NDTV Khabar

अर्थव्यवस्था पर मनमोहन सिंह


'अर्थव्यवस्था पर मनमोहन सिंह' - 57 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अशोक गहलोत ने देश की आर्थिक स्थिति पर जताई चिंता, कहा- मजबूत अर्थव्यवस्था के बिना विकास संभव नहीं है

    अशोक गहलोत ने देश की आर्थिक स्थिति पर जताई चिंता, कहा- मजबूत अर्थव्यवस्था के बिना विकास संभव नहीं है

    गहलोत ने मंगलवार को चार्टर्ड अकाउन्टेन्ट्स के राष्ट्रीय सेमिनार 'प्रकर्ष' को संबोधित करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की नीतियों को अपनाकर देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार संवेदनशील, पारदर्शी एवं जवाबदेह शासन की नीति के साथ काम कर रही है.

  • कांग्रेस ने राहुल बजाज के ‘डर का माहौल’ बयान को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा, कहा- ...तो सबसे बुरा समय आ जायेगा

    कांग्रेस ने राहुल बजाज के ‘डर का माहौल’ बयान को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा, कहा- ...तो सबसे बुरा समय आ जायेगा

    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अर्थव्यवस्था पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन में कहा था कि कई उद्योगपतियों ने उन्हें बताया हैं कि वे सरकारी अधिकारियों द्वारा उत्पीड़न के डर में रहते हैं.

  • गिरती GDP पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जताई चिंता, पीएम मोदी से की यह अपील

    गिरती GDP पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जताई चिंता, पीएम मोदी से की यह अपील

    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पीएम मोदी से समाज में 'गहराती आशंकाओं' को दूर करने और देश को फिर से एक सौहार्दपूर्ण और आपसी भरोसे वाला समाज बनाने का आग्रह किया जिससे अर्थव्यवस्था को तेज करने में मदद मिल सके.अर्थव्यवस्था पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन में अपना विदाई भाषण देते हुए सिंह ने कहा कि आपसी विश्वास हमारे सामाजिक लेनदेन का आधार है और इससे आर्थिक वृद्धि को मदद मिलती है.

  • अर्थव्यवस्था को लेकर निर्मला सीतारमण और राहुल गांधी के बीच वाक युद्ध

    अर्थव्यवस्था को लेकर निर्मला सीतारमण और राहुल गांधी के बीच वाक युद्ध

    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कल मोदी सरकार के आर्थिक लक्ष्यों को असंभव करार दिया. आज जवाब देने की बारी निर्मला सीतारमण की थी. कांग्रेस कह रही है बीजेपी सच्चाई से आंखें मूंद रही है, छह महीने में और बुरा हाल होगा. शुक्रवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने फिर दुहराया कि मनमोहन सरकार की नीतियों ने अर्थव्यवस्था को कमजोर किया. वाशिंगटन में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने एक तरह से पूर्व प्रधानमंत्री के आरोपों का जवाब दिया.

  • निर्मला सीतारमण ने कहा- किसी क्षेत्र में परेशानी है, तो सरकार को देखना होगा कि पहले क्या गलत हुआ

    निर्मला सीतारमण ने कहा- किसी क्षेत्र में परेशानी है, तो सरकार को देखना होगा कि पहले क्या गलत हुआ

    केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी खास अवधि में कब और क्या गलत हुआ, इसे याद करना बेहद जरूरी है.

  • मनमोहन सिंह बोले- 5 साल में 5 ट्रिलियन की अर्थव्यस्था असंभव; लेकिन नीति आयोग का दावा- सरकार ये लक्ष्य कर लेगी हासिल

    मनमोहन सिंह बोले- 5 साल में 5 ट्रिलियन की अर्थव्यस्था असंभव; लेकिन नीति आयोग का दावा- सरकार ये लक्ष्य कर लेगी हासिल

    नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने आर्थिक दूर होने की नई डेडलाइन दी है. एनडीटीवी से बातचीत में उन्होंने कहा कि अक्टूबर से मार्च के बीच हालात सुधरने शुरू हो जाएंगे. राजीव कुमार ने कहा, "पिछले 2-3 महीनों में जो स्टेप्स लिए गया है और पिछले 5 साल में मोदी सरकार ने जो आर्थिक सुधार किए हैं, उसकी मदद से वित्त वर्ष 2019-2020 के दूसरी छमाही में इकोनॉमी में तेजी आएगी और सुधार होगा.''

