NDTV Khabar

तस्वीरों में देखें दो प्रधानमंत्रियों की कहानी

भारतीय राजनीति के अजातशत्रु कहे जाने वाले बीजेपी नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया. वह बीते 11 जून से एम्स में भर्ती थे. इसके बाद पीएम मोदी ने भावुक ट्वीट के जरिए पूर्व पीएम को श्रद्धांजलि दी.
तस्वीरों में देखें दो प्रधानमंत्रियों की कहानी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के तीन बार प्रधानमंत्री और देश के सबसे सम्मानित राजनेताओं में से एक अटल बिहारी वाजपेयी के प्रति भावनात्मक ट्वीट्स की श्रृंखला में शोक व्यक्त किया. इसे "एक युग का अंत" करार देते हुए, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के "अनुकरणीय नेतृत्व" ने 21 वीं सदी में एक मजबूत, समृद्ध और समावेशी भारत के लिए नींव रखी थी.
तस्वीरों में देखें दो प्रधानमंत्रियों की कहानी
अटल बिहारी वाजपेयी का ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) में निधन हुआ. डॉक्टरों की एक टीम ने 9 सप्ताह तक 93 वर्षीय वाजपेयी का इलाज किया. प्रधानमंत्री मोदी ने प्रारंभिक ट्वीट हिंदी में करते हुए लिखा, 'मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है.'
तस्वीरों में देखें दो प्रधानमंत्रियों की कहानी
प्रधानमंत्री मोदी- जिनकी सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी को भारत रत्न से सम्मानित किया और वाजपेयी के जन्मदिन 25 दिसंबर को "सुशासन दिवस" के रूप में घोषित किया- ने कहा कि तीन बार के प्रधानमंत्री की "भविष्य नीतियों" ने "भारत के प्रत्येक नागरिक के जीवन को छुआ".
तस्वीरों में देखें दो प्रधानमंत्रियों की कहानी
एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा कि अटल बिहारी वाजपेयी का निधन "व्यक्तिगत और अपरिवर्तनीय नुकसान" है. मेरे पास उनकी अनगिनत यादें हैं. वह मेरे जैसे कार्यकर्ताओं की प्रेरणा थे."
तस्वीरों में देखें दो प्रधानमंत्रियों की कहानी
11 जून को पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी को एम्स में भर्ती करवाए जाने के बाद पीएम मोदी पांच बार वहां उनके हालचाल लेने पहुंचे.

Advertisement