NDTV Khabar

बसपा


'बसपा' - 721 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • देश के इकलौते 'खुशहाल मंत्री' के लिए साल 2018 जाते-जाते लेकर आया बुरी खबर

    देश के इकलौते 'खुशहाल मंत्री' के लिए साल 2018 जाते-जाते लेकर आया बुरी खबर

    शिवराज सिंह चौहान के मध्य प्रदेश का चौथी बार सीएम बनने का सपना कांग्रेस ने तोड़ दिया. करीब 24 घंटे मतगणना प्रक्रिया चलने के बाद बुधवार को कांग्रेस पार्टी राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी. हालांकि, वह बहुमत से आंकड़े से दो सीट दूर 114 पर रह गई. इसके बाद बसपा और सपा ने कांग्रेस के समर्थन देने का एलान कर दिया. कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में राज्यपाल से मिलकर दावा भी पेश कर दिया है.

  • समर्थन देने के बाद मायावती ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- जनता ने दिल पर पत्थर रखकर जिताई हैं इतनी सीटें

    समर्थन देने के बाद मायावती ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- जनता ने दिल पर पत्थर रखकर जिताई हैं इतनी सीटें

    मायावती ने कहा कि यदि इस मामले में राजस्थान में भी कांग्रेस को बसपा के समर्थन जरूरत महसूस हुई तो वहां भी भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस को समर्थन दिया जा सकता है. बता दें कि मध्य प्रदेश और राजस्थान में भाजपा व कांग्रेस में से किसी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है. इन राज्यों में बसपा को मध्य प्रदेश में दो और राजस्थान में छह सीटें मिली है. वहीं मध्य प्रदेश में सामान्य बहुमत के जादुई आंकड़े से महज दो सीट पीछे रही कांग्रेस को 114 और भाजपा को 109 सीट मिली हैं जबकि राजस्थान में कांग्रेस ने 99 और भाजपा ने 73 सीटें जीती हैं.

  • मध्य प्रदेश में कांग्रेस का सियासी वनवास खत्म, मगर किसका होगा राजतिलक, अब भी बड़ा सवाल

    मध्य प्रदेश में कांग्रेस का सियासी वनवास खत्म, मगर किसका होगा राजतिलक, अब भी बड़ा सवाल

    मध्य प्रदेश विधानसभा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरने के साथ ही कांग्रेस ने अपना सियासी वनवास खत्म कर लिया है. राज्य में करीब 15 साल तक सत्ता से बाहर रही कांग्रेस लिए यह जश्न का वक्त है क्योंकि बसपा और सपा के साथ मिलकर कांग्रेस सरकार बनाती दिख रही है. मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में सभी 230 सीटों के परिणाम आने के बाद 114 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी कांग्रेस ने प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश किया है. हालांकि, कांग्रेस की सरकार मध्य प्रदेश में बनती तो दिख रही है, जिसके लिए कांग्रेस ने राज्यपाल से मिलने का समय मांगा है और राजभवन ने अपनी सहमति भी जता दी है. मगर अभी बड़ा सवाल है कि आखिर कांग्रेस मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के तौर पर किसका राजतिकल करेगी. मध्य प्रदेश की ताज का सरताज कौन होगा यह अब भी बड़ा सवाल है. क्योंकि दावेदार दो बताए जा रहे हैं- कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया. 

  • मायावती ने पहले कांग्रेस को फटकारा, फिर समर्थन देने का किया एलान, कहा- भाजपा को सत्ता से दूर रखना है

    मायावती ने पहले कांग्रेस को फटकारा, फिर समर्थन देने का किया एलान, कहा- भाजपा को सत्ता से दूर रखना है

    मायावती ने मध्य प्रदेश और राजस्थान में कांग्रेस को समर्थन देने का एलान किया. उन्होंने कहा, 'भाजपा को सत्ता से बाहर रखने के लिए हमारी पार्टी ने यह चुनाव लड़ा था. दुख की बात है कि हमारी पार्टी इसमें उस तरह से कामयाब नहीं हो पाई. भाजपा अभी भी सत्ता में आने के लिए जोर-तोड़ कर रही है. इसलिए हमने कांग्रेस पार्टी को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने का फैसला किया है. भाजपा को सत्ता से दूर रखने का यही तरीका है. अगर राजस्थान में भी जरूरत हुई, तो वहां भी भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए बसपा समर्थन दे सकती है.'

