NDTV Khabar

ईरान News in Hindi


'ईरान' - 606 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • सऊदी अरब के कच्चे तेल की रिफ़ाइनरी पर ड्रोन हमले का असर भारत पर भी पड़ेगा

    सऊदी अरब के कच्चे तेल की रिफ़ाइनरी पर ड्रोन हमले का असर भारत पर भी पड़ेगा

    यमन के हूथी विद्रोहियों ने शनिवार सुबह सऊदी अरब की कच्चे तेल की रिफ़ाइनरी पर ड्रोन हमले किए थे. इससे दुनियाभर में कच्चे तेल की सप्लाई पर असर पड़ेगा और इसके असर से भारत की अछूता नहीं रहेगा. सऊदी तेल कंपनी अरामको ने कहा कि वह अगले करीब दो दिनों तक उत्पादन को कम रखेगी ताकि क्षतिग्रस्त हुए तेल के कुओं की मरम्मत की जा सके.  इस हमले के बाद ईरान और अमेरिका एक-दूसरे पर उंगली उठा रहे हैं. वहीं  सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री ने शुरुआती अनुमान के आधार पर बताया कि हमले से प्रतिदिन 57 लाख बैरल तेल उत्पादन घट गया है.  ईथेन और नेचुरल गैस की सप्लाई भी आधी प्रभावित हुई है. इन हमलों का निशाना सिर्फ़ सऊदी अरब ही नहीं बल्कि दुनिया की तेल सप्लाई और सुरक्षा पर भी था.  

  • कश्मीर पर अब ईरान के शीर्ष नेता खमैनी का आया बयान- हमें मुस्लिमों की चिंता, भारत से उम्मीद हैं...

    कश्मीर पर अब ईरान के शीर्ष नेता खमैनी का आया बयान- हमें मुस्लिमों की चिंता, भारत से उम्मीद हैं...

    खमैनी का बयान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मध्यस्थता की पेशकश के बाद आया है. ट्रंप ने भारत और पाकिस्तान के बीच लंबे समय से टकराव का मुद्दा रहे कश्मीर की ‘विस्फोटक’ स्थिति पर एक बार फिर मध्यस्थता की पेशकश की है. ट्रंप ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष सप्ताहांत में यह मुद्दा उठायेंगे. अमेरिका ने मोदी से कश्मीर में तनाव कम करने के लिये कदम उठाने का अनुरोध किया था. ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा, ‘कश्मीर बेहद जटिल जगह है. यहां हिंदू हैं और मुसलमान भी और मैं नहीं कहूंगा कि उनके बीच काफी मेलजोल है.’ उन्होंने कहा, ‘‘मध्यस्थता के लिये जो भी बेहतर हो सकेगा, मैं वो करूंगा.’’

  • भारत सहित कई देशों को अफगानिस्तान में आतंकवादियों से कभी-न-कभी लड़ना होगा : डोनाल्ड ट्रंप

    भारत सहित कई देशों को अफगानिस्तान में आतंकवादियों से कभी-न-कभी लड़ना होगा : डोनाल्ड ट्रंप

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को आगाह किया कि भारत, ईरान, रूस और तुर्की जैसे देशों को कभी-न-कभी अफगानिस्तान में आतंकवादियों से लड़ना होगा. ट्रंप ने कहा कि केवल अमेरिका ही करीब सात हज़ार मील दूर आतंकवाद से लड़ने का काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि अन्य देश फिलहाल अफगानिस्तान में आतंकवादियों के खिलाफ बहुत कम प्रयास कर रहे हैं.

  • लोकतंत्र के ट्यूलिप की तरह है ट्यूनीशिया

    लोकतंत्र के ट्यूलिप की तरह है ट्यूनीशिया

    फिलहाल दुनिया अमेरिका-चीन का व्यापार युद्ध, उत्तरी कोरिया के परमाणु परीक्षण, अमेरिका-रूस का परमाणु संधि से विलगाव तथा ईरान पर गड़गड़ाते युद्ध के बादलों के शोर में खोई हुई है. ऐसे में भला सवा करोड़ से भी 10 लाख कम आबादी वाले एक छोटे से ट्यूनीशिया नामक देश में चटकी कली पर किसी का ध्यान क्यों जाएगा. लेकिन जाना चाहिए.

