NDTV Khabar

बसपा


'बसपा' - 981 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • मायावती ने तोड़ा सपा के साथ गठबंधन, कहा- आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव BSP अपने बूते लड़ेगी

    मायावती ने तोड़ा सपा के साथ गठबंधन, कहा- आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव BSP अपने बूते लड़ेगी

    बसपा प्रमुख मायावती ने सोमवार को ट्वीट करते हुए कहा, 'लोकसभा आम चुनाव के बाद सपा का व्यवहार बीएसपी को यह सोचने पर मजबूर करता है कि क्या ऐसा करके बीजेपी को आगे हरा पाना संभव होगा? जो संभव नहीं है. इसलिए पार्टी और मूवमेंट के हित में अब बीएसपी आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव अकेले अपने बूते पर ही लड़ेगी.'

  • BSP प्रमुख मायावती ने भाई और भतीजे को पार्टी में दी बड़ी जिम्मेदारी

    BSP प्रमुख मायावती ने भाई और भतीजे को पार्टी में दी बड़ी जिम्मेदारी

    लोकसभा चुनाव के बाद बसपा (BSP) प्रमुख मायावती (Mayawati) ने पार्टी नेताओं के साथ बैठक कर कई बड़ी घोषणाएं की. मायावती ने अपने भाई आनंद कुमार (Anand Kumar) को बसपा का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया, वहीं भतीजे आकाश आनंद (Akash Anand) को नेशनल कॉर्डिनेटर बनाया है. इसके अलावा दानिश अली को लोकसभा में बहुजन समाजवादी पार्टी का नेता बनाया गया है. पार्टी सूत्रों के मुताबिक, देश के सभी राज्यों में पार्टी को मजबूत करने के लिए आकाश आनंद को अहम जिम्मेदारी दी गई है. 

  • लोकसभा चुनाव के बीच रेप का आरोप लगने के बाद फरार चल रहे BSP सांसद ने किया सरेंडर

    लोकसभा चुनाव के बीच रेप का आरोप लगने के बाद फरार चल रहे BSP सांसद ने किया सरेंडर

    उत्तर प्रदेश की घोसी लोकसभा सीट से बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) के सांसद और दुष्कर्म के एक मामले में आरोपी अतुल राय (Atul Rai) ने शनिवार को वाराणसी की एक अदालत में समर्पण कर दिया. उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. इस दौरान राय के साथ उनके सैकड़ों समर्थक मौजूद रहे और नारे लगाते रहे. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के बीच में ही एक छात्रा ने अतुल राय (Atul Rai) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई थी.

  • TDP के राज्यसभा सदस्य बीजेपी में शामिल हुए, तो मायावती बोलीं- 'पहले वे माल्या थे, अब दूध के धुले हो गए'

    TDP के राज्यसभा सदस्य बीजेपी में शामिल हुए, तो मायावती बोलीं- 'पहले वे माल्या थे, अब दूध के धुले हो गए'

    चंद्रबाबू नायडू की पार्टी TDP के चार राज्यसभा सदस्यों के बीजेपी में शामिल होने पर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने शुक्रवार को भाजपा पर तंज कसा. मायावती ने कहा, 'टीडीपी के जो सदस्य बीजेपी में शामिल हुए हैं उनमें से दो को आंध्र प्रदेश का माल्या कहा जाता है लेकिन बीजेपी में आकर अब वे दूध के धुले हो गए हैं'.

  • निजी विश्वविद्यालयों के लिए लाए गए कानून को लेकर मायावती का योगी सरकार पर हमला, Tweet कर कही यह बात...

    निजी विश्वविद्यालयों के लिए लाए गए कानून को लेकर मायावती का योगी सरकार पर हमला, Tweet कर कही यह बात...

    बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने गुरुवार को यूपी की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार पर 'निजी विश्वविद्यालयों पर शिकंजा कसने वाले कानून' को लेकर निशाना साधा.

