NDTV Khabar

राजनीति में चर्चित रही केंद्रीय मंत्री की यह शानदार हवेली फिर सुर्खियों में

यूनेस्को ने केंद्रीय मंत्री विजय गोयल की दिल्ली के चांदनी चौक इलाके में स्थित धर्मपुरा हवेली को एशिया पैसेफिक हेरीटेज अवार्ड से नवाजा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजनीति में चर्चित रही केंद्रीय मंत्री की यह शानदार हवेली फिर सुर्खियों में

दिल्ली के चांदनी चौक इलाके में स्थित धर्मपुरा हवेली जिसे अब गोयल हवेली भी कहा जाता है.

खास बातें

  1. साठ कमरों की इस हवेली के पुर्ननिर्माण में छह साल लगे
  2. हवेली की मरम्मत के दौरान गोयल पर कई आरोप लगे
  3. धर्मपुरा हवेली में अब चलता है पांच सितारा होटल
नई दिल्ली: एक केंद्रीय मंत्री की हवेली दिल्ली की राजनीति में चर्चा का विषय रही है...अब यूनेस्को ने एशिया पैसेफिक हेरीटेज के अवार्ड से इस हवेली को नवाजा है. यह चांदनी चौक की तंग गलियों में स्थित धर्मपुरा हवेली है जो अब गोयल हवेली के नाम से जानी जाती है.

दो सौ साल पुरानी इस  हवेली की जर्जर हालत की फोटो को सहेजकर रखा गया है. पहले यह हवेली मुगलों के पास थी, फिर कई हाथों से होते हुए केंद्रीय मंत्री विजय कुमार गोयल के पास आई. साठ कमरों की इस हवेली के पुर्ननिर्माण में छह साल लगे. निर्माण के दौरान एक रहस्यमय खाली तिजोरी और गुप्त रास्ते भी मिले. हालांकि मंत्री जी विजय गोयल कहते हैं इस तिजोरी में उन्हें फूटी कौड़ी भी नहीं मिली.
 
dharmpura haweli vijay goel chandni chowk

लोग बताते हैं कि मंत्री जी को हवेली का शौक है वरना इसका रीस्टोरेशन करना आसान नहीं था. इस हवेली में तीन किरायेदार थे. विजय गोयल कहते हैं कि जैसे किरायेदारों से घर खाली कराया जाता है उसी तरह से खाली कराया है.
 
dharmpura haweli vijay goel chandni chowk

स्कूल आफ आर्किटेक्चर एंड प्लानिंग के डीन प्रोफेसर महावीर बताते हैं कि पुरानी हवेलियों के जीर्णोद्धार का काम कराने के लिए कारीगर नहीं मिल पाते हैं.

टिप्पणियां
VIDEO : 225 साल पुरानी दुकान बंद


धर्मपुरा की इस हवेली में अब पांच सितारा होटल चलता है. हवेली की मरम्मत कराने के दौरान विजय कुमार गोयल पर कई आरोप लगे. आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया कि इस हवेली पर करोड़ों रुपये का प्रापर्टी टैक्स था जिसे एमसीडी से माफ कराने के लिए गोयल ने अपने रसूख का इस्तेमाल किया. जवाब में विजय गोयल कहते हैं कि हमारा ही प्रापर्टी टैक्स माफ नहीं किया गया बल्कि कई हवेलियों का माफ किया गया. चांदनी चौक में ऐतिहासिक विरासत की ज्यादातर हवेलियां मकान मालिक और किरायेदारों के विवाद में फंसी हैं. लेकिन सारी हवेलियों की किस्मत धर्मपुरा हवेली जैसी नहीं है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement