NDTV Khabar

आर्थिक विकास


'आर्थिक विकास' - 371 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मोदी-शी की वार्ता से पहले बोले चीनी राजदूत, कहा, दोनों देश एक दूसरे के लिए खतरा नहीं

    मोदी-शी की वार्ता से पहले बोले चीनी राजदूत, कहा, दोनों देश एक दूसरे के लिए खतरा नहीं

    पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को बीजिंग में चिनफिंग के साथ बातचीत में इस मुद्दे को उठाया था. इस पर सुन ने कहा, ‘दोनों देश एक दूसरे को खतरा नहीं पहुंचाते, बल्कि एक दूसरे के लिए विकास के अवसर मुहैया कराते हैं. चीन और भारत के बीच सहयोग न केवल एक दूसरे के विकास में योगदान देगा, बल्कि वैश्विक बहु-ध्रुवीकरण तथा आर्थिक वैश्वीकरण की प्रक्रिया को भी बढ़ाएगा. साथ ही विकासशील देशों के साझा हितों की सुरक्षा करेगा.’ 

  • मंदी की मार : संयुक्त राष्ट्र की ताजा रिपोर्ट में भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए चेतावनी, यह होगा असर

    मंदी की मार : संयुक्त राष्ट्र की ताजा रिपोर्ट में भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए चेतावनी, यह होगा असर

    संयुक्त राष्ट्र ने अपनी ताज़ा रिपोर्ट 'UNCTAD ट्रेड एंड डेवलपमेंट रिपोर्ट 2019' में कहा है कि अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था पर मंदी का साया गहराता जा रहा है और 2020 मंदी का साल होगा. यह खतरा बढ़ता जा रहा है. यह भारत के लिए बुरी खबर है. रिपोर्ट के मुताबिक भारत में आर्थिक विकास की रफ्तार में गिरावट का असर पूरे एशिया की अर्थव्यवस्था पर होगा. कार्पोरेट टैक्स में कटौती और उद्योग जगत को राहत के ऐलान के बाद कुछ दिन स्टाक मार्केट में रिकार्ड उछाल दिखा. लगा कि अर्थव्यवस्था में सुधार की संभावना बढ़ रही है, लेकिन अब यह गलत साबित होता दिख रहा है.

  • इंदौर में दौड़ेगी मेट्रो, सीएम कमलनाथ ने 7,500.80 करोड़ रुपये की लागत वाली परियोजना की नींव रखी

    इंदौर में दौड़ेगी मेट्रो, सीएम कमलनाथ ने 7,500.80 करोड़ रुपये की लागत वाली परियोजना की नींव रखी

    मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में शहरी लोक परिवहन का एक नया अध्याय जुड़ गया है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को 7,500.80 करोड़ रुपये की लागत वाली मेट्रो रेल परियोजना की नींव रखी. रिमझिम बारिश और वैदिक मंत्रोच्चार के बीच संपन्न भूमिपूजन कार्यक्रम में कमलनाथ ने शहर के एमआर-10 रोड पर टोल नाके के पास इस बहुप्रतीक्षित परियोजना के निर्माण कार्य की औपचारिक शुरूआत की. इस कार्यक्रम में सूबे के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह और कुछ अन्य मंत्री तथा स्थानीय जन प्रतिनिधि मौजूद थे. 

  • IMF ने बताया कि भारत की आर्थिक वृद्धि दर क्यों है उम्मीद से कम

    IMF ने बताया कि भारत की आर्थिक वृद्धि दर क्यों है उम्मीद से कम

    आईएमएफ ने गुरुवार को कहा कि कॉरपोरेट एवं पर्यावरणीय नियामक की अनिश्चितता एवं कुछ गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों की कमजोरियों के कारण भारत की आर्थिक वृद्धि उम्मीद से 'काफी कमजोर' है. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने हालांकि कहा कि इसके बावजूद भारत चीन से बहुत आगे और विश्व की सबसे तेजी से विकास करने वाली बड़ी अर्थव्यवस्था बना रहेगा. आईएमएफ प्रवक्ता गेरी राइस ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'हम नए आंकड़े पेश करेंगे लेकिन खासकर कॉरपोरेट एवं पर्यावरणीय नियामक की अनिश्चितता एवं कुछ गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों की कमजोरियों के कारण भारत में हालिया आर्थिक वृद्धि उम्मीद से काफी कमजोर है

