NDTV Khabar

अंतरिक्ष अभियान


'अंतरिक्ष अभियान' - 67 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • लॉकडाउन की वजह से प्रभावित हुए 10 अंतरिक्ष मिशन, गगनयान और चंद्रयान-3: ISRO प्रमुख

    लॉकडाउन की वजह से प्रभावित हुए 10 अंतरिक्ष मिशन, गगनयान और चंद्रयान-3: ISRO प्रमुख

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) प्रमुख के. सिवन ने बुधवार को कहा कि लॉकडाउन की वजह से अंतरिक्ष में मानव को भेजने और चंद्रयान-3 अभियान में देर होने के अलावा ऐसे 10 अंतरिक्ष अभियान ‘बाधित’ हुए हैं, जिनके इस साल होने की योजना थी.

  • अहमदाबाद के हैम रेडियो ऑपरेटर को SpaceX एस्ट्रोनॉट्स से मिले संकेत

    अहमदाबाद के हैम रेडियो ऑपरेटर को SpaceX एस्ट्रोनॉट्स से मिले संकेत

    भारत अपने पहले मानवयुक्त अंतरिक्ष अभियान "गगनयान" के लिए भी जमीन तैयार कर रहा है. 10,000-करोड़ की महत्वाकांक्षी परियोजना भारत की स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ के वर्ष 2022 में शुरू होने की उम्मीद है. मिशन के लिए संभावित उम्मीदवारों के रूप में चयनित चार भारतीय वायु सेना के लड़ाकू पायलटों का अभी मॉस्को में प्रशिक्षण चल रहा है.

  • ISRO के गगनयान मिशन के लिए भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों ने रूस में अपनी ट्रेनिंग दोबारा से शुरू की

    ISRO के गगनयान मिशन के लिए भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों ने रूस में अपनी ट्रेनिंग दोबारा से शुरू की

    भारत के पहले मानवयुक्त अंतरिक्ष अभियान 'गगनयान' के लिए चुने गए चार अंतरिक्ष यात्रियों ने रूस में अपने प्रशिक्षण की शुरुआत कर दी है. दरअसल कोविड 19 के चलते प्रशिक्षण को टाल दिया गया था. रसियन स्पेस कॉरपोरेशन ,रोसकोमोस, ने एक बयान में कहा कि गागरिन रिसर्च एंड टेस्ट कोस्मोनॉट ट्रेनिंग सेंटर ने 12 मई को भारतीय कोस्मोनॉट्स के प्रशिक्षण की शुरुआत कर दी है. बता दें कि ग्लावोकोस्मोस, जेएससी (जो कि स्टेट स्पेस कॉरपोरेशन रोस्कोमोस का हिस्सा है ) और इसरो के ह्यूमन स्पेस फ्लाइट सेंटर के बीच हुए अनुबंध के तहत इन अंतरिक्ष यात्रियों को प्रशिक्षत किया जा रहा है. 

  • क्या सफल होगा चंद्रयान-2 मिशन? चंद्रमा पर विक्रम लैंडर मिलने के बाद ISRO के पास क्या हैं विकल्प, 12 प्वाइंट् में पढ़ें

    क्या सफल होगा चंद्रयान-2 मिशन? चंद्रमा पर विक्रम लैंडर मिलने के बाद ISRO के पास क्या हैं विकल्प, 12 प्वाइंट् में पढ़ें

    भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो द्वारा चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर की ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ का अभियान शनिवार को अपनी तय योजना के मुताबिक पूरा नहीं हो पाया था. लैंडर को शुक्रवार देर रात लगभग एक बजकर 38 मिनट पर चांद की सतह पर उतारने की प्रक्रिया शुरू की गई, लेकिन चांद पर नीचे की तरफ आते समय 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर जमीनी स्टेशन से इसका संपर्क टूट गया.

