NDTV Khabar

इबोला वायरस


'इबोला वायरस' - 29 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • रूस ने कोरोना वायरस की नई वैक्सीन बनाई, राष्ट्रपति पुतिन ने की घोषणा

    रूस ने कोरोना वायरस की नई वैक्सीन बनाई, राष्ट्रपति पुतिन ने की घोषणा

    World Coronavirus: रूस (Russia) में जब कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में काफी तेजी आ गई है तब राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को घोषणा की कि रूस ने अपनी दूसरी कोरोना वायरस वैक्सीन रजिस्टर्ड की है. पुतिन ने कैबिनेट सदस्यों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, "नोवोसिबिर्स्क वेक्टर सेंटर ने आज कोरोना वायरस के खिलाफ दूसरी रूसी वैक्सीन रजिस्टर्ड की है." साइबेरियाई शहर नोवोसिबिर्स्क में एक टॉप सीक्रेट लैब, वेकेटर में सोवियत काल में जैविक हथियार अनुसंधान और इबोला से लेकर चेचक के वायरस तक का भंडार किया था.

  • Coronavirus पर बोले AIIMS के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया- अगले 5-7 दिनों पर बहुत कुछ निर्भर

    Coronavirus पर बोले AIIMS के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया- अगले 5-7 दिनों पर बहुत कुछ निर्भर

    डॉक्टर गुलेरिया ने कहा, 'कोरोना की वैक्सीन को लेकर ट्रायल चल रहे हैं. प्लाज्मा थेरेपी भी है. इसका कनेक्शन उन लोगों से है जो बीमारी से ठीक हो चुके हैं. प्लाज्मा थेरेपी का प्रयोग कई बीमारियों में होता है, इसमें इबोला भी शामिल है. इस थेरेपी के पीछे की वजह इस तरह समझिए कि अगर कोई कोरोना संक्रमित ठीक हुआ है तो वह अपने शरीर में मौजूद एंटीबॉडीज की वजह से ठीक हुआ है. एंटीबॉडीज ने वायरस को मात दी है. इसका मतलब है कि उसके शरीर में एंटीबॉडीज मौजूद हैं. एक बार जब संक्रमित व्यक्ति पूरी तरह से स्वस्थ हो जाता है तो फिर हम उसका प्लाज्मा लेकर अन्य मरीजों को दे सकते हैं.'

  • क्‍या कोरोना वायरस से सुरक्षा देती है आपकी इंश्योरेंस पॉलिसी?

    क्‍या कोरोना वायरस से सुरक्षा देती है आपकी इंश्योरेंस पॉलिसी?

    पिछले कुछ वर्षो में दुनिया ने कई घातक वायरस के प्रकोपों का सामना किया है- जैसे कि इबोला (Ebola), जीका (Zika), सार्स (Sars), मर्स (मिडिल ईस्ट रेसपेरेटेरी सिंड्रोम). वहीं हाल ही में निपाह (Nipah virus infection), और अब कोरोना वायरस (Coronavirus Or COVID-19) देखने को मिल रहा है.

  • अब आसानी से लगा जाएगा Virus का पता, वैज्ञानिकों ने विकसित की ये तकनीक...

    अब आसानी से लगा जाएगा Virus का पता, वैज्ञानिकों ने विकसित की ये तकनीक...

    वैज्ञानिकों ने हाथ से संचालित होने वाला एक अनोखा यंत्र विकसित किया है, जो वायरस (Virus) का शीघ्र पता लगा सकता है और उसकी पहचान कर सकता है. ‘पीएनएएस’ नामक पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, वायरोलॉजिस्ट (Virologist)  का अनुमान है कि जानवरों में 16.7 लाख अज्ञात वायरस होते हैं, जिनमें से कई के संक्रमण में मनुष्य भी आ सकते हैं. एच5एन1, जीका और इबोला जैसे वायरस की वजह से बड़े पैमाने पर बीमारियां फैलीं और काफी मौतें हुई हैं.

  • जानें इबोला वायरस क्या होता है, क्या हैं Ebola Virus के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

    जानें इबोला वायरस क्या होता है, क्या हैं Ebola Virus के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

    Ebola Virus Disease: अगर आप भी जानना चाहते हैं कि इबोला वायरस आखिर क्या है, तो इस लेख में हम बताने जा रहे हैं इबोला संक्रमण के बारे में सबकुछ. इबोला संक्रमण क्या है, कैसे फैलता है, इसके कारण क्या हैं और इबोला से बचाव के उपाय क्या हैं. तो चलिए सबसे पहले जानते हैं कि आखिर इबोला वायरस है क्या...

  • इस देश में फैला इबोला वायरस, WHO ने घोषित किया 'स्वास्थ्य आपातकाल'

    इस देश में फैला इबोला वायरस, WHO ने घोषित किया 'स्वास्थ्य आपातकाल'

    समिति ने हाल के घटनाक्रमों के आधार पर अनुरोध किया. इसमें गोमा में पहला स्पष्ट मामला. गोमा, रवांडा की सीमा से लगा स्थान है, जहां पर करीब 20 लाख की आबादी है. इसके साथ ही यह कांगो और दुनिया के बाकी हिस्सों का प्रवेश भी है.

  • बीएचयू में होगी इबोला और जीका वायरस की भी जांच

    बीएचयू में होगी इबोला और जीका वायरस की भी जांच

    इसके लिए इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (आइएमएस) में स्टेट लेवल वायरल डिजीज एंड रिसर्च लेबोरेटरी बनाई जा रही है.

