NDTV Khabar

आर्थिक संकट


'आर्थिक संकट' - 288 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • लोकतांत्रिक भारत की आवाज़ दबाना जारी है, सरकार का घमंड पूरे देश के लिए आर्थिक संकट लाया है : राहुल गांधी

    लोकतांत्रिक भारत की आवाज़ दबाना जारी है, सरकार का घमंड पूरे देश के लिए आर्थिक संकट लाया है : राहुल गांधी

    लोकतांत्रिक भारत की आवाज़ दबाना जारी है, सरकार का घमंड पूरे देश के लिए आर्थिक संकट लाया है : राहुल गांधी

  • जम्मू-कश्मीर : आर्थिक संकट से जूझ रहे कारोबारियों को राहत, 1350 करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान

    जम्मू-कश्मीर : आर्थिक संकट से जूझ रहे कारोबारियों को राहत, 1350 करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान

    उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा, "हमने चालू वित्त वर्ष में बिना किसी शर्त के व्यवसायिक समुदाय से जुड़े हर कर्जदार (Borrower) को 5 प्रतिशत ब्याज छूट देने का फैसला किया है. यह सुविधा 6 महीने के लिए होगी. इससे कारोबारियों को बड़ी राहत मिलेगी और राज्य में रोजगार सृजित करने में मदद मिलेगी." 

  • कोरोना संकट में मदद को आगे आए डायमंड कारोबारी, 32 पीड़ित परिवारों को सौंपे चेक

    कोरोना संकट में मदद को आगे आए डायमंड कारोबारी, 32 पीड़ित परिवारों को सौंपे चेक

    गुजरात (Gujarat) के सूरत (Surat Diamond Industry) में डायमंड्स का बड़ा कारोबार है. कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते सभी क्षेत्र प्रभावित हुए हैं. डायमंड इंडस्ट्री से जुड़े कई लोगों की नौकरी चली गई. नौकरी जाने की वजह से कुछ लोगों ने आत्महत्या कर ली. वहीं कुछ लोगों की COVID-19 की चपेट में आकर मौत हो गई. सूरत की डायमंड इंडस्ट्री अब उन पीड़ित परिवारों की मदद को आगे आई है. परिवारों को आर्थिक मदद दी जा ही है.

  • राहुल गांधी ने मोदी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा तो समर्थन में आए सचिन पायलट, कह दी ये बात

    राहुल गांधी ने मोदी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा तो समर्थन में आए सचिन पायलट, कह दी ये बात

    मोदी सरकार (Modi Government) की नीतियों के खिलाफ राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को समर्थन देने के लिए सचिन पायलट (Sachin Pilot) भी उतर गए हैं. पायलट के अनुसार राहुल गांधी ने देश की अर्थव्यवस्था को लेकर जो सवाल खड़े किए हैं वो वाजिब हैं. क्यों उद्योग बंद हो रहे हैं. बड़ी संख्या में लोगों की नौकरियां चली गई हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने जिन मुद्दों को आवाज दी है वह बिल्कुल न्यायसंगत हैं. देश के सामने इस वक्त आर्थिक संकट पैदा हो गया है. उद्योग बंद हो रहे हैं और पूरे देश में लगभग 2.10 करोड़ लोगों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है. जिनके पास नौकरियां हैं तो उनकी तनख्वाह में कटौती कर दी गई. 

  • जनता कर रही त्राहि-त्राहि, मंत्रियों का टैक्स भरा जाएगा सरकारी खजानी से

    जनता कर रही त्राहि-त्राहि, मंत्रियों का टैक्स भरा जाएगा सरकारी खजानी से

    कोरोना महामारी के चलते देश में आर्थिक संकट का दौर चल रहा है. सरकारी खजानों की स्थिति पहले जैसी नहीं है. बावजूद इसके शिवराज सरकर अपने मंत्रियों पर मेहरबान है. सरकार मंत्रियों का आयकर अपने खजाने से भरेगी. कटौती के दौर में सरकार ने आयकर भरने के लिए 2 करोड़ रुपए जारी भी कर दिए हैं. सवाल इस बात का है जहां एक ओर  कर्मचारियों का महंगाई भत्ता, वेतन में बढोत्तरी, एरियर तक रोक दिया गया है वहीं कोरोना काल में भी एक लाख, 70 हजार से ज्यादा हर महीने सैलरी पाने वाले मंत्री जी की टैक्स भी  सरकारी तिजोरी से भरा जा रहा है.