  • पति ने की अर्थव्यवस्था की आलोचना और दी सलाह तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का आया यह Reaction

    पति ने की अर्थव्यवस्था की आलोचना और दी सलाह तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का आया यह Reaction

    देश की सुस्त अर्थव्यवस्था (Indian Economy) मोदी सरकार के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है. इसे लेकर विपक्ष सरकार पर लगातार हमलावर है. आर्थिक मंदी से देश को उबारने के लिए वित्त मंत्रालय की तरफ से कई तरह की घोषणाएं भी की जा चुकी हैं. इस बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) के पति और नामी राजनीतिक अर्थशास्त्री परकला प्रभाकर (Parakala Prabhakar) ने सरकार को पीवी नरसिम्‍हा राव-मनमोहन सिंह के आर्थिक मॉडल (PV Narasimha Rao-Manmohan Singh Economic Model) को अपनाने की सलाह दी है.

  • UPA सरकार के समय भारत की अर्थव्यवस्था अमेरिकी अर्थव्यवस्था को भी चुनौती दे सकती थी : राहुल गांधी

    UPA सरकार के समय भारत की अर्थव्यवस्था अमेरिकी अर्थव्यवस्था को भी चुनौती दे सकती थी : राहुल गांधी

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र की भाजपा सरकार को अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर पूरी तरह विफल बताते हुए कहा कि यूपीए शासन के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अर्थव्यवस्था काफी मजबूत, फलने-फूलने वाली थी, जिसकी प्रशंसा समूची दुनिया में होती थी.  रविवार को महाराष्ट्र में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "यूपीए सरकार के तहत भारतीय अर्थव्यवस्था काफी मजबूत थी और यहां तक कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था को चुनौती दे सकती थी. हमारे वित्तीय प्रबंधन की प्रशंसा समूची दुनिया में होती थी। अब, मौजूदा सरकार में अर्थव्यवस्था का बुरा हाल हो गया है."

  • तिहाड़ जेल में बंद पी. चिदंबरम से सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने की मुलाकात

    तिहाड़ जेल में बंद पी. चिदंबरम से सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने की मुलाकात

    कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आज दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम से मुलाकात की है. गौरतलब है कि आईएनएक्स मीडिया मामले में पी चिंदबरम को पिछले दिनों अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. इससे पहले 18 सितंबर को कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं अहमद पटेल और गुलाम नबी आजाद ने  जेल में चिदंबरम से मुलाकात की थी. बताया जा रहा है कि इस मुलाकात में कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम भी मौजूद थे. कांग्रेस के नेताओं ने चिदंबरम के साथ कश्मीर, आगामी विधानसभा चुनावों, अर्थव्यवस्था और मौजूदा राजनीतिक हालात पर चर्चा की है. यह मुलाकात करीब आधे घंटे चली थी.

  • अर्थव्यवस्था को मंदी से बचाने के लिए वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के ये 12 फैसले क्या काफी हैं?

    अर्थव्यवस्था को मंदी से बचाने के लिए वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के ये 12 फैसले क्या काफी हैं?

