NDTV Khabar

आर्थिक सुधार


'आर्थिक सुधार' - 187 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती पर बोले RBI गर्वनर शक्तिकांत दास, कहा-सरकार के कदमों से आएगा सुधार

    अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती पर बोले RBI गर्वनर शक्तिकांत दास, कहा-सरकार के कदमों से आएगा सुधार

    शक्तिकांत दास ने भरोसा जताया कि सरकार द्वारा हाल ही में उठाये गये कदमों से अर्थव्यवस्था में सुधार आएगा. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीने से अर्थव्यवस्था में सुस्ती दिखाई दे रही है, उसमें तेजी लाने के लिये केंद्रीय बैंक नीतिगत दरों में कटौती कर रहा है.

  • मंदी के अंदेशे के बीच सरकार ने विदेशी निवेशकों पर बढ़े सरचार्ज को वापस लिया, 10 बड़ी बातें

    मंदी के अंदेशे के बीच सरकार ने विदेशी निवेशकों पर बढ़े सरचार्ज को वापस लिया, 10 बड़ी बातें

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने देश के आर्थिक हालात के बारे में विस्तार से जानकारी तो दी ही, साथ ही कई घोषणाएं भी की. उन्होंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था बाकी देशों की अर्थव्यवस्था से बेहतर है. भारत में मंदी जैसी कोई बात नहीं है, लेकिन हम अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए कई कदम उठा रहे हैं. वित्त मंत्री ने कहा कि वैश्विक जीडीपी वृद्धि दर संशोधित होकर मौजूदा अनुमान 3.2 प्रतिशत से नीचे जा सकती है. वैश्विक मांग कमजोर रहेगी. अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध तथा मुद्रा अवमूल्यन के चलते वैश्विक व्यापार में काफी उतार-चढ़ाव वाली स्थिति पैदा हुई है. भारत की आर्थिक वृद्धि दर कई देशों की तुलना में ऊंची है. आर्थिक सुधार सरकार के एजेंडा में सबसे ऊपर है, सुधारों की प्रक्रिया जारी है, इसकी रफ्तार थमी नहीं है. उन्होंने कहा कि कारपोरेट सामाजिक दायित्व (सीएसआर) नियमों के उल्लंघन को दिवानी मामले की तरह देखा जाएगा, इसे आपराधिक मामलों की श्रेणी में नहीं रखा जाएगा.

  • कार और हाउसिंग लोन होंगे सस्ते, GST की प्रक्रिया भी होगी सरल, पढ़ें- वित्त मंत्री के 10 बड़े ऐलान

    कार और हाउसिंग लोन होंगे सस्ते, GST की प्रक्रिया भी होगी सरल, पढ़ें- वित्त मंत्री के 10 बड़े ऐलान

    देश के आर्थिक हालात को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने देश के आर्थिक हालात के बारे में विस्तार से जानकारी तो दी ही, साथ ही कई घोषणाएं भी की. उन्होंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था बाकी देशों की अर्थव्यवस्था से बेहतर है. भारत में मंदी जैसी कोई बात नहीं है, लेकिन हम अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए कई कदम उठा रहे हैं. वित्त मंत्री ने कहा कि वैश्विक जीडीपी वृद्धि दर संशोधित होकर मौजूदा अनुमान 3.2 प्रतिशत से नीचे जा सकती है. वैश्विक मांग कमजोर रहेगी. अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध तथा मुद्रा अवमूल्यन के चलते वैश्विक व्यापार में काफी उतार-चढ़ाव वाली स्थिति पैदा हुई है. भारत की आर्थिक वृद्धि दर कई देशों की तुलना में ऊंची है. आर्थिक सुधार सरकार के एजेंडा में सबसे ऊपर है, सुधारों की प्रक्रिया जारी है, इसकी रफ्तार थमी नहीं है. उन्होंने कहा कि कारपोरेट सामाजिक दायित्व (सीएसआर) नियमों के उल्लंघन को दिवानी मामले की तरह देखा जाएगा, इसे आपराधिक मामलों की श्रेणी में नहीं रखा जाएगा. वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में शुरुआती दौर में ही 70 हजार करोड़ रुपये की पूंजी डालेगी ताकि बैंक बाजार में पांच लाख करोड़ रुपये तक की नकदी जारी करने में सक्षम हो सकें. छोटे एवं मझोले उद्यमों (एमएसएमई) के अब तक के सभी लंबित जीएसटी रिफंड का भुगतान 30 दिन के भीतर कर दिया जाएगा. भविष्य के रिफंड मामलों को 60 दिन के भीतर निपटा दिया जाएगा. वहीं, बैंकों ने रेपो दर में कटौती का फायदा ग्राहकों को पहुंचाने का फैसला किया है. रेपो दर या बाहरी मानक आधारित कर्ज उत्पाद पेश किए. बैंक घर और वाहन के लिए कर्ज सस्ता करेंगे. जबकि 2020 तक खरीदे गए भारत मानक- चार के वाहन पंजीकरण की पूरी अवधि तक परिचालन में बने रहेंगे. पढ़ें- वित्त मंत्री के प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें. 