  • सरकारी नौकरियों में भर्ती पर कोई प्रतिबंध नहीं, सर्कुलर के बाद केंद्र सरकार ने दी सफाई

    सरकारी नौकरियों में भर्ती पर कोई प्रतिबंध नहीं, सर्कुलर के बाद केंद्र सरकार ने दी सफाई

    कोरोनो वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) से उपजे आर्थिक संकट (Economic Crisis) के बीच व्यय विभाग ने सरकारी खर्च पर अंकुश लगाने के लिए शुक्रवार को सर्कुलर जारी किया. इसके एक दिन बाद केंद्र ने शनिवार को स्पष्ट किया कि मौजूदा हालात में सरकारी नौकरियों (Government Jobs) के लिए भर्ती (Recruitment) या इनमें कटौती नहीं हो सकती है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के ट्वीट के कुछ घंटों के बाद यह स्पष्टीकरण आया है.

  • नोएडा में सैकड़ों फैक्ट्रियां बंद, कोरोबारी और मजदूर आर्थिक संकट में फंसे

    नोएडा में सैकड़ों फैक्ट्रियां बंद, कोरोबारी और मजदूर आर्थिक संकट में फंसे

    लॉकडाउन के चलते अर्थव्यवस्था का पहिया पटरी से उतर गया है. अकेले गौतमबुद्ध नगर में 300 से ज्यादा फैक्ट्रियों पर ताले लग गए हैं और पांच हजार से ज्यादा फैक्ट्रियां बंद होने की कगार पर हैं. सबसे ज्यादा असर गारमेंट, इलेक्ट्रॉनिक्स सामान बनाने वाली फैक्ट्रियों पर पड़ा है. गारमेंट की फैक्ट्री में रखी लाखों की मशीनें धूल खा रही हैं और सैकड़ों लोगों के काम करने की जगह पर सन्नाटा पसरा है.

  • कोविड-19 के बीच बाटा ने चालू वित्त वर्ष में 100 नए स्टोर खोलने की योजना बनाई

    कोविड-19 के बीच बाटा ने चालू वित्त वर्ष में 100 नए स्टोर खोलने की योजना बनाई

    कंपनी एक अन्य अधिकारी ने कहा कि नेटवर्क विस्तार आमतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में किया जाएगा, जहां मौजूदा कोविड-19 संकट के दौरान शहरों के मुकाबले आर्थिक गतिविधियां बेहतर रही हैं.

  • मीडिया द्वारा ध्यान भटकाने से गरीब की मदद नहीं होगी, राहुल गांधी ने RBI रिपोर्ट पर कहा

    मीडिया द्वारा ध्यान भटकाने से गरीब की मदद नहीं होगी, राहुल गांधी ने RBI रिपोर्ट पर कहा

    हालांकि सत्तारूढ़ दल ने कांग्रेस नेताओं के दावों को खारिज कर दिया है.पिछले हफ्ते, बीजेपी प्रमुख जेपी नड्डा ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्हें "अक्षमता का राजकुमार" और "हारा हुआ शख्स करार दिया था. नड्डा ने राहुल गांधी पर पीएम केयर फंड को लेकर फेक न्यूज फैलाने का भी आरोप लगाया. पीएम केयर फंड कोविड महामारी से निपटने के लिए धन जुटाने में मदद करने के लिए केंद्र द्वारा स्थापित किया गया फंड है.

  • सरकार ने एयर इंडिया के लिए बोली जमा करने की समयसीमा दो महीने बढ़ाई

    सरकार ने एयर इंडिया के लिए बोली जमा करने की समयसीमा दो महीने बढ़ाई

    सरकार ने एयर इंडिया के लिये बोली जमा करने की समयसीमा दो महीने बढ़ाकर 30 अक्टूबर तक कर दी है. कोविड-19 संकट के कारण दुनिया भर में आर्थिक गतिविधियों पर पड़े असर को देखते हुए समयसीमा बढ़ायी गयी है.

