NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2012


'उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2012' - 172 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • ओम प्रकाश राजभर पहुंचा सकते हैं उत्तर प्रदेश में नुकसान, फिर भी बीजेपी क्यों नहीं दे रही है तवज्जो

    ओम प्रकाश राजभर पहुंचा सकते हैं उत्तर प्रदेश में नुकसान, फिर भी बीजेपी क्यों नहीं दे रही है तवज्जो

    बीजेपी के लिए कई बार मुश्किल खड़ी कर चुके सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (भासपा) के नेता ओम प्रकाश राजभर ने भी अपने प्रत्याशी उतारने का ऐलान कर दिया है. माना जा रहा था कि बीजेपी लोकसभा चुनाव तक ओपी राजभर को मना लेगी लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. ओपी राजभर की अकड़ और बीजेपी की मंशा को समझने के लिए हमें साल 2012 के विधानसभा चुनाव से इस पूरी समझना होगा. इस  चुनाव में बलिया, गाज़ीपुर, मऊ, आजमगढ़, वाराणसी जैसी पूर्वांचल की तकरीबन 20 सीटों पर भासपा के प्रत्याशियों को इतने वोट मिले कि इन इलाकों में उन्हें अपनी ताकत का एहसास हो गया.

  • हिमाचल और गुजरात में किस करवट बैठेगा चुनावी ऊंट?

    हिमाचल और गुजरात में किस करवट बैठेगा चुनावी ऊंट?

    प्रश्‍न यह उठता है कि क्या हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस बनी रहेगी और गुजरात में बीजेपी बेदखल हो जाएगी? फिलहाल इन दोनों प्रश्‍नों के जो उत्तर नजर आ रहे हैं, वह यह कि दोनों में से किसी के होने की संभावना नहीं है. 68 सीटों वाली हिमाचल की विधानसभा में कांग्रेस ने 2012 में 36 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी. बीजेपी इससे 10 कम रही थी. कांग्रेस ने अपने 83 वर्षीय जिस नेता को अपने भावी मुख्यमंत्री के रूप में प्रस्तुत किया है, वे इस बीच लगातार भ्रष्टाचार के मामलों में चर्चा में रहे हैं.

  • यूपी चुनाव में केवल 9 फीसदी महिला प्रत्याशी, नेताजी कैसे होगा Women empowerment?

    यूपी चुनाव में केवल 9 फीसदी महिला प्रत्याशी, नेताजी कैसे होगा Women empowerment?

    एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) की हालिया रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश में 403 सीटों पर 4853 प्रत्याशी मैदान में हैं. यानी केवल 437 महिलाएं चुनाव मैदान में हैं.

  • यूपी चुनाव 2017: छठे चरण में 49 सीटों पर मतदान खत्‍म, 5 बजे तक 57.03 फीसदी वोटिंग

    यूपी चुनाव 2017: छठे चरण में 49 सीटों पर मतदान खत्‍म, 5 बजे तक 57.03 फीसदी वोटिंग

    उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के छठे चरण में पूर्वांचल की सात जिलों की 49 सीटों के लिए मतदान खत्‍म हो गया है. चुनाव आयोग के अनुसार इस चरण में शाम 5 बजे तक 57.03 फीसदी मतदाताओं ने अपने माताधिकार का प्रयोग किया. साल 2012 में हुए चुनाव में यह आंकड़ा 55.03 फीसदी था. यानी पिछले चुनाव की तुलना में इस बार करीब 2 फीसदी ज्‍यादा लोगों ने वोट डाले.

  • यूपी चुनाव 2017 : पांचवें चरण में 52 सीटों पर होगा मतदान, आखिर किसकी होगी अयोध्या?

    यूपी चुनाव 2017 : पांचवें चरण में 52 सीटों पर होगा मतदान, आखिर किसकी होगी अयोध्या?

    उत्तर प्रदेश के 7 में से 4 चरणों का मतदान पूरा हो चुका है. 5वें चरण में 9 ज़िलों की 52 सीटों पर 27 फ़रवरी को मतदान होना है. इन 52 सीटों में जिस सीट का सबसे बड़ा सांकेतिक महत्व है वो सीट है फ़ैज़ाबाद जिले की अयोध्या सीट. 2012 से पहले लगातार 25 सालों तक बीजेपी के लल्लू सिंह यहां से विधायक रहे लेकिन 2012 में सपा के पवन पांडे ने उन्हें हरा दिया था, जिसका इनाम उन्हें अखिलेश सरकार में मंत्री बना कर दिया गया.

  • UP elections 2017: चौथे चरण में 61% से अधिक मतदान, 2012 की तुलना में 2.3% अधिक

    UP elections 2017: चौथे चरण में 61% से अधिक मतदान, 2012 की तुलना में 2.3% अधिक

    उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव का चौथे चरण का मतदान खत्‍म हो गया है. चुनाव आयोग के मुताबिक शाम पांच बजे मतदान खत्‍म होने तक 61 प्रतिशत से भी अधिक मतदान हुआ. यह 2012 के विधानसभा चुनावों की तुलना में 2.3 प्रतिशत अधिक है.

