उत्तर प्रदेश में अब पंडित-पुरोहित हुए हाई-टेक, बुलाने के लिए वेबसाइट पर करनी होगी Booking

उत्तर प्रदेश सरकार अब संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए अपने पुरोहितों और कर्मकांड करने वालों को हाईटेक बनाने जा रही है. आने वाले समय में उनका पूरा डेटा बेवसाइट पर दर्ज होगा.

उत्तर प्रदेश में अब पंडित-पुरोहित हुए हाई-टेक, बुलाने के लिए वेबसाइट पर करनी होगी Booking

उत्तर प्रदेश सरकार अब संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए अपने पुरोहितों और कर्मकांड करने वालों को हाईटेक बनाने जा रही है. आने वाले समय में उनका पूरा डेटा बेवसाइट पर दर्ज होगा, जिससे उन्हें वहीं से बुक करके बुलाया जा सकता है. इसके लिए संस्कृत संस्थान रोजगारपरक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने जा रहा है. संस्थान के अध्यक्ष वाचस्पति मिश्रा ने आईएएनएस को बताया, "शीघ्र ही प्रदेश भर के समस्त जिलों में ज्योतिष, कर्मकांड, योग विधा का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा. इसके लिए प्रशिक्षकों के आवेदन मांगे जा रहे हैं, जिन्हें बदले में 500 रुपये रोज दिया जाएगा."

ये भी पढ़ें: TikTok Top 5: आयुष्मान खुराना ने बिना बाल के किया 'Bala Dance', हंस पड़े लोग- देखें VIDEO

उन्होंने बताया, "प्रशिक्षित होने के बाद किसी को ज्योतिषि और पंडित की अवश्यकता पड़ने पर इनका पूरा डेटा वेबसाइट पर डाला जाएगा, वहीं से उन्हें बुक किया जा सकेगा. प्रशिक्षण में किसी भी जाति व उम्र की कोई अर्हता नहीं रखी गई है. किसी भी जाति-उम्र के लोग प्रशिक्षण ले सकते हैं."

ये भी पढ़ें: कॉन्सटेबल ने डाली सोशल मीडिया पर पुलिसकर्मियों की मांगों वाली पोस्ट, MP पुलिस ने लिया ऐसा एक्शन

मिश्रा ने बताया, "तीनों ही विधाओं में 30-30 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा. तीन महीने का नि:शुल्क प्रशिक्षण पूरा होने के बाद उन्हें संस्कृत संस्थानम् की ओर से प्रमाण पत्र भी दिए जाएंगे. प्रशिक्षण के लिए आवेदन की प्रक्रिया जिले स्तर पर शुरू होगी."

ये भी पढ़ें: Viral Video: यूपी के इस बुजुर्ग ने बनाया बाइक को 'Tarzan', अंदर है ATM मशीन और आवाज से होती है स्टार्ट

उन्होंने बताया कि पहले चरण में ऐसे विशेषज्ञों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं. उप्र संस्कृत संस्थानम् की वेबसाइट पर आवेदन किए जा सकते हैं. अधिक जानकारी के लिए राजधानी के न्यू हैदराबाद स्थित कार्यालय के सहायक जनसंपर्क अधिकारी जगदानंद झा से संपर्क कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: WWE में सेथ रोलिंस ने लगाई दुश्मन के 'घर' में आग, मुक्के मार-मारकर उतारा गुस्सा, देखें VIDEO

मिश्रा ने बताया कि संस्कृत विषय में आइएएस और पीसीएस परीक्षा देने वालों को संस्थान नि:शुल्क प्रशिक्षण भी देगा. इसके लिए आवेदन मांगे गए हैं.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com