NDTV Khabar

किसान News in Hindi


'किसान' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • किसान अपनी उपज देश के किसी भी हिस्से में ले जाकर बेच सकेंगे, कृषि उत्पाद की ई-ट्रेडिंग होगी

    किसान अपनी उपज देश के किसी भी हिस्से में ले जाकर बेच सकेंगे, कृषि उत्पाद की ई-ट्रेडिंग होगी

    किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य मिल सके और वे अपनी उपज देश के किसी भी हिस्से में ले जाकर बेच सकें इसके लिए सरकार ने एक नया केंद्रीय कानून लाने का फैसला किया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने दिल्ली में कृषि क्षेत्र के लिए सरकार के राहत पैकेज के ऐलान के दौरान इसका खुलासा किया.

  • PM Modi ने की 20 लाख करोड़ रुपये की मदद: क्या किसान यही उम्मीद कर रहा था जो आज उसे मिला?

    PM Modi ने की 20 लाख करोड़ रुपये की मदद:  क्या किसान यही उम्मीद कर रहा था जो आज उसे मिला?

    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज लगातार तीसरी प्रेस कॉन्फ्रेस करके पीएम मोदी की ओर से ऐलान किए गए 20 लाख करोड़ रुपये के आवंटन का ब्यौरा दिया है. आज हुई प्रेस कांन्फ्रेंस में उन्होंने किसानों और खेती से जुड़े कामों पर जोर दिया है और इनसे जुड़ी कई योजनाओं पर पैसा खर्च करने की बात कही है. लेकिन अगर बात की जाए इन ऐलानों के असर की तो साफ है कि सारा ध्यान खेती से जुड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर की है जिसके जरिए किसानों की आय को बढ़ाना है. लेकिन सवाल की इस बात का है कि कोरोना वायरस की वजह से जारी लॉकडाउन की वजह से इस बीच जिस किसी को भी नुकसान हुई है उसकी भरपाई कैसे होगी. इस सवाल का जवाब अभी तक केंद्र की ओर से नहीं मिला है.

  • देश में अनाज के रिकॉर्ड उत्पादन का अनुमान, पिछले साल से एक करोड़ टन अधिक

    देश में अनाज के रिकॉर्ड उत्पादन का अनुमान, पिछले साल से एक करोड़ टन अधिक

    कोरोना संकट और लॉकडाउन के बावजूद इस साल अनाज का रिकॉर्ड प्रोडक्शन होने का अनुमान है. कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्‍याण विभाग की तरफ से जारी 2019-20 के लिए मुख्‍य फसलों के उत्‍पादन के तीसरे अग्रिम अनुमान के मुताबिक देश में कुल अनाज का प्रोडक्शन रिकॉर्ड 295.67 मिलियन टन होने की उम्मीद है. ये 2018-19 के दौरान 285.21 मिलियन टन अनाज के उत्‍पादन की तुलना में 10.46 मिलियन टन अधिक है.

  • आर्थिक पैकेज में किसानों, प्रवासी मजदूरों और रेहड़ी वालों के लिए कई राहतें, 10 खास बातें..

    आर्थिक पैकेज में किसानों, प्रवासी मजदूरों और रेहड़ी वालों के लिए कई राहतें, 10 खास बातें..

    Highlights Nirmala Sitharaman Speech: कोरोना वायरस की महामारी के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharama) ने दूसरी बार वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये मीडिया से मुखातिब हुईं. उन्‍होंने आज आर्थिक पैकेज के अंतर्गत किसानों, प्रवासी मजदूरों और महिलाओं को दी जाने वाली राहत के बारे में विस्‍तार से बताया. इस दौरान वित्‍त राज्‍य मंत्री अनुराग ठाकुर भी उपस्थित थे. वित्‍त मंत्री के गुरुवार को जिन राहतों-सहूलियतों का ऐलान किया, उससे जुड़ी 10 खास बातें...

  • Coronavirus Pandemic: आर्थिक पैकेज को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, एक साथ पूछे कई सवाल...

