NDTV Khabar

कर्नाटक लोकसभा चुनाव परिणाम


'कर्नाटक लोकसभा चुनाव परिणाम' - 8 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कर्नाटक में क्या कुमारस्वामी कांग्रेस से नाता तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बनाएंगे?

    कर्नाटक में क्या कुमारस्वामी कांग्रेस से नाता तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बनाएंगे?

    लोकसभा चुनाव के परिणाम (Loksabha Election Results 2019) आने और बीजेपी (BJP) को इसमें अपार सफलता मिलने के बाद नए सियासी समीकरण बनना शुरू हो गए हैं. क्या मौजूदा हालात में कर्नाटक में सत्ता परिवर्तन होगा? क्या जेडीएस (JDS) नेता और मुख्यमंत्री कुमारस्वामी (Kumaraswamy) कांग्रेस (Congress) का साथ छोड़कर बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाएंगे? इस सवाल का जवाब तलाशने की कोशिश कर्नाटक के सियासी गलियारे में भी चल रही है.

  • Election Results 2019 : लाल कृष्ण आडवाणी ने PM मोदी और अमित शाह को बधाई देते हुए कही ये बात

    Election Results 2019 : लाल कृष्ण आडवाणी ने PM मोदी और अमित शाह को बधाई देते हुए कही ये बात

    लोकसभा चुनाव में लगातार दूसरी बार 'प्रचंड मोदी लहर' पर सवार भारतीय जनता पार्टी रिकॉर्ड सीटों के साथ फिर से केंद्र की सत्ता पर काबिज होने जा रही है. निर्वाचन आयोग की ओर से गुरुवार को जारी मतगणना की ताजा जानकारी के अनुसार भाजपा ने जहां एक सीट अपनी झोली में डाल ली है, वहीं 299 सीटों पर आगे चल रही है. उधर, कांग्रेस 50 सीटों पर आगे है. आयोग ने 542 सीटों के रुझान/परिणाम जारी किये हैं. कर्नाटक की हावेरी सीट पर भाजपा के उदासी एस सी ने एक लाख 40 हजार से अधिक मतों से जीत दर्ज की है.

  • Karnataka Election Results 2019: जानिए कर्नाटक लोकसभा सीटों के चुनाव परिणाम से जुड़ी जरूरी बातें

    Karnataka Election Results 2019: जानिए कर्नाटक लोकसभा सीटों के चुनाव परिणाम से जुड़ी जरूरी बातें

    कर्नाटक को कांग्रेस का गढ़ माना जाता है लेकिन साल 2007 में बीजेपी को जीत दिलाकर दक्षिणी राज्यों में उसका प्रवेश कराया गया था.

  • कर्नाटक उपचुनाव 2018 : कांग्रेस-JDS गठबंधन की अग्निपरीक्षा, BJP के पास बदला लेने का मौका - 10 खास बातें

    कर्नाटक उपचुनाव 2018 : कांग्रेस-JDS गठबंधन की अग्निपरीक्षा, BJP के पास बदला लेने का मौका - 10 खास बातें

    कर्नाटक में लोकसभा की तीन और विधानसभा की दो सीटों पर हुए उपचुनाव के परिणाम अगले साल होने वाले आम चुनाव 2019 के लिहाज़ से काफी अहम हैं. कर्नाटक मंगलवार को उपचुनावों के परिणामों के लिए इंतज़ार कर रहा है, जो न सिर्फ भारतीय जनता पार्टी (BJP), बल्कि राज्य में सत्तासीन कांग्रेस-JDS के लिए भी काफी अहम हैं. लोकसभा सीटों, शिमोगा, बल्लारी और मांड्या तथा विधानसभा सीटों जामखंडी और रामनगरम के परिणाम सभी के लिए अहम इसलिए हैं, क्योंकि लोकसभा की तीन में से दो सीटों पर अब तक BJP का कब्ज़ा था, वहीं, एक पर JDS की जीत हुई थी. इन तीन सीटों में से दो पर भी जीत BJP का मनोबल ऊंचा रखेगी, वहीं, विधानसभा चुनाव में मिली कामयाबी से कांग्रेस-JDS गठबंधन भी खुद को कमतर नहीं आंक रहा है. बता दें कि मई में हुए विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस-JDS ने मिलकर सरकार बनाई थी.

