NDTV Khabar

तेलंगाना विधानसभा चुनाव


'तेलंगाना विधानसभा चुनाव' - 114 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • NEWS FLASH: तेलंगाना की अदालत ने तीन नाबालिगों से रेप और उनकी हत्या के मामले में 28 वर्षीय व्यक्ति को मौत की सजा सुनाई

    NEWS FLASH: तेलंगाना की अदालत ने तीन नाबालिगों से रेप और उनकी हत्या के मामले में 28 वर्षीय व्यक्ति को मौत की सजा सुनाई

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • EVM स्ट्रॉन्ग रूम पर खुद का ताला लगाना चाहते हैं BJP उम्मीदवार, जानें क्या है वजह

    EVM स्ट्रॉन्ग रूम पर खुद का ताला लगाना चाहते हैं BJP उम्मीदवार, जानें क्या है वजह

    तेलंगाना की 17 लोकसभा सीटों पर 11 अप्रैल को 62.69 प्रतिशत मतदान हुआ. इस चरण में पूर्व केन्द्रीय मंत्री रेणुका चौधरी और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन औवेसी चुनाव लड़ रहे थे. खम्मम में 75.28 जबकि हैदराबाद में 44.75 प्रतिशत मतदान हुआ. औवेसी हैदराबाद से ही चुनाव लड़ रहे थे. निजामाबाद लोकसभा सीट पर 68.33 प्रतिशत मतदान हुआ. 170 किसानों समेत 185 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे थे. 2014 में अविभाजित आंध्र प्रदेश विधानसभा और लोकसभा चुनाव में 70.75 प्रतिशत मतदान हुआ था.

  • लोकसभा चुनाव : बंगाल में सबसे ज्यादा मतदान, बिहार में सबसे कम, पहले चरण के मतदान की 10 बड़ी बातें

    लोकसभा चुनाव : बंगाल में सबसे ज्यादा मतदान, बिहार में सबसे कम, पहले चरण के मतदान की 10 बड़ी बातें

    लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिये बृहस्पतिवार को 20 राज्यों की 91 सीटों के लिये मतदान लगभग शांति पूर्ण रहा. हालांकि, कुछ राज्यों से छिटपुट हिंसा की खबरें सामने आईं. शाम पांच बजे तक के आंकड़ों के अनुसार सबसे कम बिहार में 50 प्रतिशत और पश्चिम बंगाल में 81 प्रतिशत मतदान हुआ. वहीं उत्तर प्रदेश के चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पहले चरण के चुनाव में मतदान का स्तर सामान्य रहा. सिन्हा ने कहा कि अंतिम आंकड़े आने तक यह स्तर पिछले चुनाव की तुलना में लगभग बराबर ही होगा. उन्होंने कहा कि सभी 20 राज्यों की मतदान वाली सीटों पर सामान्य रूप से शांतिपूर्ण मतदान रहा. कुछ इलाकों में हिंसा और बाधा पहुंचाने की शिकायतें जरूर मिली जिन्हें तत्काल दूर कर दिया गया. उन्होंने बताया कि पहले चरण में 91 सीटों पर कुल 1239 उम्मीदवार चुनाव मैदान में है. आंध्र प्रदेश की 25 लोकसभा और 175 विधानसभा सीटों पर शाम छह बजे तक 74 प्रतिशत मतदान हुआ और तेलंगाना की 17 सीटों पर 60 प्रतिशत मतदान हुआ. जबकि संयुक्त आंध्र प्रदेश में 2014 के चुनाव में 76.64 प्रतिशत मतदान हुआ था.

  • 1st Phase Lok Sabha Elections 2019 : लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान और 10 बड़ी बातें

    1st Phase Lok Sabha Elections 2019 : लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान और 10 बड़ी बातें

    17वीं लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान जारी है. 545 सीटों में से 91 सीटों के लिए आज वोट डाले जाएंगे. इनमें 18 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेश शामिल हैं. आंध्र और तेलंगाना समेत 8 राज्यों में आज ही वोटिंग पूरी हो जाएगी. पहले चरण में क़रीब 14 करोड़ मतदाता 1279 उम्मीदवारों की क़िस्मत का फ़ैसला करेंगे. इस चरण में 1190 पुरुष और 89 महिला उम्मीदवार मैदान में हैं. नितिन गडकरी, किरेन रिजीजू, हंसराज अहीर, सत्यपाल सिंह, महेश शर्मा, वीके सिंह, चिराग पासवान, अजय टम्टा समेत कई दिग्गज उम्मीदवारों की क़िस्मत आज ईवीएम में क़ैद हो जाएगी. आंध्र, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में आज ही विधानसभा चुनाव के लिए भी वोटिंग है.. शांतिपूर्ण मतदान के लिए कड़े सुरक्षा इंतज़ाम किए गए हैं. यह पहला मौक़ा है जब सभी पोलिंग बूथ पर VVPAT का इस्तेमाल हो रहा है.. सात चरणों के मतदान के बाद 23 मई को नतीजे आएंगे.

