NDTV Khabar

नियंत्रण रेखा


'नियंत्रण रेखा' - 678 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एलएसी के हालात की समीक्षा की, जवानों के साथ मनाएंगे दशहरा

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एलएसी के हालात की समीक्षा की, जवानों के साथ मनाएंगे दशहरा

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने पूर्वी सेक्टर में सुकना स्थित 33वीं कोर के मुख्यालय में भारतीय सेना की तैयारियों की समीक्षा की. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. यह कोर सिक्किम में चीन से लगती वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर निगरानी रखती है. रक्षा मंत्री दोपहर में दार्जिलिंग जिले में एक प्रमुख सैन्य अड्डे, जिसे ‘त्रिशक्ति’ कोर के रूप में जाना जाता है, पहुंचे थे. वह पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा गतिरोध के मद्देनजर सैन्य तैयारियों की समीक्षा के साथ-साथ सैनिकों के साथ दशहरा मनाने के लिए पश्चिम बंगाल और सिक्किम की दो दिवसीय यात्रा पर हैं. सिंह के साथ सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी थे.

  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सिक्किम में सेना के जवानों के साथ मनाएंगे दशहरा

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सिक्किम में सेना के जवानों के साथ मनाएंगे दशहरा

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रविवार को सिक्किम में नाथुला पास के पास शेरथांग में सेना के जवानों के साथ दशहरा मनाएंगे और इस अवसर पर ‘शस्त्र पूजा’ करेंगे. रक्षा मंत्री ने सिक्किम में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास सीमाई क्षेत्र में सैनिकों के साथ दशहरा मनाने का फैसला ऐसे समय किया है जब पूर्वी लद्दाख में सीमा पर चीन के साथ भारत का गतिरोध चल रहा है.

  • LAC पर शांति अत्यधिक बाधित, भारत-चीन संबंधों पर पड़ रहा असर : एस जयशंकर

    LAC पर शांति अत्यधिक बाधित, भारत-चीन संबंधों पर पड़ रहा असर : एस जयशंकर

    विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शनिवार को कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर शांति और अमन-चैन गंभीर रूप से बाधित हुए हैं और जाहिर तौर पर इससे भारत तथा चीन के बीच संपूर्ण रिश्ते प्रभावित हो रहे हैं. 

  • पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा से लगे तीन सेक्टरों में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया

    पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा से लगे तीन सेक्टरों में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया

    पाकिस्तानी सैनिकों ने रविवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा से लगे तीन सेक्टरों में मोर्टार से गोलाबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया. रक्षा प्रवक्ता ने यह जानकारी दी. प्रवक्ता ने कहा कि शाम के समय पुंछ के देगवार और खारी करमारा सेक्टरों और राजौरी के सुंदरबनी में हुई गोलाबारी का भारतीय सेना ने करारा जवाब दिया. उन्होंने कहा कि अभी किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं मिली.

  • लद्दाख तनाव पर बोले US के NSA, स्वीकार करना होगा कि बातचीत से नहीं आएगा चीन के आक्रामक रुख में बदलाव

    लद्दाख तनाव पर बोले US के NSA, स्वीकार करना होगा कि बातचीत से नहीं आएगा चीन के आक्रामक रुख में बदलाव

    अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) ने कहा कि भारत से लगती वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर ताकत के बल पर नियंत्रण करने की चीन की कोशिश उसकी विस्तारवादी आक्रामकता का हिस्सा है और यह स्वीकार करने का समय आ गया है कि बातचीत तथा समझौते से चीन अपना आक्रामक रुख नहीं बदलने वाला. उल्लेखनीय है कि पूर्वी लद्दाख में सीमा पर गत पांच महीनों से चीन और भारत के बीच गतिरोध बना हुआ है और इसकी वजह से दोनों देशों में तनाव बढ़ा है.

  • BRICS शिखर सम्मेलन 17 नवंबर को, लद्दाख में गतिरोध के बाद मोदी, जिनपिंग का आमना-सामना होने के आसार

    BRICS शिखर सम्मेलन 17 नवंबर को, लद्दाख में गतिरोध के बाद मोदी, जिनपिंग का आमना-सामना होने के आसार

    पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के निकट उत्पन्न गतिरोध के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का आमना-सामना होने के आसार बने हैं. दोनों नेता 17 नवंबर को होने वाले ब्रिक्स देशों के वार्षिक शिखर सम्मेलन में डिजिटल माध्यम से एक-दूसरे का सामना कर सकते हैं.