  • कर्नाटक चुनाव में पार्टी के प्रर्दशन ने 2019 में बड़ी जीत का रास्ता तय किया : फड़णवीस

    कर्नाटक चुनाव में पार्टी के प्रर्दशन ने 2019 में बड़ी जीत का रास्ता तय किया : फड़णवीस

    फड़णवीस ने कहा कि इस दक्षिण राज्य का चुनाव परिणाम प्रधानमंत्री में विश्वास का जनादेश है और इसका श्रेय भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की चुनाव रणनीति को जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि बी एस येदियुरप्पा और कर्नाटक की जनता को मेरी बधाई. इसने 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा और राजग के लिए बड़ी जीत का रास्ता तय किया है.

  • कर्नाटक विधानसभा चुनाव परिणाम : 'हाथ' से कर्नाटक भी फिसला, कांग्रेस की हार की हैं ये 11 वजहें

    कर्नाटक विधानसभा चुनाव परिणाम : 'हाथ' से कर्नाटक भी फिसला, कांग्रेस की हार की हैं ये 11 वजहें

    कर्नाटक विधानसभा चुनाव कांग्रेस हार गई है. कांग्रेस ने भी इस हार को मान लिया है. लेकिन राहुल की अगुवाई में कांग्रेस का जीतना बहुत जरूरी था क्योंकि इसके नतीजों का असर राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ सहित लोकसभा के चुनाव में भी पड़ना तय है. इस चुनाव के बाद बीजेपी निश्चित तौर पर दक्षिण में और मजबूती हासिल करेगी. अभी तक के विश्लेषण के मुताबिक कांग्रेस का कोई भी दांव कर्नाटक में कारगर साबित नहीं हुआ. वहीं जेडीएस किंग और किंगमेकर की भूमिका का दावा कर रही अब किस ओर जायेगी ये देखने वाली बात होगी. गौरतलब है कि कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों में से 222 सीट के लिए मतदान 12 मई को हुआ था. इसमें 2 सीटों का चुनाव रद्द करना पड़ा था. कर्नाटक में बहुमत के लिए 112 सीटें चाहिये. सीएम सिद्धारमैया ने यहां पर साल 2013 में हुये चुनाव में बीजेपी सरकार को हरा दिया था.

  • कर्नाटक चुनाव रिजल्ट 2018: भाजपा ने ऐसे खोला 'दक्षिण का द्वार', ये 5 रणनीति बनी वजह 

    कर्नाटक चुनाव रिजल्ट 2018: भाजपा ने ऐसे खोला 'दक्षिण का द्वार', ये 5 रणनीति बनी वजह 

    भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) रुझानों में 'कर्नाटक का किला' फतह कर चुकी है. पार्टी की इस जीत के अहम मायने हैं. खासकर तब जब अगले साल लोकसभा चुनाव होने हैं. इस जीत के साथ ही भाजपा के लिए 'दक्षिण का द्वार' भी खुल गया है और पार्टी अब कर्नाटक के बाद धीरे-धीरे दक्षिण के अन्य राज्यों में भी अपनी पैठ बढ़ाने की कोशिश करेगी. कर्नाटक के बाद तमिलनाडु अगला लक्ष्य होगा. तमिलनाडु के बारे में भाजपा खुद कहती रही है कि वहां स्थितियां पार्टी के अनुकूल हैं. इसी साल पूर्वोत्तर में करिश्मे के बाद भाजपा ने अब दक्षिण में करिश्मा किया है. यह करिश्मा यूं ही नहीं हुआ है. इसके पीछे तमाम वजहें हैं. चुनाव प्रचार में पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी. पीएम मोदी खुद 'रण' में उतरे. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से लेकर तमाम बड़े नेता धूल फांकते नजर आए. आइये आपको बताते हैं कि भाजपा कैसे बनी 'कर्नाटकपति'. 

  • चुनावी नतीजों से सोनिया खुश, मनमोहन ने कहा, भाजपा विचारधारा की हार

    चुनावी नतीजों से सोनिया खुश, मनमोहन ने कहा, भाजपा विचारधारा की हार

    प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बुधवार को कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस के अच्छे प्रदर्शन पर खुशी जताते हुए कहा कि चुनाव परिणाम का अर्थ है कि भाजपा की विचारधारा को खारिज कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में भी इसी तरह का परिणाम होगा।

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com