NDTV Khabar

आरएलडी


'आरएलडी' - 70 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • एक ही झटके में महागठबंधन धड़ाम! विधानसभा की ये 11 सीटें बनीं वजह

    एक ही झटके में महागठबंधन धड़ाम! विधानसभा की ये 11 सीटें बनीं वजह

    उत्तर प्रदेश में 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उप चुनाव को लेकर सपा-बसपा गठबंधन टूट गया है. लोकसभा चुनाव में बड़े जोर-शोर से बने इस गठबंधन में आरएलडी भी शामिल थी. जिस दिन गठबंधन हुआ था उस दिन ऐसा लग रहा था कि अब यह महागठबंधन उत्तर प्रदेश की राजनीति ही नहीं पूर देश में असर डालेगा और बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की बातों से ऐसा लग रहा था कि दोनों के बीच अच्छा समन्वय है और लोकसभा चुनाव में दोनों मिलकर पीएम मोदी के विजय रथ को रोक देंगे.

  • पिता मुलायम सिंह यादव की यह बात न मानकर अखिलेश यादव ने सपा को पहुंचा दिया इस हालत में

    पिता मुलायम सिंह यादव की यह बात न मानकर अखिलेश यादव ने सपा को पहुंचा दिया इस हालत में

    उत्तर प्रदेश में बड़े जोर शोर से बनाए गए सपा-बसपा और आरएलडी गठबंधन मोदी लहर में पूरी तरह से साफ हो गया है. सपा को जहां मात्र 5 सीटें आई हैं वहीं बीएसपी को 10 सीटें मिली हैं. आरएलडी अपना खाता खोलने में नाकाम रही है. वहीं 80 सीटों वाले उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को सिर्फ 1 ही सीट (रायबरेली में सोनिया गांधी) आई हैं. अमेठी से राहुल गांधी भी स्मृति ईरानी से हार गए हैं. लेकिन सबसे बड़ा झटका अखिलेश यादव को लगा है.

  • लोकसभा चुनाव 2019 : क्या कांग्रेस सहित विपक्ष की यह एक बड़ी रणनीतिक चूक है?

    लोकसभा चुनाव 2019 : क्या कांग्रेस सहित विपक्ष की यह एक बड़ी रणनीतिक चूक है?

    6 मई यानी सोमवार को पांचवे चरण का मतदान होना है. इस पूरे चुनाव में विपक्ष के सामने सबसे बड़ी चुनौती कि वह कैसे बीजेपी के खिलाफ पड़ने वाले वोटों को बिखरने से रोके. चुनाव की घोषणा से पहले कांग्रेस ने विपक्षी एकता की बड़ी कोशिश कीं और सभी दलों को यूपीए में लाने की कोशिश भी की. लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा और आरएलडी मिलकर अलग चुनाव लड़ रहे हैं तो पश्चिम बंगाल में भी टीएमसी नेता ममता बनर्जी ने भी कांग्रेस को भाव नहीं दिया. वहीं आंध्र प्रदेश में टीडीपी ने भी कांग्रेस की बात नहीं  मानी. हालांकि बिहार में कांग्रेस आरजेडी ने कई छोटे दलों के साथ गठबंधन किया है. लेकिन बीजेपी+जेडीयू+एलजेपी का वोट बैंक इस महागठबंधन पर भारी पड़ रहा है. बात करें उन सीटों की जहां अगर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल साथ मिलकर लड़ते तो बीजेपी के लिए बड़ी मुश्किल हो जाती.

  • ईवीएम को चूहों से हो सकता है खतरा, प्रत्याशी ने लिखी डीएम को चिट्ठी

    ईवीएम को चूहों से हो सकता है खतरा, प्रत्याशी ने लिखी डीएम को चिट्ठी

    उत्तर प्रदेश के मथुरा में सपा और बसपा के समर्थन से लड़ रहे आरएलडी प्रत्याशी  नरेंद्र सिंह ने ईवीएम की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा है कि ईवीएम को मंडी समिति में रखा गया है और वहां चूहों से खतरा हो सकता है. नरेंद्र सिंह ने कहा कि उन्होंने इनकी सुरक्षा को लेकर जिला मजिस्ट्रेट को चिट्ठी भी लिखी है लेकिन तीन दिन बीत जाने के बाद भी कोई जवाब नहीं आया है. आरएलडी प्रत्याशी ने यह भी बताया कि वह चुनाव प्रभारी संदीप भटनागर से भी मुलाकात कर चुके हैं लेकिन उनका कहना था कि ईवीएम की सुरक्षा को लेकर कोई भी फैसला करने के अधिकार सिर्फ डीएम के पास है.