    Coronavirus Pandemic: आर्थिक पैकेज को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, एक साथ पूछे कई सवाल...

    कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Singh Surjewala) ने एक ट्वीट करके कहा, 'जुमले बनाने से पहले PM और FM जाने-13 करोड़ ग़रीब परिवारों को ₹7,500 व राशन का निर्णय क्यों नहीं लिया गया, श्रमिक व मज़दूरों की घर वापसी का इंतज़ाम, राहत व राशन क्यों नही, किसान के खाते में ₹10,000 क्यों नही, 7 करोड़ दुकानदारों के लिए क्या और मध्यम वर्ग से मुंह क्यों मोड़ा?'

  • प्रियंका गांधी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र, कहा- छोटे व्यापारियों की मदद करे सरकार

    प्रियंका गांधी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र, कहा- छोटे व्यापारियों की मदद करे सरकार

    पत्र की शुरुआत में प्रियंका ने मुख्यमंत्री के पिता की मृत्यु पर अपनी संवेदना जताते हुए लिखा है कि आपके पिता के निधन के बाद मैं पहली बार आपको पत्र भेज रही हूं. ईश्वर उनकी दिवंगत आत्मा को शान्ति दें. महासचिव ने पत्र में लिखा है, ‘जैसा आप जानते हैं, कोरोना महामारी से पूरा जनजीवन प्रभावित है. हर वर्ग के ऊपर भयंकर आर्थिक मार पड़ी है. किसान, गरीब और मजदूर वर्ग विकट स्थिति में पहुँच गए हैं.

  • बिहार : लॉकडाउन के चलते नहीं आए खरीददार, लाखों के फल और सब्जियां फेंकने पर मजबूर किसान

    बिहार : लॉकडाउन के चलते नहीं आए खरीददार, लाखों के फल और सब्जियां फेंकने पर मजबूर किसान

    Bihar Lockdown: कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए देश को लॉकडाउन किए जाने का सकारात्मक असर तो यह दिख रहा है कि अन्य देशों की तुलना में भारत में वायरस का प्रसार कहुत कम है. लेकिन अब धीरे-धीरे इसके नकारात्मक असर भी सामने आने लगे हैं. बहुत अच्छी खेती होने के बाद भी कई किसानों को खड़े-खड़े लाखों का नुकसान हो गया. जो किसान तीन महीने की खेती में ढाई से तीन लाख रुपये का मुनाफा कमा लेते थे वे इस लॉकडाउन के कारण उतने ही घाटे में चले गए हैं.

  • धर्मेंद्र की घास काटने वाली मशीन हुई खराब, तो Video पोस्ट कर बोले- किसान को हर मुश्किल से गुजरना आता...

    धर्मेंद्र की घास काटने वाली मशीन हुई खराब, तो Video पोस्ट कर बोले- किसान को हर मुश्किल से गुजरना आता...

    बॉलीवुड के मशहूर एक्टर धर्मेंद्र (Dharmendra) इन दिनों अपने फॉर्म हाउस वीडियो को लेकर सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं. वो वीडियो में अपने खेत में उगी सब्जियां, फल और फूलों को दिखाते हैं. धर्मेंद्र (Dharmendra Video) के वीडियो लोगों को खूब पंसद आते हैं.

  • छत्तीसगढ़ में सरकार ने सौ करोड़ रुपये से ज्यादा में खरीदी धान, अब खुले में पड़ी सड़ रही

    छत्तीसगढ़ में सरकार ने सौ करोड़ रुपये से ज्यादा में खरीदी धान, अब खुले में पड़ी सड़ रही

    छत्तीसगढ़ धान का कटोरा कहा जाता है. यहां धान की 22 हजार से अधिक प्रजाति हैं. 70 फीसद किसान धान की खेती करते हैं, लेकिन अब ये धान सरकार के लिए फिक्र का सबब बना हुआ है इसलिए अब सरकार ने दलहन और तिलहन की फसलों को बढ़ावा देने का फैसला किया है. एक और तकलीफ सरकारी तिजोरी से 2500 रुपये प्रति क्विंटल धान खरीदे जाने के बावजूद  सरकारी लापरवाही की वजह से लाखों क्विंटल खुले में रखा धान कई बार बारिश झेलकर सड़ने को मजबूर है.