  • MP में सियासी टि्वस्ट: कांग्रेस के बाद अब BJP करेगी सरकार बनाने का दावा, बोली- कई संपर्क में हैं

    MP में सियासी टि्वस्ट: कांग्रेस के बाद अब BJP करेगी सरकार बनाने का दावा, बोली- कई संपर्क में हैं

    मध्य प्रदेश की 230 सीटों में से 114 कांग्रेस को, 109 भाजपा को, दो बसपा को, एक सपा को और चार सीटें अन्य को मिली हैं. यहां सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूरत है.

  • शिवराज सिंह चौहान खुद तो बच गए, पर उनके 11 मंत्री नहीं बचा पाए अपनी सीट, जानें किस-किस ने दी शिकस्त

    शिवराज सिंह चौहान खुद तो बच गए, पर उनके 11 मंत्री नहीं बचा पाए अपनी सीट, जानें किस-किस ने दी शिकस्त

    कांग्रेस को 230 सीटों में से 114 पर जीत हासिल हुई है, वहीं दूसरे नंबर पर भाजपा रही जिसके खाते में 109 सीटें आई हैं. इसके अलावा बसपा ने दो, सपा ने एक और अन्य ने चार सीटों पर कब्जा किया है. कांग्रेस बहुमत के आंकड़े से दो सीट दूर रह गई. शिवराज सिंह चौहान ने बुधनी सीट पर कांग्रेस के अरुण सुभाष चंद्र को करीब 59 हजार वोटों से हराया है.

  • एमपी में देर रात सियासी ड्रामा: कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा, राज्यपाल बोलीं- पूरे नतीजे तो आने दीजिए

    एमपी में देर रात सियासी ड्रामा: कांग्रेस ने पेश किया सरकार बनाने का दावा, राज्यपाल बोलीं- पूरे नतीजे तो आने दीजिए

    बुधवार सुबह छह तक आए चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने 230 में से 112 सीटों पर जीत दर्ज कर ली है, जबकि तीन सीटों पर आगे चल रही है. अगर जिन सीटों पर कांग्रेस आगे चल रही है, उन पर भी वह जीत हासिल कर लेती है तो भी वह बहुमत से एक सीट पीछे रहेगी. ऐसे में कांग्रेस बसपा, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी और निर्दलीय उम्मदीवारों से संपर्क में है.

  • Rajasthan Election Results 2018: राजस्थान में सचिन पायलट ने कैसे किया करिश्मा, 10 खास बातें

    Rajasthan Election Results 2018: राजस्थान में सचिन पायलट ने कैसे किया करिश्मा, 10 खास बातें

    Election Results 2018: राजस्थान विधानसभा चुनाव (Rajasthan Election Results) की मतगणना में सभी 199 सीटों के रुझान आ गए हैं. अब तक कांग्रेस को 101 सीटों पर बढ़त मिलती दिख रही है, वहीं बीजेपी के उम्मीदवारों ने 73 सीटों पर बढ़त बनाई है. दूसरी तरफ, बहुजन समाज पार्टी और अन्य उम्मीदवारों ने भी बेहतर प्रदर्शन किया है. बसपा को 6 तो अन्य उम्मीदवारो को 19 सीटों पर बढ़त मिलती दिख रही है. राजस्थान में (Rajasthan Election Results) में कांग्रेस की वापसी के संकेत देख पार्टी कार्यकर्ता जश्न के मोड में हैं. दिल्ली में पार्टी दफ्तर के बाहर कार्यकर्ता एक दूसरे का मुंह मीठा कराने के साथ पटाखे फोड़कर जश्न मना रहे हैं. राजस्थान में जीत का श्रेय सचिन पायलट (Sachin Pilot) को भी दिया जा रहा है. वह मुख्यमंत्री पद के दावेदार भी हैं. आइये आपको बताते हैं कि कैसे सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने 'महारानी' (Vasundhara Raje) को सत्ता से बेदखल कर कांग्रेस को जीत की दहलीज पर खड़ा कर दिया है. 

