NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव


'उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव' - 887 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मध्य प्रदेश के पूर्व CM बाबूलाल गौर का निधन, काफी समय से चल रहे थे बीमार

    मध्य प्रदेश के पूर्व CM बाबूलाल गौर का निधन, काफी समय से चल रहे थे बीमार

    ‘नर्मदा अस्पताल’ के निदेशक डॉक्टर राजेश शर्मा ने बताया कि दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया. वह वृद्धावस्था संबंधी बीमारियों से जूझ रहे थे और कुछ समय से अस्पताल में भर्ती थे. भाजपा के वरिष्ठ नेता गौर 2004-2005 में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे और अपनी परंपरागत गोविंदपुरा विधानसभा सीट से 10 बार चुनाव जीत थे. गौर का जन्म दो जून 1930 को उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में हुआ था.

  • BJP ने शुरू की विधानसभा चुनाव की तैयारी, चार राज्यों के नियुक्त किए चुनाव प्रभारी

    BJP ने शुरू की विधानसभा चुनाव की तैयारी, चार राज्यों के नियुक्त किए चुनाव प्रभारी

    हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को चुनाव प्रभारी तथा उत्तर प्रदेश के मंत्री भूपेंद्र सिंह को चुनाव सह-प्रभारी नियुक्त किया है. और झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए BJP के राष्ट्रीय महासचिव ओमप्रकाश माथुर को चुनाव प्रभारी तथा बिहार के मंत्री नंदकिशोर यादव को चुनाव सह-प्रभारी नियुक्त किया है. बता दें, दिल्ली, महाराष्ट्र, झारखंड और हरियाणा में विधानसभा चुनाव इस साल के अंत तक हो सकते हैं. हालांकि, चुनाव आयोग की तरफ से अभी इसको लेकर कोई तारीख जारी नहीं की गई है.

  • उत्तर प्रदेश में 12 सीटों पर होने वाले उपचुनाव की तैयारियों में जुटी बीजेपी, सदस्यता अभियान पर भी जोर

    उत्तर प्रदेश में 12 सीटों पर होने वाले उपचुनाव की तैयारियों में जुटी बीजेपी, सदस्यता अभियान पर भी जोर

    उत्तर प्रदेश में विधानसभा उपचुनावों की तैयारियों में जुटी बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुरुवार को दिल्ली में पार्टी के उत्तर प्रदेश से लोकसभा और राज्य सभा के सांसदों से की मुलाकात की. बैठक में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन महासचिव सुनील बंसल भी मौजूद थे. केंद्रीय मंत्रियों स्मृति ईरानी, महेंद्रनाथ पांडेय, संजीव बलियान, संतोष गंगवार ने भी हिस्सा लिया. बैठक में हिस्सा लिया. इस मुलाकात में  12 विधानसभा सीटों के उपचुनाव की रणनीति पर चर्चा की गई.  यह उपचुनाव उन सीटों पर होने जा रहे हैं जहां विधायकों ने लोकसभा चुनाव लड़ा है और अब वह सांसद हैं.  सपा और बसपा उपचुनाव  अलग-अलग लड़ने का ऐलान किया है. इसके अलावा राज्य में चलाए जा रहे सदस्यता अभियान पर भी बैठक में चर्चा हुई. साथ ही केंद्र में मोदी और राज्य में योगी सरकार की ग़रीब कल्याणकारी योजनाओं को धरातल पर आम आदमी तक पहुंचाने में तेज़ी लाने के लिए सांसदों को एक प्रेज़ेंटेशन दिया गया. स्वतंत्र देव सिंह के अध्यक्ष बनने के बाद उत्तर प्रदेश के बीजेपी सांसदों की यह पहली बैठक थी.

  • 11 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव : अमित शाह और योगी आदित्यनाथ के बीच अहम बैठक, जेपी नड्डा भी हुए शामिल

    11 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव : अमित शाह और योगी आदित्यनाथ के बीच अहम बैठक, जेपी नड्डा भी हुए शामिल

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से सोमवार को मुलाकात की है.  सूत्रों ने बताया कि बीजपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी बाद में बैठक में शामिल हुए. यह बैठक इसलिए अहम है क्योंकि उत्तर प्रदेश विधानसभा की 11 सीटों पर उपचुनाव होने हैं. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने अपना गठबंधन खत्म कर दिया है जिससे इस बार कई सीटों पर मुकाबला त्रिकोणीय हो सकता है.