  • 2020-21 से भारत आठ प्रतिशत से अधिक की आर्थिक वृद्धि दर हासिल कर लेगा : राजीव कुमार

    2020-21 से  भारत आठ प्रतिशत से अधिक की आर्थिक वृद्धि दर हासिल कर लेगा : राजीव कुमार

    नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने भरोसा जताया है कि भारत 2020-21 से आठ प्रतिशत से अधिक की आर्थिक वृद्धि दर हासिल कर लेगा. उन्होंने कहा कि माल एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसे संरचनात्मक सुधार अब परिणाम देने लगेंगे.  कुमार यहां संयुक्तराष्ट्र मुख्यालय में ‘टिकाउ विकास लक्ष्य’ को लेकर एक कार्यक्रम में भाग लेने यहां आये हुए हैं. अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने यहां भारत के महावाणिज्य दूतावास में आयोजित भारत निवेश संगोष्ठी को भी संबोधित किया.    उन्होंने कहा कि मोदी सरकार अगले पांच साल में देश की आर्थिक वृद्धि दर को मौजूदा सात प्रतिशत से बढ़ाकर आठ प्रतिशत से अधिक करने पर ध्यान देगी. 

  • आर्थिक तंगी से जूझ रहा पाकिस्तान, पहले अमेरिकी दौरे पर होटल की बजाय पाक राजदूत के घर ठहरे पीएम इमरान खान

    आर्थिक तंगी से जूझ रहा पाकिस्तान, पहले अमेरिकी दौरे पर होटल की बजाय पाक राजदूत के घर ठहरे पीएम इमरान खान

    पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अमेरिका के अपने तीन दिवसीय पहले आधिकारिक दौरे पर पहुंच गए हैं. इस दौरान वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात कर द्विपक्षीय संबंधों में सुधार लाने का प्रयास करेंगे. अमेरिका द्वारा पाकिस्तान की सार्वजनिक तौर पर आलोचना किए जाने, सैन्य सहायता रोकने और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई तेज करने के लिए कहने के बाद से दोनों देशों के रिश्ते प्रभावित हुए थे.

  • मध्य प्रदेश: स्वच्छ भारत के तहत बनाए गए टॉयलेट यूज करने लायक नहीं, लोग बोले- खुले में शौच को मजबूर

    मध्य प्रदेश: स्वच्छ भारत के तहत बनाए गए टॉयलेट यूज करने लायक नहीं, लोग बोले- खुले में शौच को मजबूर

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा संसद में पेश आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि योजना लागू किये जाने के बाद 5,64,658 गांव खुले में शौच से मुक्‍त (ओडीएफ) घोषित किये गये हैं. उसके मुताबिक 14 जून, 2019 तक 30 राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों में 100 प्रतिशत व्‍यक्तिगत घरेलू शौचालय (आईएचएचएल) कवरेज कराई जा चुकी है. उसमें कहा गया है कि एसबीएम में स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र में महत्वपूर्ण सुधार हुआ है.

  • Budget 2019 Speech: यहां पढ़ें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का पूरा भाषण

    Budget 2019 Speech: यहां पढ़ें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का पूरा भाषण

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केंद्रीय बजट को ‘देश को समृद्ध और जन-जन को समर्थ’ बनाने वाला करार दिया और कहा कि इस बजट में आर्थिक सुधार, नागरिकों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने के साथ गांव एवं गरीब का कल्याण भी है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुक्रवार को लोकसभा में आम बजट प्रस्ताव पेश किये जाने के बाद प्रधानमंत्री ने अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा, ‘इस बजट से गरीब को बल मिलेगा और युवाओं को बेहतर कल मिलेगा. इस बजट के माध्यम से मध्यम वर्ग को प्रगति मिलेगी. विकास की रफ्तार को गति मिलेगी.’ उन्होंने कहा कि यह बजट उद्यमियों और उद्यमों को मजबूत बनाएगा तथा देश में महिलाओं की भागीदारी को और बढ़ाएगा.