  • ‘एक देश एक चुनाव’ का मायावती ने किया विरोध, EVM को भी लोकतंत्र और संविधान के लिए बताया खतरा

    ‘एक देश एक चुनाव’ का मायावती ने किया विरोध, EVM को भी लोकतंत्र और संविधान के लिए बताया खतरा

    उन्होंने ईवीएम को भी चुनावी प्रक्रिया के लिए नुक़सानदायक बताते हुए कहा कि मतपत्र के बजाए ईवीएम के माध्यम से चुनाव कराने की सरकार की जिद से देश के लोकतंत्र तथा संविधान को असली खतरा है. मायावती ने ‘एक देश एक चुनाव’ के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुधवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में भी बसपा के शामिल नहीं होने का स्पष्ट संकेत भी दिया.

  • चुनाव में हार की समीक्षा के लिए हुई बैठक, कार्यकर्ताओं ने नेताओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, देखें -VIDEO

    चुनाव में हार की समीक्षा के लिए हुई बैठक, कार्यकर्ताओं ने नेताओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, देखें -VIDEO

    महाराष्ट्र के अमरावती में सोमवार को बहुजन समाज पार्टी (BSP) की बैठक में जमकर हंगामा हुआ. बैठक में पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच विवाद होने के बाद मारपीट हुई और उन्होंने एक नेता को न सिर्फ मारा बल्कि उसके कपड़े भी फाड़ दिए.

  • रोजगार के मुद्दे पर BSP प्रमुख मायावती ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, पूछा- क्या सरकार की नीतियां जिम्मेदार नहीं?

    रोजगार के मुद्दे पर BSP प्रमुख मायावती ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, पूछा- क्या सरकार की नीतियां जिम्मेदार नहीं?

    बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना है और बढ़ती बेरोजगारी को राष्ट्रीय समस्या करार देते हुए इसके लिए सरकार की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया है.

  • मायावती ने SAARC देशों को लेकर पीएम मोदी की विदेश नीति पर उठाए सवाल, कहा- पड़ोसी से झगड़ा कर कोई नहीं रह सकता खुश

    मायावती ने SAARC देशों को लेकर पीएम मोदी की विदेश नीति पर उठाए सवाल, कहा- पड़ोसी से झगड़ा कर कोई नहीं रह सकता खुश

    बसपा अध्यक्ष मायावती ने बीजेपी की अगुवाई वाली मोदी सरकार पर दक्षिण एशियाई देशों के संगठन दक्षेस को नजरंदाज करने का आरोप लगाया है. मायावती ने कहा कि यह नीति भारत के हित में नहीं है

  • अकेला हाथी किसका साथी...

    अकेला हाथी किसका साथी...

    मायावती ने एकला चलो रे का एलान कर दिया है मतलब उत्तर प्रदेश में जो 11 उपचुनाव होन वाले हैं उसमें बीएसपी अपने उम्मीदवार खड़े करेगी मगर जो तर्क मायावती ने दिए उसकी जांच पड़ताल करनी जरूरी है. मायावती ने कहा कि उनके एकला चलो रे के पीछे वजह है कि समाजवादी पार्टी के वोट बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवारों को नहीं मिले.

  • मायावती से गठबंधन टूटने पर बोले अखिलेश यादव- मैं विज्ञान का छात्र रहा हूं और यह एक प्रयोग था जो फेल हुआ...

    मायावती से गठबंधन टूटने पर बोले अखिलेश यादव- मैं विज्ञान का छात्र रहा हूं और यह एक प्रयोग था जो फेल हुआ...

    यूपी में हुए लोकसभा चुनावों के लिए किया गया सपा और बसपा का गठबंधन सफल नहीं हुआ. इस वजह से बसपा सुप्रीमो मायावती ने अखिलेश यादव से दूरी बना ली और गठबंधन तोड़ने का ऐलान कर दिया. अब अखिलेश ने इस मामले में बयान दिया है.

