NDTV Khabar

आम चुनाव 2019


'आम चुनाव 2019' - 609 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • केन्द्रीय मंत्री गडकरी के निर्वाचन को मिली चुनौती, इस नेता ने खटखटाया कोर्ट का दरवाजा

    केन्द्रीय मंत्री गडकरी के निर्वाचन को मिली चुनौती, इस नेता ने खटखटाया कोर्ट का दरवाजा

    गडकरी ने 2019 के आम चुनाव में पटोले को 1.97 लाख मतों के अंतर से शिकस्त दी थी. पटोले के वकील वैभव जगताप ने बताया कि उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ के समक्ष शुक्रवार को याचिका दाखिल करके गडकरी के निर्वाचन को चुनौती दी गई है. 

  • Budget 2019: गांव, गरीब और किसान को क्या मिला? इंडस्‍ट्रीज, रेलवे को सरकार ने क्‍या दिया?

    Budget 2019: गांव, गरीब और किसान को क्या मिला? इंडस्‍ट्रीज, रेलवे को सरकार ने क्‍या दिया?

    उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने अपने पहले कार्यकाल में ‘न्यू इंडिया’ के लिए काम शुरू कर दिया था. अब इन कार्यों की रफ्तार बढ़ाई जाएगी और आगे चलकर लालफीताशाही को और कम किया जाएगा. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने पहले कार्यकाल में काम को पूरा कर के दिखाया. आम चुनाव में मतदाताओं ने काम करने वाली सरकार के पक्ष में मत दिया. उन्होंने कहा कि हमने अंतिम छोर तक कार्यक्रमों को पहुंचाया. अब कार्यक्रमों की रफ्तार तेज की जाएगी और लालफीताशाही को कम किया जाएगा. बजट में देश के तीन करोड़ खुदरा कारोबारियों और दुकानदारों को पेंशन सुविधा के तहत लाने की भी घोषणा की गयी है.

  • बजट 2019 : प्रचंड बहुमत पाने वाली मोदी सरकार ने आपको क्या दिया, 10 प्वाइंट्स में जानें

    बजट 2019 :  प्रचंड बहुमत पाने वाली मोदी सरकार ने आपको क्या दिया, 10 प्वाइंट्स में जानें

    'गांव, गरीब और किसान' तथा प्रत्येक नागरिक के जीवन को ‘‘अधिक सरल’’ बनाने के लक्ष्य के साथ पेश किए गये नरेन्द्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले आम बजट में अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए मीडिया, विमानन, बीमा और एकल ब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के नियमों को उदार करने का प्रस्ताव किया गया है. बजट में बुनियादी आर्थिक और सामाजिक ढांच के विस्तार, पेंशन और वीमा योजाओं को आम लोगों की पहुंच के दायरे में ले जाने के विभिन्न प्रस्ताव किए गए है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुक्रवार को लोकसभा में पेश किए गए वित्त वर्ष 2019-20 के अपने बजट भाषण में कहा कि हालिया चुनाव में एक आकर्षक और मजबूत भारत की उम्मीदें लहरा रही थीं और लोगों ने एक ऐसी सरकार को चुना जिसने काम कर के दिखाया. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने अपने पहले कार्यकाल में ‘न्यू इंडिया’ के लिए काम शुरू कर दिया था. अब इन कार्यों की रफ्तार बढ़ाई जाएगी और आगे चलकर लालफीताशाही को और कम किया जाएगा. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने पहले कार्यकाल में काम को पूरा कर के दिखाया. आम चुनाव में मतदाताओं ने काम करने वाली सरकार के पक्ष में मत दिया.

  • गृहमंत्री अमित शाह ने बताया भारतीय जनता पार्टी की पहुंच बढ़ाने का तरीका, कही ये बात

    गृहमंत्री अमित शाह ने बताया भारतीय जनता पार्टी की पहुंच बढ़ाने का तरीका, कही ये बात

    शाह ने यहां पार्टी मुख्यालय में सदस्यता अभियान के लिए पार्टी के प्रदेश प्रभारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुये कहा कि भाजपा 2019 के आम चुनाव में भले ही जीत हासिल कर ली हो लेकिन पार्टी को सर्वश्रेष्ठ स्थिति में पहुंचना अभी बाकी है.

