NDTV Khabar

चुनावी रणनीति


'चुनावी रणनीति' - 71 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • झारखंड और दिल्ली की हार के साथ-साथ वोट प्रतिशत घटने से BJP परेशान, उठा सकती है यह बड़ा कदम

    झारखंड और दिल्ली की हार के साथ-साथ वोट प्रतिशत घटने से BJP परेशान, उठा सकती है यह बड़ा कदम

    झारखंड और दिल्ली विधानसभा चुनाव में हार के बाद चुनावी रणनीति की समीक्षा कर रही भारतीय जनता पार्टी राज्यों में अब पचास फीसदी वोट हासिल करने के लिए लोकप्रिय स्थानीय नेतृत्व को बढ़ावा देने तथा समान विचारधारा वाले क्षेत्रीय दलों के साथ गठजोड़ पर गंभीरता से विचार कर रही है.

  • प्रशांत किशोर को बंगाल में मिल सकती है ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा, अभी TMC के लिए बना रहे हैं चुनावी रणनीति

    प्रशांत किशोर को बंगाल में मिल सकती है ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा,  अभी TMC के लिए बना रहे हैं चुनावी रणनीति

    पश्चिम बंगाल में सोमवार को राजनीतिक गलियारों में अटकलें लगने लगीं कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को राज्य पुलिस से ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा मिल सकती है. बहरहाल, राज्य सचिवालय और तृणमूल कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने इस पर चुप्पी साध रखी है.

  • Delhi Polls: गृह मंत्री अमित शाह ने थामी दिल्ली चुनाव की कमान, BJP को जीत दिलाने के लिए ऐसे बना रहे 'रणनीति'

    Delhi Polls: गृह मंत्री अमित शाह ने थामी दिल्ली चुनाव की कमान, BJP को जीत दिलाने के लिए ऐसे बना रहे 'रणनीति'

    गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections) के लिए पूरी तरह से बीजेपी (BJP) के चुनाव अभियान की कमान संभाल ली है. पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा (JP Nadda) के साथ शाह पूरे अभियान पर न सिर्फ बारीकी से नजर रख रहे हैं बल्कि खुद चुनाव मैदान में उतर कर जमकर प्रचार भी कर रहे हैं. बीजेपी सूत्रों ने बताया है कि शाह सुबह से ही दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए कई बैठकों को बुला कर सक्रिय हो जाते हैं. यह सिलसिला कई बार रात दो-तीन बजे तक चलता है. वे लगातार दिल्ली बीजेपी (Delhi-BJP) और केंद्रीय नेताओं से संपर्क में रहते हैं.

  • दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस, JDU और आरजेडी 'झा' ब्राह्मणों के सहारे

    दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस, JDU और आरजेडी 'झा' ब्राह्मणों के सहारे

    विधानसभा चुनाव भले ही दिल्ली में होने जा रहा है, लेकिन वहां भी 'बिहार की धमक' सुनाई दे रही है। दिल्ली चुनाव में तीन दलों ने अपनी रणनीति पूरी तरह बिहार की तिकड़ी या यूं कहें कि 'झा तिकड़ी' के हवाले कर दी है. दिल्ली चुनाव में भाग्य आजमा रही कांग्रेस की चुनाव अभियान समिति की बागडोर जहां कांग्रेस के नेता और दरभंगा से पूर्व सांसद रहे कीर्ति झा आजाद के जिम्मे है, वहीं बिहार में सत्ताधारी जनता दल (युनाइटेड) ने दिल्ली का चुनाव प्रभारी बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय झा को बनाया है. यही नहीं, बिहार में मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने भी राज्यसभा सांसद मनोज झा को चुनाव प्रभारी बनाकर चुनावी मैदान में उतर रही है.

  • झारखंड के बाद दिल्ली के विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी के खिलाफ मैदान में होगी नीतीश की पार्टी

    झारखंड के बाद दिल्ली के विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी के खिलाफ मैदान में होगी नीतीश की पार्टी

    दिल्ली विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है. राष्ट्रीय राजधानी में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (AAP), भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस के बीच मुकाबला है. इस बीच जनता दल (यूनाइटेड) (JDU) भी चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी कर रही है. पार्टी ने फैसला किया है कि आगामी दिल्ली विधानसभा चुनाव वह अपने बलबूते लड़ेगी. बिहार में जद(यू) के वरिष्ठ नेता और बिहार सरकार में मंत्री संजय झा ने बताया है कि पार्टी नेतृत्व ने दिल्ली विधानसभा चुनाव पूरे दमखम से लड़ने का फैसला किया है. इस बाबत पार्टी ने रणनीति बना ली है. गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने दिल्ली में आठ फरवरी को विधानसभा चुनाव कराने की घोषणा की है, जिसके नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.