  • मध्यप्रदेश : राजधानी भोपाल की सीटों पर आ सकते हैं चौंकाने वाले चुनाव परिणाम

    मध्यप्रदेश : राजधानी भोपाल की सीटों पर आ सकते हैं चौंकाने वाले चुनाव परिणाम

    मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की सीटों पर इस बार का विधानसभा चुनाव काफी फेरबदल करा सकता है. बीजेपी का गढ़ बन चुकीं छह सीटों पर जहां कांग्रेस ने इस बार जोर लगाया वहीं आम आदमी पार्टी ने भी दम लगाया है. इसके अलावा सपा, बसपा समेत कई छोटे दल चुनाव में जोरआजमाइश कर चुके हैं. बीजेपी हो या कांग्रेस, इस बार इन दोनों प्रमुख दलों के लिए बागी प्रत्याशी भी परेशानी का कारण बने रहे हैं.

  • विपक्षी दलों की बैठक आज: क्या महागठबंधन की कवायद को मायावती दे सकती हैं झटका

    विपक्षी दलों की बैठक आज: क्या महागठबंधन की कवायद को मायावती दे सकती हैं झटका

    बैठक में बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती नदारद रह सकती हैं. सूत्रों के मुताबिक मायावती कांग्रेस से नाराज चल रही है, जिसकी वजह से वह इस बैठक से दूर रह सकती हैं. ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या मायावती महागठबंधन की कवायद को झटका देने की तैयारी में हैं? वहीं दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जो कि हमेशा ऐसी बैठकों से दूर रहते हैं, वह इस बार शामिल होने के लिए मान गए हैं. बताया जा रहा है कि राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बसपा के साथ सीटों के बंटवारे पर बात नहीं बन पाने के बाद मायावती कांग्रेस से नाराज चल रही हैं.

  • विपक्षी दलों की बैठक आज: क्या महागठबंधन की कवायद को मायावती दे सकती हैं झटका

    विपक्षी दलों की बैठक आज: क्या महागठबंधन की कवायद को मायावती दे सकती हैं झटका

    बैठक में बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती नदारद रह सकती हैं. सूत्रों के मुताबिक मायावती कांग्रेस से नाराज चल रही है, जिसकी वजह से वह इस बैठक से दूर रह सकती हैं. ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या मायावती महागठबंधन की कवायद को झटका देने की तैयारी में हैं? वहीं दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जो कि हमेशा ऐसी बैठकों से दूर रहते हैं, वह इस बार शामिल होने के लिए मान गए हैं. बताया जा रहा है कि राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बसपा के साथ सीटों के बंटवारे पर बात नहीं बन पाने के बाद मायावती कांग्रेस से नाराज चल रही हैं.

  • Rajasthan Assembly Elections Exit Polls: राजस्थान में इतिहास नहीं बना पाएगी बीजेपी, कांग्रेस के हाथ में आ सकती है सत्ता

    Rajasthan Assembly Elections Exit Polls: राजस्थान में इतिहास नहीं बना पाएगी बीजेपी, कांग्रेस के हाथ में आ सकती है सत्ता

    Rajasthan Assembly Elections : एनडीटीवी के पोल ऑफ एग्जिट पोल्‍स के अनुसार यहां कांग्रेस को 110 सीटें मिलती दिख रही हैं जबकि बीजेपी को 78 सीटें. बसपा के खाते में एक सीट जाती दिख रही है जबकि अन्‍य 10 सीटों पर जीत सकते हैं.

  • बसपा प्रमुख मायावती ने किया बीजेपी पर हमला, कहा- देवताओं को जाति में बांटने वालों से जनता सावधान रहे

    बसपा प्रमुख मायावती ने किया बीजेपी पर हमला, कहा- देवताओं को जाति में बांटने वालों से जनता सावधान रहे

    उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भगवान हनुमान को दलित समुदाय का बताने वाले कथित बयान का जिक्र करते हुए कहा था कि वोट और चुनावी स्वार्थ की राजनीति में भाजपा के वरिष्ठ नेतागण इतना गिर गये हैं कि अब वे हिन्दू देवी-देवताओं और आस्थाओं को भी नहीं बख्श रहे हैं.

