NDTV Khabar

किताब


'किताब' - 671 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Ayodhya Case: मुस्लिम पक्ष का सवाल- कुछ अंश दूसरे धर्म के मिलें तो क्या 450 साल पुरानी मस्जिद अवैध हो जाएगी?

    Ayodhya Case: मुस्लिम पक्ष का सवाल- कुछ अंश दूसरे धर्म के मिलें तो क्या 450 साल पुरानी मस्जिद अवैध हो जाएगी?

    अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में 38वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्षकारों के वकील राजीव धवन ने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले में जस्टिस खान और जस्टिस शर्मा की राय एक-दूसरे से अलग थी. जस्टिस खान ने कहा था कि मस्जिद बनाने के लिए किसी स्ट्रक्चर को ध्वस्त नहीं किया गया था. जबकि जस्टिस शर्मा की राय इससे अलग थी. धवन ने कहा जिलानी ने सही कहा था कि 1885 से पहले के किसी भी दस्तावेज़ को स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए. सन 1885 से पहले के जो दस्तावेज़ हिन्दू पक्ष के पास हैं वह सिर्फ विदेशी यात्रियों की किताब, स्कंद पुराण और दूसरी किताबें हैं.

  • Book Review: प्रेमियों के संघर्ष की कहानी है 'रायबरेली रोमांस'

    Book Review: प्रेमियों के संघर्ष की कहानी है 'रायबरेली रोमांस'

    यंग रीडर्स प्रेम कहानियां पढ़ना काफी पसंद करते हैं. लव स्टोरी पढ़ने में दिलचस्पी रखने वाले पाठकों के लिए मार्केट में एक ऐसी प्रेम कहानी पर आधारित किताब आई है जिसमें रोमांस, दोस्ती, फैमिली ड्रामा और बहुत कुछ है. लेखक सरस आजाद की नई किताब 'रायबरेली रोमांस' में आपको एक दिलचस्प प्रेम कहानी पढ़ने को मिलेगी. उनकी यह किताब एक दलित लड़के और क्षत्रिय लड़की की प्रेम कहानी है. जाति व्यवस्था  से आगे निकलर प्रेम करने वाले रघु और सोनम की कहानी आज के युवाओं को बहुत कुछ सिखाती है.

  • The Zoya Factor Review: क्रिकेट, इश्क और अंधविश्वास का कॉमिक कॉकटेल है 'द जोया फैक्टर'

    The Zoya Factor Review: क्रिकेट, इश्क और अंधविश्वास का कॉमिक कॉकटेल है 'द जोया फैक्टर'

    The Zoya Factor Review: सोनम कपूर (Sonam Kapoor) और दुलकर सलमान की 'द जोया फैक्टर' पूरी तरह से एंटरटेनिंग फिल्म है. 'द जोया फैक्टर (The Zoya Factor)' की यूएसपी सोनम कपूर के मोनोलॉग हैं तो उसके साथ दुलकर सलमान (Dulquer Salmaan) फिल्म में पूरी तरह से छाए रहते हैं. 'द जोया फैक्टर' अनुजा चौहान की इसी नाम से किताब पर आधारित है.

  • बारहवीं फेल आईपीएस! संघर्ष का रास्ता चुनकर सफल हो गए मनोज शर्मा

    बारहवीं फेल आईपीएस! संघर्ष का रास्ता चुनकर सफल हो गए मनोज शर्मा

    बारहवीं फेल आईपीएस! है न हैरान करने वाली बात. पर यह हकीकत है और यह अजूबा कर दिखाया है मुरैना के एक साधारण से परिवार के युवक ने, जिसका नाम है मनोज शर्मा. मनोज शर्मा आज मुम्बई में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त हैं. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को इन्हीं मनोज शर्मा पर लिखी किताब का विमोचन किया. अंग्रेजी में लिखी किताब का नाम है "12th fail" यह पुस्तक लिखी है अनुराग पाठक ने.

