NDTV Khabar

आरएसएस


'आरएसएस' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • आज संविधान की इस मूल भावना को आप सभी से शेयर करने का मन हुआ : रविशंकर प्रसाद

    आज संविधान की इस मूल भावना को आप सभी से शेयर करने का मन हुआ : रविशंकर प्रसाद

    अयोध्या में आज राम मंदिर निर्माण को लेकर होने जा रहे भूमि पूजन के लिए भव्य तैयारियां हैं. पीएम मोदी 11:30 बजे अयोध्या पहुंच जाएंगे. इसके अलावा मुख्य अतिथि के तौर पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे. इसके अलावा 200 दूसरे विशिष्ट अतिथियों को आमंत्रित किया गया है जिसमें कई साधु-संत शामिल हैं. इस कार्यक्रम को लेकर सभी राजनीतिक दलों की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

  • PM नरेंद्र मोदी ने किया भव्य राम जन्मभूमि मंदिर का शिलान्यास - पढ़ें 10 बड़ी बातें

    PM नरेंद्र मोदी ने किया भव्य राम जन्मभूमि मंदिर का शिलान्यास - पढ़ें 10 बड़ी बातें

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने अयोध्या (Ayodhya) में आज राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन (Ram Mandir Bhumi Pujan) किया और मंदिर की आधारशिला रखी. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने पिछले साल दशकों पुराने मुद्दे का समाधान करते हुए अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मार्ग रास्ता साफ किया था. आज मंदिर निर्माण की नींव रखे जाने के साथ ही राम मंदिर के लिए चलाया गया भाजपा का आंदोलन फलीभूत हो गया, जिसने भगवा दल को सत्ता के शिखर तक पहुंचा दिया. भूमि पूजन समारोह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) भी मौजूद थे.

  • मंदिर आंदोलन से जुड़े वे लोग जिन्हें आखिरी सांस तक था पूरा विश्वास - मंदिर वहीं बनेगा

    मंदिर आंदोलन से जुड़े वे लोग जिन्हें आखिरी सांस तक था पूरा विश्वास - मंदिर वहीं बनेगा

    अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर भव्य तैयारियां चल रही हैं. 5 अगस्त यानी बुधवार को पीएम मोदी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी आदित्यनाथ इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर हिस्सा लेंगे. अयोध्या में इस कार्यक्रम को लेकर भव्य तैयारियां हो रही हैं. लोगों का कहना है कि सदियों बाद अयोध्या को इस तरह सजाया गया है. लंबे विवाद और सालों तक कानूनी लड़ाई लड़ने के बाद मंदिर के पक्षकारों को आज यह दिन देखने को मिल रहा है. लेकिन मंदिर आंदोलन के कई प्रमुख नेता जिन्होंने इस दिन को देखने के लिए पूरा जीवन खपा दिया वे आज इस दुनिया में नही हैं. इनमें प्रमुख अशोक सिंघल, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी,  श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष रहे रामचंद्र परमहंस और गोरखनाथ मन्दिर के भूतपूर्व पीठाधीश्वर महंत अवैद्यनाथ हैं. इन सबने मंदिर आंदोलन को लेकर एक लंबी लड़ाई लड़ी है और साथ में कई आरोप भी झेले हैं.  

  • राम जन्म भूमि पूजन के कार्ड में पीएम मोदी के अलावा तीन और लोगों का नाम शामिल

    राम जन्म भूमि पूजन के कार्ड में पीएम मोदी के अलावा तीन और लोगों का नाम शामिल

    Ram Mandir Bhumi Pujan:  इस निमंत्रण पत्र में पीएम मोदी के अलावा केवल तीन लोगों का नाम है, जोकि मेहमानों की सूची में की गई छंटनी का संकेत है. कार्ड में पीएम मोदी अलावा आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ का नाम दिखाई दे रहा है. कोविड संकट के चलते इस कार्यक्रम में सिमित संख्या में ही लोग बुलाए जा रहे हैं.  

  • पंचनामा नहीं होने के कारण छह दिन तक पड़ा रहा मजदूर का शव

    पंचनामा नहीं होने के कारण छह दिन तक पड़ा रहा मजदूर का शव

    पुलिस द्वारा पंचानामा नहीं किए जाने के कारण मथुरा जिला अस्पताल में एक मजदूर का शव छह दिन तक पड़ा रहा. जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आरएसएस मौर्य ने बताया, ‘‘छत्तीसगढ़ निवासी गनपत (65) 26 मई को एक राहगीर को वृन्दावन-छटीकरा रोड पर कृष्णा कॉलोनी के निकट बेहोश पड़ा मिला था. वह यहां मजदूरी करता था." उन्होंने बताया, "जिस दिन (छह जून) उसकी मौत हुई थी, जिला अस्पताल ने शहर कोतवाली को उसी दिन इसकी सूचना दे दी थी. वहां से संबंधित थाने को जानकारी देने की जिम्मेदारी उन्हीं की थी.उन्होंने जब छह दिन तक भी संज्ञान नहीं लिया, तो उन्हें इस मामले के बारे में पुनः स्मरण कराया गया. इस प्रकरण में जिला अस्पताल की कोई कमी नहीं है."

  • राज्यसभा चुनाव : उम्मीदवारों के चयन में CM से ज्यादा संघ हावी, येदियुरप्पा की नहीं चली!

    राज्यसभा चुनाव : उम्मीदवारों के चयन में CM से ज्यादा संघ हावी, येदियुरप्पा की नहीं चली!

    कर्नाटक में येदियुरप्पा ने भले ही अपनी जिद पर सरकार बनाई और फिर अपने बूते पर विधायकों को जीतकर जादूई आंकड़े से काफी आगे निकल गए, लेकिन ढलती उम्र की वजह से येदिुरप्पा में वो तेवर अब नहीं दिख रहे जिसके लिए वो जाने जाते है. ऐसे में विरोधी गुट सेंधमारी करता रहता है.

  • 'निजी बैंक छोटे उद्यमों के लिए 3 लाख करोड़ रुपये की कर्ज योजना के क्रियान्वयन में कर रहे हैं देरी'

    'निजी बैंक छोटे उद्यमों के लिए 3 लाख करोड़ रुपये की कर्ज योजना के क्रियान्वयन में कर रहे हैं देरी'

    राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) से संबद्ध उद्योग संगठन लघु उद्योग भारती (एलयूबी) ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को सोमवार को बताया कि निजी बैंक एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम) क्षेत्र के लिए 3 लाख करोड़ रुपये की कर्ज योजना के क्रियान्वयन में हीला हवाली कर रहे हैं.

  • निर्मला सीतारमण के फैसलों पर संघ परिवार में मतभेद, BMS ने कहा- सरकार सोने का अंडा देने वाली मुर्गी को मारना चाहती है

    निर्मला सीतारमण के फैसलों पर संघ परिवार में मतभेद, BMS ने कहा- सरकार सोने का अंडा देने वाली मुर्गी को मारना चाहती है

    संघ परिवार में अहम आर्थिक सुधार के मसले पर मतभेद खुलकर सामने आ गए हैं. आरएसएस के संगठन भारतीय मज़दूर संघ (BMS) ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पब्लिक सेक्टर यूनिट्स (PSUs) के निजीकरण और विनिवेश के बड़े ऐलान के खिलाफ देश भर में 10 जून को विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान कर दिया है.

  • कांग्रेस ने 'आत्मनिर्भरता' की बात को एक जुमला बताया, कहा, 'आगे की आर्थिक नीति बताएं PM'

    कांग्रेस ने 'आत्मनिर्भरता' की बात को एक जुमला बताया, कहा, 'आगे की आर्थिक नीति बताएं PM'

    पूर्व मानव संसाधन विकास मंत्री सिब्बल ने कहा कि भारत में शोध एवं विकास पर जीडीपी का 0.7 फीसदी खर्च होता है. इस्राइल में चार फीसदी, जर्मनी में तीन फीसदी और कई अन्य देश भी अच्छा खासा खर्च करते हैं.उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में चीन और अन्य देशों से आयात तथा निवेश का हवाला देते हुए कहा कि सिर्फ बातें करने से देश आत्मनिर्भर नहीं बनता है.सिब्बल ने कहा कि प्रधानमंत्री और सरकार को आगे की आर्थिक नीति के बारे में बताना चाहिए और यह स्पष्ट करना चाहिए कि आत्मनिर्भता के लिए क्या कदम उठाए जाएंगे.उन्होंने आरोप लगाया कि विश्विद्यालयों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ : आरएसएस: से जुड़े लोगों एवं उनसे सहमति रखने वालों की नियुक्तियां की जा रही हैं.

