NDTV Khabar

चुनावी मुकाबला


'चुनावी मुकाबला' - 45 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • दिल्ली चुनाव नतीजों में किसे मिली सबसे करारी हार और कौन जीता सिर्फ कुछ ही वोटों से ? दिलचस्प हैं आंकड़े !

    दिल्ली चुनाव नतीजों में किसे मिली सबसे करारी हार और कौन जीता सिर्फ कुछ ही वोटों से ? दिलचस्प हैं आंकड़े !

    राजधानी दिल्ली में आम आदमी पार्टी तीसरी बार दिल्ली का दिल जीतने में कामयाब हुई है. इस बार 2015 के मुकाबले AAP 67 सीट से खिसककर 62 पर आ गई जबकि बीजेपी ने 3 से 8 का आंकड़ा छू लिया है लेकिन बीजेपी सिंगल डिजिट तक ही सिमट कर रह गई.

  • Delhi Election 2020: शादी से पहले वोट डालने पहुंचा दूल्हा, साथ में आए बाराती, देखिए वीडियो

    Delhi Election 2020: शादी से पहले वोट डालने पहुंचा दूल्हा, साथ में आए बाराती, देखिए वीडियो

    बारातियों के साथ दूल्हे धनंजय ध्यानी भी थे. शादी से पहले दूल्हे ने भी वोट डाला और बारातियों के भी वोट डलवाए. इतना ही नहीं, धनंजय ने फोन करके अपनी होने वाली पत्नी को भी वोट डालकर सात फेरे लेने को कहा. धनंजय की शादी दिसंबर में ही तय हो गई थी लेकिन उन्हें नहीं पता था कि वोटिंग वाले दिन ही उनकी शादी भी पड़ जाएगी.

  • Delhi Election 2020: दिल्ली का भविष्य चुनने की तैयारी में वोटर, सुबह 4 बजे शुरू हुई मेट्रो, राजधानी के चप्पे-चप्पे पर पुलिस का कड़ा पहरा

    Delhi Election 2020: दिल्ली का भविष्य चुनने की तैयारी में वोटर, सुबह 4 बजे शुरू हुई मेट्रो, राजधानी के चप्पे-चप्पे पर पुलिस का कड़ा पहरा

    दिल्ली में 1,47,86,382 मतदाता हैं, जिनमें से 2,32,815 मतदाता 18 से 19 साल आयुवर्ग के हैं. दिल्ली में पुरुष मतदाताओं की संख्या 80,55,686 है, जबकि 66,35,635 महिला मतदाता हैं. राष्ट्रीय राजधानी में 815 मतदाता थर्ड जेंडर के हैं, जबकि एनआरआई मतदाताओं की संख्या 489 है. दिल्ली में सर्विस वोटरों की कुल संख्या 11,556 है, जिनमें से 9,820 पुरुष मतदाता हैं.

  • अमित शाह का दावा, दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे सबको चौंका देंगे

    अमित शाह का दावा, दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे सबको चौंका देंगे

    केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आठ फरवरी को होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव को दो ''विचारधाराओं'' का मुकाबला करार देते हुए कहा कि चुनाव नतीजे सबको चौंका देंगे. शाह ने पूर्वी दिल्ली के कोंडली में एक चुनावी सभा में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर हमले जारी रखते हुए कहा कि उन्होंने अपनी ''वोटबैंक'' की राजनीति के डर से संशोधित नागरिकता कानून, अयोध्या में राम मंदिर और अनुच्छेद 370 के प्रावधान हटाने जैसे मुद्दों पर भाजपा का विरोध किया.

  • Delhi Election 2020: चुनावी सभा के बाद जब BJP कार्यकर्ता के घर भोजन करने पहुंचे अमित शाह

    Delhi Election 2020: चुनावी सभा के बाद जब BJP कार्यकर्ता के घर भोजन करने पहुंचे अमित शाह

    अमित शाह को भोजन में दाल, रोटी और सब्जी परोसी गई. रात्रि भोजन का कार्यक्रम यमुना विहार के बीजेपी अध्यक्ष के घर पर हुआ. यमुना विहार के एक बीजेपी नेता के मुताबिक, रात्रि भोजन का कार्यक्रम अंतिम समय में तय किया गया. इस दौरान अमित शाह और मनोज तिवारी के अलावा सिर्फ दो और नेता घर के अंदर मौजूद थे.

  • दिल्ली विधानसभा चुनाव: सबसे अमीर उम्मीदवार धर्मपाल लाकड़ा की संपत्ति को विरोधियों ने बनाया चुनावी मुद्दा

    दिल्ली विधानसभा चुनाव: सबसे अमीर उम्मीदवार धर्मपाल लाकड़ा की संपत्ति को विरोधियों ने बनाया चुनावी मुद्दा

    दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी धर्मपाल लाकड़ा अपनी बेशुमार संपत्ति के चलते सुर्खियों में हैं. उनका मुकाबला बीजेपी के मास्टर आजाद सिंह और कांग्रेस के डाक्टर नरेश के साथ है. वे दिल्ली के सबसे अमीर प्रत्याशी हैं, जिनके पास 325 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति है. अब लकड़ा की संपत्ति को ही उनके विरोधी चुनावी मुद्दा बना रहे हैं.

  • BJP के हमले पर मनीष सिसोदिया का जवाब- 'बच्चा-बच्चा जानता है ध्रुवीकरण की मास्टर पार्टी कौन है'

    BJP के हमले पर मनीष सिसोदिया का जवाब- 'बच्चा-बच्चा जानता है ध्रुवीकरण की मास्टर पार्टी कौन है'

    BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया था कि शोएब इकबाल कई मामलों में दोषी साबित हो चुके हैं और इस समय भी उनके ऊपर हत्या, डकैती और दंगा करवाने जैसे मामले चल रहे हैं. इसका जवाब देते हुए मनीष सिसोदिया ने आक्रामक अंदाज में कहा, 'आम आदमी पार्टी के नेता या आम आदमी पार्टी में शामिल हुए नेता अगर अपराधी हैं, अगर हत्या के आरोपी हैं तो बीजेपी को शर्म आनी चाहिए कि वह जेल के बाहर क्यों घूम रहे हैं.'

  • झारखंड के बाद दिल्ली के विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी के खिलाफ मैदान में होगी नीतीश की पार्टी

    झारखंड के बाद दिल्ली के विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी के खिलाफ मैदान में होगी नीतीश की पार्टी

    दिल्ली विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है. राष्ट्रीय राजधानी में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (AAP), भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस के बीच मुकाबला है. इस बीच जनता दल (यूनाइटेड) (JDU) भी चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी कर रही है. पार्टी ने फैसला किया है कि आगामी दिल्ली विधानसभा चुनाव वह अपने बलबूते लड़ेगी. बिहार में जद(यू) के वरिष्ठ नेता और बिहार सरकार में मंत्री संजय झा ने बताया है कि पार्टी नेतृत्व ने दिल्ली विधानसभा चुनाव पूरे दमखम से लड़ने का फैसला किया है. इस बाबत पार्टी ने रणनीति बना ली है. गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने दिल्ली में आठ फरवरी को विधानसभा चुनाव कराने की घोषणा की है, जिसके नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.

  • पश्चिम बंगाल उपचुनाव : तीन विधानसभा सीटों के परिणाम आज घोषित किए जाएंगे

    पश्चिम बंगाल उपचुनाव : तीन विधानसभा सीटों के परिणाम आज घोषित किए जाएंगे

    पश्चिम बंगाल में तीन विधानसभा सीटों के लिए हुए उपचुनाव के परिणाम आज आएंगे. इस चुनाव में सात लाख से अधिक मतदाताओं में से 75.34 फीसदी ने वोट डाले थे. पश्चिम बंगाल की करीमपुर, खड़गपुर सदर और कालीगंज विधानसभा सीटों पर 25 नवंबर को मतदान हुआ था.इस चुनाव में त्रिकोणीय संघर्ष हुआ है. कांग्रेस-माकपा, तृणमूल और बीजेपी के बीच कड़ा चुनावी संघर्ष देखने दो मिला है.

  • दंगल गर्ल बबीता फोगाट के चुनाव में उतरने से दादरी सीट पर दिलचस्प हुआ मुकाबला

    दंगल गर्ल बबीता फोगाट के चुनाव में उतरने से दादरी सीट पर दिलचस्प हुआ मुकाबला

    दादरी विधानसभा सीट पर पहलवान बबीता फोगाट के चुनावी ‘दंगल’ में उतरने से लड़ाई बेहद दिलचस्प हो गई है, जहां पिछले चार चुनावों में कोई भी पार्टी लगातार नहीं जीती है.