    देश की अर्थव्यवस्था को मंदी से बचाने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से कोशिशें जारी हैं. पिछले 2 महीने में वित्तमंत्री की ओर से देश को मंदी की ओर जाने से रोकने के लिए कई ऐलान किए गए हैं. आज हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कारपोरेट टैक्स घटाकर 30 फीसदी से 25.2 फीसदी कर दिया है. उनके इस ऐलान के बाद शेयर बाजार में तगड़ा उछाल आया और सेंसेक्स 1600 अंकों तक पहुंच गया है. गौरतलब है कि इस तिमाही में देश की विकास दर 5 फीसदी पर पहुंच गई है. इसके बाद से मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई. पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने इसे नोटबंदी और जल्दबाजी में लागू किए जीएसटी को वजह बताया. इसके साथ ही उन्होंने मोदी सरकार को कुछ कदम उठाने की सलाह दी. मंदी का सबसे कारण घरेलू बाजार में मांग की कमी है जिसमें ग्रामीण अर्थव्यवस्था सबसे ज्यादा प्रभावित है. इसका सबसे ज्यादा असर ऑटो सेक्टर पर दिखाई दे रहा है. वहीं मैन्यूफैक्चरिंग और कृषि के हालात भी ठीक नहीं है. सरकार इससे निपटने के लिए पिछले दो महीने में कई बड़े ऐलान कर चुकी है और कई फैसले भी वापस भी लिए हैं जो बजट के दौरान किए गए थे. हालांकि उसकी ओर से अंतरराष्ट्रीय बाजार में मंदी का असर भारत पर बताया जा रहा है. इससे पहले जो ऐलान किए गए थे उसका स्वागत भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (फिक्की) ने भी किया है और उम्मीद जताई कि इससे अर्थव्यवस्था में तेजी आएगी.

  • आर्थिक मंदी पर मनमोहन सिंह ने केंद्र को घेरा, कहा- खतरनाक बात है कि सरकार को इसका अहसास नहीं

    आर्थिक मंदी पर मनमोहन सिंह ने केंद्र को घेरा, कहा- खतरनाक बात है कि सरकार को इसका अहसास नहीं

    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan singh) ने अर्थव्यवस्था में सुस्ती को लेकर चिंता जताते हुए कहा कि खतरनाक बात है कि नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi) को आर्थिक मंदी के बारे में अहसास नहीं है.

  • इकॉनमी को लेकर प्रियंका के बाद राहुल गांधी ने साधा मोदी सरकार पर निशाना- इसे ठीक करने के लिए दुष्प्रचार नहीं, ठोस नीति की जरूरत

    इकॉनमी को लेकर प्रियंका के बाद राहुल गांधी ने साधा मोदी सरकार पर निशाना- इसे ठीक करने के लिए दुष्प्रचार नहीं, ठोस नीति की जरूरत

    साथ ही राहुल गांधी ने कहा, ‘पहले स्वीकार करिये कि हमारे सामने समस्या है. यह स्वीकार करना ही अच्छी शुरुआत होगी.’ उन्होंने मनमोहन सिंह के जिस साक्षात्कार का हवाला दिया उसमें पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा है कि नोटबंदी और गलत ढंग से जीएसटी लागू करने के कारण अर्थव्यवस्था की स्थिति खराब हुई है.

  • पूर्व PM मनमोहन सिंह के कार्यक्रम में लगे 'मोदी-मोदी' के नारे

    पूर्व PM मनमोहन सिंह के कार्यक्रम में लगे 'मोदी-मोदी' के नारे

    इस कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उदारीकरण की नीतियों पर खड़े किए गए आर्थिक सुधारों को जारी रखने की जरूरत बताते हुए शनिवार को कहा कि एक सोची समझी रणनीति से ही भारत को पांच हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाया जा सकता है. पूर्व प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि गरीबी, सामाजिक असमानता, सांप्रदायिकता और धार्मिक कट्टरवाद तथा भ्रष्टाचार लोकतंत्र के समक्ष कुछ प्रमुख चुनौतियां हैं.

  • सोची समझी रणनीति से बनेगा भारत पांच हजार अरब डालर वाली अर्थव्यवस्था: मनमोहन सिंह

    सोची समझी रणनीति से बनेगा भारत पांच हजार अरब डालर वाली अर्थव्यवस्था: मनमोहन सिंह

    मनमोहन सिंह ने कहा, 'इस समय हमारी अर्थव्यवस्था धीमी पड़ती दिखती है. जीडीपी वृद्धि दर में गिरावट आ रही है. निवेश की दर स्थिर है. किसान संकट में हैं. बैंकिंग प्रणाली संकट का सामना कर रही है. बेरोजगारी बढ़ती जा रही है. भारत को पांच हजार अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए हमें एक अच्छी तरह से सोची समझी रणनीति की जरूरत है.'