  • मिशन चंद्रयान-2 पर आया अमेरिका का बयान, कहा- यह भारत के लिए बड़ा कदम

    मिशन चंद्रयान-2 पर आया अमेरिका का बयान, कहा- यह भारत के लिए बड़ा कदम

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के मुताबिक लैंडर ‘विक्रम’ चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव की तरफ बढ़ रहा था और उसकी सतह को छूने से महज कुछ सेकंड ही दूर था तभी 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई रह जाने पर उसका जमीन से संपर्क टूट गया. करीब एक दशक पहले इस चंद्रयान-2 मिशन की परिकल्पना की गई थी और 978 करोड़ के इस अभियान के तहत चंद्रमा के अनछुए दक्षिणी ध्रुव पर लैंड करने वाला भारत पहला देश होता.

  • Chandrayaan 2: पिछले 60 सालों में 40 फीसदी चंद्र मिशन हुए फेल, 109 में से केवल 61 को मिली सफलता

    Chandrayaan 2: पिछले 60 सालों में 40 फीसदी चंद्र मिशन हुए फेल, 109 में से केवल 61 को मिली सफलता

    अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के तथ्यों के मुताबिक पिछले छह दशक में शुरू किए गए चंद्र मिशन में सफलता का अनुपात 60 प्रतिशत रहा है. नासा के मुताबिक इस दौरान 109 चंद्र मिशन शुरू किए गए, जिसमें 61 सफल हुए और 48 असफल रहे. भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो द्वारा चंद्रमा की तहत पर चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर को उतराने का अभियान शनिवार को अपनी तय योजना के मुताबिक पूरा नहीं हो सका. लैंडर का अंतिम क्षणों में जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया. इसरो के अधिकारियों के मुताबिक चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर पूरी तरह सुरक्षित और सही है.

  • Chandrayaan-2 : किसान के बेटे और सरकारी स्कूल से पढ़े वैज्ञानिक ने दिया मिशन चंद्रयान-2 को अंजाम

    Chandrayaan-2 : किसान के बेटे और सरकारी स्कूल से पढ़े वैज्ञानिक ने दिया मिशन चंद्रयान-2 को अंजाम

    चांद पर पहुंचने के भारत के सपने के पीछे जो ख़ास लोग हैं उनमें प्रमुख हैं डॉ के सिवन जो एक किसान के बेटे और एक कामयाब ऐरोनॉटिकल इंजीनियर हैं. डॉ के सिवन इसरो के चेयरमैन होने के नाते इस अभियान की अगुवाई कर रहे हैं. उन्हें भारत का रॉकेट मैन भी कहा जाता है. अंतरिक्ष में एक साथ 104 सैटलाइट छोड़कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने में उनकी बड़ी भूमिका रही है. मिशन चंद्रयान-2 के हर पल पर नजर रख रहे के सिवन ने एनडीटीवी से कहा, मैं एक ग़रीब घर से आता हूं, मेरा परिवार किसानी करता है. मैं तमिल मीडियम में सरकारी स्कूल से पढ़ा हूं.  

  • Chandrayaan 2: अंतरिक्ष में भारत की लंबी छलांग पर कुमार विश्वास ने किया ट्वीट, कहा- विजय का रथ सुपथ पर बढ़ रहा है...

    Chandrayaan 2: अंतरिक्ष में भारत की लंबी छलांग पर कुमार विश्वास ने किया ट्वीट, कहा- विजय का रथ सुपथ पर बढ़ रहा है...

    चंद्रयान-2 मंगलवार सुबह चंद्रमा की कक्षा में स्थापित हो गया. चंद्रयान-2 (Chandrayaan 2) आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित प्रक्षेपण केंद्र से 22 जुलाई को प्रक्षेपित किया गया था. यदि यह अभियान सफल रहा तो रूस, अमेरिका और चीन के बाद भारत चंद्रमा की सतह पर रोवर पहुंचाने वाला चौथा देश बन जाएगा. लगभग 30 दिनों की यात्रा के बाद चंद्रयान 2 चांद की कक्षा में स्थापित हुआ है. 

