NDTV Khabar

नासा


'नासा' - 348 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • रूसी और उत्तरी अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री धरती पर वापस लौटे

    रूसी और उत्तरी अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री धरती पर वापस लौटे

    प्रक्षेपण के दौरान हुए हादसे के बाद रूसी अंतरिक्ष कार्यक्रम की वापसी को लेकर संशय बना हुआ था. नासा के अंतरिक्ष यात्री ऐनी मैकक्लेन, रॉसकॉस्मोस के ऑलेग कोनोनेंको और कनाडा अंतरिक्ष एजेंसी के रिकॉर्ड होल्डर डेविड सेंट-जैक्स अंतरराष्ट्रीय समयानुसार देर रात दो बजकर 47 मिनट कजाख्स्तान पहुंचे.

  • नासा के क्युरोसिटी ने मंगल ग्रह पर मीथेन गैस के सबसे बड़े भंडार का पता लगाया

    नासा के क्युरोसिटी ने मंगल ग्रह पर मीथेन गैस के सबसे बड़े भंडार का पता लगाया

    स रोवर पर ऐसी मशीन नहीं लगी है जो पक्के तौर पर यह बात कह सके कि मीथेन का स्रोत क्या है. यह रोवर अपने इस मिशन में पहले भी मीथेन गैस की मौजूदगी का पता लगा चुका है. गौरतलब है कि इससे पहले नासा की हबल अंतरिक्ष दूरबीन ने अभी तक का सबसे सुदूरवर्ती तारा खोजा था. ब्रह्मांड के बीच में स्थित नीले रंग के इस विशाल तारे का नाम इकारस था. यह तारा इतना दूर है कि इसकी रोशनी को पृथ्वी तक पहुंचने में नौ अरब साल लग गए. दुनिया की सबसे बड़ी दूरबीन से भी यह तारा बहुत धुंधला दिखाई देगा. 

  • चांद की परत में छिपा है सूर्य का इतिहास, नासा के वैज्ञानिक ने किया खुलासा

    चांद की परत में छिपा है सूर्य का इतिहास, नासा के वैज्ञानिक ने किया खुलासा

    नासा के वैज्ञानिकों के अनुसार चांद पर सूर्य के प्राचीन रहस्यों के सुराग मौजदू हैं जो जीवन के विकास को समझने के लिए महत्वपूर्ण हैं. करीब चार अरब साल पहले सूर्य सौर मंडल में तीव्र विकिरणों, उग्र वेगों, उच्च ऊर्जा वाले बादलों और कणों के घातक प्रकोप से गुजरा था.

  • डोनाल्ड ट्रंप ने NASA को लगाई फटकार, ट्वीट कर कहा - हम चांद पर जा रहे हैं कहना बंद करें

    डोनाल्ड ट्रंप ने NASA को लगाई फटकार, ट्वीट कर कहा - हम चांद पर जा रहे हैं कहना बंद करें

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया कि नासा को यह कहना बंद कर देना चहिए कि वह (नासा) चांद पर जा रहा है. उनका कहना है कि जब से उनके प्रशासन ने 2024 तक चांद पर दोबारा उतरने का लक्ष्य तैयार किया है तब से इसकी वजह से भ्रम की स्थिति पैदा हो गयी है.

  • मंगल पर क्यूरोसिटी रोवर को मिला चिकनी मिट्टी के खनिजों का भंडार

    मंगल पर क्यूरोसिटी रोवर को मिला चिकनी मिट्टी के खनिजों का भंडार

    नासा के क्यूरोसिटी मार्स रोवर को अपने अभियान के दौरान मंगल ग्रह पर चिकनी मिट्टी के खनिजों का अब तक का सबसे बड़ा भंडार मिला है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने एक बयान में बताया है कि क्यूरोसिटी रोवर ने मंगल के दो लक्ष्य स्थलों एबेरलेडी और किलमारी से चट्टानों के नमूने लिए.

  • चंद्रयान - 2 अभियान में 13 पेलोड के साथ 1 NASA पेलोड भी शामिल - इसरो 

    चंद्रयान - 2 अभियान में 13 पेलोड के साथ 1 NASA पेलोड भी शामिल - इसरो 

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organisation) ने कहा कि जुलाई में भेजे जाने वाले भारत के दूसरे चंद्र अभियान (Chandrayaan 2) में 13 पेलोड होंगे और अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) का भी एक उपकरण होगा. 

  • '8 साल बाद पृथ्वी से टकराएगा एक खगोलीय पिंड', नासा के वैज्ञानिक ने खुलासा कर सबको कर दिया सन्न, लेकिन...

    '8 साल बाद पृथ्वी से टकराएगा एक खगोलीय पिंड', नासा के वैज्ञानिक ने खुलासा कर सबको कर दिया सन्न, लेकिन...