  • आजम खान के घर पर 5वां नोटिस, किताब, बिजली और भैंस चोरी सहित अब तक 80 से ज्यादा मुकदमे दर्ज

    आजम खान के घर पर 5वां नोटिस, किताब, बिजली और भैंस चोरी सहित अब तक 80 से ज्यादा मुकदमे दर्ज

    उत्तर प्रदेश के रामपुर से सांसद आजम खान के घर पर रेवेन्यू इंस्पेक्टर ने नोटिस चिपकाई है. नोटिस में लिखा है, 'आजम खान की पत्नी तजीम फातिमा, उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खान और अदीब आजम खान पर किसानों की जमीन जबरदस्ती जौहर विश्वविद्यालय में शामिल करने पर मुकदमे दर्ज हुए हैं.

  • हमें अपनी प्राथमिकताओं में 'शिक्षा' को शामिल करना होगा : NDTV से बोले मनीष सिसोदिया

    हमें अपनी प्राथमिकताओं में 'शिक्षा' को शामिल करना होगा : NDTV से बोले मनीष सिसोदिया

    अरविंद केजरीवाल सरकार में शिक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के कंधों पर है. उन्होंने शिक्षा के सिस्टम में किए गए बदलावों पर एक किताब लिखी है जिसका शीर्षक है 'शिक्षा'. इस किताब और दिल्ली के स्कूलों को लेकर मनीष सिसोदिया ने एनडीटीवी से खास बातचीत की.

  • Teachers' Day Quotes: एक किताब, एक कलम, एक बच्चा, और एक शिक्षक दुनिया को बदल सकते हैं, पढ़ें ऐसे ही दमदार विचार

    Teachers' Day Quotes: एक किताब, एक कलम, एक बच्चा, और एक शिक्षक दुनिया को बदल सकते हैं, पढ़ें ऐसे ही दमदार विचार

    शिक्षक दिवस (Teachers' Day) 5 सितंबर को पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जाएगा. इस दिन देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन (Sarvepalli Radhakrishnan) का जन्मदिवस होता है. राधाकृष्णन के जन्मदिवस के मौक पर ही शिक्षक दिवस (Teachers' Day) मनाया जाता है.

  • स्कूल में BAN हुई हैरी पॉटर की किताब, टीचर बोले - सच हो सकते हैं इसमें लिखे श्राप और जादू

    स्कूल में BAN हुई हैरी पॉटर की किताब, टीचर बोले - सच हो सकते हैं इसमें लिखे श्राप और जादू

    साल 1997 से 2007 के बीच लेखिका जे.के.रॉलिंग ने हैरी पॉटर किताबें लिखी. साल 2001 से 2011 के बीच इन्हीं किताबों पर 8 फिल्में बनीं. इस किताब में जादुई दुनिया के बारे में लिखा गया है जिसमें अच्छे और बुरे जादूगर, जादू का विद्यालय, झाड़ू पर उड़ना और मिथकीय जानवर दिखाए गए हैं.

  • हिन्दी प्रदेश के नौजवान अपने पिता से पूछे, हाल में कौन सी किताब पढ़ी है!

    हिन्दी प्रदेश के नौजवान अपने पिता से पूछे, हाल में कौन सी किताब पढ़ी है!

    ज़ाहिर है मीडिया के स्पेस में तरह-तरह के गांधी गढ़े जाएंगे. उनमें गांधी नहीं होंगे. उनके नाम पर बनने वाले कार्यक्रमों के विज्ञापनदाताओं के उत्पाद होंगे. गांधी की आदतों को खोज खोज कर साबुन तेल का विज्ञापन ठेला जाएगा. हम और आप इसे रोक तो सकते नहीं.

  • Book Review: 'येरूशलम से कश्मीर तक', ऐतिहासिक तथ्यों के साथ वैज्ञानिक दृष्टिकोण का तारतम्य है यह किताब

    Book Review: 'येरूशलम से कश्मीर तक', ऐतिहासिक तथ्यों के साथ वैज्ञानिक दृष्टिकोण का तारतम्य है यह किताब

    Book Review: ईसा मसीह की भारत यात्रा को पुष्ट करने के लिए योजेफ़ बानाश ने और भी ढेरों प्रतीकों का सहारा लिया है. कथ्य में उन्हें इस तरह पिरोया गया है कि वह सच प्रतीत होते हैं. मसलन किताब के अनुसार ईसा मसीह की गंभीर रोगियों को ठीक कर देने की 'ईश्वरीय' अनुकंपा प्राचीन तक्षशिला विश्वविद्यालय में उपलब्ध चिकित्सा शास्त्र की अनगिनत किताबों की देन थी.