  • गोरखपुर की चुनावी जंग में कड़ा मुकाबला

    गोरखपुर की चुनावी जंग में कड़ा मुकाबला

    गोरखपुर पूर्वांचल की सबसे हॉट सीट मानी जाती है. वजह है कि गोरखपुर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सीट है. मुख्यमंत्री बनने के पहले योगी इस सीट से पांच बार सांसद बने. पहली बार 1998 में जीते थे 21 हजार वोटों से फिर उनका जीत का अंतर बढ़ता चला गया. उससे पहले महंत अवैद्यनाथ 1991 से 1998 तक बीजेपी के टिकट पर जीते और 1989 से 1990 में हिंदू महासभा से जीते. मगर योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद हुए उपचुनाव में प्रवीण निषाद साढ़े 21 हजार वोटों से जीते. निषाद सपा-बसपा के संयुक्त उम्मीदवार थे.

  • सासाराम : मीरा कुमार के सामने विरासत बचाने की चुनौती, तो बीजेपी प्रत्याशी छेदी पासवान को चौथी जीत की उम्मीद

    सासाराम : मीरा कुमार के सामने विरासत बचाने की चुनौती, तो बीजेपी प्रत्याशी छेदी पासवान को चौथी जीत की उम्मीद

    बिहार के सासाराम लोकसभा क्षेत्र में तपती धरती और लू के बीच शहर से लेकर गांव तक चुनावी चर्चा गर्म है. शहर में पान की दुकानों से लेकर गांव में चाय की दुकानों तक लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तक की चर्चा कर रहे हैं. स्थानीय उम्मीदवारों को लेकर भी चाय पर चर्चा जारी रहती है. सासाराम (सुरक्षित) संसदीय सीट पर इस चुनाव में पिछले लोकसभा चुनाव की तरह मुख्य मुकाबला महागठबंधन प्रत्याशी कांग्रेस नेता और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की ओर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता छेदी पासवान के बीच है. हालांकि यहां 13 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. सासाराम सीट पर अंतिम और सातवें चरण में 19 मई को मतदान होना है. इस सीट पर जहां मीरा कुमार के सामने अपने पिता बाबू जगजीवन राम की विरासत बचाने की चुनौती है तो वहीं भाजपा प्रत्याशी छेदी पासवान के सामने इस क्षेत्र से चौथी बार जीत दर्ज करने की चुनौती है.

  • गुरुग्राम लोकसभा सीट पर केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत का लालू यादव के समधी से कड़ा मुकाबला

    गुरुग्राम लोकसभा सीट पर केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत का लालू यादव के समधी से कड़ा मुकाबला

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की पड़ोसी लोकसभा सीट गुरुग्राम (गुड़गांव) में लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) में बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) का सीधा मुकाबला है. हरियाणा के इस लोकसभा क्षेत्र (Gurugram) में जहां एक तरफ बीजेपी के कद्दावर नेता राव इंद्रजीत सिंह (Rao Inderjit Singh) हैं वहीं उनके सामने कांग्रेस के कैप्टन अजय यादव हैं. दोनों प्रत्याशी एक ही क्षेत्र रेवाड़ी के और एक ही जाति के हैं जिससे यहां जातिगत वोट बंटने की संभावना नजर आ रही है. इस लोकसभा क्षेत्र में मुस्लिम मतदाताओं की तादाद भी काफी है जो कि चुनावी नतीजों को प्रभावित करने की ताकत रखते हैं.

  • गिरिराज सिंह: विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाले इस नेता का कैसा है सियासी सफर, यहां जानिए

    गिरिराज सिंह: विवादित बयानों से चर्चा में रहने वाले इस नेता का कैसा है सियासी सफर, यहां जानिए

    2019 के लोकसभा चुनावों में वह बिहार के बेगूसराय से चुनावी ताल ठोंक रहे हैं. उनका मुकाबला जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार से है. वह इस समय बिहार के नवादा से सांसद हैं.

  • उत्तर-पश्चिम दिल्ली सीट : हंसराज हंस की नई तान- दिल मोदी-मोदी बोलता, कमल का फूल खिल जाए...

    उत्तर-पश्चिम दिल्ली सीट :  हंसराज हंस की नई तान- दिल मोदी-मोदी बोलता, कमल का फूल खिल जाए...

