NDTV Khabar

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी


'पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी' - 87 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • अंतिम सफर पर निकले प्रणब दा, हमेशा याद आएगी उनकी एक तस्वीर

    अंतिम सफर पर निकले प्रणब दा, हमेशा याद आएगी उनकी एक तस्वीर

    भारत रत्न, पूर्व राष्ट्रपति और कई बार देश के वित्त मंत्री रहे प्रणब मुखर्जी का अंतिम संस्कार कर दिया गया है. थोड़ी देर पहले ही उनके पार्थिव शरीर को लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर पहुंचा गया है. प्रणब दा जब अंतिम सफर हैं तो उनकी एक तस्वीर हमेशा याद आएगी जिसमें वह बजट पेश करने से पहले हमेशा अपनी टीम के साथ एक फोटो खिंचाते हैं. देश की एक पूरी पीढ़ी ने देखा है. कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले मुखर्जी ने कई प्रधानमंत्रियों का साथ काम किया है. उनके बारे में कहा जाता है कि प्रणब मुखर्जी एक ऐसे प्रधानमंत्री रहे हैं जो भारत को कभी नहीं मिले. कहा जाता है कि उनके मन में हमेशा एक टीस रही कि वह देश के प्रधानमंत्री नहीं बन पाए. वह देश के 13वें राष्ट्रपति बने. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के खास लोगों में से एक रहे कांग्रेस की सरकारों में कई अहम जिम्मेदारियां संभाली हैं, जिनमें वित्त मंत्रालय सहित कई अहम पद शामिल हैं. उनका संसदीय करियर करीब पांच दशक पुराना था. 

  • PM मोदी लद्दाख में : इंदिरा गांधी के लेह दौरे की तस्वीर शेयर मनीष तिवारी ने कसा तंज- देखते हैं ये क्या करते हैं?

    PM मोदी लद्दाख में : इंदिरा गांधी के लेह दौरे की तस्वीर शेयर मनीष तिवारी ने कसा तंज- देखते हैं ये क्या करते हैं?

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लद्दाख का मुआयना किया है. बीते जून के महीने में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में 20 भारतीय सैनिकों ने जान गंवा दी थी. पीएम  मोदी के साथ लद्दाख दौरे में सीडीएस बिपिन रावत भी मौजूद हैं. पीएम मोदी का यह दौरा चीन को एक कड़ा संदेश देने के तौर पर देखा जा रहा है वहीं ये भी साफ तौर पर बता दिया गया है कि भारतीय सेना के पीछे इस बार दृढ़ इच्छा शक्ति है. लेकिन इस बीच कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की एक तस्वीर शेयर कर सरकार पर तंज कसा है. उन्होंने ने इस तस्वीर को ट्वीटर पर शेयर कहा है, उनके (इंदिरा गांधी) लेह दौरे के बाद पाकिस्तान दो भागों में टूट गया था, अब देखते हैं कि यह क्या करते हैं'? 

  • 5 जून का इतिहास: सेना का ऑपरेशन ब्लूस्टार, स्वर्ण मंदिर में छिपे आतंकियों के खिलाफ अभियान

    5 जून का इतिहास: सेना का ऑपरेशन ब्लूस्टार, स्वर्ण मंदिर में छिपे आतंकियों के खिलाफ अभियान

    जून का पहला सप्ताह और उसमें भी पांच जून का दिन देश के सिखों के जहन में एक दुखद घटना के साथ दर्ज है.भारतीय सेना ने इस दिन अमृतसर के स्वर्ण मंदिर परिसर में प्रवेश किया था. सिखों के इस सर्वाधिक पूजनीय स्थल पर सेना के अभियान को ऑपरेशन ब्लू स्टार नाम दिया गया था. दरअसल देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी देश के सबसे खुशहाल राज्य पंजाब को उग्रवाद के दंश से छुटकारा दिलाना चाहती थीं, लिहाजा उन्होंने यह सख्त कदम उठाया और खालिस्तान के प्रबल समर्थक जरनैल सिंह भिंडरावाले का खात्मा करने और सिखों की आस्था के पवित्रतम स्थल स्वर्ण मंदिर को उग्रवादियों से मुक्त करने के लिए यह अभियान चलाया.

