NDTV Khabar

जन्मदिन पर विशेष


'जन्मदिन पर विशेष' - 37 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • जन्मदिन पर विशेष : राष्ट्रगान लिखने वाला कविगुरु राष्ट्रवाद के विरुद्ध था

    जन्मदिन पर विशेष : राष्ट्रगान लिखने वाला कविगुरु राष्ट्रवाद के विरुद्ध था

    जब हर तरफ़ राष्ट्रवाद का शोर है, राष्ट्रगान गाने पर ज़ोर है, तब रवींद्रनाथ टैगोर को याद करने का एक ख़ास मतलब है. टैगोर संभवतः दुनिया के अकेले कवि हैं जिनकी रचनाओं को दो-दो देशों ने अपने राष्ट्रगान की तरह अपनाया. भारत के अलावा बांग्लादेश का राष्ट्रगान भी उनकी ही रचना है. यही नहीं, श्रीलंका का राष्ट्रगान भी जिस आनंद समरकून ने लिखा, वे टैगोर के शिष्य थे- उन्होंने विश्व भारती से पढ़ाई की थी. कई लोगों का मानना है कि जिस गीत को श्रीलंका का राष्ट्रगान बनाया गया है, उसका संगीत टैगोर ने ही तैयार किया था.

  • वाराणसी को पीएम मोदी ने दी 557 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात, कहा- नॉलेज सेंटर बनेगी काशी, 20 बड़ी बातें

    वाराणसी को पीएम मोदी ने दी  557 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात, कहा- नॉलेज सेंटर बनेगी काशी, 20 बड़ी बातें

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीएचयू के एम्फी थियेटर में जनसभा को संबोधित कर काशीवासियों को उनके क्षेत्र में चल रही परियोजनाओं की जानकारी दी. अपने दो दिन के दौरे में उन्होंने वह विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण किया. जिसमें अटल इन्क्यूबेशन सेंटर, नागपुर ग्राम पेयजल योजना के अलावा पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की विभिन्न परियोजनाएं शामिल हैं. साथ ही बीएचयू में बनने वाले वेद विज्ञान केंद्र व रीजनल इंस्टीट्यूट आफ ऑप्थेल्मोलाजी का शिलान्यास किया. आपको बता दें कि पीएम मोदी 17 सितंबर यानी अपने जन्मदिन पर वाराणसी के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे और काशी विद्यापीठ ब्लाक के नरउर पहुंचकर और प्राथमिक पाठशाला के बच्चों के बीच केक काटकर अपना 68वां जन्मदिन मनाया. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में कमल के फूल चढ़ाये और दुग्धाभिषेक किया और विशेष पूजा-अर्चना की. पीएम मोदी ने अपने दौरे के दौरान योजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास के जरिए संसदीय क्षेत्र काशी की जनता को 557.40 करोड़ रुपये की सौगात दी है. इनमें 486.21 करोड़ के 10 लोकार्पण और 71.18 करोड़ रुपये के तीन शिलान्यास शामिल हैं.

  • जन्मदिन विशेष: बीजेपी में 'राम-लक्ष्मण की जोड़ी' के बीच ऐसे बने थे राजनाथ सिंह अध्यक्ष, पढ़ें सियासी सफर

    जन्मदिन विशेष: बीजेपी में 'राम-लक्ष्मण की जोड़ी' के बीच ऐसे बने थे राजनाथ सिंह अध्यक्ष, पढ़ें सियासी सफर

    भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह सियासत के काफी माहिर खिलाड़ी रहे हैं. सियासत में इनके रसूख का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अटल-आडवाणी के दौर में भी राजनाथ सिंह की तूती बोलती थी और आज जब मोदी-अमित शाह का दौर है, तब भी वह गृह मंत्री के रूप में सत्ता में नबंर दो की कुर्सी पर काबिज हैं. राजनाथ सिंह को राजनीति में काफी सुलझे हुए राजनेता के रूप में जाना जाता है. राजनाथ सिंह की जितनी भारतीय जनता पार्टी में लोकप्रियता है, उतनी ही बीजेपी की मातृ संगठन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ यानी आरएसएस में स्वीकार्यता है. यही वजह है कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी के बाद बीजेपी अध्यक्ष के रूप में किसी की ताजपोशी की बारी आई, तो राजनाथ सिंह को ही इस पद के लिए सबसे योग्य चुना गया. खास बात है कि अटल बिहारी वाजपेयी और लाल कृष्ण आडवानी सरीखे ही राजनाथ सिंह भी बीजेपी के दो बार अध्यक्ष रह चुके हैं. आज इनके बारे में जानना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि आज राजनाथ सिंह 67 साल के हो गये हैं. 

