NDTV Khabar

कैराना


'कैराना' - 124 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • यूपी में बंदर की गोली मारकर हत्या, क्षेत्र में फैला तनाव

    यूपी में बंदर की गोली मारकर हत्या, क्षेत्र में फैला तनाव

    शामली जिले में तीन युवकों द्वारा एक बंदर की गोली मारकर हत्या किए जाने के बाद क्षेत्र में तनाव फैल गया है. पुलिस ने यह जानकारी दी. हिंदू मान्यता के अनुसार बंदर को भगवान हनुमान का रूप माना जाता है और इसे चोट पहुंचाना पाप माना जाता है. कैराना के क्षेत्राधिकारी (सीओ) प्रदीप कुमार ने कहा, "तीन भाइयों- आसिफ, हाफिज और अनीस के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है, जो शनिवार को कथित रूप से बंदर के इर्द-गिर्द घूम रहे थे और उनमें से एक ने परिवार के चार लाइसेंसी हथियारों में से एक से बंदर को गोली मार दी."

  • ट्रैफिक उल्लंघन ने उत्तर प्रदेश के सपा विधायक को बनाया भगोड़ा, जानें- पूरा मामला

    ट्रैफिक उल्लंघन ने उत्तर प्रदेश के सपा विधायक को बनाया भगोड़ा,  जानें- पूरा मामला

    समाजवादी पार्टी के विधायक नाहिद हसन (Nahid Hasan) की मुसीबतें इस महीने की शुरुआत में तब शुरू हुईं, जब वह कैराना के सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) अमित पाल शर्मा के साथ ट्रैफिक उल्लंघन को लेकर भिड़ पड़े थे.

  • ट्रैफिक उल्लंघन ने यूपी के सपा विधायक को बनाया भगोड़ा, जानें पूरा मामला

    ट्रैफिक उल्लंघन ने यूपी के सपा विधायक को बनाया भगोड़ा, जानें पूरा मामला

    पुलिस द्वारा हसन के खिलाफ चार मामलों में वारंट हासिल करने के बाद हसन पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. उनके कैराना और दिल्ली आवासों पर छापेमारी की गई और तलाशी ली गई है, लेकिन विधायक की गिरफ्तारी नहीं हो पाई. विधायक कथित तौर पर गिरफ्तारी के डर से भूमिगत हो गए हैं और उन्हें 'फरार' घोषित कर दिया गया है. हसन के खिलाफ दर्ज फजीर्वाड़े का ताजा मामला उम्मेद राव से संबंधित है, जिन्होंने हसन के सहयोगियों में से एक नवाब को अपना मिनी ट्रक पट्टे पर दिया था. नवाब पर उम्मेद का 1.85 लाख रुपये बकाया था और उम्मेद द्वारा बार-बार याद दिलाने के बावजूद, उन्होंने राशि या ट्रक वापस नहीं किया.

  • कैराना से SP विधायक का VIDEO वायरल, BJP समर्थक दुकानदारों से सामान न खरीदने की अपील की....

    कैराना से SP विधायक का VIDEO वायरल, BJP समर्थक दुकानदारों से सामान न खरीदने की अपील की....

    उत्तर प्रदेश के कैराना (शामली) से समाजवादी पार्टी (SP) के विधायक का एक वीडियो वायरल हुआ है. वीडियो में कथित तौर पर वह अपने विधानसभा क्षेत्र में लोगों से कह रहे हैं कि भाजपा समर्थक दुकानदारों से सामान न खरीदें.

  • मजबूत महागठबंधन और गोरखपुर-फूलपुर के नतीजों से परेशान थी BJP,तब अमित शाह ने निकाला पुराना फॉर्मूला

    मजबूत महागठबंधन और गोरखपुर-फूलपुर के नतीजों से परेशान थी BJP,तब अमित शाह ने निकाला पुराना फॉर्मूला

    लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन को आपेक्षित सफलता नहीं मिली है. इन दलों की 80 सीटों पर जातिगत गोलबंदी की कोशिश सफल नहीं हो सकी. जातियों में बंटी इन दोनों पार्टियों का हर समीकरण धरातल पर नाकाम साबित हुआ. इस तरह सपा-बसपा गठबन्धन के जातीय समीकरण के मिथक ध्वस्त हो गए. दोनों दल राज्य में हो रहे परिवर्तन को समझने में नाकाम रहे. वे लोगों तक अपनी बात को जनता तक पहुंचाने में कामयाब नहीं हो सके. दलित, पिछड़ा और मुस्लिम वोटों की फिराक में हुए इस गठबन्धन के सारे गणित ध्वस्त हो गए. गठबन्धन में कांग्रेस को शामिल न करना भी कुछ हदतक नुकसानदायक गया है. कांग्रेस के उतारे प्रत्याशी किसी-किसी सीट पर सपा बसपा पर भारी पड़ते दिखे. वह इनके लिए सचमुच वोटकटवा साबित हुए हैं. लेकिन बीजेपी के लिए उत्तर प्रदेश में लड़ाई बिलकुल आसान नहीं थी. गोरखपुर-फूलपुर और कैराना में हुए उपचुनाव के बाद उत्तर प्रदेश में बीजेपी के पक्ष में माहौल बिलकुल नहीं था.

  • Uttar Pradesh Election Results 2019: नरेंद्र मोदी के आगे महागठबंधन और राहुल-प्रियंका की जोड़ी फेल!

    Uttar Pradesh Election Results 2019: नरेंद्र मोदी के आगे महागठबंधन और राहुल-प्रियंका की जोड़ी फेल!

    कैराना, गोरखपुर और फूलपुर के लोकसभा उपचुनाव के नतीजों से ही तय हो गया था कि Uttar Pradesh में महागठबंधन ही बीजेपी को चुनौती दे सकता है. इसी मद्देनजर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी साथ आए.

  • BSP ने पांच और उम्मीदवारों का किया ऐलान, देखें किसे मिला कहां से टिकट

    BSP ने पांच और उम्मीदवारों का किया ऐलान, देखें किसे मिला कहां से टिकट

    लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण में उत्तर प्रदेश की आठ सीटों के लिए चुनाव प्रचार मंगलवार शाम पांच बजे बंद हो जाएगा. सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर की संसदीय सीटों के लिए 96 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहें हैं.

  • टिकट न मिलने पर नाराज मृगांका सिंह बोलीं- टिकट की उम्मीद थी, पर खुश हूं कि अब भाई को मिल गई

    टिकट न मिलने पर नाराज मृगांका सिंह बोलीं- टिकट की उम्मीद थी, पर खुश हूं कि अब भाई को मिल गई

    मृगांका ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, 'प्रदीप चौधरी भी मेरे भाई हैं. बहन को भी टिकट की उम्मीद थी, लेकिन जब मेरे भाई को टिकट मिल गई तो मैं उनके लिए प्रचार कर रही हूं. पार्टी की नेता होने के नाते मैं पूरी कोशिश कर रही हूं कि मेरा भाई संसद पहुंचे. मेरे समर्थक कुछ समय के लिए गुस्सा थे, लेकिन अब सब चीजें सही हो गई हैं. हम सभी लोग प्रदीप जी को सांसद बनाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं.

  • ‘तीन-तलाक’ के मुद्दे पर BJP को मिल पाएंगे मुस्लिम वोट? जानें- क्या कहते हैं वोटर्स

    ‘तीन-तलाक’ के मुद्दे पर BJP को मिल पाएंगे मुस्लिम वोट? जानें- क्या कहते हैं वोटर्स

    उत्तर प्रदेश की भाजपा इकाई के उपाध्यक्ष ने कहा कि करीब 1.5 करोड़ मतदाताओं में लगभग 35 प्रतिशत मुस्लमान हैं जो पहले चरण में मतदान करेंगे. क्षेत्र की अधिकतर महिलाओं ने ‘तीन-तलाक’ को चर्चा में लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सराहना करते हुए कहा कि यह महिला सशक्तिकरण की ओर एक कदम है. मुजफ्फरनगर की निवासी फरजाना ने कहा, ‘मेरे पति ने मुझे तलाक देकर दूसरी महिला से शादी कर ली. मेरे पास इस फैसले को स्वीकार करने के अलावा कोई और रास्ता नहीं था. मैं अब अपने चार वर्षीय बच्चे के साथ रहती हूं. ‘तीन-तलाक’ एक घिनौनी प्रथा है. क्या हम मुस्लिम महिलाओं के काई अधिकारी नहीं है?’ उसकी नाराजगी पास के छोटे शहर कैराना में भी गूंजी.