  • 26 मई 2014 : देश में मोदी सरकार की शुरुआत, साल 2020 में PM Modi के सामने खड़ी हैं 5 बड़ी चुनौतियां

    26 मई 2014 : देश में मोदी सरकार की शुरुआत, साल 2020 में  PM Modi के सामने खड़ी हैं 5 बड़ी चुनौतियां

    26 मई 2014 को पीएम नरेंद्र मोदी ने पहली बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी. 2014 के लोकसभा चुनाव में 'मोदी लहर' के दम पर बीजेपी पहली बार केंद्र की सत्ता में अपने दम पर सरकार बनाई थी. देश के राजनीतिक इतिहास में महत्वपूर्ण घटना थी क्योंकि पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के निधन के बाद कांग्रेस ने राजीव गांधी की अगुवाई में प्रचंड बहुत से सरकार बनाई थी लेकिन फिर बाद में 30 दशकों तक गठबंधन की राजनीति का दौर शुरू हो गया. साझेदारी की राजनीति ने देश का भला कम नुकसान ज्यादा किया, ऐसा इसलिए कहा जा सकता है क्योंकि ऐसे कई उदाहरण रहे हैं जहां सिद्धांत कम, व्यक्तिगत स्वार्थ महत्वाकांक्षाओं ने कई सरकारों को बनया और बिगाड़ा.    

  • शिवसेना ने दिल्ली हिंसा की तुलना सिख विरोधी दंगों से की, कहा- अहमदाबाद में नमस्ते और दिल्ली में हिंसा

    शिवसेना ने दिल्ली हिंसा की तुलना सिख विरोधी दंगों से की, कहा- अहमदाबाद में नमस्ते और दिल्ली में हिंसा

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जब 'प्रेम का संदेश' देने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पहुंचे तब उसकी सड़कों पर खून-खराबा मचा था और इससे पहले राष्ट्रीय राजधानी की कभी इतनी बदनाम नहीं हुई थी. शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' के सम्पादकीय ने अफसोस जताया कि ऐसे समय दिल्ली में ट्रंप का स्वागत किया गया जब उसकी सड़कों पर खून-खराबा मचा था. उसने कहा कि हिंसा सीधे तौर पर यह संदेश दे सकती है कि केन्द्र सरकार दिल्ली में कानूव एवं व्यवस्था बनाए रखने में नाकाम रही. शिवसेना ने कहा, 'दिल्ली में हिंसा भड़की. लोग डंडे, तलवार, रिवाल्वर लेकर सड़कों पर आ गए, सड़कों पर खून बिखरा था. दिल्ली में स्थिति एक डरावनी फिल्म की तरह थी, जिसने 1984 के सिख विरोधी दंगों के जख्मों को हरा कर दिया.' उसने कहा कि भाजपा आज भी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुई हिंसा में सैकड़ों सिखों की हत्या के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराती है.

  • 6 जनवरी का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    6 जनवरी का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या में शामिल सतवंत सिंह और केहर सिंह को छह जनवरी के दिन ही फांसी दी गई थी. सतवंत सिंह और बेअंत सिंह इंदिरा गांधी के सुरक्षा कर्मी थे, जिन्होंने 31 अक्टूबर, 1984 को सरकारी आवास पर उन्हें गोली मार दी थी. इस षड्यंत्र में केहर सिंह भी शामिल था.

  • क्या अमिताभ बच्चन की फिल्म जंजीर में 'शेर खान' का करैक्टर डॉन करीम लाला पर आधारित था, 10 बड़ी बातें

    क्या अमिताभ बच्चन की फिल्म जंजीर में 'शेर खान' का करैक्टर डॉन करीम लाला पर आधारित था, 10 बड़ी बातें

    शिवसेना नेता संजय राउत ने 'इंदिरा गांधी मुंबई जाकर (अंडरवर्ल्ड डॉन) करीम लाला से मुलाकात किया करती थीं' वाले बयान को वापस ले लिया है. उन्होंने कहा, "कांग्रेस के हमारे मित्रों को बुरा नहीं मानना चाहिए. अगर किसी को लगता है कि मेरे बयान से इंदिरा गांधी की छवि धूमिल हुई है, या किसी की भावनाएं आहत हुई हैं, तो मैं अपना बयान वापस लेता हूं." बता दें कि पुणे में एक कार्यक्रम में संजय राउत ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी तब के मुंबई के डॉन करीम लाला से मिलने आती थीं. हालांकि मीडिया पर बयान आने के बाद संजय राउत ने सफाई दी. उन्होंने कहा करीम लाला पठानों में काफ़ी लोकप्रिय थे. काफी पठान अपनी समस्या को लेकर आते थे करीम लाला से मिलते थे ऐसे में पठानों की समस्या पर इंदिरा गांधी या कोई भी पीएम हो करीम लाला से मिलते थे. राउत ने कहा कि कोई उनके बयान को तोड़-फोड़ कर दिखाता है तो ये उनकी राजनीतिक मजबूरी है. शिवसेना सांसद ने कहा कि उनके मन में इंदिरा, नेहरू और राजीव गांधी के लिए मन में आदर था और हमेशा रहेगा. हालांकि अब संजय राउत ने भले ही बयान को वापस ले लिया हो लेकिन इस पर विवाद खड़ा हो गया है. करीम लाला को मरे लगभग 18 साल हो चुके हैं और अब आज की पीढ़ी में ये जानने की इच्छा बढ़ गई है कि ये करीम लाला आख़िर था कौन?

