NDTV Khabar

रियल-लाइफ 'गेम ऑफ थ्रोन्स' के जायंट वुल्फडॉग, इनके सामने आप साबित हो जाएंगे बौने

आपको यदि एक जानवर मिले जिसका एक हिस्सा कुत्ते का और दूसरा हिस्सा भेड़िये का है. तो आप देखेंगे कि उसके स्वभाव में अलग तरह का आंतरिक संघर्ष है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रियल-लाइफ 'गेम ऑफ थ्रोन्स' के जायंट वुल्फडॉग, इनके सामने आप साबित हो जाएंगे बौने

फ्लोरिडा की शाई सेंचुरी में दो भीमकाय वुल्फडॉग हैं जिनके स्वभाव में कुत्ते और भेड़िए के गुण हैं.

सुपरहिट फेंटेसी टीवी सीरीज 'गेम ऑफ थ्रोन्स' के प्रशंसकों के लिए भयंकर भेड़ियों की सिर्फ कल्पना करने की कोई आवश्यकता नहीं है. भयंकर माने जाने वाले भेड़ियों की बहुत सी प्रजातियां अब विलुप्त होने की कगार पर हैं. भेड़ियों की जीनस कैनिस प्रजाति ही अब अस्तित्व में है. हालांकि, इस प्रजाति के ही दूर के रिश्तेदार भी दुनिया में हैं और इन्हीं में से एक है वुल्फडॉग. फ्लोरिडा के नेपल्स के शाई अभयारण्य में दो वुल्फडॉग हैं जिनके नाम युकी और मोहन हैं.

समाचार एजेंसी Ruptly के अनुसार, युकी जब अपने दोनों पैरों पर खड़ा होता है तो उसकी लंबाई करीब 6 फीट होती है. वास्तव में युकी सेंचुरी में सबसे अधिक पुष्ट और क्षमतावान वुल्फडॉग है. डीएनए परीक्षण में उसमें 87.5% ग्रे वुल्फ, 8.6% साइबेरियन हस्की और 3.9% जर्मन शेफर्ड की प्रजातियों के लक्षण मिले.

एक तस्वीर में युकी के साथ मौजूद एक महिला वायलेंटियर उसके सामने बौनी दिख रही है. इस तस्वीर ने वायरल होने के साथ सोशल मीडिया पर धूम मचा दी है.


शाई वुल्फ सेंचुरी के संस्थापक नैन्सी स्मिथ ने Ruptly को बताया कि "आपको एक ऐसा जानवर मिला है जिसका कि एक हिस्सा कुत्ते का और एक भाग भेड़िया का है. आप देखेंगे कि उसके अंदर एक संघर्ष है. कुत्ता इंसान के करीब आना चाहता है, लेकिन भेड़िया उसके इस व्यवहार को नियंत्रित करता है.''

उन्होंने बताया कि "जब मोहन की बात आती है, तो उसमें एक बहुत ही सुंदर भेड़िया है. यह बहुत बड़ा और शाही अंदाज अपनाने वाला दिखता है. लेकिन उसके पास एक कुत्ते का मस्तिष्क है, इसलिए वह उसी की तरह व्यवहार करता है.''

टिप्पणियां

सेंचुरी के अनुसार मोहन के स्वभाव में 49.4% ग्रे वुल्फ, 31% जर्मन शेफर्ड, 13.7% साइबेरियन हस्की और 5.9% अलास्का मलम्यूट है.

शाई वुल्फ सेंचुरी ऐसी 60 से अधिक प्रजातियों के जानवरों का आवास है जिनका संरक्षण किया जा रहा है. इस सेंचुरी में  वर्तमान में शुद्ध प्रजाति वाले भेड़िए, लोमड़ियां और यहां शेर जैसे अन्य जानवरों का बसेरा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement