NDTV Khabar

गैंगरेप


'गैंगरेप' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • उत्तर प्रदेश : भदोही में महिला के साथ चार लोगों ने किया गैंगरेप, आरोपियों की तलाश में छापेमारी

    उत्तर प्रदेश : भदोही में महिला के साथ चार लोगों ने किया गैंगरेप, आरोपियों की तलाश में छापेमारी

    गोपीगंज थाना क्षेत्र के एक गांव में 32 वर्षीय महिला से कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है.  ज्ञानपुर पुलिस क्षेत्राधिकारी कालू सिंह ने शनिवार को बताया कि महिला दस मई की दोपहर एक बगीचे में लकड़ी बीनने गई थी. वहां सोनू बिंद, दीपक सिंह, अच्छेलाल और माधव यादव ने उससे गैंगरेप किया. आरोपियों ने गैंगरेप का वीडियो बनाकर महिला को जान से मारने की धमकी भी दी.  सिंह ने बताया कि महिला और उसके पति की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है.

  • बिहार: क्वारंटीन सेंटर में रह रहे दो प्रवासी को गैंगरेप के आरोप में पुलिस ने किया गिरफ्तार

    बिहार: क्वारंटीन सेंटर में रह रहे दो प्रवासी को गैंगरेप के आरोप में पुलिस ने किया गिरफ्तार

    Covid-19 Quarantine Centre: बिहार के सासाराम जिले में क्वारंटीन सेंटर में रह रहे दो प्रवासी लोगों को बलात्कार के एक मामले में गिरफ्तार किया गया हैं. यह मामला रोहतास जिला दावथ थाना के जोगनी गांव का हैं,

  • गैंगरेप के आरोपी यूपी के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति ने कोविड-19 का हवाला देकर मांगी जमानत

    गैंगरेप के आरोपी यूपी के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति ने कोविड-19 का हवाला देकर मांगी जमानत

    गैंगरेप के आरोपी उत्तरप्रदेश के पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति ने कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा बताकर इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत देने की मांग की है. फिलहाल गायत्री प्रजापति कानपुर के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) में अपना इलाज करा रहा है.

  • इंस्टाग्राम ग्रुप पर गैंगरेप की प्लानिंग करने के मामले में स्कूली छात्र को पकड़ा गया, 20 अन्य की पहचान हुई

    इंस्टाग्राम ग्रुप पर गैंगरेप की प्लानिंग करने के मामले में स्कूली छात्र को पकड़ा गया, 20 अन्य की पहचान हुई

    'बोइस लॉकर रूम' (Bois Locker Room) नाम के ग्रुप का इस मामले में नाम सामने आया था. इस मामले को लेकर लोगों के बीच काफी गुस्‍सा और नाराजगी थी. इस ग्रुप को अब डिएक्‍टिवेट कर दिया गया है. दिल्‍ली के एक मशहूर स्‍कूल के छात्र ने 20 और लोगों के नाम बताए हैं जो इस ग्रुप में एक्टिव थे.

  • #BoysLockerRoom : गैंगरेप की प्लानिंग करने वाले नाबालिग लड़कों की ग्रुप चैट वायरल, इंस्टाग्राम से मांगी गई जानकारी

    #BoysLockerRoom : गैंगरेप की प्लानिंग करने वाले नाबालिग लड़कों की ग्रुप चैट वायरल, इंस्टाग्राम से मांगी गई जानकारी

    यह ग्रुप इंस्टाग्राम पर बनाया गया था, हालांकि यह ग्रुप फिलहाल डिएक्टिवेट कर दिया गया है लेकिन दिल्ली पुलिस इसके तार खंगालने में जुटी हुई है. दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम टीम ने इस मामले को लेकर फेसबुक कंपनी से इस इंस्टाग्राम ग्रुप से जुड़ी जानकारियां मांगी हैं. दरअसल यह मामला रविवार को लोगों के सामने तब आया, जब ट्विटर पर कई यूजर्स ने इस इंस्टाग्राम ग्रुप की चैट के स्क्रीन शॉट शेयर किए. इस ग्रुप का नाम बॉयज लॉकर रूम Bois Locker Room है. 