  • लोकसभा चुनाव : क्या मायावती बन पाएंगी इस बार देश की पहली दलित प्रधानमंत्री?

    लोकसभा चुनाव : क्या मायावती बन पाएंगी इस बार देश की पहली दलित प्रधानमंत्री?

    बीएसपी सुप्रीमो मायावती खुद को पीएम पद का उम्मीदवार मानती हैं. उनका कहना है कि अगर केंद्र में सरकार चलाने का मौका मिला तो वह उत्तर प्रदेश की तर्ज पर देश का विकास करेंगी. यह बात उन्होंने विशाखापत्तनम में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही है. लेकिन इन सब के बीच एक बात जानकर हैरानी होगी की अब पहले चरण का मतदान होने में सिर्फ 5 ही दिन बचे हैं और उत्तर प्रदेश की चार बार मुख्यमंत्री रहीं मायावती की एक भी रैली राज्य में नहीं हुई हैं. उन्होंने अब तक चार रैलियों को संबोधित किया है जिनमें ओडिशा, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र और तेलंगाना हैं.

  • लोकसभा चुनाव 2019 में तीसरा मोर्चा बनाने के लिए के. चंद्रशेखर राव ने स्पेशल एयरक्राफ्ट लिया किराए पर

    लोकसभा चुनाव 2019 में तीसरा मोर्चा बनाने के लिए के. चंद्रशेखर राव ने स्पेशल एयरक्राफ्ट लिया किराए पर

    तेलंगाना विधानसभा चुनाव  में एकतरफ़ा जीत के बाद टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव (केसीआर) अब तीसरे मोर्चे की तैयारी में जुट गए हैं. ग़ैर-बीजेपी और ग़ैर-कांग्रेसी मोर्चे की कवायद में उन्होंने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से मुलाक़ात की.

  • के चंद्रशेखर राव ने दूसरी बार संभाली तेलंगाना की कमान, ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

    के चंद्रशेखर राव ने दूसरी बार संभाली तेलंगाना की कमान, ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

    तेलंगाना विधानसभा चुनाव में शानदार जीत दर्ज करने वाली पार्टी टीआरएस के मुखिया के चंद्रशेखर राव ने दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली.

  • तेलंगाना चुनाव : हैदराबाद में एआईएमआईएम का कब्जा बरकरार, सात सीटें फिर जीत लीं

    तेलंगाना चुनाव : हैदराबाद में एआईएमआईएम का कब्जा बरकरार, सात सीटें फिर जीत लीं

    एआईएमआईएम का हैदराबाद पर कब्जा बरकरार रहा है. उसने अपनी सातों विधानसभा सीटें फिर से जीत ली हैं. यह सभी सीटें हैदराबाद की हैं.

  • तेलंगाना में मिली हार तो कांग्रेस ने फिर गाया 'EVM राग', चुनाव आयोग से की यह मांग...

    तेलंगाना में मिली हार तो कांग्रेस ने फिर गाया 'EVM राग', चुनाव आयोग से की यह मांग...

    तेलंगाना विधानसभा चुनावों में ईवीएम (EVM) में गड़बड़ी किए जाने का संदेह व्यक्त करते हुए कांग्रेस की प्रदेश इकाई ने वीवीपीएटी की सभी पर्चियों की गिनती की मांग की. सत्ताधारी टीआरएस के हाथों मिली बड़ी हार के बाद तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एन. उत्तम कुमार रेड्डी ने यह दावा भी किया कि चुनाव आयोग ने वीवीपीएटी की सभी पर्चियों की गिनती कराने की पार्टी की मांग स्वीकार करने से इनकार कर दिया. 

  • तेलंगाना चुनाव : केसीआर के भतीजे ने रिकार्ड जीत हासिल की, 1.20 लाख मतों से विजयी

    तेलंगाना चुनाव : केसीआर के भतीजे ने रिकार्ड जीत हासिल की, 1.20 लाख मतों से विजयी

    तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव (केसीआर) के भतीजे टी हरीश राव ने मंगलवार को तेलंगाना विधानसभा चुनाव में सिद्दीपेट सीट से 1.20 लाख मतों के अंतर से जीत दर्ज की. केसीआर मंत्रिमंडल में सिंचाई मंत्री रहे हरीश ने तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भवानी मरिकांति को कुल 1,20,650 मतों के अंतर से हराया.