  • करीम लाला के पोते ने कहा- मेरे दादा से मिलते रहते थे इंदिरा-राजीव जैसे कई दिग्गज नेता और एक्टर

    करीम लाला के पोते ने कहा- मेरे दादा से मिलते रहते थे इंदिरा-राजीव जैसे कई दिग्गज नेता और एक्टर

    शिवसेना सांसद संजय राउत अपने इस बयान से पीछे हट गए हैं कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने तत्कालीन माफिया डॉन करीम लाला से मुलाकात की थी, लेकिन डॉन के पोते और एक अन्य डॉन हाजी मस्तान के रिश्तेदार ने कहा है कि इसमें कौन सी बड़ी बात है, बहुत से नेता और टॉप के फिल्मी सितारे अंडरवर्ल्ड डॉनों से बढ़िया संबंध रखते थे.

  • संजय राउत ने वापस लिया 'डॉन करीम लाला से मिलने आती थीं इंदिरा गांधी' वाला बयान, कहा- कांग्रेस के मित्रों को आहत...

    संजय राउत ने वापस लिया 'डॉन करीम लाला से मिलने आती थीं इंदिरा गांधी' वाला बयान, कहा- कांग्रेस के मित्रों को आहत...

    उन्होंने कहा, "कांग्रेस के हमारे मित्रों को बुरा नहीं मानना चाहिए. अगर किसी को लगता है कि मेरे बयान से इंदिरा गांधी की छवि धूमिल हुई है, या किसी की भावनाएं आहत हुई हैं, तो मैं अपना बयान वापस लेता हूं." बता दें कि पुणे में एक कार्यक्रम में संजय राउत ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी तब के मुंबई के डॉन करीम लाला से मिलने आती थीं.

  • संजय राउत ने इंदिरा गांधी पर दिया बयान तो संजय निरुपम ने कहा- 'कभी-कभी अधकचरा ज्ञान वीभत्स हो जाता है'

    संजय राउत ने इंदिरा गांधी पर दिया बयान तो संजय निरुपम ने कहा- 'कभी-कभी अधकचरा ज्ञान वीभत्स हो जाता है'

    कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने संजय राउत पर हमला बोलते हुए कहा है कि बेहतर होगा कि शिवसेना के मि.शायर दूसरों की हल्की-फुल्की शायरी सुनाकर महाराष्ट्र का मनोरंजन करते रहें. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी के खिलाफ दुष्प्रचार करेंगे तो उन्हें पछताना पड़ेगा. कल उन्होंने इदिराजी के बारे में जो बयान दिया है वो वापस ले लें.

  • संजय राउत का दावा: 'डॉन करीम लाला से मिलने आती थीं इंदिरा गांधी', कांग्रेस बोली- वापस लें अपना बयान

    संजय राउत का दावा: 'डॉन करीम लाला से मिलने आती थीं इंदिरा गांधी', कांग्रेस बोली- वापस लें अपना बयान

    सामना के संपादक और शिवसेना नेता संजय राउत एक बार फिर अपने बयान से विवाद में घिरते नज़र आ रहे हैं. पुणे में एक कार्यक्रम में संजय राउत ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी तब के मुंबई के डॉन करीम लाला से मिलने आती थीं. मीडिया पर बयान आने के बाद संजय राउत ने सफाई दी है. उन्होंने कहा करीम लाला पठानों में काफ़ी लोकप्रिय थे. काफी पठान अपनी समस्या को लेकर आते थे करीम लाला से मिलते थे ऐसे में पठानों की समस्या पर इंदिरा गांधी या कोई भी पीएम हो करीम लाला से मिलते थे.

  • आज का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    आज का इतिहास: आज ही के दिन इंदिरा गांधी के हत्यारों को दी गई थी फांसी

    देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या में शामिल सतवंत सिंह और केहर सिंह को छह जनवरी के दिन ही फांसी दी गई थी. सतवंत सिंह और बेअंत सिंह इंदिरा गांधी के सुरक्षा कर्मी थे, जिन्होंने 31 अक्टूबर, 1984 को सरकारी आवास पर उन्हें गोली मार दी थी. इस षड्यंत्र में केहर सिंह भी शामिल था. बेअंत सिंह को उसी वक्त मौके पर मौजूद अन्य सुरक्षा कर्मियों ने मार गिराया था.

