NDTV Khabar

उत्तराखंड आपदा


'उत्तराखंड आपदा' - 85 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • उत्तराखंड: टिहरी में स्कूल बस खाई में गिरने से 9 बच्चों की मौत, तो बद्रीनाथ हाईवे पर बस पर पत्थर गिरने से 5 मरे

    उत्तराखंड: टिहरी में स्कूल बस खाई में गिरने से 9 बच्चों की मौत, तो बद्रीनाथ हाईवे पर बस पर पत्थर गिरने से 5 मरे

    राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) से मिली जानकारी के अनुसार, मौके पर राहत और बचाव कार्य चलाया जा रहा है. गंभीर रूप से घायल बच्चों को टिहरी जिला अस्पताल लाया जा रहा है.

  • पांच साल पहले केदारनाथ में आयी आपदा में लापता लोगों के कंकालों की तलाश के लिये सर्च ऑपरेशन दोबारा शुरू

    पांच साल पहले केदारनाथ में आयी आपदा में लापता लोगों के कंकालों की तलाश के लिये सर्च ऑपरेशन दोबारा शुरू

    पांच वर्ष पहले केदारनाथ में आयी आपदा में लापता लोगों के कंकालों की तलाश के लिये उत्तराखंड पुलिस की टीमों ने शुक्रवार से एक बार फिर क्षेत्र में खोजबीन अभियान शुरू कर दिया.

  • Weather Report: यूपी-बिहार समेत 16 राज्यों में दो दिनों तक भारी बारिश का अनुमान, जानें अपने राज्य का हाल

    Weather Report: यूपी-बिहार समेत 16 राज्यों में दो दिनों तक भारी बारिश का अनुमान, जानें अपने राज्य का हाल

    राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने कहा है कि केरल, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल समेत 16 राज्यों में अगले दो दिनों में भारी से बहुत भारी बारिश होने के आसार है. इस बार मानसून के दौरान अब तक सात राज्यों में बाढ़ और बारिश से संबंधित घटनाओं में 718 लोगों की मौत हो चुकी है.

  • आंधी से उत्तर-प्रदेश, दिल्ली समेत कई राज्यों में तबाही, 40 लोगों की मौत

    आंधी से उत्तर-प्रदेश, दिल्ली समेत कई राज्यों में तबाही, 40 लोगों की मौत

    रविवार को देश के अलग-अलग राज्यों में आई आंधी- तूफान में अभी तक कुल 40 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है. आंधी-तूफान से जो राज्य सबसे ज्यादा प्रभावित हैं उनमें पश्चिम बंगाल , उत्तर प्रदेश , तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और राष्ट्रीय राजधानी मुख्य रूप से शामिल हैं. अधिकारियों ने बताया कि पश्चिम बंगाल में आंधी के कारण चार बच्चों समेत कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई, वहीं उत्तर प्रदेश में 11 लोग मारे गए जबकि आंध्र प्रदेश में नौ और दिल्ली में दो लोगों के मरने की सूचना है. दिल्ली समेत उत्तर भारत में कई जगहों पर आई प्रचंड आंधी के चलते बड़ी संख्या में पेड़ गिर गए जिससे सड़क , रेल एवं वायु सेवा प्रभावित हुए. मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार हिमाचल प्रदेश , उत्तराखंड , पंजाब , हरियाणा , चंडिगढ़ , मध्य प्रदेश , झारखंड , असम , मेघालय , महाराष्ट्र , कर्नाटक , केरल और तमिलनाडु में छिटपुट स्थानों पर रविवार को गरज के साथ छींटे पड़े. दिल्ली व आस पास के इलाकों में 109 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चली धूल भरी आंधी और तेज हवाओं के चलते दो लोगों की मौत हो गई और 19 लोग घायल हो गए. इसके चलते विमान ,रेल और मेट्रो के परिचालन पर असर पड़ा. पश्चिम बंगाल के आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में चार बच्चों समेत कम से कम 12 लोगों के मरने की सूचना है.