  • Telangana Vidhan Sabha Chunav Result 2018: अकेले दम पर PM मोदी, राहुल, सीएम नायडू और ओवैसी को धो डाला इस शख्स ने, 10 बातें

    Telangana Vidhan Sabha Chunav Result 2018: अकेले दम पर PM मोदी, राहुल, सीएम नायडू और ओवैसी को धो डाला इस शख्स ने, 10 बातें

    कांग्रेस के साधारण कार्यकर्ता के रूप में लगभग गुमनामी में सियासी सफर की शुरूआत से तेलंगाना गौरव का चेहरा बनने तक के. चंद्रशेखर राव ने राजनीति की तेज लहरों पर बड़े सधे अंदाज में अपनी चुनावी नैया पार की है. उन्होंने कांग्रेस को झुकने पर मजबूर करके अलग तेलंगाना राज्य के गठन में सफलता भी हासिल की. अलग तेलंगाना राज्य के दशकों पुराने एकमात्र स्वप्न को साकार करने के लिए बनी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की मंगलवार को घोषित परिणामों में जबरदस्त जीत के बाद केसीआर के नाम से लोकप्रिय के. चंद्रशेखर राव (64) ने देश के सबसे नये राज्य का सबसे ऊंचे कद वाला नेता होने का अपना दावा बरकरार रखा है. जून 2014 में तेलंगाना के गठन के बाद से हुए पहले विधानसभा चुनाव में मिली यह सफलता उनके लिए राष्ट्रीय राजनीति में बड़ी भूमिका निभाने की उनकी आकांक्षा को मूर्त रूप देने में अत्यंत महत्वपूर्ण साबित हो सकती है.

  • विधानसभा चुनाव : तीन राज्यों में बल्ले-बल्ले कर रही कांग्रेस तेलंगाना में चारों खाने चित

    विधानसभा चुनाव : तीन राज्यों में बल्ले-बल्ले कर रही कांग्रेस तेलंगाना में चारों खाने चित

    कांग्रेस ने छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में भले ही बेहतर प्रदर्शन किया लेकिन तेलंगाना के विधानसभा चुनाव में उसे शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा है. तेलंगाना में कांग्रेस के कई दिग्गज नेता पराजित हो गए हैं.

  • Election Commission Of India Assembly Polls Results: राजस्थान, मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना चुनाव के नतीजे यहां देखें

    Election Commission Of India Assembly Polls Results: राजस्थान, मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना चुनाव के नतीजे यहां देखें

    Vidhan Sabha Results Live Updates: चुनाव आयोग (Election Commission Of India) ने पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे जारी करना शुरू कर दिया है. कांग्रेस ने बीजेपी से राजस्थान और छत्तीसगढ़ छीन लिया है. वहीं, मध्यप्रदेश में अब भी पेंच फंसा हुआ है. दूसरी तरफ तेलंगाना में पूर्व मुख्यमंत्री और के. चंद्रशेखर राव की पार्टी टीआरएस को बहुमत मिल गया है. टीआरएस ने 80 से ज्यादा सीटों पर बढ़त बनाई हुई है. मिजोरम में शुरुआत से ही एमएनएफ ने बढ़त बनाई हुई है, जबकि कांग्रेस पिछड़ी हुई दिख रही है. कुल मिलाकर अभी तक के रुझानों में बीजेपी के लिए झटका है. कांग्रेस को जहां लगता था कि सत्ता विरोधी लहर का फायदा उठाकर वह मध्य प्रदेश और राजस्थान में बीजेपी को साफ कर देगी लेकिन ऐसा नहीं हो पाया, लेकिन छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को सफलता मिली है. देखने वाली बात यह है कि लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले आए इन चुनाव परिणामों का देश की राजनीति पर क्या असर पड़ता है. 

  • तेलंगाना: KCR की इस चाल ने कर दिया कमाल, दांव खेलकर कांग्रेस-भाजपा को किया चित

    तेलंगाना: KCR की इस चाल ने कर दिया कमाल, दांव खेलकर कांग्रेस-भाजपा को किया चित

    रुझानों के आंकड़ों के मुताबिक 119 सीटों में से 86 सीटों पर टीआरएस आगे बनी हुई है. पिछले बार की बजाय इस बार टीआरएस को 23 सीटों का फायदा होता दिख रहा है. वहीं कांग्रेस की बात करें उसने 22 सीटों पर बढ़त बना रखी है. यहां कांग्रेस को 15 सीटों का नुकसान दिख रहा है. भाजपा केवल दो सीटों पर अपनी बढ़त बनाए हुए है. भाजपा को भी तीन सीटों का नुकसान होता हुआ दिखा रहा है. वहीं अन्य के खाते में 9 सीटें जा सकती हैं.

