NDTV Khabar

पल्लव बागला


'पल्लव बागला' - 8 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • 'चंद्रयान 2' की पहली झलक: आठ हाथियों के वज़न वाला 'चंद्रयान-2' उतरेगा चांद के अनदेखे हिस्से पर

    'चंद्रयान 2' की पहली झलक: आठ हाथियों के वज़न वाला 'चंद्रयान-2' उतरेगा चांद के अनदेखे हिस्से पर

    अपनी पृथ्वी के चंद्रमा की ओर भारत का दूसरा मिशन 'चंद्रयान 2' श्रीहरिकोटा से 15 जुलाई को लगभग आधी रात को रवाना होगा. इस वक्त ISRO 3.8 टन वज़न वाले उपग्रह को अंतिम रूप दे रहा है, जिस पर देश का 600 करोड़ रुपये से ज़्यादा खर्च हुआ है. प्रक्षेपण के बाद उपग्रह 'चंद्रयान 2' को कई हफ्ते लगेंगे, और फिर वह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सॉफ्ट लैंडिंग करेगा. गौरतलब है कि यह चंद्रमा का वह हिस्सा है, जहां आज तक दुनिया का कोई भी अंतरिक्ष यान नहीं उतरा है. NDTV के साइंस एडिटर पल्लव बागला से खास बातचीत में ISRO के असिस्टेंट साइंटिफिक सेक्रेटरी विवेक सिंह ने कहा कि यह भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी का अब तक का सबसे जटिल मिशन है, जिस पर 1,000 करोड़ रुपये से कम खर्च हुआ है.

  • अंतरिक्ष में कैसे किया जा सकता है सेक्स, जानें, क्या जवाब दिया पूर्व NASA प्रमुख ने

    अंतरिक्ष में कैसे किया जा सकता है सेक्स, जानें, क्या जवाब दिया पूर्व NASA प्रमुख ने

    NDTV के साइंस एडिटर पल्लव बागला ने NASA के पूर्व प्रमुख, दिग्गज अंतरिक्ष यात्री तथा मौजूदा समय में अमेरिका के अंतरिक्ष मामलों के विज्ञान दूत से इन्हीं सवालों के जवाब हासिल करने की कोशिश की, कि इंसान गुरुत्वाकर्षण के बिना अंतरिक्ष में सेक्स कैसे कर पाएगा, या बच्चे कैसे पैदा करेगा.

  • NDTV Exclusive : ग्रीन पटाखा तैयार, परम्परागत आतिशबाजी की तरह ही देगा आनंद

    NDTV Exclusive : ग्रीन पटाखा तैयार, परम्परागत आतिशबाजी की तरह ही देगा आनंद

    भारत में दिवाली पर प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए ग्रीन पटाखा तैयार कर लिया गया है. इस पटाखे से करीब 30 प्रतिशत कम प्रदूषण होगा और इसकी कीमत भी प्रचलित पटाखों से 15 से 30 फीसदी कम होगी. केंद्रीय पर्यावरण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने एनडीटीवी के साइंस एडिटर पल्लव बागला से खास बातचीत में इस ग्रीन पटाखे के बारे में खुलासा किया.

  • मॉनसून के बादलों का रहस्य जानने की कोशिश, बादलों की लैब तक पहुंचा NDTV

    मॉनसून के बादलों का रहस्य जानने की कोशिश, बादलों की लैब तक पहुंचा NDTV

    बादलों को हम देखते हैं, ऐसा लगता है कि हमारे पास उनको लेकर बहुत जानकारी है. लेकिन हकीकत ये है कि बादलों को लेकर वैज्ञानिकों के पास भी कम जानकारी है. पल्लव बागला वहां पहुंचे जहां चारों तरफ बादल हैं और इनके रहस्यों को समझने की कोशिश में वैज्ञानिक जुटे हुए हैं.

  • NDTV एक्सक्लूसिव : जानिए भारत के अपने स्पेस शटल के बारे में खास बातें

    NDTV एक्सक्लूसिव : जानिए भारत के अपने स्पेस शटल के बारे में खास बातें

    एनडीटीवी के साइंस एडिटर पल्लव बागला को भविष्य के रॉकेट निर्माण की प्रक्रिया को करीब से जानने का मौका मिला। 95 करोड़ की लागत से बनने वाले इस 6.5 मीटर लंबे मॉडल का वज़न 1.75 टन है।

  • क्या आप जानते हैं भारत में महामारी बन सकती है मोटापे की समस्या?

    क्या आप जानते हैं भारत में महामारी बन सकती है मोटापे की समस्या?

    एक महत्वपूर्ण अध्ययन में कहा गया है कि देश की 1.2 अरब की आबादी में से करीब 13 फीसदी लोग मोटापे से पीड़ित हो सकते हैं। यह विडंबना ही है क्योंकि हाल तक देश में कुपोषण एक बड़ी समस्या रहा है।

  • पल्लव बागला की पुस्तक की समीक्षा : हम भी अगर इसरो होते...

    पल्लव बागला की पुस्तक की समीक्षा : हम भी अगर इसरो होते...

    मेरी मैग्डेलन चर्च। केरल के तट पर बसे थुंबा का यह चर्च के बिना अंतरिक्ष में हिन्दुस्तान का सफ़र न तो शुरू होता है न पूरा। विक्रम साराभाई ने जब थुंबा को भारत के पहले राकेट प्रक्षेपण के लिए चुना तो इस चर्च के बिशप ने वहां के ईसाई मछुआरों को साराभाई की मदद के लिए तैयार किया।

  • कुडनकुलम प्लांट के विरोध के पीछे अमेरिकी एनजीओ का हाथ: पीएम

    कुडनकुलम प्लांट के विरोध के पीछे अमेरिकी एनजीओ का हाथ: पीएम

    प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने तमिलनाडु के कुडनकुलम में बन रहे न्यूक्लियर प्लांट को लेकर हो रहे विरोध के पीछे अमेरिकी एनजीओ का हाथ बताया है।

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com