  • अमेरिका ने भारत को कहा अच्छा दोस्त, बोला - ईरान मामले पर सहयोग से संतुष्ट हैं हम

    अमेरिका ने भारत को कहा अच्छा दोस्त, बोला - ईरान मामले पर सहयोग से संतुष्ट हैं हम

    व्हाइट हाउस ने कहा है कि वह ईरान पर लगाए गए तेल प्रतिबंधों को लेकर ‘‘भारत जैसे अच्छे मित्र और साझीदार के सहयोग से काफी संतुष्ट एवं खुश’’ हैं.

  • दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को मिली बड़ी कामयाबी, 520 करोड़ की हेरोइन बरामद की

    दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को मिली बड़ी कामयाबी, 520 करोड़ की हेरोइन बरामद की

    दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नवी मुंबई से 520 करोड़ की हेरोइन की एक और खेप बरामद की. बीते 2 हफ्तों में एक ही अफगानी सिंडिकेट से अब तक 1320 करोड़ की हेरोइन बरामद हो चुकी है. इस बार 130 किलो हेरोइन जूट के बैग में एक कंटेनर से पकड़ी गई. ये हेरोइन तुलसी के बीज के साथ छुपा कर रखी गयी थी. जिससे कोई शक न कर सके. इस मामले में 2 और लोग पकड़े गए हैं जिसमें दिल्ली का एक मास्टरमाइंड और अफगानी है. ये हेरोइन अफगानिस्तान से ईरान के समुद्री रास्ते होते हुए मुम्बई लायी गयी.

  • ईरान ने जब्त पोत पर सवार 12 में से 9 भारतीयों को रिहा किया

    ईरान ने जब्त पोत पर सवार 12 में से 9 भारतीयों को रिहा किया

    ईरान ने जुलाई के शुरू में पकड़े गए पोत 'एमटी रिआह' पर सवार 12 भारतीयों में से नौ को रिहा कर दिया है. सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी. बहरहाल, 21 भारतीय अब भी ईरान की हिरासत में हैं, जिनमें एमटी 'रिआह' के तीन और ब्रिटेन के तेल टैंकर 'स्टेना इम्पेरो' पर सवार 18 भारतीय शामिल हैं.

  • ईरान द्वारा जब्त तेल टैंकर पर सवार सभी भारतीय सुरक्षित, रिहाई के प्रयास तेज, 10 खास बातें

    ईरान द्वारा जब्त तेल टैंकर पर सवार सभी भारतीय सुरक्षित, रिहाई के प्रयास तेज, 10 खास बातें

    ईरान द्वारा जब्त किए गए ब्रिटेन के तेल टैंकर के चालक दल के सदस्य ‘सुरक्षित’ हैं. यह जानकारी बुधवार को स्वीडन की उस कंपनी ने चालक दल के सदस्यों से बात करने के बाद दी, जो इस टैंकर की मालिक है. चालक दल के सदस्यों में 18 भारतीय हैं. हरमुज की खाड़ी में स्टेना इम्पेरो और इसके चालक दल के सदस्यों को ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने पांच दिन पहले हिरासत में ले लिया था. जहाज की मालिकाना हक वाली कंपनी स्टेना बल्क ने मंगलवार को चालक दल के कप्तान से बात की और कहा कि वे सभी सुरक्षित हैं और जहाज में सवार ईरान के सदस्य उनके साथ सहयोग कर रहे हैं. आपको बता दें कि जहाज में चालक दल के 23 सदस्य सवार हैं जिनमें 18 भारतीय, रूस के तीन, लातविया का एक और फिलिपीन का एक नागरिक है. भारतीयों की सुरक्षित रिहाई के प्रयासों में तेजी लाते हुये भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने ईरानी राजदूत अली चेगेनी ने मुलाकात भी की है.  

  • इमरान खान ने US को चेताया- ईरान के खिलाफ कोई भी एक्शन हुआ तो इतनी बर्बादी होगी कि लोग अल-कायदा को भूल जाएंगे

    इमरान खान ने US को चेताया- ईरान के खिलाफ कोई भी एक्शन हुआ तो इतनी बर्बादी होगी कि लोग अल-कायदा को भूल जाएंगे

    अमेरिकी संसद द्वारा वित्त पोषित थिंक टैंक यूएस इंस्टीट्यूट ऑफ पीस में चर्चा के दौरान एक सवाल के जवाब में खान ने कहा, ‘‘ईरान के बारे में चिंता है कि.. मुझे पक्का नहीं पता है कि ईरान के साथ संघर्ष होने की स्थिति में सभी देश हालात की गंभीरता को समझ रहे हैं.’’

