NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव


'उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव' - 930 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • हैदराबाद निकाय चुनाव में AIMIM तीसरे नंबर पर पहुंची, नतीजों पर ओवैसी की पहली प्रतिक्रिया...

    हैदराबाद निकाय चुनाव में AIMIM तीसरे नंबर पर पहुंची, नतीजों पर ओवैसी की पहली प्रतिक्रिया...

    इस बार के निकाय चुनाव में वोटों के ध्रुवीकरण को लेकर काफी मशक्कत भी की गई. चुनाव में साफ-सफाई, सड़क, पानी से ज्यादा पाकिस्तान, मोहम्मद अली जिन्ना, सर्जिकल स्ट्राइक और हैदराबाद का नाम बदलने तक का जिक्र किया गया. डुब्बक में हुए विधानसभा उपचुनाव में मिली जीत से बीजेपी काफी विश्वास से भरी हुई थी. यही वजह थी कि हैदराबाद निकाय चुनाव में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे कई दिग्गज नेताओं व केंद्रीय मंत्रियों को उतरना पड़ा.

  • उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनाव : सभी सीटों के परिणाम घोषित, छह सीटें भाजपा और एक सपा के हिस्से में

    उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनाव : सभी सीटों के परिणाम घोषित, छह सीटें भाजपा और एक सपा के हिस्से में

    उत्तर प्रदेश की सात विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी अपनी-अपनी सीटें बचाने में कामयाब रहे हैं. 2017 चुनाव की तरह की सात में छह सीटें भाजपा और एक सीट सपा के हिस्से में आयी है. उपचुनाव के लिए मतदान तीन नवंबर को हुए थे और वोटों की गिनती आज सुबह से शुरू हुई.

  • UP ByPoll Results 2020: भाजपा छह और निर्दलीय एक सीट पर आगे

    UP ByPoll Results 2020: भाजपा छह और निर्दलीय एक सीट पर आगे

    UP ByPoll Results 2020: उत्तर प्रदेश की सात विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी छह सीटों पर आगे चल रही है, जबकि शेष एक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी को बढ़त मिल रही है. इन सीटों पर तीन नवंबर को उपचुनाव हुये थे. इन सात सीटों में से पिछले विधानसभा चुनाव में छह सीटें भाजपा के पास थीं, जबकि एक सीट समाजवादी पार्टी के खाते में गयी थी. मंगलवार को इन सात सीटों पर मतगणना के रुझानों में भाजपा की उषा सिरोही बुलंदशहर सीट से आगे चल रही हैं, जबकि टूंडला सीट से पार्टी के प्रेमपाल डांगर आगे चल रहे है.

  • Election Results 2020: 11 राज्यों की 58 विधानसभा सीटों के लिए आज होगी मतगणना

    Election Results 2020: 11 राज्यों की 58 विधानसभा सीटों के लिए आज होगी मतगणना

    कोविड-19 महामारी के बीच मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश समेत 11 राज्यों की 58 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए मंगलवार को मतगणना होगी. मप्र की 28 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव का परिणाम राज्य की शिवराज सिंह चौहान सरकार का भविष्य तय करेंगे.

  • Election Results 2020 Updates: एमपी-यूपी में बीजेपी की बल्ले-बल्ले, कर्नाटक में 2 और गुजरात की 8 सीटें जीतीं, छत्तीसगढ़-झारखंड में कांग्रेस जीती

    Election Results 2020 Updates: एमपी-यूपी में बीजेपी की बल्ले-बल्ले, कर्नाटक में 2 और गुजरात की 8 सीटें जीतीं, छत्तीसगढ़-झारखंड में कांग्रेस जीती

    By Election Results 2020 Updates: यूपी की सात में से 6 सीट बीजेपी ने जीत ली है और एमपी की 28 में से 16 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की है. कर्नाटक की दोनों सीटें पार्टी ने जीत ली हैं. हालांकि हरियाणा में वह चुनाव हार गई.

