NDTV Khabar

कॉमनवेल्थ गेम्स 2018


'कॉमनवेल्थ गेम्स 2018' - 96 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • Flash Back 2018: खेलों के लिहाज से ऐतिहासिक रहा यह साल... 

    Flash Back 2018: खेलों के लिहाज से ऐतिहासिक रहा यह साल... 

    साल 2018 में भारतीय खिलाड़ियों ने कई बार वो कर दिखाया जिसकी इससे पहले सिर्फ़ कल्पना ही की जा सकती थी. एशियाड, कॉमनवेल्थ गेम्स और कई वर्ल्ड चैंपियनशिप्स में सितारों ने भारतीय खेलों का रूतबा ऊंचा कर दिया. बड़ी बात ये भी रही कि कई युवा खिलाड़ियों ने टोक्यो ओलिंपिक खेलों में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद भी बढ़ा दी. मैरीकॉम का मुक्का...सिंधु के वर्ल्ड फ़ाइनल्स का ख़िताब और शूटिंग में चमकते सितारे साल 2018 में जगमगाते रहे और पदक बरसते रहे. एशियाड और कॉमनवेल्थ खेलों की कामयाबी के साथ कई मायनों में ये साल भारत के लिए ऐतिहासिक साबित हुआ.

  • Mann Ki Baat : फिटनेस इंडिया चैलेंज पर बोले पीएम मोदी, जितना हम खेलेंगे, देश उतना ही खिलेगा

    Mann Ki Baat : फिटनेस इंडिया चैलेंज पर बोले पीएम मोदी, जितना हम खेलेंगे, देश उतना ही खिलेगा

    मन की बात के 43वें संस्करण में पीएम मोदी ने खिलाड़ियों और युवाओं की बात की. कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक जीतने वाले बेटियों के हौसलों को सराहा और कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को बधाई दी. प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे खिलाडियों ने भी देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए बेहतरीन प्रदर्शन किया और एक-के-बाद एक मेडल जीतते ही चले गए. चाहे शूटिंग हो, रेस्लिंग हो, वेटलिफ्टिंग हो, टेबल टेनिस हो या बैटमिंटन हो भारत ने रिकॉर्ड प्रदर्शन किया. 

  • आज सुबह 11 बजे प्रधानमंत्री मोदी करेंगे 'मन की बात' को संबोधित, कई अहम मुद्दों पर रखेंगे अपनी राय

    आज सुबह 11 बजे प्रधानमंत्री मोदी करेंगे 'मन की बात' को संबोधित, कई अहम मुद्दों पर रखेंगे अपनी राय

    आज यानी मई के आखिरी रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशवासियों से रेडियो के माध्यम से 'मन की बात' कार्यक्रम को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात का यह 44वां संस्करण होगा. रेडियो पर प्रसारित होने वाले अपने इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी अपने विचार देश की जनता से साझा करेंगे, साथ ही लोगों के विचारों को भी जगह देंगे. आज सुवह 11 बजे से इस कार्यक्रम को रेडियो पर सुना जा सकेगा. 'मन की बात' कार्यक्रम के लिए देश भर से लोग अपने सुझाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से साझा करते हैं. चुने हुए कुछ विचारों को कार्यक्रम में शामिल किया जाता है. पिछले कार्यक्रम में उन्होंने युवाओं के लिए 'स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप 2018' कार्यक्रम को लॉन्च किया था. साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को सराहा था. 

  • युवाओं के लिए 'स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप 2018', लॉन्च, 'मन की बात' के 10 अहम प्वाइंट्स

    युवाओं के लिए 'स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप 2018', लॉन्च, 'मन की बात' के 10 अहम प्वाइंट्स

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'मन की बात' के 43वें संस्‍करण में सबसे पहले कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को बधाई दी. प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे खिलाडियों ने भी देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए बेहतरीन प्रदर्शन किया और एक-के-बाद एक मेडल जीतते ही चले गए. चाहे शूटिंग हो, रेस्लिंग हो, वेटलिफ्टिंग हो, टेबल टेनिस हो या बैटमिंटन हो भारत ने रिकॉर्ड प्रदर्शन किया. तो चलिए जानते हैं इस बार पीएम मोदी के मन की बात की क्या हैं बड़ी बातें....

  • CWG 2018 closing ceremony: रंगारंग कार्यक्रम के साथ हुआ समापन, अब होगी बर्मिंघम में मुलाकात!

    CWG 2018 closing ceremony: रंगारंग कार्यक्रम के साथ हुआ समापन, अब होगी बर्मिंघम में मुलाकात!

