NDTV Khabar

'विराट सेना' ने 22 साल बाद श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीतकर रचा इतिहास

विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने श्रीलंका को उसी की धरती पर 22 साल बाद एक बार फिर से हराकर सीरीज पर 2-1 से कब्जा कर लिया। इससे पहले मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में 1993 में भारत ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में श्रीलंका को 1-0 से हराया था, जिसमें दो टेस्ट ड्रॉ रहे थे।
'विराट सेना' ने 22 साल बाद श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीतकर रचा इतिहास
विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने श्रीलंका को उसी की धरती पर 22 साल बाद एक बार फिर से हराकर सीरीज पर 2-1 से कब्जा कर लिया। इससे पहले मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में 1993 में भारत ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में श्रीलंका को 1-0 से हराया था, जिसमें दो टेस्ट ड्रॉ रहे थे।
'विराट सेना' ने 22 साल बाद श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीतकर रचा इतिहास
विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने श्रीलंका को उसी की धरती पर 22 साल बाद एक बार फिर से हराकर सीरीज पर 2-1 से कब्जा कर लिया। इससे पहले मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में 1993 में भारत ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में श्रीलंका को 1-0 से हराया था, जिसमें दो टेस्ट ड्रॉ रहे थे।
'विराट सेना' ने 22 साल बाद श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीतकर रचा इतिहास
भारतीय क्रिकेट टीम ने श्रीलंका में 22 साल बाद ऐतिहासिक जीत हासिल की। यह जीत इस मायने में बेहद खास है कि कोहली एंड कंपनी ने 1-0 से पिछड़ने के बाद 2-1 से सीरीज जीती है।
'विराट सेना' ने 22 साल बाद श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीतकर रचा इतिहास
यह कोहली की कप्‍तानी में पहली पूर्ण सीरीज थी, इसलिए यह उनकी पहली बड़ी परीक्षा थी और खुशी की बात है कि वह इस पर पूरी तरह खरे उतरे हैं।
'विराट सेना' ने 22 साल बाद श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीतकर रचा इतिहास
भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में अपनी टीम की 2-1 की जीत को 'शानदार उपलब्धि' करार दिया क्योंकि आज वे 'इतिहास का हिस्सा' बन गए। कोहली ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान कहा, 'यहां 22 साल बाद जीतना युवा टीम के लिए शानदार उपलब्धि है।
'विराट सेना' ने 22 साल बाद श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीतकर रचा इतिहास
कप्तान ने कहा, 'यहां तक कि भुवी (भुवनेश्वर कुमार) और आखिरी दो मैच में नहीं खेलने वाले वरुण आरोन जैसे खिलाड़ी भी हमारी मदद कर रहे थे। हरभजन सिंह जैसा सीनियर खिलाड़ी भी बाहर से हमारी मदद कर रहा था। यह सामूहिक प्रयास था।

Advertisement