  • कृष्णानंद राय मर्डर केस: स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने मुख्तार अंसारी समेत सभी आरोपियों को बरी किया

    कृष्णानंद राय मर्डर केस: स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने मुख्तार अंसारी समेत सभी आरोपियों को बरी किया

    स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के मामले में पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया है. बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की 2005 में हत्या कर दी गई थी. राय गाजीपुर जिले की मोहम्दाबाद विधानसभा से विधायक थे. मुख्तार अंसारी का उत्तर प्रदेश खासकर पूर्वांचल में अपना एक अलग रुतबा हुआ करता है. यही वजह है कि एक बार बसपा ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया था, मगर उनके कद को देखते हुए दोबारा पार्टी के टिकट से चुनाव लड़वाया.

  • उत्तर प्रदेश में सभी जिला कांग्रेस कमेटियां भंग, अनुशासनहीनता की जांच करेगी समिति

    उत्तर प्रदेश में सभी जिला कांग्रेस कमेटियां भंग, अनुशासनहीनता की जांच करेगी समिति

    उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा उप चुनाव की तैयारियों और चुनावी प्रबंधन के लिए दो सदस्यीय समिति गठित की जाएगी. पार्टी तीन सदस्यीय अनुशासनात्मक समिति गठित करेगी जो लोकसभा चुनाव के दौरान घोर अनुशासनहीनता की जांच करेगी. उत्तर प्रदेश में कांग्रेस विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू को पूर्वी उत्तर प्रदेश में संगठन में बदलाव करने के लिए प्रभारी बनाया गया है और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में संगठन में बदलाव के लिए प्रभारी की नियुक्ति सिंधिया द्वारा की जाएगी.

  • 'मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं', मायावती की ऐसी 6 बातें सुनकर अखिलेश यादव क्या सोच रहे होंगे

    'मिश्रा से मुझे मैसेज भिजवाया कि मैं मुसलमानों को टिकट न दूं',  मायावती की ऐसी 6 बातें सुनकर अखिलेश यादव क्या सोच रहे होंगे

    लोकसभा चुनाव से पहले जब सपा और बीएसपी के गठबंधन का ऐलान हो रहा था तो उस दिन मायावती और अखिलेश यादव के हावभाव को देखकर ऐसा लग रहा था कि अब यह दोनों पार्टियां मिलकर लंबे समय तक राजनीति करेंगी. अंकगणित भी उनके पक्ष में था और गोरखपुर-फूलपुर-कैराना के उपचुनाव में मिली जीत से उत्साह चरम पर था. लेकिन लोकसभा चुनाव के दौरान दोनों ही नेता जमीनी हकीकत को भांप नहीं पाए और करारी हार का सामना करना पड़ गया. इस हार के साथ ही गठबंधन भी बिखर गया है. सपा को जहां 5 सीटें मिली हैं वहीं बीएसपी को 10 सीटें. एक तरह से देखा जाए तो बीएसपी को ज्यादा फायदा हुआ है क्योंकि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीएसपी को एक भी सीट नहीं मिली थी. दूसरी ओर सारे समीकरणों को ध्वस्त करते हुए बीजेपी 62 सीटें कामयाब हो गई. इस हार के साथ ही बीएसपी सुप्रीमो मायावती सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को निशाने पर ले लिया और कहा कि सपा अपने कोर वोट यादवों का भी समर्थन नहीं पा सकी और यही वजह है कि उनकी पत्नी चुनाव हार गईं. इतना ही नहीं मायावती ने उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव में भी अकेले लड़ने का ऐलान कर डाला. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अखिलेश यादव से उनके रिश्ते पर व्यक्तिगत तौर पर अच्छे हैं. वहीं दूसरी ओर अखिलेश यादव अभी तक पूरी तरह से सधे और रक्षात्मक बयान दे रहे हैं. लेकिन रविवार को हुई बीएसपी की एक अहम बैठक में मायावती ने रही-सही कसर भी पूरी कर डाली और उन्होंने अपने बयान से जाहिर कर दिया कि उनकी नजर में अब अखिलेश यादव की कोई अहमियत नहीं है.