  • मध्यप्रदेश कांग्रेस ने राज्य के बीजेपी सांसदों को चिट्ठी लिखकर लगाई गुहार

    मध्यप्रदेश कांग्रेस ने राज्य के बीजेपी सांसदों को चिट्ठी लिखकर लगाई गुहार

    मध्यप्रदेश के 29 में से 28 लोकसभा सांसद बीजेपी के हैं. आर्थिक तंगी से जूझ रही मध्यप्रदेश सरकार को केन्द्र से विकास कार्यों का हजारों करोड़ का बकाया वसूल करना है. यह राशि केंद्रीय योजनाओं के तहत मिलने वाले राज्य के हिस्से की है. ऐसे में प्रदेश सरकार के मंत्री पैसे के लिए तो केन्द्र को खत भेज ही रहे हैं, प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने बीजेपी के सभी 28 सांसदों को भी ईमेल भेजकर गुजारिश की है कि वे केन्द्र सरकार से फंड दिलवाएं.

  • लंबे समय तक आजादी का चला जाना कोई छोटी-मोटी कीमत नहीं होती है : डॉ. मनमोहन सिंह

    लंबे समय तक आजादी का चला जाना कोई छोटी-मोटी कीमत नहीं होती है : डॉ. मनमोहन सिंह

    जयपुर में एक निजी विश्वविद्यालय में कार्यक्रम के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा है कि अधिनायकवादी शासन की अपेक्षा व्यावहारिक लोकतंत्र का निश्चित तौर पर लाभ होता है. उन्होंने आर्थिक विकास के मामले में चीन का उदाहरण देते हुए कहा कि इस तरह के देशों में जहां नागरिकों को प्राथमिक तौर पर आर्थिक वृद्धि पर ध्यान केंद्रित रखने को कहा जाता है और एक ऐसा वातावरण तैयार कर दिया जाता है जहां निजी आजादी की कुर्बानी को सही ठहरा दिया जाता है.

  • देश आर्थिक मंदी की ओर, सरकार राजनीतिक बदले का एजेंडा छोड़े और अर्थव्यवस्था संभाले : मनमोहन सिंह

    देश आर्थिक मंदी की ओर, सरकार राजनीतिक बदले का एजेंडा छोड़े और अर्थव्यवस्था संभाले : मनमोहन सिंह

    पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन  सिंह ने देश की गिरती अर्थव्यवस्था पर चिंता जताई है. उन्होंने कहा कि पिछली तिमाही में जीडीपी का 5 फीसदी पर आना दिखाता है कि अर्थव्यवस्था एक गहरी मंदी की ओर जा रही है. उन्होंने कहा कि भारत के पास तेजी से विकास दर की संभावना है लेकिन मोदी सरकार के कुप्रंधन की वजह से मंदी आई है. उन्होंने कहा कि यह परेशान करने वाला है कि मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में ग्रोथ रेट 0.6 फीसदी पर लड़खड़ा रही है. इससे साफ जाहिर होता है कि हमारी अर्थव्यवस्था अभी तक नोटबंदी और हड़बड़ी में लागू किए गए जीएसटी से उबर नहीं पाई है. 