  • देश का नया बजट तैयार करने में जुटी मोदी सरकार, फिर मिलेगी आयकर में छूट? 

    देश का नया बजट तैयार करने में जुटी मोदी सरकार, फिर मिलेगी आयकर में छूट? 

    इस दौरान में विजिटर्स व मीडिया को वित्त मंत्रालय में आने की मनाही होगी. याद हो कि मोदी सरकार ने इस साल आम चुनावों से पहले एक फरवरी को अंतरिम बजट पेश किया गया था. उस दौरान सरकार को सीमित अवधि के लिए खर्चों की राशि मंजूर की गयी थी. अब लोकसभा चुनाव के बाद देश में नई सरकार संभाल चुकी है.

  • लोकसभा चुनाव में करारी हार से आम आदमी पार्टी हुई सतर्क, अब पूरी दिल्ली कैबिनेट जनता के बीच

    लोकसभा चुनाव में करारी हार से आम आदमी पार्टी हुई सतर्क, अब पूरी दिल्ली कैबिनेट जनता के बीच

    दिल्ली में लोकसभा चुनाव (Loksabha Election Results 2019) में करारी हार से शायद आम आदमी पार्टी (AAP) ने सबक लिया है. यही कारण है कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) के सभी मंत्री अब जनता के बीच जाकर लोगों से संवाद करेंगे और लोगों की समस्याएं भी सुलझाएंगे.

  • मोदी सरकार के गठन के लिए केंद्र बना अमित शाह का घर, 10 बातों में जानें अब तक क्या हुआ

    मोदी सरकार के गठन के लिए केंद्र बना अमित शाह का घर, 10 बातों में जानें अब तक क्या हुआ

    राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में आयोजित होने वाले इस शपथ ग्रहण समारोह में करीब आठ हजार मेहमानों के शामिल होने की उम्मीद है. वर्ष 2014 में मोदी को तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दक्षेस देशों के प्रमुखों सहित 3500 से अधिक मेहमानों की मौजूदगी में शपथ दिलायी थी. राष्ट्रपति भवन के प्रांगण का इस्तेमाल आम तौर पर देश की यात्रा पर आने वाले राष्ट्राध्यक्षों एवं सरकार के प्रमुखों के औपचारिक स्वागत के लिए किया जाता है. इससे पहले 1990 में चंद्रशेखर और 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी को राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में शपथ दिलायी गई थी. शपथ ग्रहण समारोह में बिम्सटेक देशों, बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली, म्यामांर के राष्ट्रपति यू विन मिंट और भूटान के प्रधानमंत्री लोताय शेरिंग ने शामिल होने की पुष्टि पहले ही कर दी है. थाईलैंड से उसके विशेष दूत जी बूनराच देश का प्रतिनिधित्व करेंगे. भारत के अलावा बिम्सटेक में बांग्लादेश, म्यामां, श्रीलंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं. इन नेताओं के साथ-साथ शंघाई सहयोग संगठन के वर्तमान अध्यक्ष और किर्गिस्तान के वर्तमान राष्ट्रपति जीनबेकोव और मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ को भी शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया गया है. मोदी नीत भाजपा ने लोकसभा चुनाव में 542 सीटों में से 303 सीटें जीतकर सत्ता में बहुमत के साथ वापसी की है.

  • अरविंद केजरीवाल ने कार्यकर्ताओं को चुनाव में मिली हार के बताए दो कारण, कहा- इस वजह से नहीं मिला वोट

    अरविंद केजरीवाल ने कार्यकर्ताओं को चुनाव में मिली हार के बताए दो कारण, कहा- इस वजह से नहीं मिला वोट

    आम आदमी पार्टी (AAP) को लोकसभा चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा. पार्टी की करारी हार के बाद 'आप' संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कार्यकर्ताओं को एक खत लिखा. इसमें उन्होंने लिखा कि पार्टी लोगों को यह समझाने में असफल रही कि लोकसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी (AAP) को क्यों वोट दिया जाना चाहिए.

  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सुपर स्टार रजनीकांत ने कह दी ये बात, जीत सिर्फ...