  • दीप नारायण सिंह: क्‍या इस बार लगा पाएंगे हैट्रिक

    दीप नारायण सिंह: क्‍या इस बार लगा पाएंगे हैट्रिक

    दो बार से एमएलए चुने जा रहे समाजवादी पार्टी के दीप नारायण सिंह एक बार फिर गरौठा क्षेत्र से चुनाव मैदान में हैं. उनके सामने सीट बचाने की चुनौती है. दीप नारायण सिंह यूपी विधानसभा में समाजवादी पार्टी से विधायक हैं. 2012 के उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश की गरौठा विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव जीता था. इन्‍हें 700030 वोट मिले थे.

  • UP assembly Polls 2017: ये 7 जिले सपा का 'गढ़', तीसरे फेज़ में सेंध लगा पाएगी बीएसपी-बीजेपी?

    UP assembly Polls 2017: ये 7 जिले सपा का 'गढ़', तीसरे फेज़ में सेंध लगा पाएगी बीएसपी-बीजेपी?

    उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में 12 जिलों की 69 सीटों पर चुनाव प्रचार थम गया है और रविवार को वोटिंग है. इस चरण में सपा के सामने अपने किले को बचाने की चुनौती होगी तो सत्ता में वापसी की उम्मीद लगाए बीजेपी और बीएसपी के सामने मुलायम सिंह यादव और उनके परिवार के प्रति वोटरों के विश्वास को डगमगाने का मौका होगा.

  • उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 दूसरा चरण : समाजवादी पार्टी के गढ़ की ये 15 सीटें, क्या सेंध लगा पाएगी बीजेपी?

    उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 दूसरा चरण : समाजवादी पार्टी के गढ़ की ये 15 सीटें, क्या सेंध लगा पाएगी बीजेपी?

    उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए सोमवार शाम प्रचार थम जाएगा. इस चरण में 15 फरवरी को 11 जिलों की 67 सीटों पर वोट डाले जाएंगे. 14 साल बाद यूपी में सत्ता हासिल करने की कोशिश में जुटी बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि इस चरण में उनका मुकाबला सीधे तौर से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से है. 2012 के परिणामों पर नजर डालें तो तीन सीटों संभल, बदायूं और रामपुर ऐसे जिले हैं जहां के लोग समाजवादी पार्टी (सपा) पर भी खासा भरोसा जताते आए हैं.

  • यूपी चुनाव 2017 : 10 महत्वपूर्ण सीटें जहां पर लड़ाई है दिलचस्प

    यूपी चुनाव 2017 : 10 महत्वपूर्ण सीटें जहां पर लड़ाई है दिलचस्प

    उत्तर प्रदेश में पहले चरण का मतदान देने के लिए उत्साहित मतदाता लाइनों में लगे हैं. चुनाव आयोग पहले चरण में यूपी विधानसभा की 403 सीटों में से 73 सीटों पर मतदान करा रहा है. इनमें बीएसपी और बीजेपी ने सभी 73 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं. आरएलडी ने 57 सीटों पर प्रत्याशियों को टिकट दिया है और समाजवादी पार्टी ने 51 सीटों पर पार्टी उम्मीदवारों को टिकट दिए हैं. कांग्रेस इस बार समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ रही है और इसके खाते में 24 सीटें आई हैं. पहले चरण में 2,60,17,075 वोटर हैं. कुल 839 प्रत्याशी हैं जिनमें 77 महिलाएं हैं. 15 जिलों में वोटिंग हो रही है. 2012 विधानसभा के हिसाब से यहां पर 24-24 सीटें बीएसपी और सपा ने जीती थीं, 9 आरएलडी, 11 बीजेपी और पांच कांग्रेस के खाते में गईं थी. वहीं 2014 लोकसभा चुनाव के हिसाब से अनुमान लगाया जाए तो 68 सीटों पर बीजेपी के समर्थकों की अच्छी तादाद है और 5 सीटों पर सपा के खासे समर्थक हैं.

  • उत्तर प्रदेश चुनाव 2017: जानें विधानसभा क्षेत्र हापुड़ को

    उत्तर प्रदेश चुनाव 2017:  जानें विधानसभा क्षेत्र हापुड़ को

    आरक्षित सीट हापुड़ विधान सभा कुछ समय तक भाजपा का सुरक्षित और आसान गढ़ रहा है. लेकिन अब भाजपा की यहां पकड़ कमजोर हो रही है. इस बार यहां त्रिकोणीय मुकाबला है. काफी समय पहले यह सीट कांग्रेस के गजराज सिंह के लिए पक्की थी. वे तीन बार लगातार विधायक बने. राम मंदिर लहर में यह सीट कांग्रेस से छूटकर भाजपा के हाथ में आ गई. उसके बाद दो बार बसपा के धर्मपाल यहां से विधायक बने. 2012 में फिर से गजराज सिंह की वापसी हुई.

  • ज़रा संभलकर ये चुनावी डगर है, पिछले चुनाव में कांग्रेस-बीजेपी के प्रत्याशियों ने बनाया था यह अनोखा रिकॉर्ड

    ज़रा संभलकर ये चुनावी डगर है, पिछले चुनाव में कांग्रेस-बीजेपी के प्रत्याशियों ने बनाया था यह अनोखा रिकॉर्ड

    चुनाव परिणाम यह होता है कि कई प्रत्याशी अपनी जमानत तक नहीं बचा पाते हैं. जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश में 2012 में चुनाव के बाद 6835 प्रत्याशियों में से 5756 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई थी. चुनाव लड़ने वालों में 6252 पुरुष प्रत्याशी थे जबकि 583 महिला प्रत्याशी मैदान में थीं. इनमें से 5269 पुरुष और 487 महिला प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई थी.

  • यूपी के एक वोटर की नज़र में बतौर पीएम यह ‘फर्क’ है मनमोहन सिंह और नरेंद्र मोदी के बीच...

    यूपी के एक वोटर की नज़र में बतौर पीएम यह ‘फर्क’ है मनमोहन सिंह और नरेंद्र मोदी के बीच...

    राघवेंद्र सिंह ने हाल ही में लखनऊ में उबेर ड्राइवर के रूप में काम करना शुरू किया है. उत्तर प्रदेश में चुनाव का रंग धीरे-धीरे चढ़ रहा है. ऐसे में एक आम वोटर के तौर पर राघवेंद्र सिंह का कहना है कि वर्ष 2012 में उसने समाजवादी पार्टी को वोट दिया था. इस बार, वह बीजेपी के पक्ष में मतदान करेगा.

  • चुनाव आयोग ने 2012 उप्र चुनाव के 25 उम्मीदवारों पर तीन साल की पाबंदी लगाई

    चुनाव आयोग ने 2012 उप्र चुनाव के 25 उम्मीदवारों पर तीन साल की पाबंदी लगाई

    चुनाव आयोग ने शुक्रवार को चुनावों के दौरान किए गए खर्च की जानकारी नहीं देने पर 2012 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ने वाले 25 उम्मीदवारों पर अगले तीन वर्ष के लिए पाबंदी लगा दी.

  • एक अरब डॉलर का कॉन्ट्रैक्ट पाने के लिए एयरफोर्स अधिकारी को ब्लैकमेल किया गया : पीएम को लिखे खत में आरोप

    एक अरब डॉलर का कॉन्ट्रैक्ट पाने के लिए एयरफोर्स अधिकारी को ब्लैकमेल किया गया : पीएम को लिखे खत में आरोप

    पत्र में दावा किया गया है कि एयर मार्शल हरीश मसंद की तस्वीरें उज़्बेकी वेश्याओं के साथ खींची गई थीं, और उस समय 'एक बहुत वरिष्ठ एयरफोर्स अधिकारी' तथा उनके कुछ पूर्व सहकर्मी भी वहीं मौजूद थे. सी. एडमंड्स एलेन का कहना है कि एयर मार्शल हरीश मसंद को 2010 में 'काम पर रखा' गया था, ताकि वह 'अंदरूनी जानकारी' दें, जिससे एक अमेरिकी हथियार निर्माता हॉकर बीचक्राफ्ट कॉरपोरेशन को भारतीय वायुसेना से एक अरब अमेरिकी डॉलर का ट्रेनर विमान सप्लाई करने का कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने में मदद मिले.

  • जानिए, कौन हैं कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आईं रीता बहुगुणा जोशी, क्या हैं इसके मायने...

    जानिए, कौन हैं कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आईं रीता बहुगुणा जोशी, क्या हैं इसके मायने...

    प्रदेश की राजनीति में रीता बहुगुणा जोशी का नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं रहा है. इतिहास में स्नातकोत्तर तथा पीएचडी की उपाधियां अर्जित करने वाली रीता राज्य के दिवंगत दिग्गज राजनेता हेमवतीनंदन बहुगुणा की पुत्री हैं, और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रह चुके विजय बहुगुणा की बहन हैं.

  • उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव को मिल सकता है दूसरा मौका, अगर...

    उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव को मिल सकता है दूसरा मौका, अगर...

    साल 2012 के बाद से यूपी के विकास का श्रेय अखिलेश को ही जाता है और उनका यही काम उन्हें लगातार दूसरी बार यूपी की बागडोर संभालने वाला मुख्यमंत्री बना सकता है। हालांकि आखिरी फैसला जनता जनार्दन का ही होगा।

  • उत्तर प्रदेश का मिशन 2017 - तैयारी में कहां है बीजेपी...?

    उत्तर प्रदेश का मिशन 2017 - तैयारी में कहां है बीजेपी...?

    बीजेपी में वर्तमान दिशाहीनता का दौर समाप्त होता ही नहीं दिख रहा है। वर्ष 2012 से अब तक हुए सारे उपचुनाव हारने के बाद पार्टी को केवल एक जीत मुज़फ्फरनगर में मिली, और अभी समाप्त हुए विधानपरिषद के चुनाव में पार्टी को एक भी सीट नहीं मिली।