  • NDTV Exclusive: BJP से टिकट कटने पर छलका मृगांका सिंह का दर्द- 'बेटी हटाओ, अस्तित्व मिटाओ' के तहत मेरे खिलाफ हुई साजिश

    NDTV Exclusive: BJP से टिकट कटने पर छलका मृगांका सिंह का दर्द- 'बेटी हटाओ, अस्तित्व मिटाओ'  के तहत मेरे खिलाफ हुई साजिश

    मृगांका सिंह (Mriganka Singh) की चौपाल पर लगे हैं बैनरों में विरोध के सुर दिखाई दे रहे हैं. वहां लगे बैनर पर, 'ना कोई शक ना कोई शंका कैराना से बहन मृगांका' 'बेटी के सम्मान में कैराना मैदान में' और 'कैराना में भाजपा से कोई और बर्दाश्त नहीं' जैसे नारे लिखे हुए हैं. 2018 में सांसद पिता के निधन के बाद कैराना उपचुनाव में मृगांका महागठबंधन के उम्मीदवार से हार गई थीं. मृगांका के पिता हुकुम सिंह कैराना से सात बार विधायक रहे और 2014 में लोकसभा चुनाव भी जीता था. टिकट काटे जाने से दुखी मृगांका सिंह का दर्द छलका है. एनडीटीवी इंडिया से खास बातचीत में मृगांका सिंह ने बताया कि उनका टिकट 'षड्यंत्र करके कटवाया गया'. उनका कहना है कि साजिशकर्ताओं ने तय कर लिया था, 'बेटी हटाओ, अस्तित्व मिटाओ'. एनडीटीवी इंडिया के संवाददाता शरद शर्मा ने मृगांका सिंह से विशेष बातचीत की.

  • कैराना में महिला कैंडिडेट को टिकट न मिलने पर भाजपा समर्थक हुए नाराज, पोस्टर के जरिए दिया सख्त संदेश

    कैराना में महिला कैंडिडेट को टिकट न मिलने पर भाजपा समर्थक हुए नाराज, पोस्टर के जरिए दिया सख्त संदेश

    विधायक प्रदीप चौधरी (Pradeep Choudhary) को उम्मीदवार बनाए जाने से खफा मृगांका सिंह के समर्थकों ने कैराना को पोस्टरों से पाट दिया है. इन पोस्टरों पर बेटी के सम्मान में कैराना में भाजपा से कोई और बर्दाश्त नहीं आदि लिखकर गुस्से का इजहार किया गया है.

  • बीजेपी ने जारी की एक और लिस्ट: सूची में यूपी के तीन उम्मीदवारों का नाम, जानें किसकों मिला, कहां से मौका

    बीजेपी ने जारी की एक और लिस्ट: सूची में यूपी के तीन उम्मीदवारों का नाम, जानें किसकों मिला, कहां से मौका

    भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए उम्मीदवारों की चौथी लिस्ट जारी कर दी है. इस लिस्ट में तीन प्रत्याशियों के नामों पर अंतिम मुहर लगी है. कैराना लोकसभा सीट से मृगांका सिंह को दोबारा मौका नहीं दिया गया है. मृगांका पिछले साल मई में कैराना उपचुनाव की प्रत्याशी थीं. उन्हें रालोद की तबस्सुम हसन ने हराया था. 

  • समाजवादी पार्टी ने जारी की एक और लिस्ट, अपर्णा यादव को नहीं मिला टिकट

    समाजवादी पार्टी ने जारी की एक और लिस्ट, अपर्णा यादव को नहीं मिला टिकट

    समाजवादी पार्टी ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को पांच और उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी. सपा सूत्रों ने बताया कि सुरेन्द्र कुमार उर्फ मुन्नी शर्मा को गाजियाबाद सीट से प्रत्याशी बनाया गया है. वहीं, कैराना से रालोद की मौजूदा सांसद तबस्सुम हसन इस बार इसी सीट से सपा प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरेंगी. इसके अलावा पूर्व सांसद शफीक उर रहमान बर्क संभल से सपा के प्रत्याशी होंगे.

  • शहीद जवान के परिजनों से मिले प्रियंका और राहुल गांधी, कहा- आपके बेटे ने देश को सर्वस्व दिया

    शहीद जवान के परिजनों से मिले प्रियंका और राहुल गांधी, कहा- आपके बेटे ने देश को सर्वस्व दिया

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने शामली और कैराना पहुंचकर शहीद अमित और शहीद प्रदीप के परिजनों को ढाढस बढ़ाया. उन्होंने वहां हो रही पूजा में भी हिस्सा लिया. इससे पहले शामली आते हुए कैराना में उन्होंने एक ढाबे पर रुककर कुछ खाया पिया और लोगों से बातचीत की और उनके साथ फोटो भी खिंचवाए. उनके साथ ज्योति‍रादित्य सिंधिया और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर भी थे.