  • उत्तराखंड और हिमाचल की ओर तूफान ने किया रुख, अगले 24 घंटे रहना होगा अलर्ट, अब तक की 12 बड़ी बातें

    उत्तराखंड और हिमाचल की ओर तूफान ने किया रुख, अगले 24 घंटे रहना होगा अलर्ट, अब तक की 12 बड़ी बातें

    मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों तक जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में तेज हवाओं के साथ आंधी आने की संभावना है. इसकी गति 50 से 70 किमी प्रति घंटे के बीच हो सकती है. जबकि इसी अवधि में उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के कुछ इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश हो सकती है. इसके मद्देनजर विभाग ने स्थानीय प्रशासन को आपदा संबंधी तैयारियां मुकम्मल रखने का अलर्ट जारी किया है. विभाग ने पश्चिमी विक्षोभ का असर पूर्वी और पूर्वोत्तर राज्यों में भी रहने का अनुमान व्यक्त करते हुये बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, तटीय और भीतरी कर्नाटक, तमिलनाडु एवं केरल के कुछ इलाकों में आंधी तूफान की आशंका जतायी है. इसके अलावा तमिलनाडु, दक्षिणी कर्नाटक के भीतरी इलाकों और केरल के कुछ भागों में भारी बारिश हो सकती है.

  • Exclusive : मोदी सरकार का महत्वाकांक्षी चारधाम हाइवे प्रोजेक्ट न बन जाए कहीं विनाशकारी आपदा की वजह

    Exclusive : मोदी सरकार का महत्वाकांक्षी चारधाम हाइवे प्रोजेक्ट न बन जाए कहीं विनाशकारी आपदा की वजह

    नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल यानी एनजीटी में चल रही सुनवाई के दौरान ये साफ हो गया कि उत्तराखंड में निर्माणाधीन चारधाम सड़क परियोजना में पर्यावरण नियमों की जमकर अनदेखी हो रही है. यह बात ग्राउंड रिपोर्ट और जानकारों की चेतावनियों में सामने आती रही हैं. हैरान करने वाली बात यह है कि केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्रालय ने 900 किलोमीटर लम्बे प्रोजेक्ट को 53 टुकड़ों में बांट कर दिखाया है ताकि इन्वायरमेंटल क्लीयरेंस यानी पर्यावरण संबंधी हरी झंडी न लेनी पड़े.

  • टिहरी परियोजना की वजह से बड़ा पर्यावरणीय खतरा उत्पन्न हुआ है : संसदीय समिति

    टिहरी परियोजना की वजह से बड़ा पर्यावरणीय खतरा उत्पन्न हुआ है : संसदीय समिति

    संसद की एक समिति ने कहा है कि उत्तराखंड में टिहरी परियोजना द्वारा क्षेत्र में पौधारोपण कार्य नहीं करने के कारण भूस्खलन के रूप में बड़ा पर्यावरणीय खतरा उत्पन्न हो गया है और ऐसे में वृक्षारोपण दीर्घकालीन समाधान साबित हो सकते हैं. लोकसभा में पेश गृह मंत्रालय से संबंधित आपदा प्रबंधन पर याचिका समिति की रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्तराखंड में 1400 मेगावाट का विद्युत उत्पादन कर रही टिहरी परियोजना ने क्षेत्र में पौधारोपण कार्य पर ध्यान नहीं दिया है जिससे पर्यावरण को खतरा उत्पन्न हुआ है.

  • उत्तराखंड के चमौली और उत्तरकाशी में भूकंप के हल्के झटके

    उत्तराखंड के चमौली और उत्तरकाशी में भूकंप के हल्के झटके

    उत्तराखंड में मंगलवार को रिक्टर पैमाने पर 3.8 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए. आपदा प्रबंधन अधिकारी ने बताया कि भूकंप का केंद्र चमौली जिले का साल्ना गांव रहा.

  • उत्तराखंड में भारी बारिश की चेतावनी, अलर्ट पर प्रशासन

    उत्तराखंड में भारी बारिश की चेतावनी, अलर्ट पर प्रशासन

    उत्तराखंड में मॉनसून से पहले हुई तबाही से निबटने में नाकाम साबित हुए आपदा प्रबंधन विभाग की चिंता मौसम विभाग ने बढ़ा दी है। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में सूबे के कई इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

  • केदारनाथ यात्रा : अब मेडिकल सर्टिफिकेट जरुरी नहीं, चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ तैनात किए गए

    केदारनाथ यात्रा : अब मेडिकल सर्टिफिकेट जरुरी नहीं, चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ तैनात किए गए

    सन 2013 में आई भीषण आपदा के बाद उत्तराखंड राज्य और मंदिर प्रशासन ने केदारनाथ यात्रा के लिए तीर्थयात्रियों का बायोमेट्रिक पंजीकरण अनिवार्य कर दिया है। इसके तहत 50 साल से अधिक उम्र के श्रद्धालुओं के लिए डॉक्टर से मेडिकल फिटनेस लेना भी अनिवार्य कर दिया था।

  • उत्तराखंड : बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 18 मई को 'चूक समझने के लिए' बुलाई बैठक

    उत्तराखंड : बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 18 मई को 'चूक समझने के लिए' बुलाई बैठक

    उत्तराखंड में हाल के सियासी घटनाक्रम पर चर्चा के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 18 मई को पार्टी की उत्तराखंड इकाई की बैठक बुलाई है। इस बैठक में इस बात पर चर्चा होगी कि आख़िर चूक कहां हुई।

  • उत्तराखंड : कहां बह गए आपदा राहत के 1509 करोड़, नहीं मिल पा रहा हिसाब-किताब?

