मगरमच्छ ने किया बच्चे पर Attack तो भिड़ गई मां, ऊपर चढ़कर नाक के अंदर डाली उंगली और फिर...

जिम्बाब्वे की एक मां ने अपने बच्चे को एक मगरमच्छ से बचाया. मगरमच्छ ने बच्चे पर अटैक किया तो मां बड़े से जीव से भिड़ गई. उसने मगरमच्छ के नाक के अंदर उंगली डाल दी. जिससे मगरमच्छ को बच्चे को छोड़ना पड़ा.

मगरमच्छ ने किया बच्चे पर Attack तो भिड़ गई मां, ऊपर चढ़कर नाक के अंदर डाली उंगली और फिर...

मगरमच्छ ने किया बच्चे पर Attack तो भिड़ गई मां.

जिम्बाब्वे की एक मां ने अपने बच्चे को एक मगरमच्छ से बचाया. मगरमच्छ ने बच्चे पर अटैक किया तो मां बड़े से जीव से भिड़ गई. उसने मगरमच्छ के नाक के अंदर उंगली डाल दी. जिससे मगरमच्छ को बच्चे को छोड़ना पड़ा. द मिरर के अनुसार, यह हादसा तब हुआ जब मौरिना मुसिनीसाना ने अपने दो बच्चों को मछली पकड़ने जाते समय रंडे नदी के किनारे एक छतरी के नीचे खेलता हुआ छोड़ दिया. 30 वर्षीय महिला को जल्द की हादसे का एहसास हो गया, जब उसने अपने 3 साल के बच्चे की चीख सुनी. 

द गार्जियन के अनुसार, मौरिना नदी के किनारे वापस गईं और मगरमच्छ के ऊपर कूद गईं. फिर उसने अपनी उंगलियां मगरमच्छ की नाक में डाल दी. ऐसा इसलिए किया क्योंकि नाक बंद होने से मगरमच्छ परेशान हो जाता है. महिला ने दूसरी हाथ से बच्चे को खींच लिया. लेकिन इससे पहले की महिला बेटे को सुरक्षित खींच पाती उससे पहले ही मगरमच्छ उसका हाथ काटने में कामयाब रहा. 

बचाने के बाद बच्चे के हाथ से खून और चेहरे पर चोटें आई थीं. उसको तुरंत पास के अस्पताल में ले जाया गया. बच्चा अब पूरी तरह से ठीक हो चुका है. घटना के बारे में बात करते हुए, मौरिना, जो दक्षिणपूर्वी शहर चिरडज़ी से ताल्लुक रखती है, उन्होंने कहा: "मैंने उसकी नाक को जोर से दबाया, मैंने ये कला अपने बड़ों से सीखी थी. यदि आप मगरमच्छ की नाक को जोर से पकड़ते हैं तो वो अपनी ताकत खो देता है. इसलिए मैंने ऐसा किया. मैंने दूसरे हाथ से बच्चे को उसके जबड़ों से छुड़ा लिया.''

जिम्बाब्वे में मगरमच्छ की संख्या बहुत ज्यादा है. यहां मगरमच्छों की लंबाई करीब 20 फीट तक होती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com