  • सोनिया गांधी छात्रों के लिए मगरमच्छ के आंसू बहा रही हैं: भाजपा

    सोनिया गांधी छात्रों के लिए मगरमच्छ के आंसू बहा रही हैं: भाजपा

    वित्त मंत्री ने छात्रों के बारे में कांग्रेस के इतिहास पर भी सवाल उठाते हुए पूछा कि क्या ऐसा पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के शासन में नहीं था कि दिल्ली के एक केंद्रीय विश्वविद्यालय के छात्रों को तिहाड़ जेल भेजा गया था. भाजपा नेता ने कहा कि पुलिस ने तब विश्वविद्यालय में प्रवेश किया था और पूरे शैक्षणिक वर्ष को शून्य घोषित करना पड़ा था.

  • बचपन की फोटो शेयर कर प्रियंका गांधी ने किया दादी 'इंदिरा' को याद

    बचपन की फोटो शेयर कर प्रियंका गांधी ने किया दादी 'इंदिरा' को याद

    पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती पर प्रियंका गांधी ने दादी संग एक ब्लैक एंड व्हाइट फोटो ट्वीट किया है. इस फोटो पर प्रियंका ने कैप्शन के तौर पर इंग्लिश कवि अर्नेस्ट हैनली की कविता शेयर की है.

  • Indira Gandhi Birth Anniversary: PM मोदी, सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह ने इंदिरा गांधी को दी श्रद्धांजलि

    Indira Gandhi Birth Anniversary: PM मोदी, सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह ने इंदिरा गांधी को दी श्रद्धांजलि

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इंदिरा गांधी को याद करते हुए ट्वीट किया, "सशक्त, समर्थ नेतृत्व और अद्भुत प्रबंधन क्षमता की धनी, भारत को एक सशक्त देश के रूप में स्थापित करने में अहम भूमिका रखने वाली लौह-महिला और मेरी प्यारी दादी स्व० श्रीमती इंदिरा गांधी जी की जयंती पर शत् शत् नमन."

  • यूपी की पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता राजकुमारी रत्ना सिंह BJP में हुईं शामिल

    यूपी की पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता राजकुमारी रत्ना सिंह BJP में हुईं शामिल

    रत्ना सिंह का परिवार शुरू से ही कांग्रेसी रहा है. इनके परिवार में रामपाल सिंह कांग्रेस के संस्थापक सदस्य थे. वहीं पिता राजा दिनेश सिंह कांग्रेस की सरकार में विदेश मंत्री रहे. वह पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के बहुत करीबी थे. इसके चलते नेहरू-गांधी परिवार उनको बहुत महत्व देता था. बिना सांसद रहे भी उन्हें मंत्री बनाया गया था.

  • Jai Prakash Narayan: कौन थे जयप्रकाश नारायण? जानिए उनसे जुड़ी 10 बातें

    Jai Prakash Narayan: कौन थे जयप्रकाश नारायण? जानिए उनसे जुड़ी 10 बातें

    लोकनायक जयप्रकाश नारायण (Lok Nayak Jai Prakash Narayan) की पुण्यतिथि 8 अक्टूबर को मनाई जाती है. जयप्रकाश नारायण (Jai Prakash Narayan) भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और राजनेता थे. देश में आजादी की लड़ाई से लेकर वर्ष 1977 तक तमाम आंदोलनों में जेपी का अहम रोल रहा है. जेपी (JP Narayan) को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के विरोध के लिए जाना जाता था. कहा जाता है कि उनके आंदोलन की वजह से इंदिरा गांधी के हाथ से सत्ता तक छिन गई थी. लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने भारतीय जनमानस पर अपना अमिट छाप छोड़ी है. जयप्रकाश जी का समाजवाद का नारा आज भी गूंज रहा है. देश की आजादी के लिए स्वतंत्रता संग्राम में शामिल हुए जेपी को तरह-तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने अंग्रेज़ों के सामने घुटने नहीं टेके. आइये जानते हैं जयप्रकाश नारायण के जीवन से जुड़ी 10 बातें.

  • जब पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी हुई थीं गिरफ्तार...और पीएम थे मोरारजी देसाई

    जब पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी हुई थीं गिरफ्तार...और पीएम थे मोरारजी देसाई

    1977 में विदेश मंत्री के रूप में अटल बिहारी वाजपेयी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को हिंदी में संबोधित किया. इस विश्व मंच पर इससे पहले किसी ने हिंदी में भाषण नहीं दिया था.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com