    अंतरिक्ष से धरती को खतरे जैसे विषय पर आयोजित सम्मेलन में नासा एक एक वैज्ञानिक ने एक खुलासा करते सभी को सन्न कर दिया. उन्होंने कहा कि एक एस्टेरॉएड (खगोलीय पिंड) 2019-PDC अगले 8 सालों में धरती से टकरा सकता है. नासा के 'सेंटर फॉर नीयर अर्थ आब्‍जेक्‍ट स्‍टडीज' (NASA's Center for Near-Earth Object Studies) के मैनेजर पॉल चडस ने यह दावा किया है. हालांकि उनका कहना था कि इसकी टकराने की आशंका सिर्फ 10 प्रतिशत ही है.

  • मंगल पर आया पहली बार 'भूकंप', NASA के रोबोटिक लैंडर ने किया खुलासा

    मंगल पर आया पहली बार 'भूकंप', NASA के रोबोटिक लैंडर ने किया खुलासा

    नासा (NASA) द्वारा प्रक्षेपित रोबोटिक लैंडर 'इनसाइट' (NASA InSight) ने पहली बार मंगल पर संभवत: 'भूकंप'दर्ज किया है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने यह जानकारी दी.

  • NASA की अंतरिक्ष यात्री ने बनाया रिकॉर्ड, स्पेस स्टेशन में रहेंगी सबसे ज्यादा समय तक, जानें खास बातें

    NASA की अंतरिक्ष यात्री ने बनाया रिकॉर्ड, स्पेस स्टेशन में रहेंगी सबसे ज्यादा समय तक, जानें खास बातें

    नासा (NASA) की अंतरिक्ष यात्री (Astronaut) क्रिस्टीना कोच (Christina H Koch) के अंतरिक्ष अभियान की अवधि में विस्तार होने के साथ ही अब वह अंतरिक्ष स्टेशन में 328 दिन बिताने एक नया रिकॉर्ड बनाने को तैयार हैं.

  • चंद्रमा पर पानी! नासा इस रहस्य को खोजने में जुटा, उल्कापिंडीय धाराएं मिलीं

    चंद्रमा पर पानी! नासा इस रहस्य को खोजने में जुटा, उल्कापिंडीय धाराएं मिलीं

    नासा के नए ग्रह खोज उपग्रह ने धरती के आकार के नए बाह्य ग्रह की खोज की है जो 53 प्रकाश वर्ष दूर एक सितारे की कक्षा में मौजूद है. इसके अलावा नासा के शोधकर्ताओं ने एक आश्चर्यजनक तथ्य का पता लगाया है. एक शोध में इस बात के साक्ष्य मिले हैं कि चंद्रमा पर पानी और हाइड्राक्सिल की मौजूदगी रही है.

  • अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में पाए गए Bacteria, अंतरिक्ष यात्रियों के लिए बताया खतरे की घंटी

    अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में पाए गए Bacteria, अंतरिक्ष यात्रियों के लिए बताया खतरे की घंटी

    अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के शोधार्थी दल को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र (आईएसएस) के भीतर फर्श पर जीवाणु मिले हैं, जो धरती पर जिम या दफ्तरों में पाए जोन वाले सूक्ष्मजीवों की तरह होते हैं.

  • मलबे के खतरे को टालने के लिए भारत ने उपग्रह रोधी परीक्षण के लिए निचली कक्षा चुनी : डीआरडीओ

    मलबे के खतरे को टालने के लिए भारत ने उपग्रह रोधी परीक्षण के लिए निचली कक्षा चुनी : डीआरडीओ

    रेड्डी ने कहा कि क्षमता प्रदर्शन के लिए परीक्षण हेतु करीब 300 किलोमीटर की कक्षा चुनी और इसका मकसद वैश्विक अंतिरक्षीय संपत्तियों को मलबे से खतरा पहुंचाने से रोकना है. उन्होंने कहा कि परीक्षण के बाद पैदा हुआ मलबा कुछ हफ्तों में नष्ट हो जाएगा. मंगलवार को नासा ने उसके एक उपग्रह को भारत की तरफ से मार गिराए जाने को भयावह बताया और कहा कि इस मिशन के चलते अंतरिक्ष में मलबे के 400 टुकड़े बिखर गए.

  • ए सैट परीक्षण पर नासा के बयान पर भारत ने कुछ कहने से किया इनकार

    ए सैट परीक्षण पर नासा के बयान पर भारत ने कुछ कहने से किया इनकार

    भारत के सेटेलाइट निरोधी हथियार के परीक्षण से अंतरिक्ष में मलबे के 400 टुकड़े बन गये हैं जो अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं. इस संबंध में संपर्क करने पर रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

  • वोटर की उंगली पर लगाई जाने वाली स्याही को लेकर अफवाह, मामला दर्ज

    वोटर की उंगली पर लगाई जाने वाली स्याही को लेकर अफवाह, मामला दर्ज

    सोशल मीडिया पर कुछ लोग अफवाह फैला रहे हैं कि चुनाव में वोट डालने के दौरान चुनाव आयोग उंगली पर लगाने के लिए जिस स्याही का उपयोग करता है वह सुअर के मांस या उसके खून से बनती है. कहा जा रहा है कि यह दावा नासा के वैज्ञानिक ने किया है और यह वेटिकन की साज़िश है.

