NDTV Khabar

दलितों का विरोध प्रदर्शन


'दलितों का विरोध प्रदर्शन' - 9 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • SC/ST एक्ट के विरोध में सवर्णों का आज भारत बंद, बिहार में कई जगह ट्रेनें रोकी गईं, पटना में BJP कार्यालय के बाहर प्रदर्शन

    SC/ST एक्ट के विरोध में सवर्णों का आज भारत बंद, बिहार में कई जगह ट्रेनें रोकी गईं, पटना में BJP कार्यालय के बाहर प्रदर्शन

    Bharat Bandh Live Updates: केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) द्वारा एससी-एसटी एक्ट (SC/ST Act) में संशोधन कर उसे मूल स्वरूप में बहाल करने के विरोध में सवर्ण समुदाय के संगठनों ने आज यानी 6 सितंबर को भारत बंद (Bharat Bandh) बुलाया है. देश के कई इलाकों से सवर्ण संगठनों के भारत बंद के मद्देनजर एहतियातन कदम उठाए गये हैं. मध्य प्रदेश के ग्वालियर में जहां स्कूलों-कॉलेजों को बंद रखने के आदेश दिये गये हैं, वहीं,  मध्य प्रदेश के ही तीन जिलों मुरैना, भिंड एवं शिवपुरी में एहतियात के तौर पर धारा 144 (Section 144 Imposed) लगा दी गई है. धारा 144 भारत बंद के अगले दिन यानी 7 सितंबर तक प्रभावी रहेगी. इसके अलावा, मध्य प्रदेश में कई जगहों पर पेट्रोल पंप को भी बंद रखने का फैसला किया गया है. गौरतलब है कि पिछली बार 2 अप्रैल को भारत बंद एससी/एसटी एक्ट (SC/ST Amendment Bill) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court)  के फैसले के विरोध में दलित संगठनों ने बुलाया था. तब सबसे ज्यादा हिंसा मध्य प्रदेश के ग्वालियर और चंबल संभाग में हुई थी. इस वजह से इस बार मध्य प्रदेश प्रशासन इस बार भारत बंद को देखते हुए पूरी तरह सतर्क है. हालांकि, दलितों के बंद के विरोध में उस वक्त भी कुछ दिन बाद ही सवर्णों ने बंद का आह्वान किया था.

  • एससी/एसटी बिल पर राहुल गांधी का पीएम मोदी पर हमला, कहा- उनकी सोच में दलित शामिल नहीं

    एससी/एसटी बिल पर राहुल गांधी का पीएम मोदी पर हमला, कहा- उनकी सोच में दलित शामिल नहीं

    एससी/एसटी बिल के विरोध में दिल्‍ली के जंतर-मंतर पर चल रहे प्रदर्शन में सीपीएम के सीताराम येचुरी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शामिल हुए.

  • बिहार में भ्रष्टाचार की भी होती है जाति, मुजफ्फरपुर में निकला विरोध मार्च

    बिहार में भ्रष्टाचार की भी होती है जाति, मुजफ्फरपुर में निकला विरोध मार्च

    बिहार में आप कितना भी भ्रष्टाचार कर लें, कितनी भी आय से अधिक संपत्ति अर्जित कर लें, लेकिन अगर आप किसी प्रभावशाली जाति से आते हैं तो कोर्ट और जांच से पहले आपको निर्दोष होने का सर्टिफ़िकेट भी मिल जाता है. मुजफ्फरपुर के एसएसपी विवेक कुमार के मामले में कुछ ऐसा ही हुआ है.

  • देशभर में दलितों का उठ पड़ना

    देशभर में दलितों का उठ पड़ना

    दलितों ने भारत बंद की अपील की थी. सरकार को लग रहा होगा कि एक प्रतीकात्मक विरोध प्रदर्शन के बाद आंदोलन खत्म हो जाएगा. लेकिन ये तो पूरे देश में सनसनीखेज ढंग से उठ पड़ा.