  • कोरोना वायरस की चपेट में आने से ब्रिटिश अर्थव्यवस्था में बड़ी गिरावट

    कोरोना वायरस की चपेट में आने से ब्रिटिश अर्थव्यवस्था में बड़ी गिरावट

    कोरोना की चपेट में आने की वजह से ब्रिटिश अर्थव्यवस्था में एक बड़ी गिरावट दर्ज़ हुई है. अप्रैल से जून के बीच 20.4 % की बड़ी गिरावट ने ब्रिटेन को बड़े आर्थिक संकट में धकेल दिया है. भारत पर भी इस संकट का असर पड़ना तय है. दुनिया भर की अर्थव्यवस्था पर कोरोना का साया गहराता जा रहा है. बुधवार को जारी ब्रिटिश अर्थव्यवस्था की दूसरी तिमाही के नतीजों के मुताबिक मंदी की चपेट मे ब्रिटेन में अप्रैल से जून की तिमाही में जीडीपी में 20.4 % की बड़ी गिरावट दर्ज़ हुई है. ब्रिटिश अर्थव्यवस्था आधिकारिक तौर पर अब मंदी की चपेट में है. सबसे ज्यादा गिरावट सर्विसेज, प्रोडक्शन और कंस्ट्रक्शन सेक्टरों में आई है.

  • कोविड-19 महामारी के चलते आधे युवा अवसाद और चिंता का शिकार, ILO के सर्वे में आया सामने

    कोविड-19 महामारी के चलते आधे युवा अवसाद और चिंता का शिकार, ILO के सर्वे में आया सामने

    रिपोर्ट के मुताबिक, ''कोविड-19 महामारी ने हमारे जीवन के हर पहलू को बाधित कर दिया है. संकट की शुरुआत से पहले भी, युवाओं के सामाजिक और आर्थिक एकीकरण को लेकर लगातार चुनौती थी और यदि अब तत्काल कार्रवाई नहीं की गई, तो युवाओं के महामारी से गंभीर रूप से पीड़ित होने की आशंका है, जिसका असर लंबे समय तक रहेगा.''

  • राहुल गांधी बोले-पॉजिटिव एजेंडे के साथ बिहार चुनाव में उतरेंगे, PM और CM नीतीश पर साधा निशाना

    राहुल गांधी बोले-पॉजिटिव एजेंडे के साथ बिहार चुनाव में उतरेंगे, PM और CM नीतीश पर साधा निशाना

    राहुल ने कहा कि बिहार की जनता बदलाव चाहती है, ऐसे में सबको साथ लेकर और विकल्प बनकर जनता के बीच जाना है.सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘मैंने फरवरी में कोरोना और आर्थिक संकट के बारे में आगाह किया था कि तूफान आने वाला है. मैं यहां दोहराना चाहता हूं कि मैंने खुशी से नहीं बोला था.’’

  • रणदीप सुरेजवाला की कांग्रेस नेताओं को सलाह- ट्विटर-ट्विटर न खेलें, सरकार के खिलाफ आवाज उठाएं

    रणदीप सुरेजवाला की कांग्रेस नेताओं को सलाह- ट्विटर-ट्विटर न खेलें, सरकार के खिलाफ आवाज उठाएं

    आज जब देश कोरोना, आर्थिक संकट और चीन तीनों संकट हमारे सामने है. तो सोनिया जी, राहुल जी और मनमोहन सिंह जी के साथ मिलकर इन सारे संकटों का समाना करें और सरकार को सच्चाई का आईना दिखाए. वरिष्ठ नेतृत्व की कांग्रेस में ये जिम्मेदारी है कि वो युवा नेतृत्व को आगे बढ़ाए और उनके लिए रास्ता बनाए. मेरा सबसे अनुरोध है कि संकट की घड़ी में मिलकर मोदी सरकार के खिलाफ लड़ें."

  • क्या राफेल में बेरोजगारी और आर्थिक संकट खत्म करने की क्षमता है : शिवसेना

    क्या राफेल में बेरोजगारी और आर्थिक संकट खत्म करने की क्षमता है : शिवसेना

    राउत ने शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ (Saamna) में अपने साप्ताहिक स्तंभ रोकटोक में दावा किया कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी (Coronavirus Pandemic) के कारण 10 करोड़ लोगों ने अपनी आजीविका गंवा दी है और इस संकट से 40 करोड़ से अधिक परिवार प्रभावित हुए हैं,  राज्यसभा सदस्य ने कहा कि मध्यमवर्गीय वेतनभोगी लोगों की नौकरियां चली गईं जबकि व्यापार और उद्योगों को करीब चार लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.  राउत ने कहा, ‘‘लोगों के धैर्य की एक सीमा है. वे केवल उम्मीद और वादों पर जिंदा नहीं रह सकते. प्रधानमंत्री भी इस बात से सहमत होंगे कि भले ही भगवान राम का ‘वनवास’ खत्म हो गया है लेकिन मौजूदा हालात मुश्किल हैं. किसी ने भी अपनी जिंदगी के बारे में पहले कभी इतना असुरक्षित महसूस नहीं किया होगा.’’

