पहले ऐसी दिखती थी नर्स, कोरोना के आने के बाद घंटों मास्क लगाने के बाद ऐसा हो गया चेहरा

संयुक्त राज्य अमेरिका (United States) में टेनेसी (Tennessee) की एक नर्स (Nurse) ने आठ महीने तक COVID-19 की अग्रिम पंक्तियों पर काम करने के प्रभाव और शारीरिक तनाव को उजागर करने के लिए पहले और बाद की तस्वीरों (Before And After Picture) को साझा किया है.

पहले ऐसी दिखती थी नर्स, कोरोना के आने के बाद घंटों मास्क लगाने के बाद ऐसा हो गया चेहरा

कोरोनावायरस आने के बाद ऐसे दिखने लगी नर्स, 8 महीने में हुआ ऐसा हाल

अब दस महीनों से अधिक समय से, दुनिया भर के डॉक्टर और नर्स निजी और सरकारी अस्पतालों में COVID-19 रोगियों के इलाज के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं. चौबीसों घंटे सेवा के बावजूद, रोगी की गिनती दुनिया के कई हिस्सों में बनी हुई है. दूसरे शब्दों में, डॉक्टर, नर्स और चिकित्सा सहायक घातक युद्ध से निपटने के लिए उपकरणों से लैस युद्ध के मैदान पर सैनिकों की तरह हैं.

कोरोना से बचने के लिए डॉक्टर और नर्स अस्पताल में घंटों-घंटों पीपीई किट पहने हुए हैं, जिससे उनके चेहरों पर कई बदलाव आए हैं. संयुक्त राज्य अमेरिका (United States) में टेनेसी (Tennessee) की एक नर्स (Nurse) ने आठ महीने तक COVID-19 की अग्रिम पंक्तियों पर काम करने के प्रभाव और शारीरिक तनाव को उजागर करने के लिए पहले और बाद की तस्वीरों (Before And After Picture) को साझा किया है.

टेनेसी राज्य पहले से ही 4,200 से अधिक मौतों के साथ 3,30,000 से अधिक COVID-19 मामलों को दर्ज कर चुका है. चिकित्सा पेशेवरों को रोगियों को संभालने में कठिन हो रहा है.

कैथरीन राज्य के कई चिकित्साकर्मियों में से एक हैं जो महामारी से निपटने के लिए मोर्चे पर काम कर रही हैं. उनकी पहले और अब की तस्वीर को देखकर लग सकता है कि उन पर तनाव कितना बढ़ गया है.

Newsbeep

पहली तस्वीर में 27 वर्षीय नर्स को उसके स्नातक होने के बाद मुस्कुराते हुए दिखाया गया है. वहीं दूसरी तस्वीर में पीपीई किट और चेहरे पर मास्क के निशान नजर आ रहे हैं. ट्विटर पर पहले और बाद में साझा की गई तस्वीरों ने अब तक 10,800 से अधिक रीट्वीट, 9.63 लाख प्रतिक्रियाएं, और 76,000 से अधिक टिप्पणियां की हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कैथरीन ने मेट्रो को बताया कि वह तीन 12.5 घंटे की शिफ्टों में काम कर रही हैं. न्यूज आउटलेट से बात करते हुए उन्होंने कहा, 'शनिवार की रात, मैं अपनी शिफ्ट के बीच में थी. मैं मरीज के कमरे से बाहर निकली. मैं अपनी पीपीई किट को बाहर निकाला. मेरे दिमाग में ग्रेजुएशन की तस्वीर थी. मैं दिखाना चाहती थी कि पहले और अब में मेरा चेहरा कैसा दिखने लगा.'