  • अमित शाह की दलितों के साथ बैठक में हंगामा, अनंत कुमार हेगड़े का विरोध कर रहे हैं दलित संगठन

    अमित शाह की दलितों के साथ बैठक में हंगामा, अनंत कुमार हेगड़े का विरोध कर रहे हैं दलित संगठन

    कर्नाटक में चुनाव प्रचार जोरों पर है. शुक्रवार को मुख्यमंत्री सिद्धारमैय्या के गढ़ में पहुंचे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की मैसूर की दलित रैली में हंगामा हुआ. रैली में बीजेपी नेता अनंत कुमार हेगड़े की मौजूदगी को लेकर दलित संगठनों ने प्रदर्शन किया है.

  • युवक की पिटाई के बाद दलितों ने विरोध प्रदर्शन की दी धमकी

    युवक की पिटाई के बाद दलितों ने विरोध प्रदर्शन की दी धमकी

    चारों आरोपी फरार हैं. ‘शहीद ऊधम सिंह सेना’ के नेतृत्व में दलित समाज के लोगों ने विरोध प्रदर्शन की धमकी दी है.

  • महाराष्ट्र में फैले दलित-सवर्ण तनाव की असली कहानी, 10 खास बातें...

    महाराष्ट्र में फैले दलित-सवर्ण तनाव की असली कहानी, 10 खास बातें...

    समूचे महाराष्ट्र में पिछले तीन दिन से दलितों और सवर्णों (मुख्यतः मराठा) के बीच जारी तनाव बुधवार को भी बरकरार रहा, और दलितों के अलग-अलग समूहों और पार्टियों द्वारा आहूत किए गए राज्य बंद के चलते राजधानी मुंबई में भी काफी तनावपूर्ण माहौल बना रहा. हालांकि बुधवार देर शाम दलित नेता और भीमराव अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर ने महाराष्ट्र बंद वापस लेने का किया ऐलान किया. कथित रूप से दलितों की पार्टियों के समर्थकों ने मुंबई और आसपास के इलाकों में ट्रेनों, मेट्रो और बसों को रोकने की कोशिश की, और राजधानी से सटे विखरोली इलाके में कारों के एक शोरूम पर हमला भी किया. प्रदर्शनकारियों ने मुंबई के बांद्रा इलाके में दो मुख्य सड़कों को रोक दिया, दुकानों को जबरन बंद करवा दिया और वाहनों की आवाजाही को भी नहीं होने दिया. शहर के कई हिस्सों में ट्रैफिक जाम देखने को मिले. इसी सिलसिले में देश की राजधानी दिल्ली में भी विरोध प्रदर्शन किए जाने की ख़बरें हैं.

  • उना में दलितों ने ली मैला न उठाने की शपथ, सरकार को दिया महीने भर का वक्त

    उना में दलितों ने ली मैला न उठाने की शपथ, सरकार को दिया महीने भर का वक्त

    उना में करीब 10 हजार दलितों ने मैला ढोने और जानवरों को दफनाने जैसे 'गंदे' काम न करने की शपथ ली और सरकार को चेतावनी दी कि हर दलित परिवार को 5 एकड़ जमीन देने की मांग महीने भर में नहीं मानी गई तो पूरे देश में रेल रोको आंदोलन किया जाएगा.

  • गुजरात : उना में दलितों की पिटाई के खिलाफ प्रदर्शन में हेड कांस्टेबल की मौत, बसों में तोड़फोड़

    गुजरात : उना में दलितों की पिटाई के खिलाफ प्रदर्शन में हेड कांस्टेबल की मौत, बसों में तोड़फोड़

    गुजरात के उना में कथित तौर पर गाय का चमड़ा उतारने को लेकर कुछ दलितों की बर्बर ढंग से पिटाई के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों के दौरान भीड़ ने अमरेली कस्बे में पुलिस पर पत्थरों से हमला कर दिया, जिसमें एक हेड कांस्टेबल की मौत हो गई। सुरक्षा बलों को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े।