  • SP-BSP को कमजोर करने में लगी कांग्रेस? ज्योतिरादित्य सिंधिया ने RLD के जयंत चौधरी को दिया यह ऑफर

    SP-BSP को कमजोर करने में लगी कांग्रेस? ज्योतिरादित्य सिंधिया ने RLD के जयंत चौधरी को दिया यह ऑफर

    ज्योतिरादित्या सिंधिया पिछले सात दिनों में दो बार राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी से मुलाकात कर चुके हैं. सिंधिया ने जयंत चौधरी के सामने उत्तर प्रदेश में 10 और राजस्थान में 1 सीट देने का प्रस्ताव रखा है. कांग्रेस कुल 11 सीटों पर आरएलडी के साथ गठबंधन करना चाहती है. सिंधिया ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कैराना, मुजफ्फरनगर, बागपत, मथुरा, बुलंदशहर, मेरठ समेत 10 सीटों पर आरएलडी को लड़ने का प्रस्ताव दिया है.

  • साल 2018 में 'विपक्षी एकता' की तस्वीरें तो खूब खिंची, लेकिन अभी तक नहीं बन पाई कोई आम राय, 10 बातें

    साल 2018 में 'विपक्षी एकता' की तस्वीरें तो खूब खिंची, लेकिन अभी तक नहीं बन पाई कोई आम राय, 10 बातें

    उत्तर प्रदेश के कैराना, फूलपुर और गोरखपुर में इस साल हुए संसदीय उपचुनावों में समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के एकजुट होने से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को मिली हार से भाजपा विरोधी मोर्चे को अहम बढ़त हासिल हुई और 2018 के खत्म होते होते विपक्षी दल अब आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ मैदान में उतरने के लिए जुटने लगे हैं. हिंदी भाषी राज्यों के हालिया विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत ने हालांकि कुछ महत्वाकांक्षी क्षेत्रीय दलों को हतोत्साहित कर दिया है, जो यह कहना चाहते हैं कि अगली सरकार का गठन कैसे होगा. इस संदर्भ में किसी भाजपा विरोधी मोर्चे पर ध्यान केंद्रित करने के बजाए विश्लेषकों को लगता है कि अब हालात भगवा दल को हराने के लिए राज्य स्तर के गठबंधन के लिए तैयार हैं और लोकसभा चुनाव के बाद अंतिम संख्या के सामने आने पर संघीय मोर्चा निर्भर करता है. लेकिन सवाल इस बात का है कि लोकसभा चुनाव से पहले गठबंधन नहीं हो पाया तो क्या एनडीए को हराना आसान होगा क्योंकि 'मोदी लहर' भले ही थम रही हो लेकिन उसके खिलाफ 'कांग्रेस लहर' जैसी भी बात नहीं है.

  • कोर्ट ने 3 'खालिस्तानी आतंकवादियों' को 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा 

    कोर्ट ने 3 'खालिस्तानी आतंकवादियों' को 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा 

    इस महीने की शुरुआत में शामली जिले की पुलिस चौकी से कथित तौर पर राइफल लूटने वाले तीन संदिग्ध खालिस्तानी आतंकवादियों को कैराना की एक अदालत ने 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया. न्यायिक मजिस्ट्रेट मुक्ता त्यागी ने खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट के तीन कथित आतंकवादियों अमृत सिंह, गुरजन और करन सिंह को उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधी दस्ते (उप्रएटीएस) की हिरासत में सौंप दिया.

  • उत्तर प्रदेश के शामली में बंदूक की नोक पर पड़ोसी ने विवाहिता से किया रेप

    उत्तर प्रदेश के शामली में बंदूक की नोक पर पड़ोसी ने विवाहिता से किया रेप

    उत्तर प्रदेश में शामली जिले के एक गांव में घर पर अकेली 26 वर्षीय विवाहिता के साथ उसके पड़ोसी ने बंदूक का डर दिखाकर कथित रूप से बलात्कार किया. पुलिस ने यह जानकारी दी. क्षेत्राधिकारी राजेश कुमार त्यागी ने बताया कि यह घटना शुक्रवार को कैराना पुलिस स्टेशन के अंतर्गत जनधेरी गांव में हुई.