  • एस्ट्रोजन हार्मोन करता है इबोला और हेपेटाइटिस के प्रभाव को कम

    एस्ट्रोजन हार्मोन करता है इबोला और हेपेटाइटिस के प्रभाव को कम

    महिलाओं की बॉडी में हार्मोन का बहुत बड़ा रोल होता है, जो दिल से लेकर दिमाग तक को कंट्रोल करता है। यही एस्ट्रोजन हार्मोन सिर्फ महिलाओं के लिए काफी लाभदायक है। एक नए शोध के दौरान यह पुष्टि हुई है कि यह महिलाओं में फ्लू वायरस को घटाता है, लेकिन पुरुषों में नहीं।

  • चीनी वैज्ञानिकों ने खोजा इबोला वायरस से लड़ने का तरीका, इलाज संभव!

    चीनी वैज्ञानिकों ने खोजा इबोला वायरस से लड़ने का तरीका, इलाज संभव!

    पिछले दिनों आई इबोला वायरस की खबरों ने शहर में हलचल मचा रखी थी। लोग इस जानलेवा बीमारी से घबराए हुए थे। लेकिन आपको बता दें कि अब उन्हें किसी भी प्रकार की टेंशन लेने की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि वैज्ञानिकों ने इबोला वायरस के बारे में नई खोज की है।

  • इबोला से लड़ने वाले तीन हजार लोगों को मेडल देगा ब्रिटेन

    इबोला से लड़ने वाले तीन हजार लोगों को मेडल देगा ब्रिटेन

    ब्रिटेन विगत दिनों पश्चिम अफ्रीका में फैली इबोला बीमारी से साहसिक तरीके से लड़ने और इस दिशा में कड़ी मेहनत करने वालों को सम्मानित करेगा।

  • पाक में इबोला से नहीं, डेंगू से हुई व्यक्ति की मौत

    पाक में इबोला से नहीं, डेंगू से हुई व्यक्ति की मौत

    पाकिस्तान में इबोला वायरस बीमारी (ईवीडी) के संदिग्ध माने जा रहे व्यक्ति की मौत डेंगू और हेपेटाइटिस-सी का कारण हुई।

  • इबोला पर 2015 तक पाया जा सकता है काबू : यूएन महासचिव

    इबोला पर 2015 तक पाया जा सकता है काबू : यूएन महासचिव

    संयुक्त राष्ट्र (यूएन) महासचिव बान की-मून ने कहा है कि जानलेवा इबोला वायरस पर वर्ष 2015 के मध्य तक काबू पाया जा सकता है। बान ने कहा कि इबोला महामारी के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को तेज करके इस पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

  • इबोला ग्रस्त अमेरिकी डॉक्टर को अस्पताल से छुट्टी

    इबोला ग्रस्त अमेरिकी डॉक्टर को अस्पताल से छुट्टी

    गिनी में जानलेवा इबोला वायरस की चपेट में आए अमेरिकी डॉक्टर क्रैग स्पेंसर को स्वास्थ्यलाभ के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। अमेरिका में अब इबोला का कोई मरीज नहीं है।

  • अमेरिका की पहचान डर से नहीं, संभावना से है : इबोला पर ओबामा

    अमेरिका की पहचान डर से नहीं, संभावना से है : इबोला पर ओबामा

    अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने पश्चिम अफ्रीका में इबोला बीमारी से निपटने में की गई प्रगति की सराहना करते हुए कहा है कि घातक वायरस से मुकाबले के लिए हमारी प्रतिक्रिया डर पर नहीं, बल्कि विज्ञान पर आधारित होनी चाहिए।

  • चीन और अमेरिका इबोला महामारी से साथ मिलकर लड़ेंगे

    चीन और अमेरिका इबोला महामारी से साथ मिलकर लड़ेंगे

    चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता छिन गांग ने कहा कि बोस्टन में चीन के स्टेट काउंसलर यांग चिएची और अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी के बीच हुई मुलाकात में दोनों देश इबोला से लड़ने के लिए आपस में सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए।

  • इबोला का प्रसार रोकने के लिए हमने किया कच्चा काम : संयुक्त राष्ट्र

    इबोला का प्रसार रोकने के लिए हमने किया कच्चा काम : संयुक्त राष्ट्र

    डब्ल्यूएचओ ने स्वीकार किया है कि पश्चिम अफ्रीका में फैले इबोला को रोकने में नाकाम रहने का एक कारक यह भी है कि उसकी तरफ से पर्याप्त प्रयास नहीं किए गए। इसके लिए स्टाफ के पास दक्षता तथा सूचना की कमी जैसे कारण जिम्मेदार हैं।

  • इबोला से मरने वालों की संख्या 4,500 के करीब : डब्ल्यूएचओ

    इबोला से मरने वालों की संख्या 4,500 के करीब : डब्ल्यूएचओ

    विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, इस साल के शुरू में पश्चिम अफ्रीका में फैली इबोला महामारी की वजह से अब तक करीब 4,500 लोग मारे गए हैं।

  • हर हफ्ते इबोला के 10,000 नए मामले आ सकते हैं : डब्ल्यूएचओ

    हर हफ्ते इबोला के 10,000 नए मामले आ सकते हैं : डब्ल्यूएचओ

    डब्ल्यूएचओ के सहायक निदेशक डॉक्टर ब्रूस एलवर्ड ने कहा कि अगर इबोला के संकट को रोकने के लिए 60 दिनों के भीतर त्वरित कदम नहीं उठाए जाते तो बहुत सारे लोगों की मौत हो सकती है।

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com