  • General Election 2019: अखिलेश यादव का बड़ा बयान- देश को नया प्रधानमंत्री देगा SP-BSP-RLD गठबंधन, जानें वजह...

    General Election 2019: अखिलेश यादव का बड़ा बयान- देश को नया प्रधानमंत्री देगा SP-BSP-RLD गठबंधन, जानें वजह...

    यूपी में सपा-बसपा (SP-BSP Alliance) साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है. पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भरोसा जताया कि सपा-बसपा-रालोद (SP-BSP-RLD Alliance) गठबंधन देश को नया प्रधानमंत्री देगा. बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) और रालोद अध्यक्ष अजित सिंह (Ajit Singh) के साथ चुनावी जनसभा में अखिलेश (Akhilesh Yadav News) ने कहा, 'गठबंधन देश को नया प्रधानमंत्री देगा.'

  • Election Update: यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इटावा में कहा, 'आज दुनिया के जिस भी हिस्‍से में चुनाव हो रहे हों, मुद्दे भारत और पीएम मोदी होते हैं'

    Election Update: यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इटावा में कहा, 'आज दुनिया के जिस भी हिस्‍से में चुनाव हो रहे हों, मुद्दे भारत और पीएम मोदी होते हैं'

    यहां वह देशभर से आए ट्रेडर्स को संबोधित करेंगे. उनके अलावा अखिलेश यादव, मायावती और अजीत सिंह (सपा, बसपा और आरएलडी) की संयुक्त रैली यूपी के मैनपुरी में करेंगे. यह रैली 11 बजे तक होगी.

  • तेजस्वी यादव ने बड़े भाई तेज प्रताप के जन्मदिन पर काटा केक, ट्विटर पर यूं आया रिएक्शन

    तेजस्वी यादव ने बड़े भाई तेज प्रताप के जन्मदिन पर काटा केक, ट्विटर पर यूं आया रिएक्शन

    तेजस्वी यादव ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर दो तस्वीरें शेयर की, जिसमें तेज प्रताप के साथ केक काटते हुए दिखाई दिए. इस तस्वीर में हालांकि तेज प्रताप यादव का चेहरा नहीं दिख रहा, लेकिन तेजस्वी ने फोटो के साथ शानदार कैप्शन भी दिया.

  • सपा-बसपा और आरएलडी के वोट जुड़ने की बात वो लोग करते हैं जिनको राजनीति की समझ नहीं है : सत्यपाल सिंह

    सपा-बसपा और आरएलडी के वोट जुड़ने की बात वो लोग करते हैं जिनको राजनीति की समझ नहीं है : सत्यपाल सिंह

    केंद्रीय मंत्री और बागपत के मौजूदा सांसद और उम्मीदवार डॉ सत्यपाल सिंह ने  का कहना है कि जनता विकास चाहती है, नौजवान रोजगार-सुरक्षा चाहते हैं, किसान गन्ने का भुगतान चाहते हैं, यही पिछले 5 सालों में यहां पर हुआ है और इसी आधार पर लोग मतदान करेंगे. एनडीटीवी से बातचीत में उन्होंने कहा कि जातीय समीकरण और सपा-बसपा-राष्ट्रीय लोक दल का वोट जुड़ने जैसी बात वो करते हैं जो राजनीति नहीं समझते. राजनीति के क्षेत्र में दो और दो चार नहीं होते. जिस परिवार के लिए यहां के लोगों ने चार-चार पीढ़ियां तक वोट दिया उस परिवार ने यहां के लोगों को क्या दिया है, ये सवाल जनता पूछ रही है.

  • कौन जीतेगा बागपत की लड़ाई, क्या गठबंधन की ताकत बनेगी PM मोदी की तोड़?

    कौन जीतेगा बागपत की लड़ाई, क्या गठबंधन की ताकत बनेगी PM मोदी की तोड़?