  • आखिरकार राहुल गांधी की मेहनत लेकर आई रंग? कुछ हफ्तों में की थी 82 रैलियां

    आखिरकार राहुल गांधी की मेहनत लेकर आई रंग? कुछ हफ्तों में की थी 82 रैलियां

    कांग्रेस के महासचिव अशोक गहलोत का कहना है कि इन चुनावों में खासकर राजस्थान में पार्टी के अच्छे प्रदर्शन का श्रेय राहुल गांधी के नेतृत्व को जाता है. मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के चुनाव प्रचार अभियान से जुड़े पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी के मुताबिक, राहुल गांधी ने 7 अक्टूबर को चुनाव आयोग द्वारा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करने के बाद सबसे अधिक 25 जनसभाएं मध्य प्रदेश में कीं. उन्होंने मध्य प्रदेश में 4 रोड शो भी किए. इसके अलावा उन्होंने राजस्थान और छत्तीसगढ़ में 19-19 चुनावी सभाओं को संबोधित किया. वहीं राजस्थान में 2 और छत्तीसगढ़ में एक रोड शो भी किया.

  • Election Results 2018: तेलंगाना में कांग्रेस को भारी नुकसान, ईवीएम में गड़बड़ी का जताया अंदेशा

    Election Results 2018: तेलंगाना में कांग्रेस को भारी नुकसान, ईवीएम में गड़बड़ी का जताया अंदेशा

    तेलंगाना में सात दिसंबर को चुनाव हुए थे. यहां कांग्रेस ने 99 सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े किए थे और वह केवल 22 सीटों पर ही आगे चल रही है. तेलंगाना कांग्रेस कमेटी के राज्या इकाई के अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा, ''मुझे परिणामों पर शक है. हम बैलेट पेपर काउंटिंग में जीत रहे थे. हमें शक है कि हो सकता है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की गई है. वीवीपीएटी की पर्चियां गिनी जानी चाहिए...''

  • विधानसभा चुनाव परिणाम : क्या कांग्रेस के 'अच्छे दिन' लौटे, PM मोदी के लिए खतरे की घंटी, 10 बड़ी बातें

    विधानसभा चुनाव परिणाम : क्या कांग्रेस के 'अच्छे दिन' लौटे, PM मोदी के लिए खतरे की घंटी, 10 बड़ी बातें

    पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की तस्वीर अब धीरे-धीरे साफ हो रही है. एग्जिट पोल से नतीजे थोड़ा उलट हैं. छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की आंधी में बीजेपी उड़ गई है. राज्य में कांग्रेस को बड़ी जीत मिली है. राजस्थान में जहां कांग्रेस के क्लीन स्वीप के दावे किए जा रहे थे वहां पर उसको बहुमत के लिए निर्दलीय विधायकों से संपर्क करना पड़ गया है. हालांकि राजस्थान में कांग्रेस के लिए अब सीएम पद का उम्मीदवार ढूंढना किसी सिरदर्द से कम नहीं है. सचिन पायलट और अशोक गहलोत दोनों ही अपने-अपने दावे कर रहे हैं. वहीं मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस को बीच कड़ी टक्कर है और ऐसा लग रहा है कि मुकाबला टी-20 जैसा है. मिजोरम में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मुख्यमंत्री लथनहवला चुनाव हार गए हैं इसके साथ ही वहां पर कांग्रेस के हाथ से सत्ता चली गई है. तेलंगाना में टीआरएस ने अकेले दम पर बीजेपी और कांग्रेस को धो दिया है. यहां पर कांग्रेस और टीडीपी ने मिलकर चुनाव लड़ा था और यह एक तरह से महागठबंधन की कवायद लिए भी झटका है.

  • चुनावी नतीजों में जीत के संकेत पर बोलीं सोनिया गांधी- बेटे राहुल ने काफी मेहनत की है

    चुनावी नतीजों में जीत के संकेत पर बोलीं सोनिया गांधी- बेटे राहुल ने काफी मेहनत की है

    वहीं, सोनिया गांधी ने अपने बेटे राहुल गांधी की ओर इशारा किया और कहा कि 'उसने काफी मेहनत की है और पार्टी को लीड किया है.' दरअसल, अभी तक जो चुनावों के रुझान सामने आए हैं, उसमें सिर्फ छत्तीसगढ़ की तस्वीर साफ हो पाई है. राजस्थान में कांग्रेस कभी बहुमत पा ले रही है तो कभी पीछे हो जा रही है. वहीं, मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस में आगे-पीछे की होड़ लगी है. वहीं जीत की उम्मीद लगाए बैठी कांग्रेस को तेलंगाना और मिजोरम में बड़ा झटका लगा है. 

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com