  • डिजिटल अर्थव्यवस्था का अराजक विस्तार और आर्थिक मंदी

    डिजिटल अर्थव्यवस्था का अराजक विस्तार और आर्थिक मंदी

    कई साल पहले दिल्ली में अनेक शॉपिंग मॉल तो बन गए, पर उनमें दुकानदारों और ग्राहकों की भारी कमी थी. मॉल के बिल्डरों की शक्तिशाली लॉबी ने राजनेताओं और जजों के बच्चों को अपना पार्टनर बना लिया. उसके बाद अदालती फैसले के नाम पर दिल्ली में सीलिंग का सिलसिला शुरू हो गया. तीर निशाने पर लगा और मॉल्स में दुकानदार और ग्राहक दोनों आ गए. अब वक्त बदल गया है. देश के असंगठित क्षेत्र और छोटे उद्योगों के सामने डिजिटल कंपनियों की पावरफुल लॉबी है.

  • प्रियंका गांधी ने कहा- न जीडीपी ग्रोथ है और न रुपए की मजबूती, बीजेपी सरकार ने अर्थव्यवस्था की हालत पंचर की

    प्रियंका गांधी ने कहा- न जीडीपी ग्रोथ है और न रुपए की मजबूती, बीजेपी सरकार ने अर्थव्यवस्था की हालत पंचर की

    कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने आर्थिक विकास दर (जीडीपी ग्रोथ रेट) के पिछले सात साल के अपने न्यूनतम स्तर पर चले जाने को लेकर शनिवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि भोंपू बजाने वाली भाजपा सरकार ने अर्थव्यवस्था की हालत पंचर कर दी. उन्होंने यह सवाल भी किया, 'अर्थव्यवस्था को नष्ट करने' का जिम्मेदार कौन है?

  • क्या मीडिया 5 प्रतिशत जीडीपी की सच्चाई छिपा रहा है?

    क्या मीडिया 5 प्रतिशत जीडीपी की सच्चाई छिपा रहा है?

    सड़क पर बेरोज़गारों की फौज पुकार रही है कि काम नहीं है, दुकानदारों की फौज कह रही है कि मांग रही है और उद्योग जगत की फौज पुकार रही है कि न पूंजी है, न मांग है और न काम है. नेशनल स्टैस्टिकल ऑफिस के आंकड़ों ने बता दिया कि स्थिति बेहद ख़राब है. छह साल में भारत की जीडीपी इतना नीचे नहीं आई थी. तिमाही के हिसाब से 25 तिमाही में यह सबसे ख़राब रिपोर्ट है.

  • आर्थिक मोर्चे पर लगातार लुढ़कती सरकार को क्यों चाहिए कश्मीर कश्मीर

    आर्थिक मोर्चे पर लगातार लुढ़कती सरकार को क्यों चाहिए कश्मीर कश्मीर

    यह ज़रूरत है कि मोदी सरकार राजनीतिक रूप से भयंकर सफल सरकार है इसलिए भी आप इस सरकार को हर वक्त राजनीति करते देखेंगे. यह कहते भी सुनेंगे कि वह राजनीति नहीं करती है. कश्मीर उसके लिए ढाल बन गया है. इस तरह के विश्लेषण लिखते लिखते साढ़े पांच साल गुज़र गए.

  • GDP दर पहली तिमाही में 5.8 फीसदी से घटकर 5 फीसदी पर पहुंची, 6 वर्षों में सबसे निचला स्‍तर

    GDP दर पहली तिमाही में 5.8 फीसदी से घटकर 5 फीसदी पर पहुंची, 6 वर्षों में सबसे निचला स्‍तर

    देश की आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में धीमी पड़कर 5 प्रतिशत रही. एक साल पहले इसी तिमाही में वृद्धि दर आठ प्रतिशत थी. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक जीडीपी दर पहली तिमाही में 5.8 फीसदी से घटकर 5 फीसदी पर पहुंच गई. जो 6 साल में इसका सबसे निचला स्‍तर है. 

  • कश्मीर पर नहीं बनाया गया कोई GoM, सरकार ने खबरों का किया खंडन

    कश्मीर पर नहीं बनाया गया कोई GoM, सरकार ने खबरों का किया खंडन

    जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए ब्लूप्रिंट तैयार करने के लिए केंद्र सरकार एक मंत्रिसमूह बनाने की खबरों का सरकार के सूचनाधिकारी ने खंडन किया है. बता दें कि इससे पहले सूत्रों ने बताया था कि इस मंत्रिसमूह की रिपोर्ट राज्य के लिए किसी भी आर्थिक पैकेज का आधार बनेगी.

