NDTV Khabar

'ब्लैक एंड वाइट' दिखता था, इन्होंने 50 साल की उम्र में पहली बार रंग देखे! और अब आप इन्हें देखिए...

क्रिस स्मेलसर (Chris Smelcer) कलर ब्लाइंडनेस के शिकार हैं और 50 साल की आयु में कहीं जाकर एक खास प्रकार के चश्मे को पहनकर उन्होंने पहली बार रंग देखे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'ब्लैक एंड वाइट' दिखता था, इन्होंने 50 साल की उम्र में पहली बार रंग देखे! और अब आप इन्हें देखिए...

'ब्लैंक एंड वाइट' दिखता था, इन्होंने 50 साल की उम्र में पहली बार रंग देखे! और अब आप इन्हें देखिए...

नई दिल्ली:

सामान्य जीवन में रंग सामान्य तरीके से आते हैं. हम पैदा होते हैं और इस दुनिया को रंगों से परिपूर्ण पाते हैं. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है जन्म से वर्णांधता (Colour blindness) के शिकार रहे किसी शख्स का जीवन कैसे ब्लैक एंड वाइट सरीखा बीतता होगा! क्रिस स्मेलसर (Chris Smelcer) कलर ब्लाइंडनेस के शिकार हैं और 50 साल की आयु में कहीं जाकर एक खास प्रकार के चश्मे को पहनकर उन्होंने पहली बार रंग देखे. यानी, जब उन्होंने यह चश्मा लगाया तो  उन्हें अपने आसपास की दुनिया, चीजें, आसमान और अन्य वस्तुएं और लोग वैसे ही नजर आए जैसे कि वे दिखने चाहिए...
 

 
 

क्रिस के 50वें जन्मदिन पर उनके परिवार और दोस्तों ने उन्हें Enchroma ग्लासेस तोहफे में देने का फैसला लिया. इसे लगाने के बाद उन्हें रंग बिरंगी चीजें ठीक ठीक अपने सही रंगों में दिखने लगीं. भावविह्वल हुए क्रिस इस खास प्रकार के चश्मे का डिब्बा खोलते खोलते ही भावुक हो उठे थे और रोने लगे थे. ऐनक पहनने के बाद वह समझ ही नहीं पा रहे थे कि हंसे कि रोएं.. वह हैरान थे और खुश थे. वह आंगन से बाहर भागकर खुले आसमान के नीचे आए, हरे भरे पेड़ों को देखा और आसमान की ओर सर उठाकर देखा... 'ओह माई गॉड!' बोलते हुए वह चारों ओर विस्मय से देखते रहे.

बता दें कि इनके परिवार की शख्स Delila Watson ने 4 जून को फेसबुक पर यह वीडियो यह कहते हुए शेयर किया है कि इस वीडियो को देखें और समझें और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इसलिए पहुंचाएं ताकि अधिक से अधिक लोगों को यह पता चल सके कि वर्णांधता के शिकार लोग इस चश्मे द्वारा आम लोगों की तरह रंगों को देख सकते हैं. इन खूबसूरत लम्हों को परिवार ने वीडियो में कैप्चर किया. क्रिस को बोन कैंसर भी था जोकि सर्जरी के बाद ठीक हो गया.


टिप्पणियां

वर्णांधता वह रोग है जिसमें व्यक्ति की आंखे सामान्य रोशनी में रंग देख सकने में अक्षम होती हैं. Enchroma नामक कंपनी ने विशेष प्रकार का चश्मा तैयार किया है जिसे लगाकर वर्णांधता पीड़ित रंग देख सकते हैं. 

जो कुछ हमने लिखा है, वह केवल विस्तृत व्याख्या है, इस लेख में दिया हुआ यह वीडियो देखिए और अपने जीवन के लिए शुक्राना करिए...



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement