NDTV Khabar

आरबीआई गवर्नर


'आरबीआई गवर्नर' - 338 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कोरोना महामारी से जूझ रही इकोनॉमी को पटरी पर लाने के लिए हर जरूरी कदम उठाएंगे : RBI गवर्नर

    कोरोना महामारी से जूझ रही इकोनॉमी को पटरी पर लाने के लिए हर जरूरी कदम उठाएंगे : RBI गवर्नर

    रिजर्व बैंक के गर्वनर ने कहा कि सकल घरेलू उत्‍पाद (GDP) के आंकड़ों से अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के प्रकोप (Covid-19 Pandemic)का संकेत मिलता है. उन्‍होंने कोविड- 19 के बाद अर्थव्यवस्था की गति तेज करने के लिये निजी क्षेत्र को अनुसंधान एवं नवोन्मेष, खाद्य प्रसंस्करण और पर्यटन क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिये कहा है.

  • RBI ने दिए ब्याज दरों में कटौती जारी रहने के संकेत, गवर्नर बोले- खत्म नहीं हुए हमारे तरकश के तीर

    RBI ने दिए ब्याज दरों में कटौती जारी रहने के संकेत, गवर्नर बोले- खत्म नहीं हुए हमारे तरकश के तीर

    भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने ब्याज दरों में आगे और कटौती के संकेत देते हुए बृहस्पतिवार को कहा है कि COVID-19 महामारी से अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए किए गए उपायों को जल्द नहीं हटाया जाएगा. RBI गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘चाहे दर में कटौती हो या फिर अन्य नीतिगत कदम, हमारे तरकश के तीर अभी खत्म नहीं हुए हैं.’’

  • कोविड-19 महामारी के कारण आर्थिक हालात सुधरने में अभी लगेगा लंबा समय

    कोविड-19 महामारी के कारण आर्थिक हालात सुधरने में अभी लगेगा लंबा समय

    वित्‍तीय वर्ष 2020-21 में जीडीपी की विकास दर भी नेगेटिव रहने का अनुमान है. "आरबीआई गवर्नर ने आगाह किया कि देश मेँ बढ़ते कोरोना के मामलों का असर अर्थव्यवस्था में सुधारों की रफ़्तार पर भी पड़ रहा है. कोविड-19 महामारी की वजह से हालत सुधरने मेँ अभी लंबा वक्त लग सकता है. 

  • क्या लोन पर मोरेटोरियम की छूट की सुविधा और बढ़ेगी? RBI गर्वनर ने नहीं खोले पत्ते

    क्या लोन पर मोरेटोरियम की छूट की सुविधा और बढ़ेगी? RBI गर्वनर ने नहीं खोले पत्ते

    आरबीआई गवर्नर ने कहा है कि भारत की अर्थव्यवस्था में सुधार कब और कैसे होगा इस पर अभी कुछ भी कहना मुश्किल है. CII की नेशनल काउंसिल को सम्बोधित करते हुए RBI गवर्नर ने कहा कि इस संकट के दौर में भारतीय अर्थव्यवस्था में पांच बड़े ट्रेंड नज़र आ रहे हैं.

  • RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की दोटूक, 'मुफ्त कुछ नहीं मिलता, अतिरिक्त नोटों की छपाई की भी लागत है'

    RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की दोटूक, 'मुफ्त कुछ नहीं मिलता, अतिरिक्त नोटों की छपाई की भी लागत है'

    पूर्व गवर्नर रघुराम राजन (Raghuram Rajan) ने कहा है कि आर्थिक नरमी के बीच केंद्रीय बैंक अतिरिक्त नकदी के एवज में सरकारी बांड की खरीद कर रहा है और अपनी देनदारी बढ़ा रहा है लेकिन यह समझना चाहिए कि इसकी लागत है तथा यह समस्या का स्थायी समाधान नहीं हो सकता.