  • जन्मदिन विशेष : योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के पास किस सब्जेक्ट की है डिग्री, 10 बातों में जानिए संन्यासी से सीएम बनने की कहानी

    जन्मदिन विशेष : योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के पास किस सब्जेक्ट की है डिग्री, 10 बातों में जानिए संन्यासी से सीएम बनने की कहानी

    सीएम योगी आदित्यनाथ, हिंदुत्व की राजनीति के इस समय फायर ब्रांड नेता हैं. वो पीएम मोदी के इस समय ताकतवर जनरलों में से एक हैं. जिनके ऊपर देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी है. 22 साल की उम्र में जब अजय सिंह बिष्ट यानी योगी अदित्यनाथ ने संन्यास का फैसला लिया तो शायद ही किसी ने सोचा होगा कि वह एक दिन देश की राजनीति के इतने अहम चेहरा बन जाएंगे. सीएम योगी उस राज्य के मुखिया हैं जिसके बारे में कहा जाता है कि केंद्र की सत्ता तक जाने का रास्ता इसी राज्य से गुजरता है. सीएम योगी का आरएसएस से कभी कोई रिश्ता नहीं था. हिंदुत्व की विचारधारा को लेकर उनका अपना एक अलग अंदाज, शैली और संगठन था. जिसके दम पर वह यूपी में आरएसएस और विश्व हिंदू परिषद जैसे हिंदूवादी संगठनों के लिए भी चुनौती बन गए थे. योगी के संगठन का नाम हिंदू युवा वाहिनी है. जो उनके सीएम बनने के बाद थोड़ा निष्क्रिय है. योगी वह गोरखनाथ मठ के महंत हैं और उनके गुरु इस बीजेपी से सांसद भी रह चुके हैं.

  • मध्यप्रदेश: दो समुदायों के बीच झड़प में घायल हुए RSS कार्यकर्ता की 13 दिन बाद मौत

    मध्यप्रदेश: दो समुदायों के बीच झड़प में घायल हुए RSS कार्यकर्ता की 13 दिन बाद मौत

    8 मई को खंडवा जिले के हापला और दीपाला गांव के लोगों के बीच ये झड़प हुई थी, इसमें रमेश सहित कई लोग घायल हुए थे.13 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहने के बाद रविवार को रमेश ने इंदौर के अस्पताल में दम तोड़ दिया.

  • सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के एक शीर्ष आतंकी को मार गिराया, एक जवान शहीद

    सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के एक शीर्ष आतंकी को मार गिराया, एक जवान शहीद

    जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में रविवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन का एक शीर्ष आतंकवादी मारा गया. आरएसएस के एक पदाधिकारी और उनके निजी सुरक्षा अधिकारी (पीएसओ) की हत्या के मामले में उसकी तलाश थी.

  • RSS के मजदूर संगठन ने निर्मला सीतारमण की घोषणाओं पर दी प्रतिक्रिया, कहा- 'वित्त मंत्री ने देश को मायूस किया'

    RSS के मजदूर संगठन ने निर्मला सीतारमण की घोषणाओं पर दी प्रतिक्रिया, कहा- 'वित्त मंत्री ने देश को मायूस किया'

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से संबंधित मजदूर संगठन, भारतीय मजदूर संघ, ने शनिवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा की गई घोषणाओं की आलोचना की है. संगठन का कहना है कि सरकार एक तरह से निजीकरण को बढ़ावा दे रही है जिससे नौकरियों को नुकसान पहुंचेगा. संगठन का कहना है कि कोरोना महामारी के समय में सार्वजनिक क्षेत्र बहुत अहम किरदार निभा रहा है. जब बाजार और निजी संस्थाएं लॉकडाउन के चलते बंद हैं तो सार्वजनिक क्षेत्र का महत्व और भी बढ़ जाता है.