  • मध्यप्रदेश की झाबुआ विधानसभा सीट पर टिकी नजरें, उपचुनाव से जुड़ा बड़ा सियासी गणित

    मध्यप्रदेश की झाबुआ विधानसभा सीट पर टिकी नजरें, उपचुनाव से जुड़ा बड़ा सियासी गणित

    झाबुआ-रतलाम लोकसभा सीट से चुनाव जीते बीजेपी के जीएस डामोर सांसद बने रहेंगे. उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा देने का फैसला किया है. डामोर झाबुआ सीट से विधायक थे. उनके इस ऐलान के साथ ही मध्यप्रदेश में अब झाबुआ विधानसभा सीट पर उप चुनाव होना तय है.

  • मायावती ने कहा- रिश्‍ता वही, गठबंधन नहीं; विधानसभा उपचुनाव अपने दम पर

    मायावती ने कहा- रिश्‍ता वही, गठबंधन नहीं; विधानसभा उपचुनाव अपने दम पर

    मायावती ने कहा कि समीक्षा बैठक में जो बात निकलकर सामने आई उस पर हमें सोचने को मजबूर होना पड़ा. इसके बाद से यह साफ हो गया कि उत्‍तर प्रदेश में अब बसपा और सपा के बीच का गठबंधन खत्‍म हो गया है. मायावती ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी पुष्टि भी कर दी. हालांकि मायावती ने साफ कहा कि अखिलेश यादव से हमारे रिश्‍ते हमेशा बने रहेंगे. अखिलेश यादव और डिम्‍पल यादव ने मुझे बहुत इज्‍जत दी है और मैंने भी उन लोगों को परिवार की तरह माना है.

  • अखिलेश-डिंपल से रिश्तों पर बोलीं मायावती- सारे मतभेद भूलकर मैंने भी उन्हें परिवार माना

    अखिलेश-डिंपल से रिश्तों पर बोलीं मायावती- सारे मतभेद भूलकर मैंने भी उन्हें परिवार माना

    बसपा सुप्रीमो ने कहा कि हमारे ये रिश्ते केवल अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए नहीं बने हैं, बल्कि ये रिश्ते आगे भी हर सुख दुख की घड़ी में  हमेशा ऐसे ही बने रहेंगे.

  • मायावती ने दोबारा अखिलेश से हाथ मिलाने के दिए संकेत, पर उसके लिए रखी एक शर्त

    मायावती ने दोबारा अखिलेश से हाथ मिलाने के दिए संकेत, पर उसके लिए रखी एक शर्त

    अखिलेश यादव के साथ दोबारा से हाथ मिलाने का संकेत देते हुए मावायती ने कहा, 'सपा और बसपा स्थाई तौर पर अलग-अलग नहीं हुए हैं. यदि हम भविष्य में महसूस करते हैं कि सपा प्रमुख अपने राजनीतिक कार्य में सफल होते हैं, तो हम फिर से एक साथ काम करेंगे. लेकिन अगर वह सफल नहीं होते हैं, तो हमारे लिए अलग से काम करना अच्छा रहेगा. इसलिए हमने अकेले उपचुनाव लड़ने का फैसला किया है."

  • यूपी में मायावती के उप-चुनाव अकेले लड़ने के फैसले के बाद अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर दिया बयान, कही यह बात...

    यूपी में मायावती के उप-चुनाव अकेले लड़ने के फैसले के बाद अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर दिया बयान, कही यह बात...

    उन्होंने (Akhilesh Yadav) इशारों में सपा की हार का ठीकरा मीडिया के सिर फोड़ते हुए कहा कि बताइए हर दिन टीवी पर कौन दिखता था, किसका टीवी था? वे हमारे दिमाग में टीवी और मोबाइल से खेले. यह अलग किस्म की लड़ाई थी, हम इस लड़ाई को नहीं समझ पाए. जिस दिन हम इस लड़ाई को समझ जाएंगे उस दिन जीत जाएंगे. अखिलेश यादव ने कहा कि विरोधी काफी ताकतवर हैं लेकिन सामाजिक गठबंधन के जरिए उन्हें मात देने का प्रयास निरंतर जारी रहेगा.

  • यूपी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भविष्यवाणी 100% सच साबित हुई, जानिये PM ने क्या कहा था? 10 बातें...

    यूपी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भविष्यवाणी 100% सच साबित हुई, जानिये PM ने क्या कहा था? 10 बातें...