    बर्मिंघम  में वर्ष 2022 में दोबारा मिलने के वादे के साथ रविवार को यहां 21वें राष्ट्रमंडल खेलों का समापन हो गया. खेल भावना और सौहार्द के साथ 4 से 15 अप्रैल के बीच आयोजित इन खेलों विश्व के 71 देशों और टेरेटरीज के 6,600 से अधिक खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया. इन खेलों के अंतिम रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए गए, जिसमें विभिन्न कलाकारों ने अपनी कला का बेहतरीन प्रदर्शन किया. आस्ट्रेलिया के पोएट्री स्लैम प्रतियोगिता के सबसे युवा विजेता 13 वर्ष के सोली राफाएल ने एक कविता भी सुनाई. जमैका के दिग्गज फर्राटा धावक यूसेन बोल्ट ने एक डीजे बनकर भी समारोह में मौजूद दर्शकों का मनोरंजन किया

  • Commonwealth Games 2018: कुछ ऐसे किदांबी श्रीकांत ने गंवा दिया सिंगल्स का स्वर्ण पदक

    Commonwealth Games 2018: कुछ ऐसे किदांबी श्रीकांत ने गंवा दिया सिंगल्स का स्वर्ण पदक

    वर्ल्ड नम्बर-1 भारतीय खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में रविवार को पुरुष एकल वर्ग के फाइनल में उलटफेर का शिकार होना पड़ा और इस कारण वह स्वर्ण पदक से चूक गए. श्रीकांत को मलेशिया के दिग्गज ली चोंग वेई ने मात देकर राष्ट्रमंडल खेलों का पांचवां स्वर्ण पदक हासिल किया. इस कारण भारतीय खिलाड़ी को रजत पदक से संतोष करना पड़ा

  • CWG 2018: कुल 66 पदकों के साथ खत्म हुआ भारत का अभियान, रचा इतिहास, मिला तीसरा स्थान

    CWG 2018: कुल 66 पदकों के साथ खत्म हुआ भारत का अभियान, रचा इतिहास, मिला तीसरा स्थान

    ऑस्ट्रेलिया में 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी दिन भारत ने इतिहास रच दिया है. खेलों के 10वें दिन भारत का अभियान बैडमिंडन में पुरुष डबल्स मेंं हार और जत के साथ 66 पदकों के साथ खत्म हुआ, जो भारत का खेलों के इतिहास में तीसरा सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा. रविवार को करोड़ों हिंदुस्तानी खेलप्रेमियों की नजरें इसी बात पर लगी थीं कि क्या भारत साल 2014 में ग्लास्गो के प्रदर्शन को पीछे छोड़ पाएगा या नहीं. और आखिरी दिन भारतीय धुरंधरों ने उम्मीदों पर खरा उतरते हुए ग्लास्गो के 64 पदकों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया. कुल मिलाकर भारत ने 66 पदक जीते. इनमें  26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य पदक शामिल हैं

  • CWG 2018: बैडमिंटन में भारत को 2 पदक, सायना नेहवाल को गोल्ड और पीवी सिंधु को सिल्वर

    CWG 2018: बैडमिंटन में भारत को 2 पदक, सायना नेहवाल को गोल्ड और पीवी सिंधु को सिल्वर

    कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में बैडमिंटन सिंगल्स के खिताबी मुकाबले में सायना नेहवाल को गोल्ड मिला है, वहीं पीवी सिंधु को सिल्वर से ही संतोष करना पड़ा है.

  • NEWS FLASH: बीजेपी ने यूपी से MLC की 11वीं सीट अपना दल के लिए छोड़ी

    NEWS FLASH: बीजेपी ने यूपी से MLC की 11वीं सीट अपना दल के लिए छोड़ी

    इसके अलावा देश-दुनिया, बिज़नेस जगत और खेल की दुनिया में हो रही हर बड़ी गतिविधियों के बारे में एक साथ एक ही पेज पर जानें.

  • CWG 2018: कुछ ऐसे मुक्केबाजों ने नौवें दिन को यादगार बना दिया

    CWG 2018: कुछ ऐसे मुक्केबाजों ने नौवें दिन को यादगार बना दिया

    भारतीय मुक्केबाजों ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन शनिवार को अपने मुक्के की धमक दिखाते हुए तीन स्वर्ण समेत कुल छह पदक जीते. भारत ने स्वर्ण के अलावा तीन रजत भी जीते. भारत की दिग्गज मुक्केबाज मैरी कॉम ने महिलाओं की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक जीता. पुरुषों के 52 किलेग्राम भारवर्ग में गौरव सोलंकी और 75 किलोग्राम भारवर्ग में विकास कृष्ण ने स्वर्ण पदक जीतकर भारत का मान बढ़ाया. इनके अलावा, भारत की झोली में तीन रजत पदक भी आए। भारत के लिए पुरुषों के 91 प्लस किलोग्राम भारवर्ग में सतीश कुमार, 46-49 किलोग्राम भारवर्ग में अमित पंघाल और 60 किलोग्राम भार वर्ग में मनीष कौशिक ने पदक जीते

  • CWG 2018: इस बड़ी वजह से पुरुष हॉकी टीम ने गंवाया कांस्य पदक

    CWG 2018: इस बड़ी वजह से पुरुष हॉकी टीम ने गंवाया कांस्य पदक

    भारतीय पुरुष हाकी टीम को 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन शनिवार को कांस्य पदक के मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ 1-2 से हार का सामना करना पड़ा. न्यूजीलैंड के खिलाफ हुए सेमीफाइनल मुकाबले की तरह इस मैच भी भारत की शुरुआत आक्रामक रही लेकिन पांच मिनट के बाद ही इंग्लैंड ने टीम ने भारतीय आक्रमण को तोड़ते हुए डिफेंस पर दबाव बनाना शुरू कर दिया. भारतीय टीम ने कुल मिलाकर बहुत ही निराश किया और एक बार फिर से बड़ी खामी हॉकी टीम की पोल खोल गई