  • झारखंड की हार रघुवर दास से ज्यादा PM मोदी और अमित शाह के लिए क्यों है झटका? जानें वजह...

    झारखंड की हार रघुवर दास से ज्यादा PM मोदी और अमित शाह के लिए क्यों है झटका? जानें वजह...

    झारखंड विधानसभा चुनाव का परिणाम सोमवार को आया. शाम होते-होते मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस्तीफ़ा भी दे दिया. इसके साथ-साथ आने वाले दिनों में सीएम पद की शपथ लेने वाले हेमंत सोरेन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और रघुवर दास ने ट्विटर के माध्यम से बधाई भी दे दी. हेमंत सोरेन के लिए यह जीत इसलिए भी मायने रखती है कि उन्होंने इस चुनाव में न केवल रघुवर दास को हराया, साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह जिन्होंने चुनावी रणनीति और प्रचार की कमान संभाली थी उन्हें भी पटखनी दी.

  • प्रशांत किशोर ने मिलाया अरविंद केजरीवाल से हाथ, दिल्ली विधानसभा चुनाव में करेंगे साथ काम

    प्रशांत किशोर ने मिलाया अरविंद केजरीवाल से हाथ, दिल्ली विधानसभा चुनाव में करेंगे साथ काम

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने शनिवार सुबह इसकी जानकारी देते हुए एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, 'ये बताते हुए खुशी हो रही है कि इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (I-PAC) हमारे साथ आ रही है. आपका स्वागत है.' बताते चलें कि I-PAC प्रशांत किशोर की एजेंसी है, जो औपचारिक रूप से राजनीतिक दलों का चुनाव प्रचार करती है. यानी दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रशांत किशोर आम आदमी पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करेंगे.

  • ममता बनर्जी के लिए चुनावी रणनीति बनाएंगे PK? जानिये क्या हुआ JDU की बैठक में...

    ममता बनर्जी के लिए चुनावी रणनीति बनाएंगे PK? जानिये क्या हुआ JDU की बैठक में...

    नीतीश कुमार ने कहा कि मैंने पहले ही साफ कर दिया है कि ममता बनर्जी के साथ काम करने को लेकर प्रशांत किशोर खुद ही अपनी बात आपके सामने रखेंगे. वहीं जेडीयू के प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि जेडीयू का आई-पीएसी से कोई लेना देना नहीं है. यह जेडीयू का हिस्सा भी नहीं है. ऐसे सवाल तब क्यों नहीं पूछे गए जब प्रशांत किशोर जगनमोहन रेड्डी के लिए आंध्र प्रदेश चुनाव में काम कर रहे थे. 

  • क्या प्रशांत किशोर ममता बनर्जी के लिए बनाएंगे चुनावी रणनीति? नीतीश कुमार ने दिया यह जवाब...

    क्या प्रशांत किशोर ममता बनर्जी के लिए बनाएंगे चुनावी रणनीति? नीतीश कुमार ने दिया यह जवाब...

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने शनिवार को कहा कि उन्हें इस बात का पता नहीं है कि उनकी पार्टी जेडीयू (JDU) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के चुनावी कैंपेन की जिम्मेदारी संभालेंगे.

  • Tamil Nadu Election Results: रुझानों में DMK ने बनाई भारी बढ़त, AIADMK की हालत खराब

    Tamil Nadu Election Results: रुझानों में DMK ने बनाई भारी बढ़त, AIADMK की हालत खराब

    Tamil Nadu Election Results: मतगणना के दौरान जो रुझान सामने आए हैं उनमें एनडीए ने भले ही बाजी मारी हो लेकिन तमिलनाडु में अभी तक के आए आंकड़े हैरान करने वाले हैं. यहां AIADMK को बड़ा झटका लगा है और राज्य की 39 सीटों में से 35 सीटों पर DMK बढ़त बनाए हुए है.

  • Election 2019 : चुनाव परिणामों को लेकर जब सब तरफ चल रही उधेड़बुन, तब ममता बनर्जी अनोखे मूड में; देखें-VIDEO

    Election 2019 : चुनाव परिणामों को लेकर जब सब तरफ चल रही उधेड़बुन, तब ममता बनर्जी अनोखे मूड में; देखें-VIDEO

    लोकसभा चुनाव 2019 (Loksabha Elections 2019) के परिणामों (Lok Sabha Election Result 2019) की घोषणा गुरुवार को की हो जाएगी. करीब डेढ़ माह तक चले देश के इस सबसे बड़े चुनाव के दौरान पश्चिम बंगाल (West Bengal) लगातार चर्चा में रहा. इस प्रदेश ने चुनाव के दौरान हिंसा और तनाव के हालात सबसे ज्यादा देखे. लेकिन चुनाव के नतीजों से पहले तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) अलग ही मूड में दिखाई दीं. जब देश भर में दलों के नेता और कार्यकर्ता चुनावी नतीजों को लेकर माथापच्ची में लगे हैं और भावी रणनीति की उधेड़बुन में जुटे हैं, तब ममता बनर्जी सुरों के सागर में गोते लगा रही थीं.

  • Election Results: चुनावी नतीजों से पहले अरविंद केजरीवाल और अखिलेश यादव ने एक दूसरे को बताया साथ-साथ

    Election Results: चुनावी नतीजों से पहले अरविंद केजरीवाल और अखिलेश यादव ने एक दूसरे को बताया साथ-साथ

    Election Results: केजरीवाल (Arvind Kejriwal) और यादव  (Akhilesh Yadav)  ने 23 मई को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद की रणनीति पर विचार विमर्श किया. आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने बताया कि केजरीवाल और यादव ने टेलीफोन पर बात कर आगे की रणनीति पर चर्चा की. सिंह ने लखनऊ में यादव से मुलाकात के बाद बताया कि केजरीवाल ने सपा प्रमुख के साथ टेलीफोन पर भविष्य की रणनीति पर चर्चा की.

  • लोकसभा चुनाव 2019 : खास रणनीति के तहत चला बीजेपी के इस 'महा स्टार प्रचारक' का चुनावी अभियान

    लोकसभा चुनाव 2019 : खास रणनीति के तहत चला बीजेपी के इस 'महा स्टार प्रचारक' का चुनावी अभियान

    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) में बीजेपी (BJP) ने मतदाताओं को 'वश' में करने के लिए कई स्टार प्रचारकों को चुनाव अभियान के मैदान में उतारा. इनमें पार्टी के दिग्गज नेताओं के साथ-साथ फिल्मी सितारे भी शामिल हैं. लेकिन इन सबके बावजूद बीजेपी के 'महा स्टार प्रचारक' पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ही रहे जिनकी अंतिम चरण के मतदान से पहले 17 मई तक करीब 140 रैलियां और रोड शो हो चुकेंगे. पीएम मोदी के चुनाव प्रचार (Election campaign) अभियान में एक खास रणनीति अपनाई गई जिससे बीजेपी संभावित नुकसान की भरपाई करना चाहती है.

  • मध्य प्रदेश : मोदी का चेहरा और नई रणनीति, क्या बीजेपी बचा पाएगी अपनी सीटें

    मध्य प्रदेश : मोदी का चेहरा और नई रणनीति, क्या बीजेपी बचा पाएगी अपनी सीटें

    पश्चिमी मध्यप्रदेश के मालवा-निमाड़  अंचल में भाजपा अपने गंवाये गढ़ को दोबारा हासिल करने के लक्ष्य के साथ चुनावी मैदान में है जहां की कुल आठ लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों की हार-जीत में दलित, आदिवासी और किसान तबके के मतदाता निर्णायक भूमिका अदा करते हैं. सूबे में नवंबर 2018 में हुए पिछले विधानसभा चुनावों की हार के ताजा जख्मों के मद्देनजर भाजपा ने इस अंचल में बड़ी सर्जरी करते हुए अपने कब्जे वाली सात में से पांच लोकसभा सीटों पर चुनावी चेहरे बदल दिये हैं. भाजपा ने उज्जैन (अनुसूचित जाति के लिये आरक्षित) से निवर्तमान सांसद चिंतामणि मालवीय की जगह पूर्व विधायक अनिल फिरोजिया, धार (अनुसूचित जनजाति के लिये आरक्षित) से निवर्तमान सांसद सावित्री ठाकुर की जगह पूर्व सांसद छतरसिंह दरबार, इंदौर से सतत आठ बार की सांसद और निवर्तमान लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की जगह इंदौर विकास प्राधिकरण के पूर्व चेयरमैन शंकर लालवानी और खरगोन (अनुसूचित जनजाति के लिये आरक्षित) से निवर्तमान सांसद सुभाष पटेल की जगह भाजपा के अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष गजेंद्र पटेल को टिकट दिया है.   

