NDTV Khabar

बिहार मंत्रिमंडल


'बिहार मंत्रिमंडल' - 85 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • कोरोना वायरस से जंग के साथ ही सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार के बीच होड़ भी जारी?

    कोरोना वायरस से जंग के साथ ही सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार के बीच होड़ भी जारी?

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके मंत्रिमंडल में उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी में इन दिनों एक अघोषित दौड़ चल रही है. ये प्रतियोगिता दोनों नेताओं में अपनी-अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद क़ायम करने की है. हालांकि इस रेस में सुशील मोदी और उनकी पार्टी नीतीश कुमार और उनके जनता दल यूनाइटेड से कोसों आगे हैं. लेकिन सुशील मोदी और भाजपा को शायद इस बात का अहसास नहीं रहा होगा कि नीतीश अपने पार्टी की कमान कोरोना संकट के दौरान हर दिन प्रशासनिक काम के साथ-साथ खुद सम्भालेंगे.

  • दिल्ली से बिहार चले प्रवासी मजदूरों के ट्रेन किराये को लेकर अरविंद केजरीवाल और नीतीश कुमार में क्यों ठनी?

    दिल्ली से बिहार चले प्रवासी मजदूरों के ट्रेन किराये को लेकर अरविंद केजरीवाल और नीतीश कुमार में क्यों ठनी?

    दरअसल मार्च महीने के अंतिम हफ़्ते में जब दिल्ली से प्रवासी मज़दूरों को बस से बिहार भेजने का पूरा घटना क्रम सामने आया तो नीतीश मंत्रिमंडल के कई सदस्य दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ख़िलाफ़ बयानबाज़ी करते नजर आए. इसमें उन्हें भाजपा के सदस्यों का भी साथ मिला. 

  • अब तक 122 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलीं, सवा लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूर मंजिल तक पहुंचाए गए: रेलवे

    अब तक 122 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलीं, सवा लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूर मंजिल तक पहुंचाए गए: रेलवे

    मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया है, ‘(अवर मुख्य सचिव) नितिन करीर ने मंत्रिमंडल को सूचित किया है कि अबतक राज्य से 25 विशेष ट्रेनें प्रवासी मजदूरों को लेकर रवाना हुईं। पश्चिम बंगाल और कर्नाटक अपवाद हैं.’ इस बीच, कर्नाटक सरकार ने मंगलवार को अगले पांच दिनों में राज्य से चलने वाली 10 ट्रेनों को रद्द कर दिया. हालांकि उसने कहा कि बेंगलुरु से बिहार के लिए तीन ट्रेन तयशुदा कार्यक्रम के अनुसार रवाना होंगी.

  • प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार को बताया BJP का 'पिछलग्गू', इस आरोप में कितना है दम?

    प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार को बताया BJP का 'पिछलग्गू', इस आरोप में कितना है दम?

    प्रशांत किशोर का कहना है कि जब वो उन्हें 'पिछलग्गू' कहते हैं तो उनके जैसे लोगों के सामने नीतीश कुमार का वह दृश्य होता हैं, जब वह सार्वजनिक मंच से पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा देने की मांग करते हैं और प्रधानमंत्री खारिज कर देते हैं. इसके अलावा जब वह लोकसभा चुनाव में 40 में से 39 सीटों पर जीत दिलाते हैं लेकिन केंद्रीय मंत्रिमंडल में उनकी अनुपातिक प्रतिनिधित्व की मांग खारिज कर दी जाती है.

  • तेजस्वी यादव ने सीबीआई और बिहार सरकार को क्यों घेरा?

    तेजस्वी यादव ने सीबीआई और बिहार सरकार को क्यों घेरा?

    मुजफ्फरपुर बालिका गृह बलात्कार कांड (Muzaffarpur Rape Case) में जांच एजेंसी सीबीआई (CBI) ने सर्वोच्च न्यायालय को बताया था कि उसने किसी बच्ची का शव बरामद नहीं किय. जो कंकाल मिला था वो किसी वयस्क व्यक्ति का था. इसके बाद इस मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर पर अब हत्या का कोई मामला नहीं चलेगा. लेकिन विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) का कहना है कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह बलात्कार पीड़ित 34 बच्चियों ने बताया था कि उनकी 2-3 साथियों की जघन्य दुष्कर्म के बाद दरिंदगी से हत्या कर शव वहीं उसी कॉम्पाउंड मे गाड़ दिए थे. खोदने पर उनके कंकाल भी मिले लेकिन अब नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और उनके भाजपा (BJP) के मंत्रियों को बचाने के लिए CBI कहानी पलट रही है.