  • श्रम कानूनों में बदलाव को लेकर RSS में अंदरूनी मतभेद, संघ परिवार से जुड़े संगठन की तरफ से आया यह बयान

    श्रम कानूनों में बदलाव को लेकर RSS में अंदरूनी मतभेद, संघ परिवार से जुड़े संगठन की तरफ से आया यह बयान

    लॉकडाउन से राहत के बाद उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में श्रम कानूनों में अहम बदलाव के सवाल पर संघ परिवार में अंदरूनी मतभेद सामने आ गया है.

  • योगी सरकार ने बदला श्रम कानून (Labour Laws): पढ़ें 12 घंटे की नौकरी पर कितना अब सैलरी में कितना और जुड़ेगा

    योगी सरकार ने बदला श्रम कानून (Labour Laws): पढ़ें 12 घंटे की नौकरी पर कितना अब सैलरी में कितना और जुड़ेगा

    कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लगाए लॉकडाउन की मार उद्योग-धंधों पर बुरी तरह से पड़ी है. बाजार में मांग कम होने से उत्पादन कम हो रहा है और फैक्टरियों से मजदूर, कामगार की या तो नौकरी जा रही है या फिर उनकी सैलरी में कटौती हो रही है. सबसे ज्यादा प्रभावित असंगठित क्षेत्र के मजदूर हुए हैं. रियल सेक्टर में काम बंद होने से कई बड़े प्रोजेक्ट बंद पड़े हैं और मजदूरों के पास काम नहीं है. कंपनियों और फैक्टरियों को घाटा हो रहा है. उद्योग धंधों को इससे उबारने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अगले तीन सालों तक श्रम कानूनों में छूट देने का फैसला किया है. जिसका विरोध विपक्ष के साथ-साथ आरएसएस से जुड़े भारतीय मजदूर संघ ने किया है.

  • उत्तर प्रदेश-मध्य प्रदेश में श्रम कानून में बदलाव पर RSS परिवार में मतभेद, विरोध में उतरी BMS

    उत्तर प्रदेश-मध्य प्रदेश में श्रम कानून में बदलाव पर RSS परिवार में मतभेद, विरोध में उतरी BMS

    भारतीय मजदूर संघ के महासचिव विरजेश उपाध्याय ने NDTV से कहा, "हम राज्य सरकारों की इस पहल के सख्त खिलाफ हैं. बीएमएस नेताओं ने श्रम कानून में बदलाव करने के राज्य सरकारों के फैसले की समीक्षा की है. हम उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश समेत हर राज्य सरकार से ये पूछना चाहते हैं कि अर्थव्यवस्था को दोबारा पटरी पर लाने में मौजूदा श्रम कानून कैसे रोड़ा बन रहे हैं? हम किसी भी हालत में श्रमिकों के अधिकारों को स्थगित करने के फैसले के सख्त खिलाफ हैं."

  • कोरोना संकट पर बोले संघ प्रमुख मोहन भागवत, 'बिना भेदभाव सबकी मदद करें, सभी 130 करोड़ भारतीय अपने हैं'

    कोरोना संकट पर बोले संघ प्रमुख मोहन भागवत, 'बिना भेदभाव सबकी मदद करें, सभी 130 करोड़ भारतीय अपने हैं'

    Coronavirus: देश में कोरोना वायरस के संकट के बीच आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को कहा कि भारत के हितों की विरोधी ऐसी ताकतों के खिलाफ सतर्क रहने की जरूरत है जो स्थिति का फायदा उठाना चाहती हैं.

  • लॉकडाउन में परेशान महिलाओं के लिए आरएसएस ने शुरू की हेल्पलाइन

    लॉकडाउन में परेशान महिलाओं के लिए आरएसएस ने शुरू की हेल्पलाइन

    लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों में वृद्धि होने पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने गहरी चिंता व्यक्त की है.  संघ से सम्बद्ध परिवारों की महिला कार्यकर्ताओं ने भी इस बात पर चिंता व्यक्त की है. संघ ने लॉकडाउन में घरेलू हिंसा की शिकार महिलाओें के लिए एक हेल्प लाइन सेवा शुरू की है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com