  • LoC पर पाकिस्तान की फायरिंग में तीन जवान शहीद, सेना दे रही मुंहतोड़ जवाब

    LoC पर पाकिस्तान की फायरिंग में तीन जवान शहीद, सेना दे रही मुंहतोड़ जवाब

    पिछले आठ महीनों में, पाकिस्तान द्वारा 3,000 से अधिक बार युद्धविराम उल्लंघन किए गए हैं, जो पिछले 17 वर्षों में सबसे अधिक है. साल 2003 में भारत और पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर युद्धविराम का समझौता किया था.

  • पूर्वी लद्दाख में सर्दियों के लिये भारतीय सेना ने की तैयारी, दशकों बाद चलाया इतना बड़ा ऑपरेशन

    पूर्वी लद्दाख में सर्दियों के लिये भारतीय सेना ने की तैयारी, दशकों बाद चलाया इतना बड़ा ऑपरेशन

    भारतीय सेना (Indian Army) कई दशकों के अपने सबसे बड़े सैन्य भंडारण अभियान के तहत पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) में ऊंचाई वाले क्षेत्रों में लगभग चार महीनों की भीषण सर्दियों के मद्देनजर टैंक, भारी हथियार, गोला-बारूद, ईंधन के साथ ही खाद्य और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में लगी हुयी है.

  • सरकार ने पूर्वी लद्दाख में संपूर्ण स्थिति, अभियानगत तैयारियों की व्यापक समीक्षा की

    सरकार ने पूर्वी लद्दाख में संपूर्ण स्थिति, अभियानगत तैयारियों की व्यापक समीक्षा की

    थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे ने बैठक में पैंगोंग झील के उत्तर एवं दक्षिण किनारे पर भारतीय एवं चीनी बलों के फिर से आमने-सामने होने के संबंध में जानकारी दी और इस प्रकार की कोशिशों से प्रभावशाली तरीके से निपटने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में बताया.

  • भारत ने कहा: चीन को पूर्वी लद्दाख में सैनिकों को पूर्ण रूप से हटाने पर उसके साथ काम करना चाहिए

    भारत ने कहा: चीन को पूर्वी लद्दाख में सैनिकों को पूर्ण रूप से हटाने पर उसके साथ काम करना चाहिए

    भारत ने बृहस्पतिवार को कहा कि चीन को पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील क्षेत्र सहित टकराव वाले सभी इलाकों से सैनिकों को पूर्ण रूप से हटाने के लिये प्रक्रिया को आगे बढ़ाना चाहिए. साथ ही, उसे वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर यथास्थिति को बदलने की एकतरफा कोशिशें नहीं करने को भी कहा.वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि दुनिया की कोई ताकत भारतीय सैनिकों को लद्दाख क्षेत्र में हमारी सीमा पर गश्त लगाने से नहीं रोक सकती है.

  • पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर नहीं हुई कोई घुसपैठ : सरकार ने संसद में कहा

    पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर नहीं हुई कोई घुसपैठ : सरकार ने संसद में कहा

    पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत-चीन के बीच लगातार बने तनाव और चीन की ओर यथास्थिति बदलने की कोशिशों के बीच केंद्र सरकार ने बुधवार को संसद में कहा है कि पिछले छह महीनों में भारत-चीन सीमा पर कोई घुसपैठ नहीं हुई है.

  • चीन के साथ गतिरोध पर मोदी सरकार संसद में दे सकती है बयान: सूत्र

    चीन के साथ गतिरोध पर मोदी सरकार संसद में दे सकती है बयान: सूत्र

    Eastern Ladakh Standoff: सूत्रों की मानें तो मोदी सरकार भारत-चीन गतिरोध (India-China stand-off) पर संसद (Parliament) में बयान दे सकती है. कल शुरू हो रहे मानसून सत्र से पहले ये जानकारी सामने आई है. आगामी सत्र के एजेंडे पर आज संसद की समिति की बैठक में यह मामला उठाया गया. वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ गतिरोध को लेकर राहुल गांधी द्वारा समेत कांग्रेस नेताओं द्वारा लगातार मोदी सरकार पर हमले हो रहे हैं.

  • चीन का पैंगोंग प्लान : उत्तरी किनारे पर कर रहा निर्माण, दक्ष‍िणी किनारे पर भेजे सैनिक

    चीन का पैंगोंग प्लान : उत्तरी किनारे पर कर रहा निर्माण, दक्ष‍िणी किनारे पर भेजे सैनिक

    पूर्वी लद्दाख (Ladakh ) क्षेत्र की सैटेलाइट तस्वीरों से मालूम चल रहा है कि पैंगोंग झील (Pangong Lake ) के उत्तरी किनारे पर चीनी निर्माण गतिविधि चल रही है. साथ ही झील के दक्षिणी किनारे पर वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास नई चीनी चौकियों का निर्माण किया जा रहा है. ये वही जगह है जहां भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच टकराव की स्थिति बनी हुई है.