    राहुल गांधी के इस्तीफे पर सुपर स्टार रजनीकांत ने कह दी ये बात, जीत सिर्फ...

    Rajinikanth on Rahul Gandhi:  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को पार्टी की हार जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद इस्तीफा देने की जरूरत नहीं है. यहां पत्रकारों से बात करते हुए रजनीकांत (Rajnikanth) ने कहा कि साल 2019 के आम चुनाव में जीत सिर्फ मोदी (PM Modi) की हुई है.

  • राहुल गांधी को क्यों इस्तीफ़ा देना चाहिए...?

    राहुल गांधी को क्यों इस्तीफ़ा देना चाहिए...?

    यह सच है कि 2014 और 2019 के आम चुनाव में राहुल गांधी और कांग्रेस बुरी तरह पराजित हुए हैं. नरेंद्र मोदी और BJP की ऐतिहासिक जीत के आईने में यह हार कुछ और बड़ी और दुखी करने वाली लगती है. लेकिन अतीत में देखें तो ऐसे इकतरफ़ा परिणाम और अनुमान कांग्रेस और BJP दोनों के हक़ में आते रहे हैं और दोनों को हंसाते-रुलाते रहे हैं. 1984 में जब राजीव गांधी को 400 से ज्यादा सीटें मिली थीं और अटल-आडवाणी को महज 2, तब भी कुछ लोगों को लगा था कि अब तो BJP का सफ़ाया हो गया. लेकिन 1989 आते-आते BJP वीपी सिंह की सत्ता का एक पाया बनी हुई थी.

  • राहुल पद छोड़ना चाहते हैं, उन्हें क्या सलाह दे रहीं सोनिया और प्रियंका

    राहुल पद छोड़ना चाहते हैं, उन्हें क्या सलाह दे रहीं सोनिया और प्रियंका

    अगले माह अपना 49वां जन्मदिन मनाने से पहले आम चुनाव में बीजेपी के हाथों धूल चाटने की पीड़ा झेल रहे राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष का पद छोड़ने के अपने उस फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए तैयार नहीं हैं जिसके बारे में उन्होंने शनिवार को पार्टी को अवगत कराया था.

  • दिल्ली में शर्मनाक हार पर आत्ममंथन में जुटी कांग्रेस, पराजय के कारणों का पता लगाएगी

    दिल्ली में शर्मनाक हार पर आत्ममंथन में जुटी कांग्रेस, पराजय के कारणों का पता लगाएगी

    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Polls 2019) में दिल्ली (Delhi) में कांग्रेस (Congress) को शर्मनाक पराजय का सामना करना पड़ा. दिल्ली की सातों सीटों पर बीजेपी (BJP) ने जीत हासिल की और कांग्रेस व आम आदमी पार्टी (AAP) को करारी हार मिली. इन परिणामों को लेकर अब कांग्रेस आत्ममंथन में जुट गई है. दिल्ली में हुई हार के कारण जानने के लिए कांग्रेस ने एक कमेटी गठित कर दी है जो कि 10 दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी.

  • Election 2019: लोकसभा चुनाव पर विवाद के बाद अकोला में भाजपा कार्यकर्ता की हत्या

    Election 2019: लोकसभा चुनाव पर विवाद के बाद अकोला में भाजपा कार्यकर्ता की हत्या

    हाल ही में संपन्न आम चुनाव को लेकर एक विवाद के बाद आठ से 10 लोगों के एक समूह ने उस पर हमला किया. उन्होंने लोहे के एक पाइप और लाठियों से पटेल पर हमला किया जिसके कारण उसकी तत्काल मौत हो गई.'

  • Results 2019: दिल्ली में क्लीन स्वीप के बाद बोले मनोज तिवारी- हमारा अगला टारगेट 'अरविंद केजरीवाल को...'

    Results 2019: दिल्ली में क्लीन स्वीप के बाद बोले मनोज तिवारी- हमारा अगला टारगेट 'अरविंद केजरीवाल को...'

    NDTV से बात करते हुए मनोज तिवारी ने कहा, 'अब हमारा अगला टारगेट है केजरीवाल सरकार को सत्ता से हटाना. हमारा मानना है कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के अनुसार हम 50-52 सीट दिल्ली में जीत रहे हैं. हम दिल्ली की जनता से कहेंगे कि हमें 60 सीट चाहिए. हमारा अगला टारगेट दिल्ली में 60 सीटे जीतने का है.