  • मध्यप्रदेश में अब व्यापारी किसानों के घर या खेत पर जाकर उनकी फसल खरीद सकेंगे

    मध्यप्रदेश में अब व्यापारी किसानों के घर या खेत पर जाकर उनकी फसल खरीद सकेंगे

    मध्यप्रदेश में मंडी अधिनियम में कई संशोधन किए गए हैं. सरकार का दावा है कि इनके लागू होने से अब किसान घर बैठे ही अपनी फसल निजी व्यापारियों को बेच सकेंगे. उन्हें मंडी जाने की बाध्यता नहीं होगी. इसके साथ ही, उनके पास मंडी में जाकर फसल बेचने तथा समर्थन मूल्य पर अपनी फसल बेचने का विकल्प भी जारी रहेगा. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अधिक प्रतिस्पर्धी व्यवस्था बनाकर हमने किसानों के हित में यह प्रयास किया है.

  • कोराना की महामारी के बीच मौसम के 'बिगड़े मिजाज' पर कुमार विश्‍वास का ट्वीट, 'अब माफ भी कर दो मां...'

    कोराना की महामारी के बीच मौसम के 'बिगड़े मिजाज' पर कुमार विश्‍वास का ट्वीट, 'अब माफ भी कर दो मां...'

    देश की राजधानी दिल्‍ली, एनसीआर के अलावा यूपी और मध्‍यप्रदेश के कुछ अन्‍य शहरों में गुरुवार शाम को जमकर बारिश हुई. यही नहीं, कुछ इलाकों में तो ओले भी गिरे. से किसान परेशान हैं. खेतों और मंडियों में उनका अनाज इस समय रखा हुआ है. मौसम के इस बदले रूप पर कवि-गीतकार कुमार विश्‍वास ने अपनी पीड़ा का इजहार किया है.

  • Happy Labour Day 2020: कामकाजी दोस्तों और ऑफिस कलीग्‍स को भेजें ये मैसेंज और दें मजदूर दिवस की शुभकामनाएं

    Happy Labour Day 2020: कामकाजी दोस्तों और ऑफिस कलीग्‍स को भेजें ये मैसेंज और दें मजदूर दिवस की शुभकामनाएं

    Happy Labour Day 2020: भारत में मजदूर दिवस (Workers Day) की शुरुआत लेबर किसान पार्टी ऑफ हिंदुस्तान ने 1 मई 1923 को चेन्नई से की थी.

  • मध्‍यप्रदेश: बीजेपी ने कहा, 'जिन किसानों को कर्ज माफी का लाभ नहीं मिला, वे कमलनाथ और राहुल गांधी के खिलाफ केस करें'

    मध्‍यप्रदेश: बीजेपी ने कहा, 'जिन किसानों को कर्ज माफी का लाभ नहीं मिला, वे कमलनाथ और राहुल गांधी के खिलाफ केस करें'

    दिसंबर 2018 में कमलनाथ के सीएम पद संभालने के कुछ ही घंटों के भीतर "जय किसान फसल ऋण माफी योजना" घोषित की गई थी. राहुल गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस पार्टी ने उस समय राज्‍य में सत्‍ता में आने पर 10 दिनों के भीतर 2 लाख तक के कृषि ऋणों को माफ करने का वादा किया था. राज्य के कृषि मंत्री कमल पटेल (Kamal Patel) ने NDTV के साथ एक विशेष बातचीत में कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि बकाया ऋणों को माफ किया गया है या नहीं.