    यूपी में बना महागठबंधन (Mahagathbandhan) पहले लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Elections) में अपने लक्ष्य पाने में नाकाम रहा और उसके बाद अब वह टूटता नज़र आ रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के साथ-साथ कई नेताओं ने बुआ-बबुआ की जोड़ी को चुनाव परिणाम के बाद टूटने की बात कही थी. बता दें कि दिल्ली में कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठक में मायावती (Mayawati) ने साफ कर दिया कि विधानसभा की 11 सीटों पर होने वाले उपचुनावों में BSP अकेले लड़ेगी. वैसे ये भी एक नया चलन है, क्योंकि बीएसपी (BSP) आम तौर पर उपचुनाव लड़ने से अब तक परहेज करती रही है, लेकिन आज की बैठक में मायावती ने जो कुछ कहा, उससे साफ है कि वो नई राजनीतिक लड़ाई लड़ने की तैयारी कर रही हैं और गठबंधन उनके लिए अप्रासंगिक हो रहा है. बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले 12 जनवरी को उत्तर प्रदेश की राजनीति के दो कट्टर प्रतिद्वंद्वी समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने मिलकर आम चुनाव लड़ने का ऐतिहासिक फैसला लिया था, लेकिन चुनाव में इस गठबंधन को उम्मीद के मुताबिक कामयाबी नहीं मिली. बसपा के खाते में 10 सीटें आईं, जबकि सपा को 5 सीट से ही संतोष करना पड़ा. हालांकि गठबंधन तोड़ने का ऐलान अभी तक बसपा प्रमुख मायावती ने औपचारिक रूप से नहीं किया है. इन सबके बाद अब पीएम नरेंद्र मोदी की यह भविष्यवाणी सच साबित हो गई कि चुनाव बात यह गठबंधन टूट जाएगा. पीएम मोदी के साथ-साथ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी चुनाव बाद इस गठबंधन के टूटने की बात कही थी.

  • सपा-बसपा की राह हुई अलग? इन 5 वजहों से टूट गया गठबंधन

    सपा-बसपा की राह हुई अलग? इन 5 वजहों से टूट गया गठबंधन

    समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच लोकसभा चुनाव से पहले हुए गठबंधन का अंत हो गया है. हालांकि इसकी कोई अभी तक औपचारिक घोषणा नहीं हुई है लेकिन मायावती ने 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में अकेले दम पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर गठबंधन की स्‍थ‍िति साफ कर दी है. इस मसले पर अभी सपा की ओर से कोई बयान नहीं आया है. सपा-बसपा गठबंधन को पहले भी राजनीतिक विश्‍लेषक बेमेल समझौता बताते आ रहे थे. इस दौरान मायावती की चालाकी का भी जिक्र आया कि कैसे उन्‍होंने अखिलेश यादव के खाते में उन सीटों को दे दिया जिस पर उनकी जीत की कोई गुंजाइश नहीं बन पा रही थी. लखनऊ, गोरखपुर, बनारस, गाजियाबद जैसी लोकसभा सीटें इसके उदाहरण हैं. गठबंधन को लेकर सपा के संस्‍थापक और पूर्व मुख्‍यमंत्री मुलायम सिंह यादव खुश नहीं थे. अपनी नाराजगी उन्‍होंने साफ जाहिर कर दी थी. सपा से अलग होकर शिवपाल सिंह यादव ने अपनी पार्टी बनाई और अपने उम्‍मीदवार सभी सीटों पर उतारे. शिवपाल यादव ने भी इस गठबंधन का मजाक उड़ाया था. गेस्‍ट हाउस कांड का भी जिक्र आया लेकिन कहा गया कि दोनों पार्टियां अब इस हादसे से उबर चुकी हैं. मंच पर मायावती के साथ मुलायम और अखिलेश की कई तस्‍वीरें सामने आईं. हालांकि एक चुनावी भाषण में मायावती यह कहने से नहीं चूकीं कि सपा के कार्यकर्ताओं को बसपा के लोगों से काफी कुछ सीखने की जरूरत है.