  • योगी आदित्यनाथ के बयान पर ओवैसी का पलटवार- 24 घंटों में साबित करें कि आप सच्चे योगी हैं

    योगी आदित्यनाथ के बयान पर ओवैसी का पलटवार- 24 घंटों में साबित करें कि आप सच्चे योगी हैं

    बुधवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जमुई विधानसभा क्षेत्र में AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) पर करारे हमले किए थे, जिसके बाद ओवैसी ने योगी पर हमला किया है.

  • कांग्रेस के "असहमत नेता" यूपी चुनाव टीम में शामिल नहीं, सलमान खुर्शीद को मिली बड़ी जिम्मेदारी

    कांग्रेस के

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद उस टीम का नेतृत्व करेंगे, जो दो साल बाद उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस का घोषणापत्र तैयार करेगी. पार्टी सूत्रों के मुताबिक पूर्वी उत्तर प्रदेश में पार्टी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने पहले ही टीमें बनानी शुरू कर दी हैं. जितिन प्रसाद और राज बब्बर जैसे कांग्रेसी नेता, जिन्होंने पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी को लिखे गए लेटर पत्र पर हस्ताक्षर किए थे, को नई समितियों में जगह नहीं दी गई है. निर्मल खत्री और नसीब पठान जैसे नेताओं जिन्होंने पत्र पर हस्ताक्षर करने वाले नेताओं की निंदा की, को रविवार शाम को घोषित पैनलों में जगह मिली है.

  • समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दिया '2022 में साइकिल' का संदेश

    समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दिया '2022 में साइकिल' का संदेश

    समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 'अगस्त क्रांति' की भावना को उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी के लक्ष्यों से जोड़ते हुए रविवार को अपने सभी कार्यकर्ताओं के लिए 'बाइस में बाइसिकल' (वर्ष 2022 में साइकिल) का संदेश जारी किया. अखिलेश ने 12 पन्ने के इस संदेश में कहा है कि 1942 की अगस्त क्रांति की अवधारणा के आधार पर वर्ष 2022 में सपा की सरकार बनने पर वैचारिक आंदोलन के जरिए स्वतंत्रता संग्राम के सपनों को साकार करने का लक्ष्य है. उन्होंने कहा कि अगर मानवता को पूंजी और सत्ता की हिंसा से मुक्ति दिलानी है, तो समाजवाद का सपना देखना होगा. वर्ष 2022 में हमें अपनी तैयारियों को लेकर कोई कसर बाकी नहीं रखनी है. 2022 में 'समाजवादी सरकार का काम जनता के नाम' का उद्घोष रहेगा.

  • कोविड-19 और बाढ़ के चलते चुनाव आयोग ने लोकसभा की एक, विधानसभा की सात सीटों पर उपचुनाव टाला

    कोविड-19 और बाढ़ के चलते चुनाव आयोग ने लोकसभा की एक, विधानसभा की सात सीटों पर उपचुनाव टाला

    आयोग इन उप चुनावों के संभावित कार्यक्रम पर चर्चा करने के लिये अब शुक्रवार को बैठक करेगा. जिन राज्यों में उप चुनाव टाले गये हैं, उनमें बिहार में वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश में विधानसभा की दो-दो सीटें तथा असम, मध्य प्रदेश और केरल में विधानसभा की एक-एक सीट शामिल हैं. इनमें से ज्यादातर सीट वहां के मौजूदा प्रतिनिधियों की मृत्यु हो जाने के चलते रिक्त हुई हैं.

  • विधायक अदिति और राकेश सिंह के मामले में कांग्रेस की याचिका पर हाईकोर्ट का विधानसभा अध्यक्ष को नोटिस

    विधायक अदिति और राकेश सिंह के मामले में कांग्रेस की याचिका पर हाईकोर्ट का विधानसभा अध्यक्ष को नोटिस

    इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष को नोटिस जारी किया है. उन पर कांग्रेस की ओर से विधायक अदिति सिंह और राकेश सिंह को अयोग्य ठहराने की याचिका को लटकाए रखने का आरोप लगाया गया है. आपको बता दें कि अदिति सिंह और राकेश सिंह रायबरेली से कांग्रेस के विधायक हैं. इन दोनों ने हाल ही में पार्टी के खिलाफ बगावत का झंडा उठा रखा है. कई मुद्दों पर पार्टी के रुख के खिलाफ बयानबाजी की है और व्हिप का भी उल्लंघन किया है. जिससे कांग्रेस की ओर से उनको अयोग्य ठहराने की याचिका दी गई है.  जस्टिस दिनेश कुमार सिंह और पंकज कुमार जयसवाल की बेंच ने विधायक अदिति सिंह और राकेश सिंह को भी अलग-अलग नोटिस जारी किया है. इस मामले को हाईकोर्ट तक कांग्रेस की विधायक आराधना मिक्षा ने पहुंचाया है जो कि कांग्रेस के राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी की बेटी हैं.  फिलहाल बेंच ने मामले की सुनवाई 14 जुलाई को तय की है. साल 2017 में हुए चुनाव अदिति सिंह रायबरेली सदर और राकेश सिंह हरचंदपुर सीट से चुने गए हैं. 

  • योगी आदित्यनाथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बैठक की तस्वीर देखकर खुश हुए होंगे?

    योगी आदित्यनाथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बैठक की तस्वीर देखकर खुश हुए होंगे?

    अगर आप सोच रहे होंगे कि कोरोना वायरस से जूझ रहे देश में राजनीतिक पार्टियां चुनावी गुणा-भाग में नहीं लगीं है तो आप गलत साबित हो सकते हैं क्योंकि राजनीति में जब कुछ न होता दिख रहा है तो उसे शांत जल की तरह समझना चाहिए जिसमें धाराएं एक दूसरे को अंदर ही अंदर काटती रहती हैं. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 22022 में होने हैं, लेकिन राजनीतिक दलों ने हमेशा की तरह अपने मुद्दे तलाशने शुरू कर दिए हैं. कोरोना संकट के बीच कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को जमकर घेरा है. लेकिन इसमें उनका साथ देने के लिए राज्य के दो प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी सामने नहीं आए. 

  • प्रियंका गांधी की खास अदिति सिंह की बगावत के पीछे की पूरी कहानी, विधायक की कुर्सी से हटाना आसान भी नहीं

    प्रियंका गांधी की खास अदिति सिंह की बगावत के पीछे की पूरी कहानी, विधायक की कुर्सी से हटाना आसान भी नहीं

    उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर राज्य में अभी से गोटियां बिछनी शुरू हो गई हैं. हाल में प्रवासी मजदूरों के लिए बसों का मुद्दा उसी सियासत का एक हिस्सा है. उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi)  के बीच 'युद्ध' अपने चरम पर पहुंचा ही था कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से कांग्रेस  की विधायक अदिति सिंह (Aditi Singh ) के बयान ने पार्टी को बैकफुट पर ढकेल दिया. दरअसल यह पहला मौका नहीं था जब पार्टी के रुख के खिलाफ जाकर उन्होंने यह बयान दिया था.

  • कोटा से छात्रों को न लाने का फैसला : क्या है नीतीश सरकार की मजबूरी, क्यों हो रही है छीछालेदर?

    कोटा से छात्रों को न लाने का फैसला : क्या है नीतीश सरकार की मजबूरी, क्यों हो रही है छीछालेदर?

    उत्तर प्रदेश के बाद कई और राज्यों ने राजस्थान के कोटा से अपने राज्य के बच्चों को वापस लाने के लिए बसें भेजी हैं. जिस पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फ़ोन कर कहा कि ऐसे कदम से उनके जैसे लोगों पर दबाव बढ़ता है कि आख़िर वो अपने राज्य के लोगों को कब लाएंगे और सबसे अहम बात इस वार्तालाप की ये रही कि हेमंत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ये पूछ डाला कि एक देश में दो क़ानून कैसे? निश्चित रूप से हेमंत के इस बयान से सबसे ज़्यादा ख़ुश और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार होंगे जिन्होंने सबसे पहले इस मुद्दे पर अपना विरोध जताया था. नीतीश कुमार ने पहले दिल्ली से प्रवासी मज़दूरों और फिर बाद में कोटा से छात्रों को लाने के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फ़ैसले का भी विरोध कर चुके हैं. उन्होंने इसी कड़ी में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का भी वो विरोध कर चुके हैं.

  • सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की पहली बैठक शनिवार, विधानसभा चुनाव को लेकर बनेगी रणनीति

    सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की पहली बैठक शनिवार, विधानसभा चुनाव को लेकर बनेगी रणनीति

    उत्तर प्रदेश के मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की शनिवार को होने वाली महत्वपूर्ण बैठक में राज्य के आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति पर विचार-विमर्श होगा.  सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने बताया कि शनिवार को पार्टी राज्य मुख्यालय पर दल की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी.

  • यूपी में योगी सरकार के तीन साल, अब बीजेपी को हुई फिक्र; विधायकों-सांसदों को दिया यह जिम्मा

    यूपी में योगी सरकार के तीन साल, अब बीजेपी को हुई फिक्र; विधायकों-सांसदों को दिया यह जिम्मा

    यूपी में बीजेपी की सरकार के तीन साल पूरे होने वाले हैं, यानी कि योगी सरकार का कार्यकाल आधे से अधिक बीत चुका है. उत्तर प्रदेश में चुनाव दर चुनाव जनता अपना जनादेश बदलती रही है. यूपी में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी के बीच लंबे समय तक सत्ता की बागडोर रही है. लंबे अरसे के बाद पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी के हाथ में यूपी की सत्ता आई तो अब वह यहां अपनी जड़ें जमाए रखना चाहती है. यही कारण है कि बीजेपी को दो साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव की फिक्र सताने लगी है. बीजेपी सरकार ने अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा होने पर अपनी उपलब्धियों को आम लोगों में प्रचारित करने की योजना बनाई है.

  • दिल्ली विधानसभा में जीत के बाद अब UP पर AAP की नजर, लखनऊ दौरे पर पहुंचे संजय सिंह

    दिल्ली विधानसभा में जीत के बाद अब UP पर AAP की नजर, लखनऊ दौरे पर पहुंचे संजय सिंह

    विधानसभा चुनाव में दिल्ली की जनता ने यह जाहिर कर दिया है कि दिल्ली मॉडल ही विकास का असल मॉडल है. सिंह ने कहा कि राजनीतिक लिहाज से सबसे संवेदनशील राज्य उत्तर प्रदेश में पार्टी अपनी जमीन तैयार करने में जुट गई है.

  • दिल्ली के बाद अब इस राज्य में पार्टी के विस्तार में जुटी AAP, उठाएगी यह कदम...

    दिल्ली के बाद अब इस राज्य में पार्टी के विस्तार में जुटी AAP, उठाएगी यह कदम...

    दिल्ली विधानसभा में बेहतरीन जीत के बाद आम आदमी पार्टी (AAP) अब उत्तर प्रदेश में अपने संगठन का विस्तार करने पर ध्यान केंद्रीय कर रही है.

  • अखिलेश यादव ने CM योगी पर कसा तंज, कहा- हमारे 'मुख्यमंत्री बाबा' जहां-जहां गए, वहां भारतीय जनता पार्टी हार गई

    अखिलेश यादव ने CM योगी पर कसा तंज, कहा- हमारे 'मुख्यमंत्री बाबा' जहां-जहां गए, वहां भारतीय जनता पार्टी हार गई

    दिल्ली विधानसभा चुनाव परिणाम (Delhi Assembly Election Result) के रुझानों में आम आदमी पार्टी (AAP) ने बहुमत हासिल कर लिया है. दिल्ली में जीत का दावा करने वाली भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने तंज कसा है. अखिलेश ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए उनपर हमला किया कि हमारे मुख्यमंत्री बाबा जो योगी जी हैं. जहां जहां गए हैं वहां भारतीय जनता पार्टी हार गई है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com