  • Chandrayaan 2: अंतरिक्ष में भारत की एक और बड़ी उपलब्धि, चांद की कक्षा में पहुंचा चंद्रयान- 2

    Chandrayaan 2: अंतरिक्ष में भारत की एक और बड़ी उपलब्धि, चांद की कक्षा में पहुंचा चंद्रयान- 2

    यह भारत का अब तक का सबसे महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष अभियान है. गत 22 जुलाई को प्रक्षेपण यान जीएसएलवी मार्क।।।-एम 1 के जरिए प्रक्षेपित किए गए चंद्रयान-2 ने गत 14 अगस्त को पृथ्वी की कक्षा से निकलकर चंद्र पथ पर आगे बढ़ना शुरू किया था. बेंगलुरु के नजदीक ब्याललू स्थित डीप स्पेस नेटवर्क (आईडीएसएन) के एंटीना की मदद से बेंगलुरु स्थित इसरो, टेलीमेट्री, ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क (आईएसटीआरएसी) के मिशन ऑपरेशंस कांप्लेक्स (एमओएक्स) से यान की स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है. इसरो ने 14 अगस्त को कहा था कि चंद्रयान-2 की सभी प्रणालियां सामान्य ढंग से काम कर रही हैं.

  • चंद्रयान 2 पहुंचा जटिल चरण में, आज करेगा चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश

    चंद्रयान 2 पहुंचा जटिल चरण में, आज करेगा चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश

    लगभग 30 दिनों की यात्रा के बाद, भारत का चंद्रयान 2 अपने लक्ष्य के करीब है. भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो (ISRO) मंगलवार को सुबह 8:30 से 9:30 बजे के बीच चंद्रयान-2 (Chandrayaan 2) के तरल रॉकेट इंजन को दाग कर उसे चांद की कक्षा में पहुंचाने का अभियान पूरा करेगा. यह इस मिशन के सबसे मुश्किल अभियानों में से एक है क्योंकि अगर सेटेलाइट चंद्रमा पर उच्च गति वाले वेग से पहुंचता है, तो वह उसे उछाल देगा और ऐसे में वह गहरे अंतरिक्ष में खो जाएगा. लेकिन अगर वह धीमी गति से पहुंचता है तो चंद्रमा का गुरुत्वाकर्षण चंद्रयान 2 को खींच लेगा और वह सतह पर गिर सकता है.

  • भारत के सपनों को पंख लगाते हुए चंद्रमा की ओर बढ़ रहा है 'चंद्रयान-2'

    भारत के सपनों को पंख लगाते हुए चंद्रमा की ओर बढ़ रहा है 'चंद्रयान-2'

    अंतरिक्ष एजेंसी ने बताया है कि उसने भारतीय समयानुसार बुधवार तड़के दो बजकर 21 मिनट पर अभियान प्रक्रिया 'ट्रांस लूनर इंसर्शन' (टीएलआई) को अंजाम दिया. इसके बाद चंद्रयान-2 सफलतापूर्वक 'लूनर ट्रांसफर ट्राजेक्टरी' में प्रवेश कर गया. चंद्रयान-2 के 20 अगस्त को चंद्रमा की कक्षा में पहुंचने और सात सितंबर को इसके चंद्र सतह पर उतरने की उम्मीद है. 

  • ISRO को एक और कामयाबी, धरती की कक्षा से निकल आज चांद की ओर बढ़ चला चंद्रयान-2

    ISRO को एक और कामयाबी, धरती की कक्षा से निकल आज चांद की ओर बढ़ चला चंद्रयान-2

    Chandrayaan 2: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिक इसे चंद्रपथ पर डालने के लिए कल सुबह एक महत्वपूर्ण अभियान प्रक्रिया को अंजाम देंगे.

  • अक्षय कुमार ने 'चंद्रयान-2' को लेकर कही ये बात, वायरल हो गया Tweet

    अक्षय कुमार ने 'चंद्रयान-2' को लेकर कही ये बात, वायरल हो गया Tweet

    भारत अब एक बार और इतिहास रखने को तैयार है. एक बार फिर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अभियान चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) को चांद की सतह पर उतारने वाला है, इसके लिए सभी तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं. अब इसको लेकर अक्षय कुमार ने ट्वीट किया है.