  • ईरान में अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA के 17 जासूस पकड़े गए, कुछ को दी गई मौत की सजा : रिपोर्ट

    ईरान में अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA के 17 जासूस पकड़े गए, कुछ को दी गई मौत की सजा  : रिपोर्ट

    ईरान मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक 17 अमेरिकी जासूसों को पकड़ा गया है जो केंद्रीय खुफिया विभाग यानी सीआईए (CIA) के लिए काम करते थे. इनमें से कई को फांसी दे दी गई है. ईरान के सरकारी न्यूज चैनल ने देश के इंटेलीजेंस मंत्रालय के हवाले से कहा है कि सीआईए के खुफिया तंत्र तोड़ कर 17 जासूसों को पकड़ लिया गया है. मंत्रालय से जुड़े एक अधिकारी ने बताया है कि जो पकड़े गए गए हैं उनमें से कुछ को फांसी भी दे दी गई है. वहीं मंत्रालय की ओर जारी बयान में कहा गया है कि पकड़े गए जासूस संवेदनशील, निजी आर्थिक केंद्रों, सेना और साइबर क्षेत्र में नौकरी कर रहे थे जहां ये सभी महत्वपूर्ण सूचनाएं जुटाटे थे. 

  • ईरान के सरकारी मीडिया संगठनों के अकाउंट ट्विटर ने किए बंद

    ईरान के सरकारी मीडिया संगठनों के अकाउंट ट्विटर ने किए बंद

    ब्रितानी टैंकर को ईरान द्वारा जब्त किए जाने के चलते क्षेत्र में पहले से ही व्याप्त तनाव बढ़ जाने के बीच कुछ प्रभावित मीडिया संगठनों ने आशंका जताई है कि ये रोक जब्ती से जुड़ी खबरे देनें के कारण लगाई गई है. लेकिन सोशल नेटवर्किंग सेवा का कहना है कि यह बहाई धर्म से जुड़े लोगों को निशाना बनाकर उनके उत्पीड़न के खिलाफ की गई कार्रवाई है. बहाई अल्पसंख्यक समुदाय है जिसने लंबे से ईरान में दमन झेला है. ट्विटर ने बंद किए गए खातों का नाम नहीं बताया लेकिन कहा कि मामले की जांच जारी है.

  • विदेश मंत्रालय ने कहा, ईरान द्वारा जब्त टैंकर पर सवार 18 भारतीयों को छुड़ाने का प्रयास जारी

    विदेश मंत्रालय ने कहा, ईरान द्वारा जब्त टैंकर पर सवार 18 भारतीयों को छुड़ाने का प्रयास जारी

    भारत ने शनिवार को कहा कि वह भारतीय नाविकों को छुड़ाने के लिए तेहरान के संपर्क में है. ईरान ने ब्रिटिश झंडे वाले जहाज-स्टेना इम्पेरो को शुक्रवार को जब्त किया है, जिसमें क्रू के तौर पर भारतीय, रूसी, लातवियाई और फिलिपिनो देशों नागरिक कार्यरत हैं.

  • ईरान ने ब्रिटिश ऑयल टैंकर पर किया कब्जा, जहाज पर 23 क्रू मेंबर में 18 भारतीय भी

    ईरान ने ब्रिटिश ऑयल टैंकर पर किया कब्जा, जहाज पर 23 क्रू मेंबर में 18 भारतीय भी

    ईरान की तसनीम न्यूड एजेंसी के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार दूसरे वैसेल जो कि एक ब्रिटिश द्वारा ऑपरेट किया जाना वाला जहाज है को कब्जे में नहीं लिया गया है. न्यूज एजेंसी के अनुसार इस जहाज को चेतावनी देकर जाने दिया गया था.

  • ईरान के विदेश मंत्री का ट्रंप पर आरोप, बोले - अमेरिका फैला रहा है ‘‘आर्थिक आतंकवाद’’

    ईरान के विदेश मंत्री का ट्रंप पर आरोप, बोले - अमेरिका फैला रहा है ‘‘आर्थिक आतंकवाद’’

    ईरान के विदेश मंत्री ने फिर से अमेरिका पर ‘‘आर्थिक आतंकवाद’’ फैलाने का आरोप लगाया है. कई महीने के विवाद के बाद विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास सत्र के लिए न्यूयॉर्क पहुंचे, जहां उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा लगाए गए एकतरफा प्रतिबंधों की निंदा की.