  • मध्य प्रदेश : सात लोगों ने 18 साल की युवती के साथ किया गैंगरेप, पीड़िता के भाई को कुएं में फेंका

    मध्य प्रदेश : सात लोगों ने 18 साल की युवती के साथ किया गैंगरेप, पीड़िता के भाई को कुएं में फेंका

    बैतूल जिले में सात लोगों ने 18 वर्षीय एक किशोरी के भाई को कुंए में फेंकने के बाद लड़की से कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया. बैतूल जिला मुख्यालय से करीब 20 किलोमीटर दूर स्थित पाढर थाना क्षेत्र में किशोरी अपने भाई के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर अपने गांव लौट रही थी, तभी आरोपियों ने पीड़िता के भाई की पिटाई की और उसे कुंए में फेंक दिया.

  • नागपुर : जंगल में छात्रा से किया गैंगरेप, वीडियो भी बनाया, 5 गिरफ्तार

    नागपुर : जंगल में छात्रा से किया गैंगरेप, वीडियो भी बनाया, 5 गिरफ्तार

    पुलिस ने रविवार को बताया कि घटना 17 मार्च की है. उन्होंने कहा कि पीड़िता ने हाल में राज्य बोर्ड से बारहवीं कक्षा की परीक्षा दी थी. एक अधिकारी ने बताया कि आरोपियों की उम्र 19 से 27 वर्ष के बीच है. उन्होंने कहा कि आरोपियों ने अपराध की वीडियोग्राफी भी की और उसे सोशल मीडिया पर जारी करने की धमकी भी दी.

  • फंदे पर लटकने से पहले विनय ने अपनी बनाई इस पेंटिंग को घरवालों को देने की जताई थी इच्छा

    फंदे पर लटकने से पहले विनय ने अपनी बनाई इस पेंटिंग को घरवालों को देने की जताई थी इच्छा

    निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्या मामले के चारों दोषियों ने फांसी दिए जाने से पहले कोई आखिरी इच्छा जाहिर नहीं की थी. अधिकारी ने कहा, 'दोषियों ने अधिकारियों के समक्ष कोई आखिरी इच्छा जाहिर नहीं की थी.' फांसी दिए जाने से पहले उनसे उनकी आखिरी इच्छा पूछी गई थी. जेल की नियामवली के अनुसार अधीक्षक और जिला मजिस्ट्रेट या अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में कैदी की वसीयत सहित किसी भी दस्तावेज पर हस्ताक्षर कराए जा सकते हैं या उसे संलग्न किया जा सकता है. हालांकि मुकेश ने यह बात जरूर कही कि उसकी मौत के बाद अंगदान कर दिए जाएं. वहीं विनय ने बताया कि उसने जो पेंटिंग बनाई से उसके घरवालों को दे दिया जाए. वहीं विनय फांसी से थोड़ी देर पहले गिड़गिड़ाकर कहने लगा कि वह मरना नहीं चाहता है. मुकेश और विनय ने रात में खिचड़ी खाई थी. वहीं पवन और अक्षय रात भर बेचैन रहे.

  • फंदे पर लटकाने से पहले पूछी गई 'आखिरी इच्छा', तो निर्भया के गुनहगारों का था ये रिएक्शन

    फंदे पर लटकाने से पहले पूछी गई 'आखिरी इच्छा', तो निर्भया के गुनहगारों का था ये रिएक्शन

    दिल्ली गैंगरेप मामले में निर्भया के चार दोषियों को शुक्रवार की तड़के सुबह साढ़े पांच बजे तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई. इस फांसी से पहले पिछले सात साल तक निर्भया की मां लगातार कोर्ट में लड़ाई लड़ती रही. दोषियों को फांसी के फंदे तक पहुंचाने के लिए उन्होंने पूरी ताकत झोंक दी. सात साल के लंबे इंतजार के बाद दिल्ली के निर्भया गैंगरेप मामले में चार दोषियों को फांसी के फंदे पर लटकना ही पड़ा.