  • दलाई लामा के 83वें जन्मदिन पर लेह में हुईं विशेष प्रार्थनाएं

    दलाई लामा के 83वें जन्मदिन पर लेह में हुईं विशेष प्रार्थनाएं

    जम्मू एवं कश्मीर के लेह जिले में तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा के शुक्रवार को जन्मदिन के मौके पर विशेष प्रार्थनाओं का आयोजन किया गया. यहां दलाई लामा ने प्रार्थनाओं में शिरकत की और लोगों को आशीर्वाद दिया.

  • परेश रावल ने आज भी संभाल कर रखी है सुनील दत्त की चिट्ठी, पढ़ें पूरी दास्तां

    परेश रावल ने आज भी संभाल कर रखी है सुनील दत्त की चिट्ठी, पढ़ें पूरी दास्तां

    उनका मानना है कि यह किरदार निभाना उनके भाग्य में निहित था. उनका कहना है कि उन्हें एक बार अपने जन्मदिन पर एक पत्र मिला था और इसे अभिनेता संजय दत्त के पिता सुनील दत्त ने लिखा था. परेश ने कहा, "मेरे साथ सुनील दत्त का बहुत ही विशेष संबंध है. 25 मई 2005 को मुंबई में मैंने 'फिल्म दीवाने हुए पागल' के लिए कुछ पैचवर्क किया था.

  • आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा: जन्मदिन पर मोदी सरकार के विरोध में भूख हड़ताल पर बैठे चंद्रबाबू नायडू

    आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा: जन्मदिन पर मोदी सरकार के विरोध में भूख हड़ताल पर बैठे चंद्रबाबू नायडू

    आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार द्वारा आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने से मना करने के विराध में 20 अप्रैल यानी कि आज एक दिन का उपवास रख रहे हैं. सीएम चंद्रबाबू नायडू भूख हड़ताल पर बैठने के लिए निर्धारित स्थल पर पहुंच चुके हैं और वह विजयवाड़ा में एक दिन के उपवास पर बैठ गये हैं. तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के अध्यक्ष अपने 68वें जन्म दिवस पर विरोध प्रदर्शन कर केंद्र सरकार पर 2014 में आंध्रप्रदेश के बंटवारे के समय किए सभी वादों को पूरा करने का दबाव बनाएंगे. 

  • जन्मदिन पर इमोशनल हुए Aamir Khan, बोले- जो भी हूं इनकी वजह से हूं...

    जन्मदिन पर इमोशनल हुए Aamir Khan, बोले- जो भी हूं इनकी वजह से हूं...

    53वें जन्मदिन के मौके पर बॉलीवुड सुपरस्टार आमिर खान ने अपनी डिजिटल दुनिया को और बड़ा कर लिया है. उन्होंने अपने जन्मदिन के विशेष मौके पर इंस्टाग्राम की दुनिया में अपना पहला कदम रखा.

  • Viral Video: फैन्स ने इस अंदाज में Hrithik Roshan को दी 44वें जन्मदिन की बधाई

    Viral Video: फैन्स ने इस अंदाज में Hrithik Roshan को दी 44वें जन्मदिन की बधाई

    अभिनेता ऋतिक रोशन आज अपना जन्मदिन मना रहे है और ऐसे में उनके प्रशंसकों ने ट्विटर पर एक विशेष वीडियो साझा कर अभिनेता को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी.

  • ..जब इस भारतीय बल्लेबाज ने किया प्रथम श्रेणी क्रिकेट का 'सबसे बड़ा धमाका'!

    ..जब इस भारतीय बल्लेबाज ने किया प्रथम श्रेणी क्रिकेट का 'सबसे बड़ा धमाका'!