  • देश के विकास का 'पावरहाउस' बनेगा गरीब... PM मोदी ने बजट पर कही ये 10 खास बातें

    देश के विकास का 'पावरहाउस' बनेगा गरीब... PM मोदी ने बजट पर कही ये 10 खास बातें

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केंद्रीय बजट को देश को समृद्ध और जन-जन को समर्थ बनाने वाला करार दिया और कहा कि इस बजट में आर्थिक सुधार, नागरिकों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने के साथ गांव एवं गरीब का कल्याण भी है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुक्रवार को लोकसभा में आम बजट प्रस्ताव पेश किये जाने के बाद प्रधानमंत्री ने अपनी पहली प्रतिक्रिया दी.

  • पेशेवर नौकरशाहों का भी समुचित उपयोग ज़रूरी

    पेशेवर नौकरशाहों का भी समुचित उपयोग ज़रूरी

    सन् 1991 में देश की आर्थिक नीति में हुए 360 डिग्री बदलाव का एक अत्यंत अव्यावहारिक पहलू यह रहा कि उसके अनुकूल प्रशासनिक व्यवस्था में परिवर्तन करने की कोई बड़ी कोशिश नहीं की गई. ऐसा इसके बावजूद रहा कि प्रथम प्रशासनिक सुधार आयोग (1969) तथा द्वितीय प्रशासनिक सुधार आयोग (2010) ने ऐसा करने के लिए कहा था. इन आयोगों का संकेत सरकारी सेवा को प्रोफेशनल बनाए जाने की ओर था.

  • Budget 2019: बजट से ठीक पहले पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से मिलीं वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण

    Budget 2019: बजट से ठीक पहले पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से मिलीं वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट से पहले गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से उनके आवास पर मुलाकात की. सीतारमण पांच जुलाई को लोकसभा में अपना पहला बजट पेश करेंगी. आर्थिक सुधार के वास्तुकार के रूप में प्रसिद्ध सिंह वित्तमंत्री भी रह चुके हैं. वह 1991 से लेकर 1996 तक तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिंह राव की सरकार में वित्तमंत्री थे.

  • पढ़ें पूर्व पीएम पीवी नरसिम्हा राव और गांधी परिवार के रिश्तों में क्यों आई खटास 

    पढ़ें पूर्व पीएम पीवी नरसिम्हा राव और गांधी परिवार के रिश्तों में क्यों आई खटास 

    आज पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता स्वर्गीय पीवी नरसिम्हा राव की जयंती है. राव देश के ऐसे प्रधानमंत्री रहे हैं जिनका नाम देश में आर्थिक सुधार (इकनोनॉमिक रिफॉर्म्स) का जिक्र छिड़ते ही तपाक से लिया जाता है. यूं तो नरसिम्हा राव कांग्रेस की बांह पकड़कर सियासत की सीढ़ियां चढ़ते हुए पीएम पद तक पहुंचे, लेकिन सियासी गलियारों में अक्सर चर्चा इस बात की होती है कि राव के आखिरी दिनों में पार्टी ने उनके साथ किस तरह का सुलूक किया. आखिर ऐसी क्या वजह थी जो कांग्रेस और उससे कहीं ज्यादा गांधी परिवार और राव के रिश्तों में इतनी ज्यादा कड़वाहट घुल गई थी. राजनीतिक विशेषज्ञ इस कड़वाहट के पीछे उन्हीं आर्थिक सुधारों को देखते हैं जिसकी वजह से राव की देश-दुनिया में अलग पहचान बनी.

  • इस वित्त वर्ष में 7.5 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि की राह पर लौटेगा भारत : अरविंद विरमानी

    इस वित्त वर्ष में 7.5 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि की राह पर लौटेगा भारत : अरविंद विरमानी

    देश की आर्थिक वृद्धि दर सुधार की राह पर है. चालू वित्त वर्ष में इसके 7.5 प्रतिशत से अधिक रहने की उम्मीद है. पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद विरमानी ने आज यह बात कही. विरमानी ने कहा कि अमेरिका चीन के बीच शुल्कों को लेकर छिड़े युद्ध से भारत के पास अमेरिका को अपना निर्यात बढ़ाने का मौका है. 