  • निर्भया गैंगरेप केस : जिस रात सबको 'जगाकर' 'सो 'गई वो

    निर्भया गैंगरेप केस : जिस रात सबको 'जगाकर' 'सो 'गई वो

    16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में एक चलती बस के अंदर हुई गैंगरेप की घटना ने पूरे देश को सोचने के लिए मजबूर था कि क्या इस देश में महिलाओं को पर आम अत्याचार अब आम बात हो गई है. घटना के अगले ही दिन पूरे देश में प्रदर्शन हो चुके थे. जिस वीभत्स तरीके से इस घटना को अंजाम दिया गया था, पहले ही दिन से इसके दोषियों को फांसी देने की मांग शुरू हो चुकी थी. यह हाल ही के दिनों में शायद पहला ऐसा मौका था रेप की घटना पर पूरा देश एक साथ खड़ा हो गया था.

  • फांसी से पहले रोते-गिड़गिड़ाते हुए ज़मीन पर लोटने लगा दोषी विनय, मौत से पहले बोला - मरना नहीं चाहता, माफ कर दो

    फांसी से पहले रोते-गिड़गिड़ाते हुए ज़मीन पर लोटने लगा दोषी विनय, मौत से पहले बोला - मरना नहीं चाहता, माफ कर दो

    सात साल के लंबे इंतजार के बाद दिल्ली के निर्भया गैंगरेप मामले में चार दोषियों को फांसी के फंदे पर लटकना ही पड़ा. फांसी पर लटकाए जाने से पहले दोषियों ने फांसी से बचने के लिए अपने सभी कानूनी विकल्पों का पूरा इस्तेमाल किया, लेकिन निर्भया को आखिरकार इंसाफ मिला. चारों दोषियों में विनय फांसी के पहले बहुत रोया और गिड़गिड़ाया. बाकी तीनों दोषी पवन, मुकेश और अक्षय शांत रहे. मुकेश ने मौत के बाद अपने अंगदान करने की इच्छा जाहिर की थी. वहीं, दोषी विनय ने कहा था कि जो मैंने पेंटिंग बनाई हैं वो मेरे घरवालों को दे देना.

  • निर्भया गैंगरेप केस Timeline : वो तारीखें जो कभी उम्मीदें लाईं तो कभी आंसू

    निर्भया गैंगरेप केस Timeline : वो तारीखें जो कभी उम्मीदें लाईं तो कभी आंसू

    आखिरकार 7 साल बाद निर्भया को इंसाफ ही मिल ही गया. आज सुबह 5:30 बजे चारों दोषियों को दिल्ली के तिहाड़ जेल में फांसी पर लटका दिया गया है और 6 बजे उनकी मौत का ऐलान किया जा चुका है. इससे पहले चारों को फांसी से बचाने के लिए रात में एक बार फिर दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई. रात में ही इस पर सुनवाई भी हुई लेकिन सभी दलीलों को नकारते हुए उनकी कोर्ट ने उनकी फांसी की सजा को बरकरार रखा. फांसी के बाद निर्भया की मां ने कहा कि बेटों को सिखाना पड़ेगा कि ऐसा करोगे तो ऐसा ही इंसाफ मिलेगा. निर्भया की मां के आंखे नम रही और उन्होंने कहा, ''आज का दिन हमारे बच्चियों के नाम, हमारे महिलाओं के लिए.. देर से ही लेकिन न्याय मिला.. हमारे न्यायिक व्यवस्था, अदालतों को धन्यवाद.''

  • दोषियों को हुई फांसी, तो निर्भया की मां ने बेटी की तस्वीर को गले लगाकर कहा - हमारी बच्ची दुनिया में नहीं लौट सकती, लेकिन...

    दोषियों को हुई फांसी, तो निर्भया की मां ने बेटी की तस्वीर को गले लगाकर कहा - हमारी बच्ची दुनिया में नहीं लौट सकती, लेकिन...

    निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों को 20 मार्च 2020 की सुबह साढ़े पांच बजे तिहाड़ जेल के भीतर फांसी दे दी गई. कानूनी प्रक्रिया से लड़ते-लड़ते सात साल बाद मिले इंसाफ के बाद निर्भया की मां भावुक हो गईं. उन्होंने फांसी के बाद बेटी की तस्वीर को गले लगा लिया.