  • ब्रिटिश राजदूत ने खोला राज़, बताया किस कदर बराक ओबामा से चिढ़ते हैं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

    ब्रिटिश राजदूत ने खोला राज़, बताया किस कदर बराक ओबामा से चिढ़ते हैं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

    वॉशिंगटन में ब्रिटेन के राजदूत किम डैरेक का मानना है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान परमाणु समझौते से अपने देश को सिर्फ इसलिए अलग किया कि समझौता पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने किया था.

  • पीएम मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात की 10 बड़ी बातें

    पीएम मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात की 10 बड़ी बातें

    जी-20 शिखर सम्मेलन से अलग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई. दोनों नेताओं की मुलाक़ात में चार प्रमुख मुद्दों पर बात हुईं. ईरान, 5जी, द्विपक्षीय संबंध और रक्षा और व्यापार... हालांकि इस मुलाक़ात में रूसी मिसाइल सिस्टम S400 सिस्टम पर बात नहीं हुई. आपको बता दें कि ओसाका आने से पहले ट्रंप ने अमेरिकी उत्पादों पर भारत द्वारा लगाए गए टैरिफ को लेकर नाखुशी जाहिर की थी. इससे पहले मोदी, ट्रंप और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के बीच मुलाकात हुई थी. इन तीनों के बीच लगभग 20 मिनट तक बातचीत हुई थी. इस मौके पर ट्रंप ने पीएम मोदी को लोकसभा चुनावों में जीत के लिए बधाई भी दी. वहीं पीएम मोदी ने जी 20 सम्मेलन में कहा कि आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है. रूस के साथ हथियारों की डील और टैरिफ के मुद्दे पर मतभेदों के बीच पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच यह मुलाकात काफी अहम है. वहीं गुरुवार को पीएम मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से भी मुलाकात की है. इस मुलाकात में बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर चर्चा हुई. इसके साथ आर्थिक अपराध करने वाले भगौड़ों के भी मुद्दे पर चर्चा हुई. डोनाल्ड ट्रंप के अलावा जी-20 सम्मेलन के दौरान दुनिया के 10 देशों के नेताओं के साथ पीएम मोदी की मुलाकात हो सकती है.

  • पीएम मोदी ने उठाया ईरान का मुद्दा, डोनाल्ड ट्रंप ने कहा- हमें कोई जल्दबाजी नहीं है

    पीएम मोदी ने उठाया ईरान का मुद्दा, डोनाल्ड ट्रंप  ने कहा- हमें कोई जल्दबाजी नहीं है

    जापान के ओसाका में G-20 शिखर सम्मेलन से अलग  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच बातचीत हुई. दोनों नेताओं के बीच बातचीत के प्रमुख मुद्दे ईरान, 5जी, द्विपक्षीय संबंध, रक्षा और व्यापार रहे. आपको बता दें कि ओसाका आने से पहले ट्रंप ने अमेरिकी उत्पादों पर भारत द्वारा लगाए गए टैरिफ को लेकर नाखुशी जाहिर की थी. इससे पहले मोदी, ट्रंप और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के बीच मुलाकात हुई थी. इन तीनों के बीच लगभग 20 मिनट तक बातचीत हुई थी. इस मौके पर ट्रंप ने पीएम मोदी को लोकसभा चुनावों में जीत के लिए बधाई भी दी. डोनाल्ड ट्रंप के साथ चर्चा की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा, हम आपके साथ ईरान, 5जी, द्विपक्षीय संबंध और रक्षा संबंध पर बात करना चाहते हैं. वहीं ट्रंप ने भी कहा, हम लोग सबसे अच्छे दोस्त बन गए हैं. मैं विश्वास दिलाता हूं कि हम कई मुद्दों  एक साथ मिलकर काम करेंगे उनमें सेना भी शामिल है.

  • पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से की मुलाकात, ईरान और रक्षा संबंधों पर हुई बात

    पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से की मुलाकात, ईरान और रक्षा संबंधों पर हुई बात

    जापान के ओसाका में पीएम मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की. इस मौके पर दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय वार्ता भी हुई. मुख्य चर्चा ईरान और रक्षा संबंधों पर हुई. यह वार्ता इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि दोनों देशों के बीच टैरिफ बढ़ाने को लेकर विवाद जारी है.

12345»

Advertisement

 

ईरान वीडियो

ईरान से जुड़े अन्य वीडियो »