  • लोकसभा चुनावों के बाद यूपी में कार्यकर्ताओं से मिलने पहुंची प्रियंका गांधी, उठी ये मांग

    लोकसभा चुनावों के बाद यूपी में कार्यकर्ताओं से मिलने पहुंची प्रियंका गांधी, उठी ये मांग

    कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी को 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करने की मांग की. प्रियंका ने यहां अतिथिगृह में नेताओं- कार्यकर्ताओं सबसे अलग-अलग मुलाकात की और सबकी बात सुनीप्रियंका ने अलग-अलग जिलाध्यक्षों और समन्वयकों से भी बातचीत की और उनसे फीडबैक लिया. 

  • लोकसभा चुनाव में हार के बाद अब कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी को लेकर की ये मांग

    लोकसभा चुनाव में हार के बाद अब कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी को लेकर की ये मांग

    यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) बुधवार को अपनी बेटी और उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) के साथ अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली पहुंची. इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करने की मांग की.

  • एक ही झटके में महागठबंधन धड़ाम! विधानसभा की ये 11 सीटें बनीं वजह

    एक ही झटके में महागठबंधन धड़ाम! विधानसभा की ये 11 सीटें बनीं वजह

    उत्तर प्रदेश में 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उप चुनाव को लेकर सपा-बसपा गठबंधन टूट गया है. लोकसभा चुनाव में बड़े जोर-शोर से बने इस गठबंधन में आरएलडी भी शामिल थी. जिस दिन गठबंधन हुआ था उस दिन ऐसा लग रहा था कि अब यह महागठबंधन उत्तर प्रदेश की राजनीति ही नहीं पूर देश में असर डालेगा और बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की बातों से ऐसा लग रहा था कि दोनों के बीच अच्छा समन्वय है और लोकसभा चुनाव में दोनों मिलकर पीएम मोदी के विजय रथ को रोक देंगे.

  • विधानसभा उपचुनाव में बीएसपी के अकेले लड़ने के फैसले पर अखिलेश यादव ने कहा- मुझे इसकी जानकारी नहीं

    विधानसभा उपचुनाव में बीएसपी के अकेले लड़ने के फैसले पर अखिलेश यादव ने कहा- मुझे इसकी जानकारी नहीं

    एक ओर जहां बीसपी सुप्रीमो मायावती ने उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है वहीं समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि मुझे इसकी जानकारी नहीं है. जिस समय मायावती ने अपने पार्टी नेताओं के बीच यह फैसला कर रही थीं उसी समय अखिलेश यादव आजमगढ़ में कार्यकर्ताओं की रैली को संबोधित कर रहे थे. इसके बाद मीडिया से उन्होंने बातचीत की. जब उनसे बीएसपी सुप्रीमो मायावती के इस फैसले के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'मुझे इसकी जानकारी नहीं है, मैं तो आजमगढ़ में हूं'.

  • यूपी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भविष्यवाणी 100% सच साबित हुई, जानिये PM ने क्या कहा था? 10 बातें...

    यूपी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भविष्यवाणी 100% सच साबित हुई, जानिये PM ने क्या कहा था? 10 बातें...

    यूपी में बना महागठबंधन (Mahagathbandhan) पहले लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Elections) में अपने लक्ष्य पाने में नाकाम रहा और उसके बाद अब वह टूटता नज़र आ रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के साथ-साथ कई नेताओं ने बुआ-बबुआ की जोड़ी को चुनाव परिणाम के बाद टूटने की बात कही थी. बता दें कि दिल्ली में कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठक में मायावती (Mayawati) ने साफ कर दिया कि विधानसभा की 11 सीटों पर होने वाले उपचुनावों में BSP अकेले लड़ेगी. वैसे ये भी एक नया चलन है, क्योंकि बीएसपी (BSP) आम तौर पर उपचुनाव लड़ने से अब तक परहेज करती रही है, लेकिन आज की बैठक में मायावती ने जो कुछ कहा, उससे साफ है कि वो नई राजनीतिक लड़ाई लड़ने की तैयारी कर रही हैं और गठबंधन उनके लिए अप्रासंगिक हो रहा है. बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले 12 जनवरी को उत्तर प्रदेश की राजनीति के दो कट्टर प्रतिद्वंद्वी समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने मिलकर आम चुनाव लड़ने का ऐतिहासिक फैसला लिया था, लेकिन चुनाव में इस गठबंधन को उम्मीद के मुताबिक कामयाबी नहीं मिली. बसपा के खाते में 10 सीटें आईं, जबकि सपा को 5 सीट से ही संतोष करना पड़ा. हालांकि गठबंधन तोड़ने का ऐलान अभी तक बसपा प्रमुख मायावती ने औपचारिक रूप से नहीं किया है. इन सबके बाद अब पीएम नरेंद्र मोदी की यह भविष्यवाणी सच साबित हो गई कि चुनाव बात यह गठबंधन टूट जाएगा. पीएम मोदी के साथ-साथ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी चुनाव बाद इस गठबंधन के टूटने की बात कही थी.

