NDTV Khabar

11 प्रकाश वर्ष दूर तारे से आ रहे हैं अजीब रेडियो सिग्नल, आखिर क्या है रहस्य

अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि ये सिग्नल एक लाल छोटे तारे 'रोस 128' (जीजे 447) से आए, जो सूर्य की तुलना में करीब 2800 गुना कम रोशनी वाला है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
11 प्रकाश वर्ष दूर तारे से आ रहे हैं अजीब रेडियो सिग्नल, आखिर क्या है रहस्य

धरती से से करीब 11 प्रकाश वर्ष दूर एक तारे से रहस्यमयी रेडियो सिग्नल का पता चला है (प्रतीकात्मक चित्र)

वाशिंगटन: अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को पृथ्वी से करीब 11 प्रकाश वर्ष दूर एक छोटे और कम रोशनी वाले तारे की दिशा से रहस्यमयी रेडियो सिग्नल का पता चला है.

अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि सिग्नल एक लाल छोटे तारे 'रोस 128' (जीजे 447) से आए, जो सूर्य की तुलना में करीब 2800 गुना कम रोशनी वाला है और उसके किसी ग्रह के होने के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

यह भी पढ़ें
नासा ने खोजा आकाशगंगा का सबसे 'शैतान' तारा

देखें, बृहस्पति ग्रह पर 350 साल से जारी 'सौरमंडल के सबसे बड़े तूफान' की मनमोहक तस्वीरें...
हैकरों का दावा, अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने खोज निकाला है एलियन का अस्तित्व
दूसरे ग्रहों पर जीवन के संकेत खोजेगी नासा की नई अंतरिक्ष दूरबीन


मई में प्यूटोरिको विश्वविद्यालय के अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने विशाल रेडियो दूरबीन 'अरेसीबो ऑब्जर्वेटरी' के प्रयोग से इन 'अजीब' रेडियो सिग्नलों का पता लगाया.

वीडियो

प्यूटोरिको विश्वविद्यालय विश्वविद्यालय में वैज्ञानिक अबेल मेंदेज ने कहा कि परग्रही जीवन से सिग्नल आने की संभावनाओं को भी खारिज नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि हो सकता है कि सिग्नल अंतरिक्ष में किसी मानव निर्मित वस्तु जैसे कि उपग्रह से आए हों.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement