NDTV Khabar

अटल बिहारी वाजपेयी News in Hindi


'अटल बिहारी वाजपेयी' - 398 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कौन शामिल होगा मोदी मंत्रिमंडल में? अमित शाह और स्मृति ईरानी सहित इन 9 नामों पर कयासबाजी

    कौन शामिल होगा मोदी मंत्रिमंडल में? अमित शाह और स्मृति ईरानी सहित इन 9 नामों पर कयासबाजी

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह संभावित मंत्रियों को अपने निवास पर चाय पर बुलाया है. हालांकि नई कैबिनेट में कौन-कौन चेहरे होंगे और किस-किस को क्या ज़िम्मेदारी मिलेगी, ये अभी साफ़ नहीं है, बस कयास ही लगाए जा रहे हैं. मंत्रियों के नाम पर लगातार दो दिन तक पीएम मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बीच मैराथन बैठक हुई है.  आज शाम 7 बजे नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. इससे पहले  सुबह उन्होंने महात्मा गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी के समाधि स्थलों पर जाकर श्रद्धांजलि अर्पित की.  

  • PM पद की शपथ लेने से पहले नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी को दी श्रद्धांजलि, शहीदों को किया नमन

    PM पद की शपथ लेने से पहले नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी को दी श्रद्धांजलि, शहीदों को किया नमन

    PM Oath taking ceremony: शपथ ग्रहण से एक दिन पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मोदी को पत्र लिखकर कहा कि वह खराब सेहत के चलते नयी सरकार में मंत्री पद के इच्छुक नहीं हैं. ऐसे संकेत हैं कि नये मंत्रिमंडल में पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना जैसे राज्यों में भाजपा की बढ़ती ताकत प्रतिबिंबित हो सकती है. जहां तक सहयोगी दलों का सवाल है तो शिवसेना और जदयू को दो-दो मंत्री पद मिलने की उम्मीद है, (एक कैबिनेट और एक राज्यमंत्री) जबकि लोजपा और शिरोमणि अकाली दल को एक-एक मंत्री पद मिल सकते हैं. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को शाह से मुलाकात की और समझा जाता है कि दोनों नेताओं ने सरकार में जनता दल यू के प्रतिनिधित्व पर चर्चा की.

  • Election Results 2019: जरूरत पड़ने पर क्या नवीन पटनायक केंद्र में एनडीए को समर्थन देंगे?

    Election Results 2019: जरूरत पड़ने पर क्या नवीन पटनायक केंद्र में एनडीए को समर्थन देंगे?

    यह 1997 की बात है, ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक का अचानक हार्ट अटैक की वजह से देहांत हो गया. बीजू पटनायक जनता दल के एक लोकप्रिय नेता थे. बीजू पटनायक की मौत के बाद पार्टी को कौन आगे ले जाएगा, इसे लेकर कई सवाल खड़े किए जा रहे थे. बीजू पटनायक के बेटे नवीन पटनायक की राजनीति में कोई ज्यादा दिलचस्पी नहीं था.नवीन पटनायक की पढ़ाई ओडिशा के बाहर हुई. ओडिशी भाषा बोलने में भी उन्हें काफी दिक्कतें थीं. ऐसे में पार्टी कौन संभालेगा यह बहुत बड़ी सवाल था. अचानक नवीन पटनायक को राजनीति में आने के लिए मनाया गया और नवीन राजनीति में अपना करियर शुरू करने के लिए मान भी गए.

  • यशवंत सिन्हा का दावा: गुजरात दंगों के बाद मोदी को हटाना चाहते थे पूर्व PM अटल, आडवाणी ने धमकी देकर बचाई थी कुर्सी

    यशवंत सिन्हा का दावा: गुजरात दंगों के बाद मोदी को हटाना चाहते थे पूर्व PM अटल, आडवाणी ने धमकी देकर बचाई थी कुर्सी

    यशवंत सिन्हा ने शुक्रवार को दावा किया कि 2002 के गुजरात दंगों के बाद अटलजी गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को बर्खास्त करना चाहते थे, लेकिन इससे खफा होकर पार्टी के नंबर दो रैंक के नेता लालकृष्ण आडवाणी ने केंद्रीय गृह मंत्री के पद से त्याग पत्र देने की धमकी दे डाली, जिसके कारण मोदी की बर्खास्तगी रुक गई थी. 