  • बिहार में चुनावी रैलियों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मंच साझा करेंगे तेजस्वी यादव

    बिहार में चुनावी रैलियों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मंच साझा करेंगे तेजस्वी यादव

    तेजस्वी ने इसे रणनीति का एक हिस्सा बताते हुए कहा कि हमें (महागठबंधन के नेताओं) चुनाव प्रचार के दौरान अधिक से अधिक स्थानों को कवर करना चाहिए. उन्होंने 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव का उदाहरण देते हुए कहा कि यही बात उस दौरान भी कही जा रही थी क्योंकि लालू प्रसाद, राहुल गांधी और नीतीश कुमार मंच साझा नहीं कर रहे थे.

  • बीजेपी की नई रणनीति, हिंदुत्व का नया स्वरूप

    बीजेपी की नई रणनीति, हिंदुत्व का नया स्वरूप

    लोकसभा चुनाव के लिए दूसरे चरण का मतदान खत्म होते ही बीजेपी ने भी अपनी चुनावी रणनीति का दूसरा चरण शुरू कर दिया है. यह वह चरण है जिसमें बीजेपी अपने तरकश में मौजूद हर तीर का इस्तेमाल कर रही है. इसे हिंदुत्व 2.0 का नाम दिया गया है. यानी मोदी-शाह का वह हिंदुत्व जो वाजपेयी-आडवाणी के हिंदुत्व से बिल्कुल अलग है. तब मंदिर मंडल का दौर था तो इस दौर में मंदिर और मंडल को मिलाकर हिंदुत्व का नया रूप तैयार किया गया है. यह आक्रामक हिंदुत्व है जो खुलकर ध्रुवीकरण करता है.

  • लोकसभा चुनाव : पीएम मोदी या राहुल गांधी नहीं, चुनाव के असली खिलाड़ी तो कोई और ही हैं

    लोकसभा चुनाव :  पीएम मोदी या राहुल गांधी नहीं, चुनाव के असली खिलाड़ी तो कोई और ही हैं

    लोकसभा चुनाव के समर में उतर रहे उम्मीदवार जहां अर्जुन की आंख की तरह अपनी सीट पर नजरें गड़ाए वोटरों को लुभाने की हर संभव कोशिश में लगे हैं, वहीं इस दंगल में योद्धाओं का एक और दल भी है जो पर्दे के पीछे रहकर चुनावी आंकड़ों को खंगाल रहे हैं, मौजूदा रुझानों का आकलन कर रहे हैं, विश्लेषण कर रहे हैं, मंथन कर रहे हैं और रणनीति बना रहे हैं. लेकिन अपने लिए नहीं, बल्कि अपने क्लाइंट्स के लिए. ये राजनीतिक सलाहकार या राजनीतिक रणनीतिकार हैं जो रोज 12-14 घंटे काम कर रहे हैं और अपने क्लाइंट्स की जीत सुनिश्चित करने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं.

  • Elections 2019: बीजेपी के सामने मध्‍यप्रदेश में अपने 3 'मजबूत किलों' को बचाए रखने की चुनौती..

    Elections 2019: बीजेपी के सामने मध्‍यप्रदेश में अपने 3 'मजबूत किलों'  को बचाए रखने की चुनौती..

    LokSabhaPolls2019: राजनीतिक विश्‍लेषक चुनावी रण में बीजेपी को इस बार कड़े मुकाबला मिलने की उम्‍मीद जता रहे हैं. इसके पीछे कारण भी हैं, इस बार 'मोदी लहर' 2014 के चुनावों की तरह पावरफुल नहीं है. विपक्षी पार्टियों ने भी इस बार गठबंधन करते हुए एनडीए के अश्‍वमेघ यज्ञ पर 'लगाम' लगाने की रणनीति बनाई है. देश के सबसे बड़े राज्‍य यूपी में भी बीजेपी को सपा-बसपा के गठबंधन से कठिन चुनौती मिलती नजर आ रही है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com