    दिल्ली की उत्तर-पश्चिम सीट पर बीजेपी (BJP), कांग्रेस (Congress) और आम आदमी पार्टी (AAP) तीनों ने नए उम्मीदवार खड़े किए हैं. तीनों पहली बार लोकसभा चुनाव (Loksabha Elections) लड़ रहे हैं. मुकाबला इसलिए कुछ अधिक दिलचस्प हो गया है कि उदित राज की जगह बीजेपी ने एक सूफी गायक हंसराज हंस (Hansraj Hans) को टिकट दिया. ये अलग बात है कि अब उनके सूफी गायन में मोदी (PM Modi) और कमल शामिल हो गए हैं.

  • पीएम मोदी VS प्रियंका गांधी : सबसे बड़े मुकाबले की तैयारी? वाराणसी में किसका पलड़ा भारी, 10 बड़ी बातें

    पीएम मोदी VS प्रियंका गांधी : सबसे बड़े मुकाबले की तैयारी? वाराणसी में किसका पलड़ा भारी, 10 बड़ी बातें

    कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा है कि अगर उनके भाई और पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी कहते हैं तो वह पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी में चुनाव लड़ने को तैयार हैं. केरल के वायनाड लोकसभा क्षेत्र में राहुल गांधी के समर्थन में चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यह बात कही. वायनाड लोकसभा क्षेत्र में राहुल गांधी के समर्थन में प्रचार के लिए दो दिवसीय दौरे पर यहां पहुंचीं थीं प्रियंका गांधी. बता दें कि राहुल गांधी अपनी पारंपरिक सीट अमेठी के अलावा वायनाड से भी चुनाव लड़ रहे हैं. प्रियंका गांधी ने कहा, 'अगर राहुल गांधी कहेंगे तो मैं चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं और मैं वाराणसी से लड़ूंगी.' इसमें कोई दो राय नहीं है कि अगर पीएम मोदी के खिलाफ प्रियंका गांधी चुनाव लड़ती हैं तो भारत के चुनावी इतिहास का सबसे बड़ा मुकाबला माना जाएगा क्योंकि एक ओर बीजेपी की ओर से पीएम पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी होंगे और दूसरी ओर गांधी परिवार का बड़ा चेहरा और कांग्रेस की ट्रंप कार्ड मानी जा रहीं प्रियंका गांधी होंगी. प्रियंका अगर वाराणसी से चुनाव लड़ती हैं तो हो सकता है कि कांग्रेस को इसका फायदा वाराणसी की आसपास सीटों पर हो सकता है. लेकिन इस मुकाबले के लिए वाराणसी कितना है और स्थानीय समीकरण क्या कहते हैं इस पर भी नजर होगी.

  • चतरा लोकसभा सीट : महागठबंधन में दरार, बीजेपी की राह हुई आसान

    चतरा लोकसभा सीट : महागठबंधन में दरार, बीजेपी की राह हुई आसान

    झारखंड का चतरा लोकसभा क्षेत्र न केवल झारखंड के लिए, बल्कि बिहार में भी चर्चा का विषय बना हुआ है. चतरा से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के नजदीकी समझे जाने वाले सुभाष यादव के आरजेडी के टिकट पर चुनावी मैदान में उतर जाने से यहां विपक्षी महागठबंधन में दरार पैदा हो गई है, और मुकाबला त्रिकोणात्मक दिख रहा है. चतरा से कांग्रेस ने बरही के विधायक मनोज यादव को टिकट थमाया है.

  • आंध्र प्रदेश के चुनावी मुकाबले में 'एक्स फैक्टर' हैं पवन कल्याण : प्रणय रॉय का विश्लेषण

    आंध्र प्रदेश के चुनावी मुकाबले में 'एक्स फैक्टर' हैं पवन कल्याण  : प्रणय रॉय का विश्लेषण

    तेलगाना से अलग हुए आंध्र प्रदेश में इस बार इसकी 175 विधानसभा सीटों और 25 लोकसभा सीटों के लिए कड़ा मुकाबला है. इस बार, मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वी वाईएस जगनमोहन रेड्डी का सामना कर रहे हैं, जबकि इस बार उनके साथ न को बीजेपी है, न ही अभिनेता और राजनीतिज्ञ पवन कल्याण का उन्हें समर्थन हासिल है. पवन कल्याण की पार्टी 'जन सेना' इस बार खुद अपने दम पर चुनाव लड़ रही है, यह पार्टी तीन सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com