  • लोकसभा चुनाव में जीत के बाद दुनियाभर के नेताओं ने दी पीएम मोदी को बधाई, ट्रंप बोले- भारत और अमेरिकी साझेदारी के लिए बहुत कुछ अच्छा होने वाला है

    लोकसभा चुनाव में जीत के बाद दुनियाभर के नेताओं ने दी पीएम मोदी को बधाई, ट्रंप बोले- भारत और अमेरिकी साझेदारी के लिए बहुत कुछ अच्छा होने वाला है

    Loksabha Election Results 2019: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान सहित विश्वभर के नेताओं ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आम चुनावों में शानदार जीत पर बधाई दी.

  • नरेंद्र मोदी ने रचा इतिहास, पंडित जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद यह करिश्मा करने वाले तीसरे प्रधानमंत्री बने

    नरेंद्र मोदी ने रचा इतिहास, पंडित जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद यह करिश्मा करने वाले तीसरे प्रधानमंत्री बने

    पंडित जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के लोकतांत्रिक इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ दिया है. नेहरू और इंदिरा के बाद मोदी पूर्ण बहुमत के साथ लगातार दूसरी बार सत्ता के शिखर पर पहुंचने वाले तीसरे प्रधानमंत्री बन गए हैं.  आज गुरूवार को देशभर में लोकसभा चुनाव के लिए मतगणना अभी जारी है और अभी तक मिले रूझान बता रहे हैं कि मोदी की कमान में भगवा पार्टी 17वीं लोकसभा में पूर्ण बहुमत के लिए जरूरी 272 के आंकड़े तक आसानी से पहुंच जाएगी. 2014 में हुए आम चुनाव में भाजपा ने लोकसभा की कुल 543 सीटों में से 282 सीटों पर जीत हासिल की थी.

  • Delhi Election Results: दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने स्वीकारी हार, जानिए इस शिकस्त के 7 कारण

    Delhi Election Results: दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने स्वीकारी हार, जानिए इस शिकस्त के 7 कारण

    Delhi Election Results: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आम आदमी पार्टी (Aam Admi Party) की करारी हार हुई है. यहां सभी सात सीटों पर अब तक आए रुझानों में लगातार बीजेपी (BJP) बढ़त बनाए है. आप की यहां हार तय है. आतिशी जैसे दिग्गज उम्मीदवार भी इस चुनाव में आम आदमी पार्टी की लाज नहीं बचा सके. जाहिर है आम आदमी पार्टी ने इतनी बुरी हार इससे पहले नहीं देखी थी. फिलहाल बीजेपी को मिली निर्णायक बढ़त के आधार पर आम आदमी पार्टी ने बीजेपी को बधाई दी है. आप की ओर से कहा गया है कि प्रजातंत्र में जनादेश सबसे पवित्र माना जाता है और पार्टी इसका सम्मान करती है. आप के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने चुनाव परिणाम पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा, ‘‘मैं अपनी पार्टी की तरफ से बीजेप को बधाई देता हूं. हम नरेन्द्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनने की शुभकामनायें भी देते हैं.’’ लेकिन यहां उन कारणों की पड़ताल करना भी जरूरी है कि आखिर क्यों आम आदमी पार्टी इतनी बुरी तरह से लोकसभा चुनाव हार गई.

  • बॉलीवुड एक्टर ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, बोले- चौकीदार को चोर बोल के कौआ मोर बनने...

    बॉलीवुड एक्टर ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, बोले- चौकीदार को चोर बोल के कौआ मोर बनने...

    Election Results 2019: भारत में हुए आम लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई के सात चरणों में बंटे हुए थे. इनमें 11 अप्रैल को 91 लोकसभा सीटों, 18 अप्रैल को 97 लोकसभा सीटों पर, 23 अप्रैल को 115 लोकसभा सीटों पर, 29 अप्रैल को 71 लोकसभा सीटों पर, 6 मई को 51, 12 मई को 59 और 19 मई को 59 लोकसभा सीटों पर मतदान हुए थे.