  • लद्दाख तनाव पर भारत : चीन की एक और कोशिश नाकाम, हमारी ज़मीन पर हमारा कब्ज़ा बरकरार

    लद्दाख तनाव पर भारत : चीन की एक और कोशिश नाकाम, हमारी ज़मीन पर हमारा कब्ज़ा बरकरार

    चीन की ओर से सोमवार को भारत पर वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control) के करीब हवाई फायरिंग (air shots fired) किए जाने के आरोप लगाए गए थे, जिसके बाद भारत ने इसका जवाब दिया है. भारतीय सेना (Indian Army) ने कहा है कि उसने ऐसी किसी घटना को अंजाम नहीं दिया है, उल्टे चीन ने 7 सितंबर को फायरिंग की है. भारतीय सेना ने एक बयान जारी कर कहा कि चीन हकीकत के उलट बयान देकर अपने देश और दुनिया के लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है. सेना ने यह भी कहा कि वो सीमा पर शांति बनाए रखने को लेकर प्रतिबद्ध है लेकिन चीन की ओर से लगातार आक्रामक गतिविधियां की जा रही हैं.

  • हमने नहीं, चीनी सैनिकों ने की थी फायरिंग, भारतीय चौकियों के करीब आने की थी कोशिश : लद्दाख तनाव पर भारत

    हमने नहीं, चीनी सैनिकों ने की थी फायरिंग, भारतीय चौकियों के करीब आने की थी कोशिश : लद्दाख तनाव पर भारत

    भारत ने LAC पर फायरिंग किए जाने के आरोपों को खारिज किया है. भारत ने उलटा चीन भारतीय सेना की मौजूदगी वाले इलाकों के करीब हवाई फायरिंग करने का आरोप लगाया है और कहा है कि चीन अपने बयानों से अपने देश और पूरी दुनिया को गुमराह कर रहा है. भारतीय सेना ने अपने बयान में कहा कि सेना ने किसी भी स्थिति में वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार नहीं किया है, न ही फायरिंग की है, न ही कोई आक्रामक कदम उठाया है.

  • चीन के साथ तनाव पर बोले विदेश मंत्री- लद्दाख के हालात ‘बहुत गंभीर’, राजनीतिक स्तर पर ‘बहुत-बहुत गहन विचार-विमर्श’ की जरूरत

    चीन के साथ तनाव पर बोले विदेश मंत्री- लद्दाख के हालात ‘बहुत गंभीर’, राजनीतिक स्तर पर ‘बहुत-बहुत गहन विचार-विमर्श’ की जरूरत

    पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को संघर्ष में 20 भारतीय सैन्यकर्मियों के शहीद होने के बाद वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर तनाव काफी बढ़ गया था. चीनी जवान भी हताहत हुए लेकिन पड़ोसी देश ने उनका ब्योरा नहीं दिया. अमेरिका की एक खुफिया रिपोर्ट के अनुसार चीन के भी 35 जवान मारे गये. विदेश मंत्री ने कहा, ‘‘सीमा पर अगर अमन-चैन नहीं रहता तो बाकी रिश्ते जारी नहीं रह सकते क्योंकि स्पष्ट रूप से संबंधों का आधार शांति ही है.’

  • LAC पार कर भटकते हुए सीमा के अंदर आ गए 13 याक और 4 बछड़े, भारतीय सेना ने चीन को लौटाया

    LAC पार कर भटकते हुए सीमा के अंदर आ गए 13 याक और 4 बछड़े, भारतीय सेना ने चीन को लौटाया

    अरुणाचल प्रदेश में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के उस पार यानी चीन की तरफ से कुछ याक और बछड़े भटकते हुए भारतीय सीमा के अंदर आ गए थे, जिसे मानवीयता का परिचय देते हुए भारतीय सेना ने चीन को लौटा दिया.

  • चीन का दावा, भारतीय सैनिकों ने LAC पर फायर किए वार्निंग शॉट्स

    चीन का दावा, भारतीय सैनिकों ने LAC पर फायर किए वार्निंग शॉट्स

    चीन ने दावा किया है कि भारतीय सैनिकों ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चेतावनी के लिए फायरिंग की है यानी वार्निंग शॉट्स फायर किए हैं. हालांकि भारत की तरफ से इसे लेकर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com