  • SBI बैंकिंग और इकोनॉमिक्स कॉन्क्लेव में बोले RBI गवर्नर शक्तिकांत दास- 'आर्थिक वृद्धि हमारी प्राथमिकता'

    SBI बैंकिंग और इकोनॉमिक्स कॉन्क्लेव में बोले RBI गवर्नर शक्तिकांत दास- 'आर्थिक वृद्धि हमारी प्राथमिकता'

    यह कॉन्क्लेव ऐसे समय में हो रहा है जब देश के कई राज्य कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए एक बार और लॉकडाउन को लागू कर रहे हैं. इसका असर अर्थव्यवस्था पर देखने को मिल सकता है. आर्थिक मामलों के जानकार पहले ही कोरोना वायरस की वजह से मंदी के आने के संकेत दे चुके थे

  • बैंकरों ने कहा, रिजर्व बैंक के रेपो दर घटाने से अर्थव्यवस्था को मिलेगी मदद

    बैंकरों ने कहा, रिजर्व बैंक के रेपो दर घटाने से अर्थव्यवस्था को मिलेगी मदद

    रिजर्व बैंक ने अप्रत्याशित कदम उठाते हुये शुक्रवार को रेपो दर में 0.40 प्रतिशत की कटौती की. केंद्रीय बैंक ने कर्ज की किस्तें चुकाने में तीन महीने की और राहत दे दी. इसे अब बढ़ाकर 31 अगस्त 2020 तक कर दिया. इसके साथ ही आरबीआई ने बैंकों के लिये कॉरपोरेट को कर्ज देने की सीमा उनकी नेटवर्थ के मौजूदा 25 प्रतिशत के स्तर से बढ़ाकर 30 प्रतिशत कर दी है. रिजर्व बैंक गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि रेपो दर में 0.40 प्रतिशत की कटौती की गयी है और यह दर अब चार प्रतिशत पर आ गयी है, जो कि 2000 के बाद का इसका निचला स्तर है.

  • कोरोना संकट के बीच बोले RBI गवर्नर शक्तिकांत दास, '2020-21 में नेगेटिव में जा सकती है GDP'

    कोरोना संकट के बीच बोले RBI गवर्नर शक्तिकांत दास, '2020-21 में नेगेटिव में जा सकती है GDP'

    कोरोनावायरस (Coronavirus) से जंग के बीच रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने एक बार फिर रेपो रेट, रिवर्स रेपो रेट व ब्याज दर में कटौती की है. इतना ही नहीं, RBI गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने आज (शुक्रवार) मीडिया ब्रीफिंग के दौरान अनुमान जताते हुए कहा कि 2020-21 में ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GDP) नेगेटिव में जा सकती है. उन्होंने कहा, '2020-21 में GDP ग्रोथ नेगेटिव रहने का अनुमान है. मानसून के सामान्य रहने का अनुमान है. दालों की कीमत में उछाल चिंता का विषय है. कृषि उत्पादन से सबको लाभ मिलेगा. WTO के मुताबिक, वैश्विक व्यापार 13 से 32 फीसदी तक घट सकता है.'

  • लॉकडाउन के बीच RBI ने लोन की EMI चुकाने की मोहलत को तीन महीने बढ़ाया

    लॉकडाउन के बीच RBI ने लोन की EMI चुकाने की मोहलत को तीन महीने बढ़ाया

    रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कोरोनावायरस (Coronavirus) के मद्देनजर कर्ज अदायगी के लिए ऋण स्थगन को तीन महीनों के लिए बढ़ा दिया है. आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikant Das) ने मीडिया को ब्रीफिंग के दौरान यह जानकारी दी. फिलहाल जिन लोगों ने लोन लिया हुआ है उनके लिए राहत की खबर आई है.

  • कोरोना से जंग के बीच RBI ने फिर घटाया रेपो रेट, सस्ते हो सकते हैं लोन

    कोरोना से जंग के बीच RBI ने फिर घटाया रेपो रेट, सस्ते हो सकते हैं लोन

    रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहा, 'रेपो रेट को कम किया जा रहा है. RBI ने 40 आधार अंक की कटौती की है. अब रेपो रेट चार फीसदी हुआ. मुद्रास्फीति का दृष्टिकोण अत्यधिक अनिश्चित है. आरबीआई ने रिवर्स रेपो दर को घटाकर 3.35 प्रतिशत कर दिया है. यह उम्मीद की जाती है कि राजकोषीय और प्रशासनिक उपायों से 2020-21 की दूसरी छमाही में गति मिलेगी.'