  • चंद्रयान-2 का काउंटडाउन शुरू, सोमवार तड़के श्रीहरिकोटा से होगा रवाना

    चंद्रयान-2 का काउंटडाउन शुरू, सोमवार तड़के श्रीहरिकोटा से होगा रवाना

    इसरो ने पूर्व में कहा था कि चंद्र अभियान के तीनों मॉड्यूल- ऑर्बिटर, लैंडर (विक्रम) और रोवर (प्रज्ञान)- प्रक्षेपण के लिये तैयार किये जा रहे हैं और लैंडर के सितंबर की शुरुआत में चंद्रमा की सतह को छूने की उम्मीद है.

  • मंगल पर क्यूरोसिटी रोवर को मिला चिकनी मिट्टी के खनिजों का भंडार

    मंगल पर क्यूरोसिटी रोवर को मिला चिकनी मिट्टी के खनिजों का भंडार

    नासा के क्यूरोसिटी मार्स रोवर को अपने अभियान के दौरान मंगल ग्रह पर चिकनी मिट्टी के खनिजों का अब तक का सबसे बड़ा भंडार मिला है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने एक बयान में बताया है कि क्यूरोसिटी रोवर ने मंगल के दो लक्ष्य स्थलों एबेरलेडी और किलमारी से चट्टानों के नमूने लिए.

  • लोकसभा चुनाव 2019 : आखिरी रैली में एक बात का नहीं किया जिक्र, PM मोदी के प्रचार अभियान 10 बड़ी बातें

    लोकसभा चुनाव 2019 : आखिरी रैली में एक बात का नहीं किया जिक्र, PM मोदी के प्रचार अभियान 10 बड़ी बातें

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए 50 दिन चले अपने चुनाव प्रचार अभियान के तहत मध्यप्रदेश के खरगोन में आखिरी रैली की. मोदी ने अपने प्रचार अभियान की शुरुआत मेरठ से की थी. मोदी ने अपने पूरे प्रचार अभियान के दौरान कांग्रेस पर राष्ट्रवाद, सशस्त्र बलों, सीमापार हमले जैसे भावनात्मक मुद्दों को लेकर हमले किये और अपनी सरकार को ‘‘निर्णायक सरकार’’ तौर पर पेश किया. चुनावी कार्यक्रम की घोषणा के बाद 28 मार्च को मेरठ में आयोजित अपनी पहली रैली में मोदी ने कहा था, ‘‘इसी चौकीदार की सरकार थी जिसमें जमीन, आसमान और अंतरिक्ष में सर्जिकल स्ट्राइक करने की ताकत है. भारत को विकसित होना चाहिए, भारत को दुश्मनों से सुरक्षित होना चाहिए.’’    

  • चंद्रयान - 2 अभियान में 13 पेलोड के साथ 1 NASA पेलोड भी शामिल - इसरो 

    चंद्रयान - 2 अभियान में 13 पेलोड के साथ 1 NASA पेलोड भी शामिल - इसरो 

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organisation) ने कहा कि जुलाई में भेजे जाने वाले भारत के दूसरे चंद्र अभियान (Chandrayaan 2) में 13 पेलोड होंगे और अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) का भी एक उपकरण होगा. 

  • NASA की अंतरिक्ष यात्री ने बनाया रिकॉर्ड, स्पेस स्टेशन में रहेंगी सबसे ज्यादा समय तक, जानें खास बातें

    NASA की अंतरिक्ष यात्री ने बनाया रिकॉर्ड, स्पेस स्टेशन में रहेंगी सबसे ज्यादा समय तक, जानें खास बातें

    नासा (NASA) की अंतरिक्ष यात्री (Astronaut) क्रिस्टीना कोच (Christina H Koch) के अंतरिक्ष अभियान की अवधि में विस्तार होने के साथ ही अब वह अंतरिक्ष स्टेशन में 328 दिन बिताने एक नया रिकॉर्ड बनाने को तैयार हैं.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com