    उत्तराखंड : कहां बह गए आपदा राहत के 1509 करोड़, नहीं मिल पा रहा हिसाब-किताब?

    उत्तराखंड सरकार इन दिनों इस बात के लिए परेशान है कि उसे केंद्र सरकार से भेजे गए आपदा राहत के 1509 करोड़ रुपये का हिसाब किताब नहीं मिल रहा। आरटीआई से मिली जानकारी के बाद मामला सुर्खियों में आ गया है। राज्य सरकार ने एक जांच कमेटी बनाने की बात कही है।

  • केदारनाथ आपदा में उत्तराखंड सरकार का रवैया रहा ढुलमुल, बच सकती थी कई जिंदगियां : CAG

    केदारनाथ आपदा में उत्तराखंड सरकार का रवैया रहा ढुलमुल, बच सकती थी कई जिंदगियां : CAG

    साल 2013 में केदारनाथ में आई प्राकृतिक आपदा के प्रभावों से निपटने के लिए अगर उत्तराखंड सरकार की तैयारियां पुख्ता होती और राहत व बचाव अभियान वक्त रहते हो पाता, तो इस आपदा में कई और जिंदगियां बचाई जा सकती थीं। केदारनाथ आपदा के संबंध में कैग की रिपोर्ट में यह बात कही गई है।

  • केदारनाथ त्रासदी : तबाही की आंखों देखी कहानी, हृदयेश जोशी की जुबानी

    केदारनाथ त्रासदी :  तबाही की आंखों देखी कहानी, हृदयेश जोशी की जुबानी

    दो साल पहले केदारनाथ समेत उत्तराखंड में आई आपदा हिमालय के इतिहास में सबसे भयानक त्रासदी थी। उस वक्त एनडीटीवी की टीम सबसे पहले केदारनाथ पहुंची, जिसके प्रमुख सदस्य थे एनडीटीवी इंडिया के सीनियर एडिटर हृदयेश जोशी। पढ़ें उस खौफनाक मंज़र के पल-पल का रोंगटे खड़े करने वाला ब्यौरा।

  • एक वो भी था आपदा प्रबंधन

    एक वो भी था आपदा प्रबंधन

    भूवैज्ञानिक और आपदा प्रबंधन गुरु आज भी उस प्रयास को बड़े ही सम्मान के साथ याद करते हैं, लेकिन हमारी सरकारों के लिए ये घटना फाइलों में दबा एक उल्लेख भर मात्र है।

  • केदारनाथ से नहीं सीखा सबक

    केदारनाथ से नहीं सीखा सबक

    क्या केदारनाथ की उस आपदा ने उन्हें प्रकृति के प्रति कुछ उदार, कुछ संवेदनशील बनाया है? कहीं दिल्ली, देहरादून में बैठे ये हाकिम देश-दुनिया में अपनी छवि चमकाने की ख़ातिर उस इलाके को जल्दी से जल्दी लाखों बूटों के नीचे फिर रौंदे जाने के लिए तैयार तो नहीं करवा रहे?

  • उत्तराखंड में भूस्खलन से छह मरे, भारी बारिश की चेतावनी

    उत्तराखंड में भूस्खलन से छह मरे, भारी बारिश की चेतावनी

    मौसम विभाग ने सोमवार को अलर्ट जारी किया है कि राज्य में अगले 48 घंटों में भारी बारिश हो सकती है। नैनीताल, चमोली, चंपावत, उत्तरकाशी और राजधानी देहरादून सहित अधिकतर इलाकों में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। आपदा प्रबंधन टीमों को तैयार रहने के लिए कहा गया है।

  • उत्तरकाशी में भारी बारिश से भागीरथी नदी उफान पर

    भारी बारिश के चलते भागीरथी नदी में उफान आने के बाद बुधवार को उत्तरकाशी जिले मे अलर्ट जारी कर दिया गया। पिछले साल आई आपदा में रुद्रप्रयाग, चमोली और पिथौरागढ़ जिलों के अलावा उत्तरकाशी जिला भी सर्वाधिक प्रभावित स्थानों में से एक था।