बिल्कुल पृथ्वी जैसा ही दिखता है मंगल ग्रह का क्रेटर

बिल्कुल पृथ्वी जैसा ही दिखता है मंगल ग्रह का क्रेटर

खास बातें

  • मंगल ग्रह का प्राचीन क्रेटर, जहां नासा का 'क्यूरियॉसिटी रोवर' उतरा है, वह कैलिफोर्निया के मोजावे मरुस्थल की तरह दिखता है, और यहां भी पहाड़ हैं व धुंध छाई हुई है।
पासाडेना (अमेरिका):

लाल रंग के मंगल ग्रह का प्राचीन क्रेटर, जहां नासा का 'क्यूरियॉसिटी रोवर' उतरा है, वह कैलिफोर्निया के मोजावे मरुस्थल की तरह दिखता है, और यहां भी पहाड़ हैं व धुंध छाई हुई है। यह जानकारी नासा के वैज्ञानिकों ने दी है।

कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के मुख्य वैज्ञानिक जॉन ग्रोटजिंगर ने कहा, इसे देखकर आपको पहली बार में ही लगता है कि यह पृथ्वी जैसा भू-दृश्य है। कार के आकार वाले इस रोवर ने गाले क्रेटर के आसपास की मनोरम तस्वीरें भेजी हैं। रोवर ने यहां की ढेरों ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीरें भेजी हैं।

बताया गया है कि रोवर ने मंगल ग्रह की अब तक की सर्वश्रेष्ठ तस्वीरें भेजी हैं। नवीनतम तस्वीरों में 'क्यूरियॉसिटी रोवर' ने उत्तरी क्षितिज की तरफ मुड़ते हुए खींची गईं तस्वीरें भेजी हैं। मंगल की सतह पर गहरे निशान थे और धूल उड़ रही थी। लग रहा था कि 'क्यूरियॉसिटी रोवर' भी धूल से प्रभावित हो जाएगा, लेकिन वैज्ञानिकों ने कहा, ऐसा नहीं हुआ।

नासा के इमेजिंग वैज्ञानिक जस्टिन माकी ने कहा, हमें हल्की धूल दिखी, लेकिन घबराने की बात नहीं है। ग्रोटजिंगर ने कहा कि ये भू-दृश्य बहुत अलग तरह के हैं। इसे देखकर लगता है कि आप पृथ्वी पर ही हैं। मंगल, पृथ्वी से बहुत अलग है। यह विकिरण से प्रभावित एक ठंडा मरुस्थल है। भू-वैज्ञानिक संकेतों के अनुसार बहुत समय पहले यह ज्यादा गर्म और नमीयुक्त था। इस मिशन के उद्देश्यों में से एक उद्देश्य मंगल के रूपांतरित होने की प्रक्रिया का पता लगाना भी है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com