  • विपक्षी एकता को झटका? 10 दिसंबर को विपक्ष की बैठक से नदारद रह सकती हैं मायावती, जानें क्या हैं इसके मायने

    विपक्षी एकता को झटका? 10 दिसंबर को विपक्ष की बैठक से नदारद रह सकती हैं मायावती, जानें क्या हैं इसके मायने

    2019 के लोकसभा चुनाव में महागठबंधन में अहम भूमिका निभाने वाली मायावती के विपक्षी पार्टियों की बैठक में शामिल नहीं होने की आशंका जताई जा रही है. कांग्रेस सूत्रों ने एनडीटीवी को बताया कि मायावती के प्रतिनिधि सतीश चंद्र मिश्रा को मनाने की काफी कोशिश की गई, लेकिन कामयाबी नहीं मिली. उनका कहना है कि इसके पीछे राजस्थान और मध्य प्रदेश में बसपा के साथ गठबंधन न होना हो सकता है.

  • विधानसभा चुनाव : मध्यप्रदेश और मिजोरम में आज मतदान, कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए

    विधानसभा चुनाव : मध्यप्रदेश और मिजोरम में आज मतदान, कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए

    मध्यप्रदेश और मिजोरम में बुधवार को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होगा. इसके लिए प्रशासन ने कड़े सुरक्षा इंतजाम किए हैं. मध्यप्रदेश में विधानसभा की सभी 230 सीटों के लिए और मिजोरम की सभी 40 सीटों के लिए मतदान होगा.

  • केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने की उद्धव ठाकरे की तारीफ, बोलीं- राम मंदिर पर भाजपा का पेटेंट नहीं, भगवान राम सबके हैं

    केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने की उद्धव ठाकरे की तारीफ, बोलीं- राम मंदिर पर भाजपा का पेटेंट नहीं, भगवान राम सबके हैं

    उमा भारती ने कहा, 'उद्धव ठाकरे की कोशिश की सराहना करती हूं. राम मंदिर पर भाजपा का पेटेंट नहीं है, भगवान राम सबके हैं. मैं सपा, बसपा, अकाली दल, ओवैसी और आजम खान जैसों लोगों से राम मंदिर निर्माण के लिए आगे आने की अपील करती हूं.' बता दें, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे रविवार को अयोध्या पहुंचे थे. अयोध्या में उन्होंने राम मंदिर निर्माण को लेकर सरकार पर निशाना साधा.

  • मध्य प्रदेश चुनाव: जानें, पांच साल में किस पार्टी के विधायकों की बढ़ी कितनी सपंत्ति?

    मध्य प्रदेश चुनाव: जानें, पांच साल में किस पार्टी के विधायकों की बढ़ी कितनी सपंत्ति?

    एडीआर की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक साल 2013 में भाजपा के इन 107 विधायकों की औसतन संपत्ति 4,60,45,135 रुपए की थी, जो कि बढ़कर अब 8,50,19,640 हो गई हैं. वहीं कांग्रेस की बात करें तो इसके 53 विधायकों की पांच साल पहले औसत संपत्ति 6,59,01,990 रुपए थे, जो कि अब बढ़कर 9,82,58,294 रुपए की हो गई है. बसपा के चार विधायकों की संपत्ति पांच साल पहले 3,22,82,334 रुपए थी, जो अब बढ़कर 7,74,71,988 रुपए हो गई है.

  • बसपा मुखिया मायावती के करीबी बताए जाने वाले बिल्डर को भरना पड़ा 15.5 करोड़ का बकाया

    बसपा मुखिया मायावती के करीबी बताए जाने वाले बिल्डर को भरना पड़ा 15.5 करोड़ का बकाया

    गौतम बुद्ध नगर जिला प्रशासन ने दीपक बंसल नामक बिल्डर से शुक्रवार को 15 करोड़ 63 लाख रुपये की वसूली की.बिल्डर बसपा मुखिया मायावती का करीबी बताया जाता है.

Advertisement