    यूं तो भारतीय क्रिकेटरों ने एक से बढ़कर एक रिकॉर्ड अपनी झोली में डाले हैं, लेकिन एक बल्लेबाज ने ऐसा बड़ा धमाका किया कि पूरी दुनिया ने दांत तले उंगली दबा ली. एक ऐसा रिकॉर्ड जो कई सालों के भीतर भी नहीं बनता. एक ऐसा रिकॉर्ड जिसे सोचकर नहीं बनाया जा सकता. और कुछ ऐसा ही हुआ करीब सात साल पहले 6 फरवरी 2010 के दिन. वास्तव में इस रिकॉर्ड को तोड़ना किसी भी दिग्गज बल्लेबाज के लिए एवरेस्ट पर चढ़ने से कम साबित नहीं होगा. और दावे के साथ यह भी नहीं कहा जा सकता कि यह रिकॉर्ड कब टूटेगा, या इसे कौन तोड़ेगा क्योंकि ये रिकॉर्ड दिन विशेष पर खुद ही खद बन जाते हैं. शुक्रवार को इस बल्लेबाज का जन्मदिन है.

  • 29 के हुए लालू यादव के बेटे तेजस्वी, मध्यरात्रि को काटा केक

    29 के हुए लालू यादव के बेटे तेजस्वी, मध्यरात्रि को काटा केक

    बिहार विधान सभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव 29 साल के हो गए. मध्यरात्रि में केक काटकर उन्होंने अपना जन्मदिन मनाया. सोशल मीडिया पर मध्यरात्रि के फ़ोटो के अनुसार तेजवस्वी ने अपने बड़े भाई तेजप्रताप यादव के पैर छू कर आशीर्वाद लिया. तेजप्रताप यादव ने गुरुवार को उनके लिए विशेष पूजा अर्चना करने की घोषणा की हैं. 

  • जन्मदिन पर विशेष : टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली से जुड़ी 11 खास बातें....

    जन्मदिन पर विशेष : टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली से जुड़ी 11 खास बातें....

    सचिन तेंदुलकर के बाद कौन...? मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर के क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद यह सवाल भारतीय क्रिकेट जगत में उभरकर आया था. टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली ने अपने बल्‍ले से जोरदार प्रदर्शन करते हुए इस प्रश्‍न का जवाब बखूबी दे दिया है. विराट को इस समय सचिन के बाद टीम इंडिया का सबसे बड़ा खिलाड़ी माना जा रहा है. क्रिकेट जगत में यह चर्चा आम है कि 5 नवंबर को 29 वर्ष के होने वाले विराट कोहली जल्‍द ही सचिन तेंदुलकर के कई रिकॉर्ड्स को अपने नाम पर कर सकते हैं.

  • जन्मदिन विशेष: डॉक्टर कलाम के यह 10 प्रेरणादायी कोट हमेशा याद रहेंगे 

    जन्मदिन विशेष: डॉक्टर कलाम के यह 10 प्रेरणादायी कोट हमेशा याद रहेंगे 

    देश के 11वें राष्ट्रपति अबुल पकिर जैनुलाअबदीन अब्दुल कलाम यानी डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का आज जन्मदिन है. डॉ. कलाम साल 2002 में  देश के राष्ट्रपति चुने गए थे. डॉ. कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम में हुआ था. 27 जुलाई 2015 को उन्होंने सिलॉन्ग में आखिरी सांस ली. पूर्व राष्ट्रपति डॉ. कलाम को बच्चों से खास लगाव था. कलाम को मिसाइल मैन और जनता के राष्ट्रपति के नाम से जाना जाता था. उनके प्रेरक बोल आज भी लोगों के जीवन में बड़ी प्रेरणा का काम करते हैं. एक मछुआरे के बेटे का दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का राष्ट्रपति बन जाना यूं ही नहीं हुआ होगा, इसके लिए अथक परिश्रम और पॉजिटिव सोच रही होगी, जिसे उन्होंने पग-पग पर जीवन में उतारा. डॉक्टर कलाम का एक प्रेरक कोट है, सपने वो नहीं होते जो आप सोने के बाद देखते हैं, सपने तो वो होते हैं जो आपको सोने नहीं देते.' आईये उनके जन्मदिन के अवसर पर कलाम के कुछ ऐसे ही प्रेरक कोट के बारे में जानते हैं...