    बागपत (Baghpat Seat) कभी बहुत बड़ी सीट हुआ करती थी. गाज़ियाबाद तक का इलाक़ा बाग़पत में आता था. इस सीट ने देश को एक प्रधानमंत्री भी दिया है. किसान नेता चौधरी चरण सिंह 1977 में इसी सीट से चुनाव जीते थे, वो प्रधानमंत्री बनने के प्रबल दावेदार थे लेकिन जनता पार्टी के भीतर संगठन कांग्रेस के मोरारजी देसाई चुन लिए गए. चरण सिंह तब गृह मंत्री बने. 1979 में जनता पार्टी टूटी तो एक धड़े ने उन्हें प्रधानमंत्री बनाया. ये अलग बात है कि वो संसद का मुंह नहीं देख सके. कांग्रेस ने उनकी सरकार गिरा दी. ये कहानी इसलिए याद दिला रहा हूं कि आप समझ सकें कि न गठजोड़ की राजनीति भारत में नई है और न ही उसके नाम पर होने वाले छल, लेकिन ऐसा नहीं कि सबकुछ पुराना ही है.

  • Lok Sabha Election 2019: राष्ट्रीय लोकदल ने 3 सीटों पर घोषित किये प्रत्याशी, अजीत सिंह इस सीट से लड़ेंगे चुनाव

    Lok Sabha Election 2019: राष्ट्रीय लोकदल ने 3 सीटों पर घोषित किये प्रत्याशी, अजीत सिंह इस सीट से लड़ेंगे चुनाव

    लोकसभा चुनाव की तारीखें नजदीक आते ही सरगर्मियां बढ़ गई हैं. उत्तर प्रदेश में  सपा बसपा गठबंधन के सहयोगी राष्ट्रीय लोकदल ने मंगलवार को आगामी लोकसभा चुनावों के लिये अपने तीन प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी जिसमें पार्टी अध्यक्ष अजीत सिंह  (Ajit Singh) भी शामिल है. पार्टी के एक प्रवक्ता ने बताया कि अजीत सिंह (Ajit Singh) मुजफ्फरनगर से उनके बेटे और पार्टी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी बागपत से तथा मथुरा से कुंवर नरेंद्र सिंह चुनाव लड़ेंगे.

  • Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस ने यूपी की 7 सीटों पर अपने कैंडिडेट्स नहीं उतारने का किया ऐलान, सपा-बसपा ने छोड़ी हैं 2 सीटें

    Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस ने यूपी की 7 सीटों पर अपने कैंडिडेट्स नहीं उतारने का किया ऐलान, सपा-बसपा ने छोड़ी हैं 2 सीटें

    उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का सपा और बसपा के साथ गठबंधन नहीं हुआ है लेकिन कांग्रेस की तरफ से सपा-बसपा और आरएलडी के लिए 7 सीटों पर चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान किया है. उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके बताया कि यूपी में उन 7 सीटों पर कांग्रेस अपने प्रत्याशी नहीं उतारेगी जहां से सपा-बसपा और आरएलडी चुनाव लड़ रहे हैं. इन सीटों में मैनपुरी, कन्नौज, फिरोजाबाद की सीट शामिल हैं.

  • 'तीन-पांच' के सियासी खेल में आखिरकार पिछड़ी RLD, हरसंभव प्रयास भी नहीं दे पाई मनचाहा नतीजा

    'तीन-पांच' के सियासी खेल में आखिरकार पिछड़ी RLD, हरसंभव प्रयास भी नहीं दे पाई मनचाहा नतीजा

    लोकसभा चुनाव को लेकर सपा-बसपा (SP-BSP Alliance) के बीच सीटों का बंटवारा होने के बाद आरएलडी को तीन सीटें मिलीं.

  • लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को लेकर अखिलेश यादव ने दिया बड़ा बयान, कही यह बात...

    लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को लेकर अखिलेश यादव ने दिया बड़ा बयान, कही यह बात...

    उन्होंने पत्रकारों के सवाल पर कहा कि आप यह बार-बार क्यों पूछते हैं कि कांग्रेस साथ आएगी या नहीं? मैं आपसे एक बार फिर स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि कांग्रेस हमारे साथ है, वह गठबंधन का हिस्सा है. इस बार के लोकसभा के चुनाव में कांग्रेस गठबंधन में रहते हुए दो सीटों पर लड़ेगी. अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने आरएलडी की सीटों का भी ऐलान किया.