  • मोरेटोरियम, पोस्ट-लॉकडाउन क्रेडिट पर बैंक प्रमुखों के साथ RBI गवर्नर ने की चर्चा

    मोरेटोरियम, पोस्ट-लॉकडाउन क्रेडिट पर बैंक प्रमुखों के साथ RBI गवर्नर ने की चर्चा

    भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के प्रमुख  बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक की और देश में मौजूदा आर्थिक स्थिति पर चर्चा की.

  • वित्तीय क्षेत्र की स्थिति का जायजा लेने के लिए बैंक प्रमुखों के साथ शनिवार को बैठक करेंगे RBI गवर्नर

    वित्तीय क्षेत्र की स्थिति का जायजा लेने के लिए बैंक प्रमुखों के साथ शनिवार को बैठक करेंगे RBI गवर्नर

    रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास वित्तीय क्षेत्र की स्थिति का जायजा लेने और कोरोना वायरस महामारी के कारण उत्पन्न संकट के बीच उद्योग जगत को बढ़ावा देने के लिये उठाये जाने वाले कदमों पर चर्चा करने के लिये बैंकों के प्रमुखों के साथ शनिवार को बैठक करेंगे.

  • ट्विटर पर RBI सबसे लोकप्रिय केंद्रीय बैंक, ‘फॉलोअर्स’ की संख्या 7.45 लाख

    ट्विटर पर RBI सबसे लोकप्रिय केंद्रीय बैंक, ‘फॉलोअर्स’ की संख्या 7.45 लाख

    भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) मौद्रिक ‘ताकत’ में बेशक अमेरिका और यूरोप के केंद्रीय बैंकों से पीछे है, लेकिन यह लोकप्रियता में सबसे आगे है. ट्विटर पर यह दुनिया का सबसे लोकप्रिय केंद्रीय बैंक है. ट्विटर खासकर कोविड-19 संकटकाल में सूचनाओं के प्रसार का एक महत्वपूर्ण प्लेटफॉर्म है. यही वजह है कि दुनिया के कई प्रमुख केंद्रीय बैंक ट्विटर पर सक्रिय हैं. 85 साल पुराने आरबीआई और इसके गवर्नर शक्तिकान्त दास के अलग-अलग ट्विटर अकाउंट हैं. दुनिया के प्रमुख केंद्रीय बैंकों के ट्विटर अकाउंट के विश्लेषण से पता चलता है कि आरबीआई के ‘फॉलोअर्स’ की संख्या सबसे अधिक है.

  • Reverse Repo Rate में कटौती, कोरोनावायरस से जूझ रही अर्थव्यवस्था के लिए आरबीआई के 5 बड़े ऐलान

    Reverse Repo Rate में कटौती,  कोरोनावायरस से जूझ रही अर्थव्यवस्था के लिए आरबीआई के 5 बड़े ऐलान

    भारतीय रिजर्व बैंक (RB) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को कहा कि कोविड-19 महामारी के चलते रिजर्व बैंक आर्थिक हालात पर लगातार नजर रखे हुये है और वह आर्थिक तंत्र में पर्याप्त नकदी बनाये रखने के लिये हर संभव कदम उठायेगा. इसके साथ ही रिवर्स रेपो रेट में कटौती का ऐलान किया. रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार सुबह कई घोषणायें करते हुये कहा कि कोरोना वायरस के कारण अर्थव्यवस्था पर बढ़े वित्तीय दबाव को कम करने के लिए केन्द्रीय बैंक पर्याप्त नकदी सुनिश्चित करेगा. गवर्नर ने कहा कि आरबीआई कोविड-19 के प्रकोप से पैदा होने वाले हालात पर नजर बनाए रखे हुए है. उन्होंने बताया कि मार्च में निर्यात 34.6 प्रतिशत घट गया, जो 2008-09 के वैश्विक वित्तीय संकट की तुलना में कहीं बड़ी गिरावट को दर्शाता है. आरबीआई की घोषणाओं के बाद भारतीय रुपया शुक्रवार को दिन के कारोबार के दौरान अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 45 पैसे की जोरदार बढ़त के साथ 76.42 रुपये प्रति डालर पर पहुंच गया. अर्थव्यवस्था में नगदी की उपलब्धता बढ़ाने के लिये शुक्रवार को रिजर्व बैंक की घोषणाओं के बाद रुपये में यह मजबूती दिखी है.

  • RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा- भारतीय अर्थव्यवस्था के 2021-22 में वापसी करने के आसार

    RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा- भारतीय अर्थव्यवस्था के 2021-22 में वापसी करने के आसार

    RBI Governor शक्तिकांत दास ने कहा कि कोविड-19 महामारी के चलते पैदा हुई परिस्थितियों पर आरबीआई नजर रखे हुए है. आरबीआई ने वित्तीय संस्थानों के लिए 50,000 करोड़ रुपये का पैकेज दिया. साथ ही रिवर्स रेपो रेट को 25 आधार अंक घटाया, ताकि बैंक निवेश बढ़ाएं.

  • कोरोना वायरस बीमारी से निपटने में पीएम मोदी के काम आ सकती हैं विपक्ष के इन 5 बड़े नेताओं की सलाह

    कोरोना वायरस बीमारी से निपटने में पीएम मोदी के काम आ सकती हैं विपक्ष के इन 5 बड़े नेताओं की सलाह

    भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई जारी है. 21 दिन के लिए किए लॉकडाउन को लेकर केंद्र सरकार सबकी सलाहों पर गौर कर रही है और सूत्रों का कहना है कि इसको बढ़ाने का विचार हो रहा है. इसकी एक वजह ये है कि मरीजों की संख्या में रोजाना इजाफा हो रहा है और बीते दो दिन में रोजाना के हिसाब से 500 से ज्यादा नए मामले आए थे. हालांकि आज सुबह जो आंकड़ा आया है वह थोड़ा कम है. सरकार की रणनीति है कि जो इलाके प्रभावित हुए हैं उनकी पहचान कर पूरी तरह सील कर दिए हैं और फिर वहां पर टेस्टिंग का काम तेजी से किया जाए. इस दौरान कांग्रेस सहित विपक्ष के कई नेताओं ने सरकार को सलाह भी दी है. इस बीच पीएम मोदी ने भी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भी बात की है. आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने भी कहा है कि कोरोना से उपजे आर्थिक संकट से निपटने के लि सरकार विपक्ष से भी मदद ले सकती है, जिसके पास पिछले वैश्विक वित्तीय संकट से देश को निकालने का अनुभव है.

  • RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा- बैंक मजबूत, लोग घबराकर बैंकों से पैसा नहीं निकाले

    RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा- बैंक मजबूत, लोग घबराकर बैंकों से पैसा नहीं निकाले

    रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को जमाकर्ताओं की चिंताओं को दूर करते हुए कहा कि देश की बैंक प्रणाली पूरी तरह सुरक्षित है. उन्होंने कहा कि बैंक के शेयर भाव में कमी को जमा की सुरक्षा से जोड़ना गलत धारणा पर आधारित है. यस बैंक संकट और कोरोना वायरस महामारी के बाद बैंकों के शेयरों की कीमतें के नीचे आने के बाद दास ने यह बात कही.

  • PM मोदी ने कोरोना के मद्देनजर उठाए गए RBI के बड़े कदमों का किया स्वागत, बोले- मिडिल क्लास, कारोबार को मिलेगी मदद

    PM मोदी ने कोरोना के मद्देनजर उठाए गए RBI के बड़े कदमों का किया स्वागत, बोले- मिडिल क्लास, कारोबार को मिलेगी मदद

    RBI ने लॉकडाउन के बीच हुई मौद्रिक नीति समिति की बैठक में रेपो दर को 5.15 प्रतिशत से घटाकर 4.4 प्रतिशत करने की घोषणा की है. आरबीआई गवर्नर ने कहा कि रेपो दर में कमी से कोरोना वायरस महामारी के आर्थिक प्रभाव से निपटने में मदद मिलेगी.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com