  • गहलोत vs पायलट : राजस्थान की सियासी जंग में SC में कौन मारेगा बाजी? 10 प्वाइंट में समझें, क्या हैं संभावनाएं

    गहलोत vs पायलट : राजस्थान की सियासी जंग में SC में कौन मारेगा बाजी? 10 प्वाइंट में समझें, क्या हैं संभावनाएं

    Sachin Pilot vs Ashok Gehlot: राजस्थान की सियासी बिसात पर शह और मात का खेल जारी है. अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच की तकरार कई पड़ावों से होते हुए आज सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुकी है. जहां आज स्पीकर सीपी जोशी (Speaker CP Joshi) की याचिका पर सुनवाई होनी है. यह सियासी संग्राम बाहर से सिर्फ अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच नजर आ रहा है लेकिन अलग अलग नजरिए से देखा जाए तो यह कांग्रेस बनाम बीजेपी और गहलोत बनाम गर्वनर भी है. गहलोत ने रविवार को राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) को नया प्रस्ताव भेज कर विधानसभा सत्र बुलाने की मांग की है. उन्होंने अपने इस नए प्रस्ताव में विश्वास मत का जिक्र ही नहीं किया है बल्कि इसका एजेंडा कोरोना वायरस (Coronavirus) और आर्थिक संकट को बताया है. गहलोत हर मोर्चे पर लड़ने की तैयारी के साथ उतरे हैं. दूसरी तरफ वह बीजेपी पर लगातार आक्रामक रवैया भी अख्तियार किए हुए हैं. इन 10 प्वाइंट्स से समझिए अब तक क्या क्या हुआ.

  • अशोक गहलोत ने विधायकों से कहा, "अगर जरूरत पड़ी तो राष्ट्रपति भवन तक जाएंगे"

    अशोक गहलोत ने विधायकों से कहा,

    राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कांग्रेस विधायकों से कहा कि भाजपा की साजिश को सफल नहीं होने दिया जाएगा, चाहे इसके लिए उन्हें राष्ट्रपति भवन तक क्यों ना जाना पड़े, राष्ट्रपति से गुहार क्यों ना लगानी पड़े.  आज शाम होने वाली कैबिनेट बैठक से पहले गहलोत ने कांग्रेस विधायक दल की बैठक ली. वहीं आज सीएम गहलोत और राज्यपाल कलराज मिश्र की भी मुलाकात होनी है जिसमें उम्मीद की जा रही है कि गहलोत सोमवार से  विधानसभा सत्र आहूत करने के लिए नए पत्र के साथ राजभवन जाएंगे. इससे पहले शुक्रवार राजभवन में गहलोत और उनके समर्थक विधायकों ने प्रदर्शन किया था, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि राज्यपाल किसी के दवाब में सदन आहूत करने की अनुमति नहीं दे रहे हैं. राजभवन में घंटों चले इस ड्रामे के बाद गहलोत ने देर रात कैबिनेट की बैठक ली. काफी लंबे समय तक चली बैठक में कैबिनेट ने विधानसभा सत्र के आह्वान के संबंध में राज्यपाल द्वारा उठाए गए छह बिंदुओं पर चर्चा की. आज सुबह राज्यपाल को एक प्रस्ताव भेजा गया, जिसमें यह बताया गया कि विधानसभा सत्र का फोकस, कोरोनावायरस का प्रकोप और परिणामी आर्थिक संकट होगा.

  • कोरोना संकट और लॉकडाउन से अप्रैल से जून के बीच 2.5 करोड़ से 3 करोड़ मजदूरों का रोजगार छिना

    कोरोना संकट और लॉकडाउन से अप्रैल से जून के बीच 2.5 करोड़ से 3 करोड़ मजदूरों का रोजगार छिना

    कोरोना संकट और लॉकडाउन की वजह से अप्रैल से जून के बीच 2.5 करोड़ से 3 करोड़ मज़दूरों का रोज़गार छिन गया.  छोटे और लघु उद्योग संघ और स्कॉच ग्रुप के सर्वे में ये बात सामने आई है. सर्वे में ये अंदेशा जताया गया है कि आर्थिक स्थिति कमज़ोर होने की वजह से अगस्त के अंत तक 1 से 1.5 करोड़ और वर्करों की नौकरी जा सकती है. 

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com