  • कच्चा तेल की अधिक कीमतें आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम: मूडीज

    कच्चा तेल की अधिक कीमतें आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम: मूडीज

    क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने कहा कि कच्चे तेल की ऊंची कीमतें देश की आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम हैं. हालांकि पेट्रोल एवं डीजल पर दी जाने वाली छूट में सुधार से जोखिम कम हुआ है. मूडीज और उसकी सहयोगी इकाई इक्रा द्वारा किये गये सर्वेक्षण में निवेशकों ने कच्चे तेल की अधिक कीमतों को आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम बताया और कहा कि 3.3 प्रतिशत राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को प्राप्त करना मुश्किल है. 

  • अमेरिका की आर्थिक वृद्धि दर पांच प्रतिशत के स्तर को छू सकती है: डोनाल्ड ट्रंप

    अमेरिका की आर्थिक वृद्धि दर पांच प्रतिशत के स्तर को छू सकती है: डोनाल्ड ट्रंप

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अर्थव्यवस्था में सुधार और नए कारखानों से रोजगार सृजन के बल पर देश की आर्थिक वृद्धि दर बढ़कर पांच प्रतिशत के स्तर को छू सकती है. वर्तमान में अमेरिका की वृद्धि दर 3.2 प्रतिशत है. ट्रंप ने अनुमान जताया कि उनके दूसरे कार्यकाल में अमेरिका की आर्थिक वृद्धि दर पांच प्रतिशत के स्तर को पार सकती है. 

  • नीति आयोग ने कहा, मोदी सरकार ने चार सालों में किया अच्छा काम

    नीति आयोग ने कहा, मोदी सरकार ने चार सालों में किया अच्छा काम

    नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने नरेंद्र मोदी सरकार के कामकाज को ‘चामत्कारिक’ बताया और कहा कि पिछले चार साल में आर्थिक वृद्धि, मुद्रास्फीति तथा राजकोषीय घाटा समेत वृहत आर्थिक मानदंडों में उल्लेखनीय सुधार हुआ है. संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) शासन के आखिरी के वर्षों में नीतियों के मामले में जड़ता को देखते हुए सरकार ने सभी मोर्चों पर अच्छा काम किया है.

  • भारत 2018 में सबसे तीव्र विकास दर वाली अर्थव्यवस्था : आईएमएफ

    भारत 2018 में सबसे तीव्र विकास दर वाली अर्थव्यवस्था : आईएमएफ

    अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने बुधवार को दोहराया कि भारत की अर्थव्यवस्था 2018 में दुनिया में सबसे तेजी से विकास करेगी. आईएमएफ ने 2018 में भारत की आर्थिक विकास 7.4 फीसदी और 2019 में 7.8 फीसदी रहने का अनुमान जताया है. एशिया और प्रशांत क्षेत्र के आर्थिक विकास की संभावनाओं पर आईएमएफ की रपट के मुताबिक, भारत में नोटबंदी और वस्तु एवं सेवा कर लागू होने के बाद अर्थव्यवस्था पर हुए क्षणिक असर के बाद सुधार का दौर जारी है. 

  • चालू वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहेगी : डॉयचे बैंक

    चालू वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहेगी : डॉयचे बैंक

    भारतीय अर्थव्यवस्था वृद्धि के रास्ते पर आगे बढ़ रही है और चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि की दर 7.5 प्रतिशत तक पहुंच जाने का अनुमान है. वैश्विक वित्तीय सेवा प्रदाता फर्म डॉयचे बैंक ने अपनी रिपोर्ट में यह बात कही. बैंक ने कहा कि 2018-19 के लिए आर्थिक वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है. वहीं, भारतीय रिजर्व बैंक ने आर्थिक वृद्धि दर 2017-18 में 6.6 प्रतिशत से बढ़कर चालू वित्त वर्ष में 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है. निवेश गतिविधियों में सुधार के चलते तेजी की उम्मीद है.

  • चालू वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहेगी : डॉयचे बैंक

    चालू वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहेगी : डॉयचे बैंक

    भारतीय अर्थव्यवस्था वृद्धि के रास्ते पर आगे बढ़ रही है और चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि की दर 7.5 प्रतिशत तक पहुंच जाने का अनुमान है. वैश्विक वित्तीय सेवा प्रदाता फर्म डॉयचे बैंक ने अपनी रिपोर्ट में यह बात कही. बैंक ने कहा कि 2018-19 के लिए आर्थिक वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है. वहीं, भारतीय रिजर्व बैंक ने आर्थिक वृद्धि दर 2017-18 में 6.6 प्रतिशत से बढ़कर चालू वित्त वर्ष में 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है. निवेश गतिविधियों में सुधार के चलते तेजी की उम्मीद है.