  • त्रिशंकु लोकसभा की आशंका को लेकर जुगाड़ में जुटे विपक्षी दल

    त्रिशंकु लोकसभा की आशंका को लेकर जुगाड़ में जुटे विपक्षी दल

    अभी लोकसभा चुनाव के दो चरण होने बाकी हैं. 23 मई को क्या होगा, यह कोई नहीं जानता, लेकिन कई विपक्षी पार्टियों ने सरकार बनाने के लिए अभी से जुगाड़ लगाना शुरू कर दिया है, पर इन्हें एक डर है. वह यह कि त्रिशंकु लोकसभा के हालात में बीजेपी अगर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी तो कहीं राष्ट्रपति उसे सरकार बनाने के लिए न बुला लें. ऐसा 1996 में हो चुका है जब तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ शंकर दयाल शर्मा ने अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में बीजेपी को सरकार बनाने के लिए बुलाया था.

  • सनी देओल के BJP ज्वाइन करने पर बोले धर्मेंद्र- राजनीति की ABC भी नहीं जानते, लेकिन...

    सनी देओल के BJP ज्वाइन करने पर बोले धर्मेंद्र- राजनीति की ABC भी नहीं जानते, लेकिन...

    सनी देओल ने जब भाजपा ज्वाइन की थी तो धर्मेंद्र का जिक्र किया था. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था, 'जैसे मेरे पिताजी अटल बिहारी वाजपेयी के साथ जुड़े थे. मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ जुड़ने का फैसला किया है. मैं चाहता हूं कि अगले पांच साल भी पीएम मोदी रहें.' पंजाब के गुरदासपुर में सनी देओल का मुकाबला पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ से है.

  • बीजेपी के संकल्प पत्र से बाकी बड़े नेता ग़ायब क्यों?

    बीजेपी के संकल्प पत्र से बाकी बड़े नेता ग़ायब क्यों?

    11 अप्रैल को पहला मतदान है. मतदान से ठीक तीन दिन पहले भाजपा का घोषणापत्र आया है. 2014 और 2019 के घोषणापत्र के कवर को ही देखें तो बीजेपी या तो बदल गई है या फिर बीजेपी में सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी रह गए हैं. 2014 में कवर पर 11 नेता थे. इनमें से अटल बिहारी वाजपेयी और मनोहर पर्रिकर अब दुनिया में नहीं हैं. आडवाणी और मुरली मनोहन जोशी को टिकट नहीं मिला है.

  • लखनऊ के मतदाताओं को क्या इस बार रिझा पाएंगे फिल्मी सितारे, यह है बड़ी वजह...

    लखनऊ के मतदाताओं को क्या इस बार रिझा पाएंगे फिल्मी सितारे, यह है बड़ी वजह...

    जावेद की जमानत जब्त हो गई और उन्हें पांचवें स्थान पर संतोष करना पड़ा. मिस इंडिया रहीं नफीसा अली अपने सेलेब्रिटी के रुतबे के साथ 2009 में सपा के टिकट पर चुनाव में उतरीं तो उनकी सभाओं में खूब भीड़ उमड़ी, लेकिन वोट देते समय लोगों ने अटल जी की खड़ाऊ लेकर उतरे भाजपा के लालजी टंडन पर भरोसा जताया. एक कदम और पीछे चलें और वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो देश के जाने माने वकील राम जेठमलानी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अटल बिहारी वाजपेयी जैसी मजबूत चट्टान से टकराने लखनऊ की चुनावी राजनीति में उतरे थे, लेकिन उनको बाजपेयी के मुकाबले तकरीबन पौने तीन लाख वोट कम मिले.

  • जब अटल बिहारी वाजपेयी की जमानत हो गई थी जब्त

    जब अटल बिहारी वाजपेयी की जमानत हो गई थी जब्त

    भारतीय जनसंघ व भारतीय जनता पार्टी के संस्थापकों में शामिल रहे वाजपेयी इस चुनाव में पहली बार उत्तर प्रदेश की बलरामपुर लोकसभा सीट से जीत गए थे. उस समय उन्होंने बलरामपुर और मथुरा दो सीटों से लोकसभा का चुनाव लड़ा था. उस चुनाव में मथुरा में कांग्रेस और जनसंघ के उम्मीदवारों को पछाड़ते हुए स्वतंत्र रूप से लड़े राजा महेंद्र प्रताप सिंह विजयी घोषित हुए थे. इससे पहले के चुनाव में कांग्रेस के प्रो. कृष्ण चंद्र को जिताने वाली जनता ने राजा महेंद्र प्रताप को हाथों-हाथ लेते हुए जनसंघ के अटल बिहारी वाजपेयी को चौथे नंबर पर ढ़केल दिया था. तब उन्हें मात्र 10 फीसद मत मिल पाए थे.

  • 'कान खोलकर सुन लें, देश के दुश्मन भी.. हम डरने वाले नहीं, डटने वाले हैं', रुद्रपुर में PM मोदी की 10 खास बातें

    'कान खोलकर सुन लें, देश के दुश्मन भी.. हम डरने वाले नहीं, डटने वाले हैं', रुद्रपुर में PM मोदी की 10 खास बातें

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) मेरठ के बाद उत्तराखंड के रुद्रपुर में पहुंचे, जहां उन्होंने जनसभा रैली को संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा कि देश के चौकीदार को आशीर्वाद देने के लिए इतने सारे चौकीदार एक साथ निकल पड़े हैं. मेरे साथ पूरे ताकत से बोलिए, 'मैं भी चौकीदार हूं'. क्रांतिवीर को उधमसिंह को नमन करता हूं. गुरुनानक जी के कदम जहां पड़े हैं मैं वहां की धरती को प्रमाण करता हूं. उन्होंने आगे कहा, जिस उत्तराखंड का सपना हम सबके श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी ने देखा था. वो आज साकार होता दिख रहा हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं याद दिलाना चाहता हूं कि हमारे देश के वीर सैनिक को अपमानित किया जा रहा है, उन्हें नीचा दिखाने का प्रयास हो रहा है, देश के सेनानायक को अपशब्द कहे जा रहे हैं.

  • आडवाणी का टिकट काटने पर PM मोदी और अमित शाह पर शत्रुघ्न सिन्हा ने साधा निशाना- भगवान आपको माफ करे

    आडवाणी का टिकट काटने पर PM मोदी और अमित शाह पर शत्रुघ्न सिन्हा ने साधा निशाना- भगवान आपको माफ करे

    अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में डिप्टी प्राइम मिनिस्टर रहे आडवाणी (LK Advani) 75 साल से उम्र वाले पार्टी के उन 10 नेताओं में शामिल हैं, जिनका इस बार टिकट काटा गया है. आडवाणी की संसदीय सीट गांधीनगर से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को उतारा गया है. अमित शाह पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं. आडवाणी इस फैसले को लेकर काफी नाराज दिख रहे हैं, सूत्रों ने बताया, 'उन्हें टिकट न मिलना मुद्दा नहीं है, लेकिन जिस तरीके से उनका टिकट काटा गया है, वह अपमानजनक है. किसी भी बड़े नेता ने उनसे संपर्क नहीं किया.'

  • बीजेपी ने मध्य प्रदेश में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे समेत 5 मौजूदा सांसदों का टिकट काटा

    बीजेपी ने मध्य प्रदेश में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे समेत 5 मौजूदा सांसदों का टिकट काटा

    भाजपा ने जिन 5 सांसदों के टिकट काटे हैं उनमें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे अनूप मिश्रा (मुरैना), भिंड सांसद डा. भागीरथ प्रसाद, शहडोल सांसद ज्ञान सिंह, उज्जैन सांसद प्रो. चिन्तामणि मालवीय एवं बैतूल से सांसद ज्योति धुर्वे शामिल हैं.

  • राहुल गांधी ने बीजेपी को घेरते हुए पीएम मोदी से पूछा सवाल, देश को बताएं मसूद अजहर को जेल से किसने रिहा किया

    राहुल गांधी ने बीजेपी को घेरते हुए पीएम मोदी से पूछा सवाल, देश को बताएं मसूद अजहर को जेल से किसने रिहा किया

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को बताएं कि वो भाजपा की सरकार थी जिसने एक भारतीय जेल से जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को रिहा किया था. उत्तरी कर्नाटक में एक रैली को संबोधित करते हुए गांधी ने कहा, मोदी मुझे समझाएं कि किसने मसूद अजहर को भारतीय जेल से पाकिस्तान भेजा. जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी.

  • गुजरात की गांधीनगर सीट से बीजेपी को हरा पाना क्यों लगता है 'नामुमिकन'

    गुजरात की गांधीनगर सीट से बीजेपी को हरा पाना क्यों लगता है 'नामुमिकन'

    गुजरात की गांधीनगर सीट पर इस बार सबकी नजर होगी. इस सीट पर बीजेपी के इस समय सबसे बड़े वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी सांसद हैं.  बीजेपी के  लिए यह सीट हमेशा जीत की गारंटी रही है. इस सीट से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी सांसद रह चुके हैं. बीजेपी इस सीट से 1989 से जीतती चली आ रही है.

  • प्रियंका गांधी ने दिया कर्मचारियों को आश्वासन- कांग्रेस की सरकार बनी तो मिलेगी पुरानी पेंशन

    प्रियंका गांधी ने दिया कर्मचारियों को आश्वासन- कांग्रेस की सरकार बनी तो मिलेगी पुरानी पेंशन

    कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधिमण्डल से मुलाकात की. इस दौरान कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाली की मांग की. जिस पर उन्होंने इस मुद्दे को अगले लोकसभा चुनाव के लिये पार्टी के घोषणापत्र में शामिल करने का आश्वासन दिया.

  • Parliament Live Updates : राज्यसभा में आज राजनाथ सिंह पेश कर सकते हैं नागरिकता संशोधन बिल 2016

    Parliament Live Updates : राज्यसभा में आज राजनाथ सिंह पेश कर सकते हैं नागरिकता संशोधन बिल 2016

    पूर्वोत्तर के राज्यों में भारी विरोध के बीच नागरिकता संशोधन बिल 2016 आज राज्यसभा में पेश किया जाएगा. गृहमंत्री राजनाथ सिंह बिल पेश करेंगे. ये बिल पहले ही लोकसभा में पास हो चुका है. राज्यसभा में सरकार के पास बहुमत नहीं होने की वजह से बिल पास कराना आसान नहीं होगा. नॉर्थ ईस्ट में इस बिल का ज़ोरदार विरोध हो रहा है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मंगलवार को संसद भवन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के आदम कद चित्र का अनावरण करेंगे.

  • कर्नाटक में जन्मे, बिहार में जीते, कोकाकोला को भगाया, नीतीश को वाजपेयी से मिलाया, जॉर्ज फर्नांडीज से जुड़ीं 10 बातें जो जाननी चाहिए

    कर्नाटक में जन्मे, बिहार में जीते, कोकाकोला को भगाया, नीतीश को वाजपेयी से मिलाया, जॉर्ज फर्नांडीज से जुड़ीं 10 बातें जो जाननी चाहिए

    पूर्व रक्षा मंत्री एवं प्रख्यात समाजवादी नेता जॉर्ज फर्नांडिस का मंगलवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. वह 88 वर्ष के थे. उनकी सहयोगी जया जेटली ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि फर्नांडिस अल्जाइमर बीमारी से पीड़ित थे, जिस कारण वह पिछले कई वर्षों से सार्वजनिक जीवन से दूर थे. हाल में उन्हें स्वाइन फ्लू भी हो गया था. जया जेटली ने बताया उनका निधन उनके आवास पर हुआ. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राजग सरकार में फर्नांडिस रक्षा मंत्री थे, जब 1999 में भारत ने करगिल युद्ध लड़ा था. उनके कार्यकाल के दौरान ही भारत ने 1998 में पोखरण में परमाणु परीक्षण किया था. इंदिरा गांधी को मात देकर 1977 में सत्ता में आई जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार में वह उद्योग मंत्री भी रहे. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने समाजवादी नेता के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वह स्पष्टवादी तथा निडर थे जो हमेशा अपनी विचारधारा पर अडिग रहे. प्रधानमंत्री ने कहा, 'एक दूरदर्शी रेल मंत्री और एक महान रक्षा मंत्री जिसने भारत को सुरक्षित और मजबूत बनाया. अपने कई वर्षों के सार्वजनिक जीवन में वह अपनी विचारधारा पर अडिग रहे. उन्होंने आपातकाल का जोरदार विरोध किया. उनकी सादगी और विनम्रता उल्लेखनीय थी.' कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी फर्नांडीज के निधन पर शोक जाहिर कर उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना व्यक्त की. गांधी ने फेसबुक पोस्ट में कहा, ''पूर्व सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री जॉर्ज फर्नांडीज जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ.'' उन्होंने कहा, ''दुख की इस घड़ी में उनके परिवार और मित्रों के प्रति मेरी संवेदना है.''

  • रामचंद्र छत्रपति: वह पत्रकार जिसने राम रहीम के काले कारनामों का किया था भंडाफोड़, जानें पूरा केस

    रामचंद्र छत्रपति: वह पत्रकार जिसने राम रहीम के काले कारनामों का किया था भंडाफोड़, जानें पूरा केस

    छत्रपति ने अपने अखबार ‘पूरा सच’ (Poora Sach) में एक पत्र प्रकाशित किया था, जिसमें यह बताया गया था कि डेरा मुख्यालय में राम रहीम किस प्रकार महिलाओं का यौन उत्पीड़न कर रहे हैं. गुमनाम साध्वी की यह वो चिट्ठी थी, जिसमें राम रहीम के खिलाफ तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से गुहार की गई थी. इसके बाद छत्रपति को 24 अक्टूबर 2002 को गोली मार दी गई थी. गंभीर रूप से घायल होने के कारण पत्रकार की बाद में मौत हो गई थी और 2003 में इस संबंध में मामला दर्ज किया गया था. इस मामले को 2006 में सीबीआई को सौंप दिया गया था. जिसने जुलाई 2007 में आरोप पत्र दायर किया था.

«12345678»

Advertisement

अटल बिहारी वाजपेयी वीडियो

अटल बिहारी वाजपेयी से जुड़े अन्य वीडियो »

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com