NDTV Khabar

Cyclone Fani ओडिशा में समुद्री तट से टकराया, कई जगह पेड़ उखड़े, कई घरों की छतें उड़ीं

चक्रवाती तूफान फानी ने ओडिशा में दस्तक दे दी है, जिसके कारण यहां के समुद्रतटीय इलाकों में जहां 175 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही हैं तो भारी बारिश भी हो रही है. जान-माल की क्षति रोकने के लिए ओडिशा सरकार ने 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया है.
Cyclone Fani ओडिशा में समुद्री तट से टकराया, कई जगह पेड़ उखड़े, कई घरों की छतें उड़ीं
सुबह पांच बजे तक फानी तूफान पुरी के समुद्र तट से करीब 80 किलोमीटर की दूरी पर था. मगर बाद में वह तीव्र गति से पुरी तट पर टकराया. ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने लोगों से अपील की है कि वे इस दौरान घरों के अंदर ही रहें. उन्होंने कहा कि लोगों की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी इंतजाम किए गए हैं. दूसरी तरफ, राज्य के मुख्य सचिव ने कहा कि तूफान के टकराने की पूरी प्रक्रिया चार-पांच घंटे की होगी. आपको बता दें कि वर्ष 1999 के सुपर साइक्लोन के बाद साइक्लोन फानी अब तक का सबसे खतरनाक तूफान माना जा रहा है
Cyclone Fani ओडिशा में समुद्री तट से टकराया, कई जगह पेड़ उखड़े, कई घरों की छतें उड़ीं
यह तस्वीरें ओडिशा के जगतसिंहपुर जिले के पारादीप की हैं, जहां चक्रवाती तूफान के मद्देनजर हाई अलर्ट जारी है.
Cyclone Fani ओडिशा में समुद्री तट से टकराया, कई जगह पेड़ उखड़े, कई घरों की छतें उड़ीं
ओडिशा के गंजम जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि चक्रवाती तूफान फानी के कहर से बचाने के लिए तीन लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित ठिकानों तक पहुंचाया गया. 541 गर्भवती महिलाओं को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.
Cyclone Fani ओडिशा में समुद्री तट से टकराया, कई जगह पेड़ उखड़े, कई घरों की छतें उड़ीं
एनडीआरएफ ने आंध्र प्रदेश राज्य में तट के किनारे कई गिरे पेड़ों की तस्वीरें साझा की हैं. एनडीआरएफ की टीमें गिरे हुए पेड़ों को हटाने की कोशिश कर रही थीं.

Advertisement