  • GDP दर में गिरावट को लेकर पी चिदंबरम का मोदी सरकार पर निशाना, 5% का इशारा किया और फिर CBI...

    GDP दर में गिरावट को लेकर पी चिदंबरम का मोदी सरकार पर निशाना, 5% का इशारा किया और फिर CBI...

    पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने जीडीपी (GDP) में गिरावट के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Govt) पर निशाना साधा.

  • बीजेपी ने अर्थव्यवस्था पर मनमोहन सिंह के आरोपों को खारिज किया

    बीजेपी ने अर्थव्यवस्था पर मनमोहन सिंह के आरोपों को खारिज किया

    बीजेपी ने देश की आर्थिक हालत बेहद चिंताजनक होने के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए सोमवार को कहा कि सिंह के दस साल के शासनकाल में भ्रष्टाचार, भाई भतीजावाद के कारण अर्थव्यवस्था को गहरा नुकसान पहुंचा है जबकि मोदी सरकार के दौरान अर्थव्यवस्था का आधार मजबूत हुआ और दुनिया में देश की विश्वसनीयता कायम हुई है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने संवाददाताओं से कहा कि मनमोहन सिंह पूर्व प्रधानमंत्री है और उम्र में भी काफी बड़े हैं. लेकिन 10 वर्षो के दीर्घ कालखंड में उनके प्रधानमंत्रित्व काल में भारत को जिस प्रकार आगे बढ़ना चाहिए था, वह आगे नहीं बढ़ा. उन्होंने आरोप लगाया कि वह (मनमोहन सिंह) थे तो अर्थशास्त्री, लेकिन जिन लोगों ने पर्दे के पीछे से उन्हें निर्देशित किया, उससे भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद को बढ़ावा मिला और अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा.

  • TOP 5 NEWS: आरिफ मोहम्मद खान बने केरल के राज्यपाल, मनमोहन सिंह ने गिरती अर्थव्यवस्था पर जताई चिंता

    TOP 5 NEWS: आरिफ मोहम्मद खान बने केरल के राज्यपाल, मनमोहन सिंह ने गिरती अर्थव्यवस्था पर जताई चिंता

    कई दिनों से चर्चा में चल रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री आरिफ मोहम्मद खान को मोदी सरकार ने केरल का राज्यपाल बनाया गया है. उनके अलावा  4 और राज्यों के राज्यपाल बदले गए हैं.  

  • देश आर्थिक मंदी की ओर, सरकार राजनीतिक बदले का एजेंडा छोड़े और अर्थव्यवस्था संभाले : मनमोहन सिंह

    देश आर्थिक मंदी की ओर, सरकार राजनीतिक बदले का एजेंडा छोड़े और अर्थव्यवस्था संभाले : मनमोहन सिंह

    पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन  सिंह ने देश की गिरती अर्थव्यवस्था पर चिंता जताई है. उन्होंने कहा कि पिछली तिमाही में जीडीपी का 5 फीसदी पर आना दिखाता है कि अर्थव्यवस्था एक गहरी मंदी की ओर जा रही है. उन्होंने कहा कि भारत के पास तेजी से विकास दर की संभावना है लेकिन मोदी सरकार के कुप्रंधन की वजह से मंदी आई है. उन्होंने कहा कि यह परेशान करने वाला है कि मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में ग्रोथ रेट 0.6 फीसदी पर लड़खड़ा रही है. इससे साफ जाहिर होता है कि हमारी अर्थव्यवस्था अभी तक नोटबंदी और हड़बड़ी में लागू किए गए जीएसटी से उबर नहीं पाई है. 

Advertisement