जरिए बाहर निकाला गया. थाईलैंड की अंडर 16 फुटबॉल टीम के 12 बच्चे और उThailand cave rescueनके 25 वर्षीय कोच 23 जून से लापता हैं. ऐसा अनुमान है कि उन्होंने भारी बारिश की वजह से गुफा में शरण ली थी और बारिश की वजह से गुफा का प्रवेश द्वारा अवरुद्ध हो गया. इन बच्चों की उम्र 11 से 16 साल के बीच है.

(इनपुट-आईएएनएस)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement