NDTV Khabar

एस जयशंकर


'एस जयशंकर' - 168 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • भारत ने निभाई दोस्ती, बांग्लादेश और नेपाल को भेजी कोरोना वैक्सीन की खेप

    भारत ने निभाई दोस्ती, बांग्लादेश और नेपाल को भेजी कोरोना वैक्सीन की खेप

    भारत (India) ने सहायता अनुदान एवं पड़ोस प्रथम नीति के तहत बृहस्पतिवार को COVID-19 के टीके की खेप बांग्लादेश (Bangladesh) और नेपाल (Nepal) को भेजी. इससे एक दिन पहले भूटान और मालदीव को कोविड टीके की खेप भेजी गई थी. विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने टीके की खेप पहुंचने की तस्वीरें ट्विटर पर शेयर की हैं. जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘#टीकामैत्री बांग्लादेश के साथ भारत के संबंधों की उच्च प्राथमिकता की पुष्टि करते हैं.’’

  • विदेश मंत्री जयशंकर ने अपने नेपाली समकक्ष प्रदीप कुमार ज्ञवाली के साथ की बैठक

    विदेश मंत्री जयशंकर ने अपने नेपाली समकक्ष प्रदीप कुमार ज्ञवाली के साथ की बैठक

    बहरहाल, एक सवाल के जवाब में श्रीवास्तव ने कहा था कि सीमा मुद्दे पर भारत का रुख स्पष्ट है और संयुक्त आयोग और सीमा मुद्दे से जुड़ा तंत्र अलग-अलग है. नेपाल सरकार द्वारा पिछले साल विवादित नया नक्शा प्रकाशित किए जाने के कारण उभरे सीमा विवाद के बाद इस देश के किसी वरिष्ठ नेता की यह पहली भारत यात्रा है.

  • कोरोना वायरस महामारी से भारत-श्रीलंका के द्विपक्षीय संबंधों पर नहीं पड़ेगा असर : एस. जयशंकर

    कोरोना वायरस महामारी से भारत-श्रीलंका के द्विपक्षीय संबंधों पर नहीं पड़ेगा असर : एस. जयशंकर

    गुणवर्धन के साथ बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में जयशंकर ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी भारत-श्रीलंका के द्विपक्षीय संबंधों को नुकसान नहीं पहुंचा सकी है. जयशंकर ने कहा, ‘‘वास्तविकता यह है कि पिछले एक साल में उच्च स्तर पर संपर्क बना रहा और वह पहले से मजबूत हुआ है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब हम श्रीलंका के साथ कोविड-19 के बाद सहयोग को लेकर उत्साहित हैं.’’

  • दो दिनी दौरे पर क़तर पहुंचे एस जयशंकर, भारतीय कामगारों के खाड़ी देश लौटने पर होगी बातचीत

    दो दिनी दौरे पर क़तर पहुंचे एस जयशंकर, भारतीय कामगारों के खाड़ी देश लौटने पर होगी बातचीत

    क़तर ने हाल ही में लेबर रिफ़ार्म किया है, जिसकी वजह से वहाँ काम करने वाले भारतीय कामगारों को बड़ी तादाद में लौटना पड़ा था.

  • हिंद-प्रशांत अवधारणा को अस्वीकार करना वैश्वीकरण को खारिज करने के समान है: जयशंकर

    हिंद-प्रशांत अवधारणा को अस्वीकार करना वैश्वीकरण को खारिज करने के समान है: जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरुवार को कहा कि हिंद-प्रशांत अवधारणा आने वाले कल की कोई संभावना नहीं, बल्कि बीते हुए कल की वास्तविकता थी और इसे अस्वीकार करना वैश्वीकरण को खारिज करने के समान है.

  • भारत, ब्रिटेन चाहते हैं कि कोविड-19 के टीके की प्रभावित देशों तक पहुंच सुनिश्चित हो : डोमिनिक राब

    भारत, ब्रिटेन चाहते हैं कि कोविड-19 के टीके की प्रभावित देशों तक पहुंच सुनिश्चित हो : डोमिनिक राब

    ब्रिटेन के विदेश मंत्री डोमिनिक राब ने मंगलवार को कहा कि भारत-ब्रिटेन गठजोड़ का गौरवपूर्ण उदाहरण कोविड-19 है और दोनों देश चाहते हैं कि इस वायरस की रोकथाम करने वाले टीके का इस महामारी की चपेट में आए देशों तक पहुंच और समान वितरण सुनिश्चित हो सके .

  • UN में नेतृत्व स्तर पर सीमित प्रतिनिधित्व उसकी विश्वसनीयता के लिए चुनौती : जयशंकर

    UN में नेतृत्व स्तर पर सीमित प्रतिनिधित्व उसकी विश्वसनीयता के लिए चुनौती : जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र में नेतृत्व स्तर पर सीमित प्रतिनिधित्व उसकी विश्वसनीयता एवं प्रभाव के लिहाज से एक चुनौती है. उन्होंने बहुपक्षवादी संस्था में सुधार पर भी जोर दिया. ग्लोबल टेक्नोलॉजी समिट में जयशंकर ने कहा, ‘‘यदि कोई संस्थान 75 वर्ष पुराना है और चार बार ही बदला है तो आप इस बात से इनकार नहीं कर सकते कि वह आज के जमाने के लिहाज से पुराना हो चुका है. आज समस्या यह है कि संयुक्त राष्ट्र में नेतृत्व स्तर पर सीमित प्रतिनिधित्व हो रहा है, मेरा खयाल है कि यह इसकी विश्वसनीयता एवं इसके प्रभाव दोनों के लिए कई मायनों में एक चुनौती है.’’

  • राज्यसभा चुनाव को लेकर विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने SC में किया बचाव, कांग्रेस नेता की अपील पर आज सुनवाई

    राज्यसभा चुनाव को लेकर विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने SC में किया बचाव, कांग्रेस नेता की अपील पर आज सुनवाई

    कांग्रेस नेता गौरव हेमंतभाई पंड्या ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर गुजरात हाईकोर्ट के फैसले को चुनोती दी है, जिसमें कोर्ट ने पांडेय की याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया था. उन्होंने मांग की है कि एस जयशंकर का चुनाव रद्द किया जाए क्योंकि उन्होंने प्रक्रिया का दुरुपयोग" कर चुनाव जीता है.

  • भारत का उदय अपने साथ प्रतिक्रियाएं भी लाएगा: एस जयशंकर

    भारत का उदय अपने साथ प्रतिक्रियाएं भी लाएगा: एस जयशंकर

    जयशंकर ने कहा कि “असीमित सैन्य संघर्ष” का युग पीछे छूट सकता है लेकिन सीमित युद्ध और प्रतिरोधी कूटनीति आज भी काफी हद तक जीवन के तथ्य हैं. भारत के बढ़ते वैश्विक कद के बारे में जयशंकर ने कहा कि देश के “दुनिया के साथ संबंध” तब की तरह नहीं हो सकते जब उसकी रैंकिंग काफी नीचे थी.

  • भारत को आजमाने की हो रही कोशिश, चुनौतियों से निपटेंगे : लद्दाख में गतिरोध पर बोले जयशंकर 

    भारत को आजमाने की हो रही कोशिश, चुनौतियों से निपटेंगे : लद्दाख में गतिरोध पर बोले जयशंकर 

    फिक्की के सालाना आम सम्मेलन में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में जो कुछ घटित हुआ, वह चीन के हित में नहीं है. इस मामले ने भारत में जन भावना पर काफी असर डाला है.

  • भारत के आज के नेता 70 साल पहले के नेता जैसे नहीं, पश्चिम के पब्लिकेशन्स समझ नहीं पा रहे : एस जयशंकर

    भारत के आज के नेता 70 साल पहले के नेता जैसे नहीं, पश्चिम के पब्लिकेशन्स समझ नहीं पा रहे : एस जयशंकर

    आस्ट्रेलिया के लौवी इंस्टीट्यूट के एक्ज़ीक्यूटिव डायरेक्टर माइकल फुलीलव के साथ बातचीत में उनसे पूछा गया कि पश्चिम में एक अवधारणा बन रही है कि क्या भारत उदारवाद छोड़कर अनुदारवाद की तरफ़ बढ़ रहा है. हवाला द इकोनॉमिस्ट मैगजीन के आलेख का दिया गया. विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने अपने जवाब में इस मैगज़ीन पर राजनीतिक तौर पर पक्षपाती होने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि पश्चिम के वे लोग जो भारत को लेकर लिख रहे हैं और टिप्पणी कर रहे हैं वे भारत में आ रहे बदलावों को समझ पाने में नाकाम रहे हैं. भारत में लोकतंत्र की जड़ें बहुत मज़बूत हैं. आज से 70 साल पहले के भारत के नेताओं की तरफ़ देखें तो वे ज़्यादातर अंग्रेज़ी बोलने वाले और बड़े शहरों से होते थे.

  • विदेश मंत्री का सेशेल्स दौरा संपन्न, कोविड के बाद के दौर में द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने पर जोर

    विदेश मंत्री का सेशेल्स दौरा संपन्न, कोविड के बाद के दौर में द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने पर जोर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कोविड-19 के बाद के दौर में भारत-सेशेल्स के बीच द्विपक्षीय साझेदारी को मजूबत करने के भारत के संकल्प को दोरहाया.

  • भारत-यूरोपीय संघ ग्लोबलाइजेशन को बेहतर बनाने में निभा सकते हैं अहम भूमिका : जयशंकर

    भारत-यूरोपीय संघ ग्लोबलाइजेशन को बेहतर बनाने में निभा सकते हैं अहम भूमिका : जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को कहा कि भारत और यूरोपीय संघ भूमंडलीकरण को बेहतर बनाने तथा और अधिक प्रभावी बहुपक्षवाद के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं. उन्होंने जोर देकर कहा कि साथ मिलकर काम करने की इनकी क्षमता वैश्विक परिणामों को आकार देने में मदद कर सकती है. 

  • विदेश मंत्री जयशंकर के राज्यसभा चुनाव को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, नोटिस जारी

    विदेश मंत्री जयशंकर के राज्यसभा चुनाव को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, नोटिस जारी

    विदेश मंत्री एस जयशंकर के राज्यसभा चुनाव (Rajya sabha Election) को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने जयशंकर को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. जयशंकर (Jaishankar) की ओर ये हरीश साल्वे ने नोटिस स्वीकार किया. जयशंकर इस मामले में जवाब दाखिल करेंगे. ऐसी ही अन्य याचिकाओं पर भी साथ ही सुनवाई होगी. दरअसल पिछले साल गुजरात उच्च न्यायालय ने कांग्रेस (Congress) नेता गौरव पंड्या की याचिका को खारिज कर दिया था. कांग्रेस नेता ने राज्यसभा के लिए जयशंकर के निर्वाचन को चुनौती दी थी. अदालत ने भाजपा के उम्मीदवार जुगलजी ठाकोर के निर्वाचन के खिलाफ कांग्रेस नेताओं चंद्रिका चुडासमा और परेश धनाणी द्वारा दायर दो अन्य याचिकाओं को भी खारिज कर दिया था. 

  • विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- भारत और अमेरिका के बीच संबंध जो बाइडन के प्रशासन में और आगे बढ़ेंगे

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा- भारत और अमेरिका के बीच संबंध जो बाइडन के प्रशासन में और आगे बढ़ेंगे

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को भरोसा जताया कि भारत और अमेरिका के बीच संबंध जो बाइडन के प्रशासन में और आगे बढ़ेंगे. उन्होंने कहा कि वह एक ऐसे दौर का हिस्सा रहे हैं जब दोनों देशों के बीच के द्विपक्षीय संबंधों में आमूल-चूल परिवर्तन हुआ.

  • अभी के फैसले तय करेंगे, भारत औद्योगिक शक्ति बनेगा या नहीं: जयशंकर

    अभी के फैसले तय करेंगे, भारत औद्योगिक शक्ति बनेगा या नहीं: जयशंकर

    केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को कहा कि आत्मनिर्भर भारत योजना का परिदृश्य देश के लिये बहुत महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि भारत आने वाले समय में प्रथम श्रेणी की औद्योगिक शक्ति बनता है या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करेगा कि आज किस तरह के फैसले लिये जा रहे हैं.

  • सीमापार से होने वाले आतंकवाद को सबकी नजरों के सामने रखा है भारत ने : जयशंकर

    सीमापार से होने वाले आतंकवाद को सबकी नजरों के सामने रखा है भारत ने : जयशंकर

    कोविड-19 के बाद मेडिकल उपकरणों के क्षेत्र में भारत की क्षमता के बारे में बताते हुए जयशंकर ने कहा कि देश में फिलहाल महामारी के लिए 15,000 समर्पित अस्पताल हैं जिनमें 15 लाख आइसोलेशन बिस्तर उपलब्ध हैं. देश की 7,000 से ज्यादा प्रयोगशालाओं में 10 लाख से ज्यादा लोगों की कोविड-19 की जांच हो रही है. उन्होंने विचार रखा कि फिलहाल चुनौती संकट की इस स्थिति से उबरने की है. उन्होंने कहा कि दुनिया में अब पहले जैसा कामकाज नहीं होगा, क्योंकि बदलाव शुरू हो गया है.

  • अमेरिका में हैदराबाद के व्यक्ति की हत्या, परिवार ने सरकार से मांगी मदद

    अमेरिका में हैदराबाद के व्यक्ति की हत्या, परिवार ने सरकार से मांगी मदद

    चांचलगुडा इलाके के मोहम्मद आरिफ मोहिउद्दीन (Mohd Arif Mohiuddin) की जॉर्जिया में कुछ लोगों ने चाकू मारकर हत्या कर दी. मोहिउद्दीन वहां किराने की दुकान चलाते थे.विदेश मंत्री एस जयशंकर को संबोधित पत्र में मोहिउद्दीन की पत्नी ने उनसे अमेरिका स्थित भारतीय दूतावास से हत्या के कारणों की जांच करने के लिए कहने का अनुरोध किया है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com