  • मायावती ने तोड़ा सपा से गठबंधन? कहा- यादव वोट ट्रांसफर नहीं हुए, विधानसभा उप चुनाव अकेले लड़ेगी बीएसपी

    मायावती ने तोड़ा सपा से गठबंधन? कहा- यादव वोट ट्रांसफर नहीं हुए, विधानसभा उप चुनाव अकेले लड़ेगी बीएसपी

    SP BSP alliance: बीएसपी सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने कहा है कि लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) में यादव वोट बीएसपी (BSP) के पक्ष में ट्रांसफर नहीं हुए हैं इसलिए बीएसपी अब उत्तर प्रदेश में 11 सीटों पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव में अकेले लड़ेगी.

  • NDA के पास अगले साल तक राज्यसभा में हो जाएगा बहुमत, तीन तलाक, NRC पर मोदी सरकार की राह होगी आसान

    NDA के पास अगले साल तक राज्यसभा में हो जाएगा बहुमत, तीन तलाक, NRC पर मोदी सरकार की राह होगी आसान

    अगले साल नवंबर में उत्तर प्रदेश में खाली होने वाली राज्यसभा की 10 में से अधिकांश सीटें भाजपा जीतेगी. इनमें से नौ सीटें विपक्षी दलों के पास हैं. इनमें से छह समाजवादी पार्टी (सपा) के पास, दो बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और एक कांग्रेस के पास है. उत्तर प्रदेश विधानसभा में भाजपा के 309 सदस्य हैं. सपा के 48, बसपा के 19 और कांग्रेस के सात सदस्य हैं. अगले साल तक भाजपा को असम, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश में सीटें मिलेंगी. भाजपा राजस्थान, बिहार, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में सीटें गंवाएगी. महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के परिणामों का भी राजग की सीट संख्या पर असर होगा.

  • Election Results Live Updates : कांग्रेस के मजबूत गढ़ अमेठी में राहुल गांधी ने हार स्वीकारी, स्मृति ईरानी बोली-कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता ...

    Election Results Live Updates : कांग्रेस के मजबूत गढ़ अमेठी में राहुल गांधी ने हार स्वीकारी, स्मृति ईरानी बोली-कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता ...

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी  उत्तर प्रदेश की अपनी परंपरागत अमेठी लोकसभा सीट से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी से हार स्वीकार कर ली है. उन्होंने कहा है कि अमेठी की जनता ने फैसला दे दिया है.  मैं चाहता हूं कि स्मृति ईरानी अमेठी की प्यार से देखभाल करें. हालांकि अभी तक जिला निर्वाचन की ओर से अंतिम परिणाम जारी नहीं किया गया है. लेकिन आखिरी राउंड की मतगणना में स्मृति ईरानी 20 हजार वोटों से आगे चल रही हैं. अमेठी लोकसभा सीट में पांच विधानसभा क्षेत्र आते हैं . अमेठी, जगदीशपुर, सलोन, तिलोई और गौरीगंज विधानसभा क्षेत्रों के अलग अलग नतीजे घोषित किये जा रहे हैं . अमेठी सीट पर स्मृति का सीधा मुकाबला राहुल गांधी से है. स्मृति को 2014 के लोकसभा चुनाव में राहुल के हाथों पराजय का सामना करना पड़ा था. म

  • Lok Sabha Election 2019 : एग्जिट पोल के बाद अब विपक्ष के लिए सिरदर्द बनी EVM,प्रत्याशी दे रहे हैं धरना

    Lok Sabha Election 2019 : एग्जिट पोल के बाद अब विपक्ष के लिए सिरदर्द बनी EVM,प्रत्याशी दे रहे हैं धरना

    उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ीपुर में प्रशासन ने स्ट्रॉंग रूम की निगरानी में 5 लोगों को रहने की इजाज़त दे दी है.  सोमवार को यहां से गठबंधन के उम्मीदवार अफ़ज़ाल  अंसारी अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए थे. उनका आरोप था कि ग़ाज़ीपुर लोकसभा के अंतर्गत 5 विधानसभाएं आती हैं और हर विधानसभा की ईवीएम 5 अलग-अलग जगहों पर है. अफ़ज़ाल की मांग थी कि हर स्ट्रॉंग रूम के पास दो बसपा कार्यकर्ताओं के पास जारी किए जाएं. अंसारी ने शक जताया है कि ज़िला प्रशासन सत्ताधारी पार्टी के इशारे पर कुछ गड़बड़ कर सकता है.