  • भारत के 'मिशन शक्ति' को NASA ने बताया 'भयंकर', बोला- अंतरिक्ष में फैला मलबा खतरे की घंटी

    भारत के 'मिशन शक्ति' को NASA ने बताया 'भयंकर', बोला- अंतरिक्ष में फैला मलबा खतरे की घंटी

    भारत के एसैट परीक्षण (ASAT Test) पर नासा (NASA) ने मंगलवार को 'भयंकर' बताया. नासा ने कहा कि नष्ट किए उपग्रह से अंतरिक्ष की कक्षा में 400 टुकड़ों का मलबा हुआ जिससे अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र पर खतरा पैदा हो गया है.

  • चंद्रयान 2 नासा के लेजर उपकरणों को चंद्रमा तक लेकर जाएगा

    चंद्रयान 2 नासा के लेजर उपकरणों को चंद्रमा तक लेकर जाएगा

    स्पेस डॉट कॉम ने नासा के विज्ञान मिशन निदेशालय में ग्रह विज्ञान विभाग की कार्यवाहक निदेशक लोरी ग्लेज के हवाले से कहा कि हम पूरी सतह को जितना संभव हो उतने अधिक लेजर रिफलेक्टर से भर देने का प्रयास कर रहे हैं. रेट्रोरिफलेक्टर ऐसे परिष्कृत शीशे होते हैं जो धरती से भेजे गए लेजर रोशनी संकेतों को प्रतिबिंबित करते हैं. ये सिग्नल यान की मौजूदगी का सटीक तरीके से पता लगाने में मदद कर सकते हैं जिसका प्रयोग वैज्ञानिक धरती से चंद्रमा की दूरी का सटीक आकलन करने के लिए कर सकते हैं.

  • अंतरिक्ष में कैसे किया जा सकता है सेक्स, जानें, क्या जवाब दिया पूर्व NASA प्रमुख ने

    अंतरिक्ष में कैसे किया जा सकता है सेक्स, जानें, क्या जवाब दिया पूर्व NASA प्रमुख ने

    NDTV के साइंस एडिटर पल्लव बागला ने NASA के पूर्व प्रमुख, दिग्गज अंतरिक्ष यात्री तथा मौजूदा समय में अमेरिका के अंतरिक्ष मामलों के विज्ञान दूत से इन्हीं सवालों के जवाब हासिल करने की कोशिश की, कि इंसान गुरुत्वाकर्षण के बिना अंतरिक्ष में सेक्स कैसे कर पाएगा, या बच्चे कैसे पैदा करेगा.

  • सौरमंडल से बाहर के पहले ग्रह 'केपलर 1658 बी' की आखिरकार पुष्टि हुई

    सौरमंडल से बाहर के पहले ग्रह 'केपलर 1658 बी' की आखिरकार पुष्टि हुई

    अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA के केपलर अंतरिक्ष टेलीस्कोप के लॉन्च के 10 साल बाद उसके द्वारा पता लगाए गए पहले गैर-सौरीय (सौरमंडल के बाहर स्थित) ग्रह के सच में मौजूद होने की पुष्टि हुई है.

  • Supermoon 2019: आज रात दिखेगा साल का सबसे बड़ा चांद, नहीं किया दीदार तो करना होगा 7 साल का इंतज़ार

    Supermoon 2019: आज रात दिखेगा साल का सबसे बड़ा चांद, नहीं किया दीदार तो करना होगा 7 साल का इंतज़ार

    आज रात 19 फरवरी, 2019 को चांद पृथ्वी के काफी करीब दिखाई देगा. यह चांद रोज़ाना दिखने वाले चांद से आकार में 14 प्रतिशत बड़ा और 30 प्रतिशत ज्यादा चमकीला होगा. नासा (NASA) के मुताबिक अगर आपने इस सुपरमून (Supermoon of February 19, 2019) के दीदार नहीं किए तो अगला मौका 7 साल बाद मिलेगा.

  • Super Snow Moon: आज दिखेगा सुपर स्नो मून, क्या है खान-पान से जुड़ी सावधानियां!

    Super Snow Moon: आज दिखेगा सुपर स्नो मून, क्या है खान-पान से जुड़ी सावधानियां!

    Super Snow Moon 2019: आज की रात दिखेगा सुपर स्नो मून. आज माघ पूर्णिमा है. जी हां, आज का दिन या कहें कि रात बेहद खास है. क्योंकि आज रात को जो होने वाला है वह आज के बाद पूरे सात साल बाद दोबारा दिखेगा. जी हां, आज है नासा के मुताबिक आज की रात यानी 19 फरवरी की रात चांद धरती के बेहद करीब होगा. इसके बाद यह इतना करीब साल 2026 में आएगा. आज रात चांद अपने आकार में करीब 14 फीसदी बड़ा दिखेगा और इतना ही नहीं यह 30 फीसदी ज्यादा चमकीला भी होगा. अब आप सोच रहे होंगे कि सुपर स्नो मून देखने के लिए आपको क्या करना होगा, सुपर स्नो मून कब दिखेगा, सुपर स्नो मून देखने का सही समय क्या है. तो आपको बता दें कि नासा के अनुसार सुपर स्नो मून देखने का सबसे सही समय है रात के 9 बजकर 23 मिनट.