  • मौत के इंतजार में रातभर नहीं सो पाए निर्भया के चारों दोषी, फांसी से पहले ऐसे बीती रात

    मौत के इंतजार में रातभर नहीं सो पाए निर्भया के चारों दोषी, फांसी से पहले ऐसे बीती रात

    दिल्ली में निर्भया गैंगरेप हत्याकांड के बाद पूरा देश सहम सा गया था. भले ही निर्भया ने जिंदगी के जंग में अपना दम तड़पते हुए तोड़ दिया, लेकिन इंसाफ की लड़ाई में उसे सात साल के बाद 20 मार्च 2020 की सुबह साढ़े पांच बजे न्याय मिला, जब चारों दोषियों को फांसी के फंदे पर लटकाया गया.

  • फांसी के फंदे पर लटके चारों दोषी तो बोलीं निर्भया की मां- बेटों को सिखाना पड़ेगा कि ऐसा करोगे तो ऐसा ही इंसाफ मिलेगा

    फांसी के फंदे पर लटके चारों दोषी तो बोलीं निर्भया की मां- बेटों को सिखाना पड़ेगा कि ऐसा करोगे तो ऐसा ही इंसाफ मिलेगा

    निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों को 20 मार्च की तड़के सुबह साढ़े पांच बजे तिहाड़ जेल के भीतर फांसी दे दी गई. सात साल बाद मिले इंसाफ के बाद निर्भया की मां के आंखे नम रही और उन्होंने कहा, ''आज का दिन हमारे बच्चियों के नाम, हमारे महिलाओं के लिए.. देर से ही लेकिन न्याय मिला.. हमारे न्यायिक व्यवस्था, अदालतों को धन्यवाद.''

  • Nirbhaya Case Update: आखिरकार हुआ इंसाफ, फांसी पर लटकाए गए निर्भया के दोषी

    Nirbhaya Case Update: आखिरकार हुआ इंसाफ, फांसी पर लटकाए गए निर्भया के दोषी

    Nirbhaya Case: निर्भया गैंगरेप और मर्डर के चारों दोषी मुकेश, अक्षय, विनय और पवन को अलसुबह फांसी दे दी गई. सात साल से ज्यादा लंबे समय के बाद आखिरकर निर्भया को इंसाफ मिल गया. कोर्ट की तरफ से मौत की सजा सुनाए जाने के बाद फांसी के लिए कई तारीखें तय हुईं, लेकिन दोषी कोई न कोई तिकड़म अपनाकर बच ही जाते थे.

  • दलित बच्ची को अगवा कर गैंगरेप, पड़ोसियों ने 1 आरोपी को पकड़ किया पुलिस के हवाले

    दलित बच्ची को अगवा कर गैंगरेप, पड़ोसियों ने 1 आरोपी को पकड़ किया पुलिस के हवाले

    कबरई के थाना प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) उमेश प्रताप सिंह ने बुधवार को दर्ज करवाई गई प्राथमिकी के आधार पर बृहस्पतिवार को बताया "यह घटना मंगलवार की रात की है. जिले के खन्ना थाना क्षेत्र का एक दलित परिवार कबरई कस्बे में किराए के कमरे में रहकर मजदूरी करता है. मंगलवार की रात दो युवकों ने उसके दरवाजे की कुंडी खटखटायी. उसकी बारह साल की बच्ची ने दूसरे किरायेदार समझकर कुंडी खोल दी, उस समय बच्ची के मां-बाप सो रहे थे."

  • फांसी टालने की कोशिश में लगे निर्भया के दोषियों के वकील को अदालत की 'फटकार', पूछा- हमेशा अंतिम समय में क्यों आते हैं?

    फांसी टालने की कोशिश में लगे निर्भया के दोषियों के वकील को अदालत की 'फटकार', पूछा- हमेशा अंतिम समय में क्यों आते हैं?

    Nirbhaya Case: निर्भया के दोषियों को 20 मार्च की सुबह पांच बजकर 30 मिनट पर फांसी होगी. अदालत की ओर से इससे पहले भी इनके डेथ वारंट पर रोक लग चुकी है. अब देखना यह होगा कि क्या इस बार भी ये कानूनी दांव-पेंच में उलझाकर डेथ वारंट पर रोक लगवा लेते हैं या उन्हें तय समय पर फांसी मिलेगी. 

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com