  • Lok Sabha Election 2019 Updates : अंतिम चरण में 59 सीटों पर 64 फीसदी मतदान

    Lok Sabha Election 2019 Updates : अंतिम चरण में 59 सीटों पर 64 फीसदी मतदान

    आज लोकसभा चुनावों का सातवां और आख़िरी चरण हो रहा है. 7 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 59 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं. पंजाब की सभी 13, उत्तर प्रदेश की 13,  पश्चिम बंगाल की 9, बिहार और मध्य प्रदेश की 8-8, हिमाचल प्रदेश की 4, झारखंड की 2 सीटों पर मतदान हो रहा है.59 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान में 10 करोड़ से अधिक मतदाता हैं और 918 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं. आज 112993 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. शाम तक तमिलनाडु के वेल्लोर को छोड़कर सभी निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव समाप्त हो जाएगा. धन के अत्यधिक इस्तेमाल के बाद वेल्लोर में मतदान रद्द कर दिया गया था. नई तारीख की घोषणा बाद में होगी. इसके अलावा, गोवा की पणजी विधानसभा सीट पर उपचुनाव भी हो रहा है. यह सीट पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन से रिक्त हुई है. इसके अलावा तमिलनाडु की सुलुर, अरावकुरिची, ओत्तापिदाराम (सुरक्षित) , थिरुपरंकुन्द्रम विधानसभा सीटों पर भी उपचुनाव हो रहा है. बिहार की देहरी विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव के लिए वोट डाले जा रहे हैं. उत्तर प्रदेश में, सभी की नजरें वाराणसी सीट पर लगी हुई हैं, जहां से मोदी के अलावा 25 उम्मीदवार मैदान में हैं. प्रधानमंत्री को मुख्य रूप से चुनौती कांग्रेस के अजय राय और सपा-बसपा गठबंधन की प्रत्याशी शालिनी यादव से मिल रही है. 

  • Lok Sabha Election 2019 Phase 7: 10 बड़े चेहरे जिनकी किस्मत आज EVM में हो जाएगी कैद

    Lok Sabha Election 2019 Phase 7: 10 बड़े चेहरे जिनकी किस्मत आज EVM में हो जाएगी कैद

    रविवार यानी आज लोकसभा चुनावों के आखिरी चरण के लिए मतदान शुरू हो गया है. कुल 59 सीटों पर आज मतदान हो रहा है. वोटों की गिनती 23 मई को होगी. खास बात ये है कि आज पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी वोट डाले जा रहे हैं, जहां से पीएम दोबारा उम्मीदवार हैं. आज के मतदान से कई बड़े नेताओं की किस्मत का चुनाव होगा जिनमें पीएम मोदी, शत्रुघ्न सिन्हा, सुखबीर सिंह बादल, मनीष तिवारी, किरण खेर अभिषेक बनर्जी, सनी देओल, मीसा भारती, रविशंकर प्रसाद और रवि किशन प्रमुख हैं. सातवें चरण में पंजाब में 13, उत्तर प्रदेश में 13, पश्चिम बंगाल में नौ, बिहार और मध्य प्रदेश में आठ-आठ, हिमाचल प्रदेश में चार, झारखंड में तीन और चंडीगढ़ की एकमात्र लोकसभा सीट पर मतदान हो रहा है. इस चरण में 918 उम्मीदवार अपने किस्मत आजमा रहे हैं. रविवार को ही पणजी विधानसभा सीट के लिए वोट डाले जा रहे हैं, जो पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद रिक्त हो गई थी. इसके साथ ही तमिलनाडु की चार विधानसभा सीटों-सुलूर, अरवाकुरुचि, ओत्तापिदरम (सुरक्षित) और तिरुपरंकुंद्रम पर भी रविवार को उपचुनाव होगा. यूपी में वाराणसी के अलावा गाजीपुर, मिर्जापुर, महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, चंदौली और रॉबर्ट्सगंज सीटों के लिये मतदान शुरू हो चुका है.