  • बर्थडे पर विशेष क्विज़ : बेहतरीन कॉमेडियन महमूद को कितना जानते हैं आप...

    बर्थडे पर विशेष क्विज़ : बेहतरीन कॉमेडियन महमूद को कितना जानते हैं आप...

    कहा जाता है, एक वक्त ऐसा था, जब आमतौर पर कॉमेडियन के रूप में फिल्म में नज़र आने वाले महमूद को कई तत्कालीन नायकों से भी ज़्यादा मेहनताना दिया जाता था, और उनकी लोकप्रियता का आलम यह था कि फिल्म के पोस्टर में भी उनका चेहरा हीरो जितना ही बड़ा, या कभी-कभी उससे भी बड़ा रखा जाता था...

  • मनमोहन सिंह के नाम पर दर्ज हैं ये 5 बड़ी उपलब्धियां, जिनके लिए हम हैं उनके शुक्रगुजार!

    मनमोहन सिंह के नाम पर दर्ज हैं ये 5 बड़ी उपलब्धियां, जिनके लिए हम हैं उनके शुक्रगुजार!

    22 मई 2004 को देश के पहले सिख पीएम बनकर प्रधानमंत्री पद का कार्यभार संभालने वाले डॉक्टर मनमोहन सिंह आर्थिक सुधारों के जनक कहे जाते रहे हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं उनके नाम दर्ज उपलब्धियां उनके पीएम बनने के बाद की ही नहीं बल्कि उससे पहले की भी हैं?

  • जन्मदिन विशेष: 'लापतागंज' वाले शरद जोशी ने यूं दिलाई हिन्दी व्यंग्य को प्रतिष्ठा...

    जन्मदिन विशेष: 'लापतागंज' वाले शरद जोशी ने यूं दिलाई हिन्दी व्यंग्य को प्रतिष्ठा...

    हिंदी के प्रमुख व्यंग्यकार शरद जोशी को हो सकता है, कम लोग जानते हों. यह भी संभव है कि नई पीढ़ी उनसे बिल्कुल अनजान हो, लेकिन उनकी व्यंग्यात्मक कहानियों पर आधारित धारावाहिक 'लापतागंज' से सभी वाकिफ होंगे, जिसका प्रसारण मनोरंजन चैनल 'सब' पर किया गया.

  • जन्मदिन पर विशेष: हिंदी काव्य की नई धारा के प्रवर्तक सुमित्रानंदन पंत को पसंद नहीं था अपना नाम...

    जन्मदिन पर विशेष: हिंदी काव्य की नई धारा के प्रवर्तक सुमित्रानंदन पंत को पसंद नहीं था अपना नाम...

    बचपन में उन्हें सब 'गुसाईं दत्त' के नाम से जानते थे. माता के निधन के बाद वह अपनी दादी के पास रहते थे.

  • जन्मदिन पर विशेष: जीवन के प्रति नई समझ और दिशा देते हैं रस्किन बॉन्ड के ये 10 कोट्स

    जन्मदिन पर विशेष: जीवन के प्रति नई समझ और दिशा देते हैं रस्किन बॉन्ड के ये 10 कोट्स

    वे हमेशा ही कम उम्र के अपने पाठकों को पुस्तकों को अपना सबसे अच्छा दोस्त बनाने और अधिक से अधिक पुस्तकें पढ़ने की सलाह देते हैं.

  • हनुमान जयंती आज, सैकड़ों साल बाद बन रहे हैं ये विशेष योग, जानिए क्या हैं मान्यताएं

    हनुमान जयंती आज, सैकड़ों साल बाद बन रहे हैं ये विशेष योग, जानिए क्या हैं मान्यताएं

    बजरंग बली धीर-वीर परम रामभक्त हनुमान जी के भक्तों के लिए भगवान हनुमान का जन्मदिन यानी उनकी जयंती विशेष महत्त्व रखती है. पंडितों और ज्योतिषियों की मानें तो इस साल की हनुमान जयंती विशेष महत्त्वपूर्ण है. बताया जा रहा है कि 120 सालों के बाद बाद इस साल की हनुमान जयंती पर बड़े ही खास संयोग बन रहे हैं. इसलिए इस दिन हनुमानजी की पूजा-अर्चना से भक्तों पर ख़ास अनुकम्पा होगी.