  • देश के आर्थिक हालात पर वित्त मंत्री का बयान, कहा - हमारी विकास दर दूसरों से बेहतर है

    देश के आर्थिक हालात पर वित्त मंत्री का बयान, कहा - हमारी विकास दर दूसरों से बेहतर है

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने शुक्रवार को देश के आर्थिक हालत पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. 

  • अर्थव्यवस्था की रफ़्तार में आई गिरावट से निपटने के लिए उद्योगों ने मांगा एक लाख करोड़ का पैकेज

    अर्थव्यवस्था की रफ़्तार में आई गिरावट से निपटने के लिए उद्योगों ने मांगा एक लाख करोड़ का पैकेज

    अर्थव्यवस्था की रफ़्तार में आई गिरावट देखते हुए उद्योग संघ एसोचैम ने स्टिमुलस पैकेज की मांग की है. उधर पीएम की आर्थिक सलाहकार काउंसिल के अध्यक्ष बिबेक देबराय ने सरकार के सामने इकोनॉमिक रिवाइवल के लिए एक नया रोडमैप पेश किया है.

  • 2020-21 से भारत आठ प्रतिशत से अधिक की आर्थिक वृद्धि दर हासिल कर लेगा : राजीव कुमार

    2020-21 से  भारत आठ प्रतिशत से अधिक की आर्थिक वृद्धि दर हासिल कर लेगा : राजीव कुमार

    नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने भरोसा जताया है कि भारत 2020-21 से आठ प्रतिशत से अधिक की आर्थिक वृद्धि दर हासिल कर लेगा. उन्होंने कहा कि माल एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसे संरचनात्मक सुधार अब परिणाम देने लगेंगे.  कुमार यहां संयुक्तराष्ट्र मुख्यालय में ‘टिकाउ विकास लक्ष्य’ को लेकर एक कार्यक्रम में भाग लेने यहां आये हुए हैं. अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने यहां भारत के महावाणिज्य दूतावास में आयोजित भारत निवेश संगोष्ठी को भी संबोधित किया.    उन्होंने कहा कि मोदी सरकार अगले पांच साल में देश की आर्थिक वृद्धि दर को मौजूदा सात प्रतिशत से बढ़ाकर आठ प्रतिशत से अधिक करने पर ध्यान देगी. 

  • ईरान के विदेश मंत्री का ट्रंप पर आरोप, बोले - अमेरिका फैला रहा है ‘‘आर्थिक आतंकवाद’’

    ईरान के विदेश मंत्री का ट्रंप पर आरोप, बोले - अमेरिका फैला रहा है ‘‘आर्थिक आतंकवाद’’

    ईरान के विदेश मंत्री ने फिर से अमेरिका पर ‘‘आर्थिक आतंकवाद’’ फैलाने का आरोप लगाया है. कई महीने के विवाद के बाद विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास सत्र के लिए न्यूयॉर्क पहुंचे, जहां उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा लगाए गए एकतरफा प्रतिबंधों की निंदा की.

  • बीआईए प्रतिनिधिमंडल ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से की मुलाकात, पटना आने का दिया निमंत्रण 

    बीआईए प्रतिनिधिमंडल ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से की मुलाकात, पटना आने का दिया निमंत्रण 

    बीआईए के एक प्रतिनिधिमंडल ने अपने अध्यक्ष के पी एस केसरी की अध्यक्षता में बिहार से संबंधित आर्थिक और औद्योगिक मुद्दों पर उपराष्ट्रपति के साथ चर्चा की और इस संबंध में उनके सुझाव और मार्गदर्शन का अनुरोध किया. विज्ञप्ति में कहा गया है कि नायडू ने देश के विकास और सभी क्षेत्रों के संतुलित विकास की आवश्यकता पर जोर दिया.