  • किताब छप जाने से कुछ नहीं होता, छपते रहने से होता है : सुरेंद्र मोहन पाठक

    किताब छप जाने से कुछ नहीं होता, छपते रहने से होता है : सुरेंद्र मोहन पाठक

    पल्प फिक्शन साहित्य की दुनिया के जाने-माने लेखक सुरेन्द्र मोहन पाठक की आत्मकथा ‘हम नहीं चंगे, बुरा न कोय’ का लोकार्पण बुधवार को दिल्ली के त्रिवेणी ऑडिटोरियम में हुआ. लोकार्पण के कार्यक्रम में अपनी बात रखते हुए सुरेन्द्र मोहन पाठक ने कहा, 'किताब छप जाने से कुछ नहीं होता, छपते रहने से होता है. मैं, मेरा ख़ुद का कॉम्पिटिटर हूं. लगातार कोशिश करने से मैंने ये मुक़ाम हासिल किया है.'

  • खतरनाक चीजों की सूची

    खतरनाक चीजों की सूची

    पिछले कुछ दिनों में भारत में जो 'न्यू नॉर्मल' बनाया गया है, उसका असर बहुत सारी चीज़ों पर पड़ा है. ऐसे में यह ज़रूरी है कि ख़तरनाक चीज़ों की एक सूची बनाई जाए जिनसे हम सब बच सकें. इस सूची में सबसे ताज़ा प्रविष्टि दुनिया के महानतम उपन्यासों में गिने जाने वाले लियो टॉल्स्टॉय के 'वार एंड पीस' की है. इस उपन्यास को महाराष्ट्र पुलिस ने ख़तरनाक माना है. इसे भीमा कोरेगांव केस में गिरफ़्तार किए गए सामाजिक कार्यकर्ता वर्नेन गोंजाल्वेस के ख़िलाफ़ सबूत के तौर पर पेश किया गया है. आदरणीय बॉम्बे हाइकोर्ट ने भी गोंजाल्वेस से पूछा कि वे ऐसी किताब क्यों पढ़ते हैं जो किसी दूसरे देश के युद्ध के बारे में है.

  • भीमा कोरेगांव केस: आरोपी से कोर्ट ने पूछा- आपने घर पर ‘वार एंड पीस’ किताब क्यों रखी थी?

    भीमा कोरेगांव केस: आरोपी से कोर्ट ने पूछा- आपने घर पर ‘वार एंड पीस’ किताब क्यों रखी थी?

    न्यायमूर्ति सारंग कोतवाल की पीठ ने गोन्जाल्विस और अन्य आरोपियों की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा ऐसी किताबें और सीडी पहली नजर में संकेत देते हैं कि वे राज्य के खिलाफ कुछ सामग्री रखते थे. 

  • अयोध्या केस : श्रीराम जनमभूमि पुनरुत्थान समिति की दलील, अयोध्या में बाबरी मस्जिद बाबर के दौर में बनी ही नहीं

    अयोध्या केस : श्रीराम जनमभूमि पुनरुत्थान समिति की दलील, अयोध्या में बाबरी मस्जिद बाबर के दौर में बनी ही नहीं

    अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ में सुनवाई के 14 वें दिन श्रीराम जनमभूमि पुनरुत्थान समिति की दलीलें ही होती रहीं. समिति की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता पीएन मिश्रा ने कहा कि जिस इमारत को सुन्नी वक्फ बोर्ड बाबर के दौर में बनी बाबरी मस्जिद बता रहा है दरअसल वह तो औरंगजेब के दौर में बनाई गई. इससे पहले वहां विष्णु हरि के अवतार राम का मंदिर था. मिश्रा ने ब्रिटिश दौर से भी पहले 1770 में भारत भ्रमण पर आए लेखक पर्यटक ट्रैफन थेलर की डायरी वाली किताब का हवाला भी दिया जिसमें थेलर ने वहां बमुश्किल 30-40 वर्ष पहले बनी इमारत का उल्लेख किया है जिसे तब के अयोध्या वासी मस्जिद जन्मभूमि के नाम से जानते थे. उस वक्त का अयोध्या का नक्शा भी कोर्ट के सामने रखा गया जिसमें राम जन्मस्थान और जन्मस्थान मन्दिर का उल्लेख साफ-साफ है. याचिकाकर्ता ने कहा कि यह नक्शा दो सौ साल से भी पहले हेन्स बेकर नामक अंग्रेज ने स्कंद पुराण में दिए गए वर्णन और अयोध्या की मौजूदा स्थिति का मिलान और आकलन कर बनाया था. यानी उस समय बनाए गए नक्शे में मस्जिद का नाम तक नहीं है.

  • जाह्नवी कपूर ने पकड़ी उल्टी किताब तो ट्रोलर्स बोले- पढ़ना नहीं आता क्या, देखें Photo

    जाह्नवी कपूर ने पकड़ी उल्टी किताब तो ट्रोलर्स बोले- पढ़ना नहीं आता क्या, देखें Photo

    जाह्नवी कपूर (Janhvi Kapoor) हरिंदर सिक्का की किताब 'कॉलिंग सहमत' के विमोचन के लिए दिल्ली आईं. विमोचन समारोह में शामिल होने पहुंची जाह्नवी कपूर ने अपने जबरदस्त ट्रेडिश्नल लुक से सबका खूब ध्यान खींचा. लेकिन उनकी एक गलती ने उन्हें ट्रोलर्स के निशाने पर ला दिया.

  • पेन से लेकर घड़ियों तक, इन महंगे ब्रांड्स के शौकीन थे अरुण जेटली

    पेन से लेकर घड़ियों तक, इन महंगे ब्रांड्स के शौकीन थे अरुण जेटली

    पूर्व वित्त मंत्री घड़ियों, कलमों, शॉल, शर्ट और यहां तक की जूतों का भी शौक रखते थे और उनके कलेक्शन में 'पटेक फिलिप (घड़ियों में) से मॉन्ट ब्लांक (कलमों में' तक शामिल हैं. लेखक-पत्रकार कुमकुम चड्ढा ने अपनी किताब 'द मैरीगोल्ड स्टोरी' के 'अरुण जेटली: द पाइड पाइप' टाइटल वाले एक अध्याय में कहा है, ''...अरुण की मॉन्ट ब्लांक कलमों और उत्कृष्ट ‘जामावार’ शॉल के कलेक्शन के जिक्र की जरूरत है.

  • मेडिकल शिक्षा के सत्यानाश की कोशिश की पड़ताल करता 'डाउन टू अर्थ'

    मेडिकल शिक्षा के सत्यानाश की कोशिश की पड़ताल करता 'डाउन टू अर्थ'

    कई लोग मिलते हैं जो दस-दस साल से एक किताब नहीं पढ़ें. अच्छे आर्टिकल को ढूंढ कर पढ़ेंगे नहीं. लंबाई देखकर छोड़ देंगे. यही वो लोग हैं जो अंध राष्ट्रवाद और सांप्रदायिकता की आंधी में आसानी से हांक लिए जाते हैं.

  • सालों की मेहनत से पूर्वोत्तर में आया बदलाव : भागवत

    सालों की मेहनत से पूर्वोत्तर में आया बदलाव : भागवत

    पूर्वोत्तर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं की सराहना करते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने मंगलवार को यहां कहा कि इस ‘अनवरत’ प्रयास के कारण इस क्षेत्र में राष्ट्रवादी भावना के साथ बदलाव आने वाला है. उन्होंने नंदकुमार जोशी द्वारा अरुणाचल प्रदेश में काम के दौरान हुए अनुभवों पर लिखी गई ‘शुभारंभ’ नाम की किताब के विमोचन के दौरान यह बातें कहीं.