  • Commonwealth Games 2018: इस स्कोर के साथ नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास

    Commonwealth Games 2018: इस स्कोर के साथ नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास

    नीरज चोपड़ा ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन शनिवार को भारत की झोली में एक और स्वर्ण पदक डाल दिया. नीरज ने पुरुषों की भालाफेंक स्पर्धा में देश के लिए स्वर्ण पदक जीता. वहीं इसी स्पर्धा में एक और भारतीय विपिन कशाना पांचवें स्थान पर रहे. और स्वर्ण पदक के साथ ही नीरज ने कॉमनवेल्थ खेलों में इतिहास रच दिया.

  • CWG 2018: नौवें दिन भारत पर स्वर्ण पदकों की बरसात, नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास

    CWG 2018: नौवें दिन भारत पर स्वर्ण पदकों की बरसात, नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास

    गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी और 10वें दिन भारत पर स्वर्ण पदकों की बरसात के बीच नीरज चोपड़ा ने इतिहास रच दिया है. नीरज चोपड़ा भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं. वहीं, शाम के सेशन में मुक्केबाजी में विकास कृष्ण, महिला टीटी में सिंगल्स में मनिका बत्रा, कुश्ती में सुमित मलिक और विगनेश ने क्रमश पुरुष व महिला वर्ग में स्वर्ण दिलाए, तो बॉक्सिंग में स्टार मैरीकॉम और गौरव सोलंकी ने भी सोने पर मुक्का जड़ा. इसके अलावा संजीव राजपूत ने भी सोने पर निशाना साधा. कुल मिलाकर खेलों के नौ दिन अभी तक भारत आठ स्वर्ण पदक कब्जा चुका है

  • CWG 2018 : मुक्केबाजी में गोल्ड मेडल से चूके अमित, सिल्वर मेडल से करना पड़ा संतोष

    CWG 2018 : मुक्केबाजी में गोल्ड मेडल से चूके अमित, सिल्वर मेडल से करना पड़ा संतोष

    ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में मुक्केबाजी में भारतीय खिलाड़ी अमित एक गोल्ड मेडल से चूक गये. भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल को यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में 46-49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में हार कर रजत पदक से संतोष करना पड़ा है. 

  • CWG 2018: मुक्केबाजी में मैरी कॉम ने जीता गोल्ड, भारत के नाम एक और स्वर्ण

    CWG 2018: मुक्केबाजी में मैरी कॉम ने जीता गोल्ड, भारत के नाम एक और स्वर्ण

    ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा जारी है. एक बार फिर से देश का परचम लहराते हुए मुक्केबाज मैरीकॉम ने भारत को एक और गोल्ड दिला दिया है. मैरीकॉम ने 48 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक जीत लिया है.

  • NEWS FLASH: उन्नाव केस : आरोपी विधायक 7 दिन की सीबीआई रिमांड पर

    NEWS FLASH:  उन्नाव केस : आरोपी विधायक 7 दिन की सीबीआई रिमांड पर

    देश-दुनिया, बिज़नेस जगत और खेल की दुनिया में हो रही हर बड़ी गतिविधियों के बारे में एक साथ एक ही पेज पर जानें.

  • CWG 2018: सेमीफाइनल में भारतीय हॉकी टीम न्यूजीलैंड के हाथों हुई उलटफेर का शिकार

    CWG 2018: सेमीफाइनल में भारतीय हॉकी टीम न्यूजीलैंड के हाथों हुई उलटफेर का शिकार

    भारत की पुरुष हॉकी टीम को यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के नौवें दिन सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा. भारतीय टीम को गोल्ड कोस्ट हॉकी सेंटर में खेले गए सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड ने 3-2 से शिकस्त देकर उलटफेर किया. भारत के इस प्रदर्शन से करोड़ों भारतीय हॉकीप्रेमियों को खासी निराशा हुई है, जो कॉमनवेल्थ खेलों में एक बार फिर से स्वर्ण जीतने का सपना पाले हुए थे

  • CWG 2018: आखिरी 3 सेकेंड में इस कारण पूजा ढांडा स्वर्ण पदक से चूकीं

    CWG 2018: आखिरी 3 सेकेंड में इस कारण पूजा ढांडा स्वर्ण पदक से चूकीं

    भारतीय महिला पहलवान पूजा ढांडा जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में नौवें दिन शुक्रवार को महिलाओं की 57 किलोग्राम स्पर्धा के फाइनल में  स्वर्ण पदक हासिल करने से चूक गईं. पूजा को फाइनल में नाईजीरिया की ओडुनायो अडेकुओरोये ने 7-5 से मात देकर सोना जीता और भारतीय महिला पहलवान को रजत से संतोष करना पड़ा. और यह वह बात रही, जिसका पूजा ढांडा को ताउम्र मलाल रहेगा.