  • मध्य प्रदेश : गेहूं बेचने आए किसानों को पहले तहसीलदार ने दिया धक्का, फिर पुलिस ने भांजी लाठियां

    मध्य प्रदेश : गेहूं बेचने आए किसानों को पहले तहसीलदार ने दिया धक्का, फिर पुलिस ने भांजी लाठियां

    वहां पहुंचे तहसीलदार ने एक किसान को धक्का दे दिया. किसानों ने इसपर नाराजगी जाहिर की. धक्का-मुक्की के बाद नाराज किसानों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया. पुलिस ने श्योपुर के सरकारी उपार्जन केंद्र सलमान्य साइलो पर किसानों पर लाठीचार्ज किया. मिली जानकारी के अनुसार, खरीदी केंद्र पर पिछले चार दिन से गेहूं बेचने के लिए कतार में लगे एक किसान के गेहूं को अमान्य बताने के बाद किसान नाराज हुए थे.

  • लॉकडाउन के कारण किसानों के फसल खरीद पर पड़ा असर, 2587 प्रमुख कृषि बाजारों में से 1091 बाजार में ही हो रही है खरीदारी

    लॉकडाउन के कारण किसानों के फसल खरीद पर पड़ा असर, 2587 प्रमुख कृषि बाजारों में से 1091 बाजार में ही हो रही है खरीदारी

    संपूर्ण लॉकडाउन के कारण, सभी थोक मंडियों को 25.03.2020 को बंद कर दिया गया था. भारत में 2587 प्रमुख कृषि बाजार उपलब्ध हैं, जिनमें से 1091 बाजार 26.03.2020 पर कार्य कर रहे थे.23.04.2020 तक, 2067 बाजारों को कार्यात्मक बनाया गया था.

  • केंद्र सरकार ने राज्यों को मनरेगा के 36 हजार करोड़ रुपये जारी किए

    केंद्र सरकार ने राज्यों को मनरेगा के 36 हजार करोड़ रुपये जारी किए

    ग्रामीण विकास और कृषि एवं किसान कल्‍याण तथा पंचायती राज मंत्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर ने शुक्रवार को  राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के ग्रामीण विकास मंत्रियों तथा संबंधित अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्‍यम से बैठक की. केंद्रीय मंत्री ने बताया कि ग्रामीण विकास मंत्रालय ने राज्यों को 36000 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि वर्तमान वित्तीय वर्ष में जारी कर दी है. मंत्रालय ने 33300 करोड़ रुपये की राशि मनरेगा के अंतर्गत स्वीकृत कर दी है जिसमें से 20225 करोड़ रुपये की राशि पूर्व वर्षों की मजदूरी तथा सामग्री के बकाया को समाप्त करने के लिए जारी की जा चुकी है. स्वीकृत धनराशि मनरेगा के अंतर्गत जून 2020 तक के खर्च की पूर्ति के लिए पर्याप्त है.  

  • धर्मेंद्र के खेत में उगे खिलखिलाते फूल, तो बोले-किसान को ऐसे ही ख्वाब सजाने चाहिए...देखें Video

    धर्मेंद्र के खेत में उगे खिलखिलाते फूल, तो बोले-किसान को ऐसे ही ख्वाब सजाने चाहिए...देखें Video

    धर्मेंद्र (Dharmendra) ने फूलों की खेती वाले वीडियो को शेयर कर कहा: "किसान को ऐसा ही ख्वाब सजाने चाहिए. ये सब मालिक की मेहर और आप सब की दुआवों का नतीजा है. दुआ करता हूं आप सब इसी तरह हरे-भरे रहें, खिले रहें. लव यू ऑल."

  • उत्तर प्रदेश में पुलिस पर घर में घुसकर किसान के बच्चों को पीटने का आरोप, सिपाही निलम्बित

    उत्तर प्रदेश में पुलिस पर घर में घुसकर किसान के बच्चों को पीटने का आरोप, सिपाही निलम्बित

    वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मूसाझाग थाना इलाके के उतरना गांव में पुलिस द्वारा सत्यपाल यादव नामक किसान के घर में घुसकर मारपीट किये जाने की शिकायत मिली है. इस मामले में आरोपी सिपाही काले सिंह को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि पुलिस क्षेत्राधिकारी—नगर जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव को मामले की जांच सौंपी गयी है.

«1234567»

Advertisement

किसान वीडियो

किसान से जुड़े अन्य वीडियो »

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com