  • सपा-बसपा गठबंधन से RLD को मिली इतनी सीटें, जानिये कहां से कौन लड़ सकता है चुनाव

    सपा-बसपा गठबंधन से RLD को मिली इतनी सीटें, जानिये कहां से कौन लड़ सकता है चुनाव

    लोकसभा चुनाव (Lok sabha Election 2019) को लेकर सपा-बसपा (SP-BSP Alliance) के बीच सीटों का बंटवारा हो गया है. सपा 37 और बसपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. वहीं, राष्ट्रीय लोकदल (RLD) को तीन सीटें दी गई है. बताया जा रहा है कि आरएलडी पश्चिमी यूपी की मथुरा, मुजफ्फरनगर और बागपत सीट से चुनाव लड़ेगी. एक दिन पहले ही RLD ने लोकसभा चुनाव में सीटों को लेकर अपना रुख साफ किया था. पार्टी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी (jayant Chaudhary) ने कहा था कि वह उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन के साथ हैं. बता दें कि मुजफ्फरनगर से अजीत सिंह और बागपत से जयंत चौधरी चुनाव लड़ना चाहते हैं. 

  • लोकसभा चुनाव 2019: यूपी में सपा-बसपा के बीच हुआ सीटों का बंटवारा, जानिये किसको कितनी सीटें मिलीं

    लोकसभा चुनाव 2019: यूपी में सपा-बसपा के बीच हुआ सीटों का बंटवारा, जानिये किसको कितनी सीटें मिलीं

    लोकसभा चुनाव (Lok sabha Election 2019) को लेकर सपा-बसपा (SP-BSP Alliance) के बीच सीटों का बंटवारा हो गया है. सपा 37 और बसपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. वहीं, 3 सीटें आरएलडी (RLD) को दी गई हैं. अमेठी और रायबरेली से सपा-बसपा गठबंधन कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगी.

  • सपा-बसपा गठबंधन या कांग्रेस? जयंत चौधरी ने साफ किया आगामी चुनाव में वह किसके साथ जाएंगे

    सपा-बसपा गठबंधन या कांग्रेस? जयंत चौधरी ने साफ किया आगामी चुनाव में वह किसके साथ जाएंगे

    आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में गहमा गहमी का माहौल है. सपा-बसपा के गठबंधंन और कांग्रेस के अकेले लड़ने के फैसले के बाद अन्य दलों पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अपनी पकड़ रखने वाले राष्ट्रीय लोकदल को लेकर अफवाहों का बाजार गरम था.

  • SP-BSP को कमजोर करने में लगी कांग्रेस? ज्योतिरादित्य सिंधिया ने RLD के जयंत चौधरी को दिया यह ऑफर

    SP-BSP को कमजोर करने में लगी कांग्रेस? ज्योतिरादित्य सिंधिया ने RLD के जयंत चौधरी को दिया यह ऑफर

    ज्योतिरादित्या सिंधिया पिछले सात दिनों में दो बार राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी से मुलाकात कर चुके हैं. सिंधिया ने जयंत चौधरी के सामने उत्तर प्रदेश में 10 और राजस्थान में 1 सीट देने का प्रस्ताव रखा है. कांग्रेस कुल 11 सीटों पर आरएलडी के साथ गठबंधन करना चाहती है. सिंधिया ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कैराना, मुजफ्फरनगर, बागपत, मथुरा, बुलंदशहर, मेरठ समेत 10 सीटों पर आरएलडी को लड़ने का प्रस्ताव दिया है.

  • SP-BSP गठबंधन RLD को इतनी सीटें देने को तैयार, जयंत चौधरी की यह है डिमांड...

    SP-BSP गठबंधन RLD को इतनी सीटें देने को तैयार, जयंत चौधरी की यह है डिमांड...

    समाजवादी पार्टी (SP) अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) की मुलाकात के बाद तय हो गया कि अब आरएलडी भी सपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP Alliance) का हिस्सा होगी. फिलहाल समाजवादी पार्टी RLD को तीन सीट देने के लिए तैयार है और आरएलडी (RLD) चौथी सीट के लिए कोशिश कर रही है.

Advertisement