  • नीतीश कुमार के कई मंत्री उनसे भी ज्यादा अमीर, जानें मंत्रिमंडल में शामिल नेताओं की संपत्ति का ब्यौरा

    नीतीश कुमार के कई मंत्री उनसे भी ज्यादा अमीर, जानें मंत्रिमंडल में शामिल नेताओं की संपत्ति का ब्यौरा

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके कई मंत्रिमंडल सहयोगी चल और अचल संपत्ति के मामले में अमीर हैं. इसका खुलासा एक बार फिर हर साल के अंत में नीतीश कुमार समेत उनके मंत्रिमंडल के सहयोगियों द्वारा अपनी चल और अचल संपती सार्वजनिक करने के बाद हुआ है. जहां सबसे अमीर मंत्रियों में इस बार भी नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा, महेश्वर हज़ारी और पिछले साल मंत्रिमंडल में शामिल संजय झा रहे वहीं सूचना जनसम्पर्क मंत्री नीरज कुमार हर पैमाने पर सामान्य श्रेणी में आते हैं.

  • झारखंड में BJP की हार से क्यों खुश न हों नीतीश कुमार, आखिर वह सही साबित हुए

    झारखंड में BJP की हार से क्यों खुश न हों नीतीश कुमार, आखिर वह सही साबित हुए

    झारखंड में बीजेपी की सरकार चली गई और इस परिणाम से  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी खुश हो सकते हैं और इसमें ख़ुश होने के कई कारण हैं. सबसे पहले नीतीश कुमार को अब इस बात का विश्वास हैं कि बीजेपी अपने सहयोगियों से ढंग से बर्ताव करेगी. नीतीश लोकसभा चुनाव के बाद उस घटनाक्रम को अभी तक नहीं भूले हैं जिसमें केंद्रीय मंत्रिमंडल में अनुपातिक प्रतिनिधित्व की मांग को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैसे ठुकराया दिया था.

  • बिहार: इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान में होगी 383 पदों पर भर्तियां, सरकार ने दी स्वीकृति

    बिहार: इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान में होगी 383 पदों पर भर्तियां, सरकार ने दी स्वीकृति

    बिहार राज्य मंत्रिपरिषद ने पटना स्थित इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान :आईजीसी: के लिए मंगलवार को 383 नए पदों को स्वीकृति प्रदान की. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को संपन्न मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग के प्रधान सचिव दीपक प्रसाद ने बताया कि इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान, के कुल 07 अनुपयोगी पदों को प्रत्यर्पित करते हुए विभिन्न स्तर के चिकित्सीय, प्रशासनिक, तकनीकी एवं गैर-तकनीकी स्तर के कुल 383 (तीन सौ तेरासी) नये पदों के सृजन को मंत्रिपरिषद ने स्वीकृति प्रदान कर दी है.

  • बिहार : दशहरा के दौरान बनी दूरी, छठ पूजा में दूर हुए गिले-शिकवे

    बिहार : दशहरा के दौरान बनी दूरी, छठ पूजा में दूर हुए गिले-शिकवे

    बिहार छठ पूजा संपन्न हो गई है लेकिन इस लोक पर्व के बहाने राज्य में बीजेपी ने कुछ हफ़्ते पहले दशहरा के वक़्त राजनीतिक तनाव को कम करने की कोशिश की है. नीतीश मंत्रिमंडल में सभी मंत्री ख़ासकर उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी और मंत्री नंद किशोर यादव चौकस दिखे. इसलिए मुख्यमंत्री के साथ घाट निरीक्षण हो या छठ के दिन शाम के अर्घ्य के दौरान सभी साथ-साथ दिखे.

  • बिहार में बीजेपी-आरजेडी को लेकर 'दो दिल मिल रहे हैं मगर चुपके-चुपके' वाली अटकलें, नीतीश पर गिरिराज के हमले जारी

    बिहार में बीजेपी-आरजेडी को लेकर 'दो दिल मिल रहे हैं मगर चुपके-चुपके' वाली अटकलें, नीतीश पर गिरिराज के हमले जारी

    पटना में जल जमाव से कई तरह की महामारी भी हो रही है. इस बीच केंद्रीय मंत्री  गिरिराज सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को 'पानी-पानी करने' का एक नया अभियान शुरू किया है. जिसमें उनके अपनी पार्टी के कई नेता यहां तक कि नीतीश मंत्रिमंडल के सदस्य जैसे नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा भी सार्वजनिक रूप से कह रहे हैं कि अधिकारी उनकी नहीं सुनते थे. इस बीच आरजेडी के कई नेताओं ने गिरिराज के बयानो का समर्थन किया है. जिससे राजनीतिक गलियारे में नीतीश को घेरने के लिए भाजपा के इस गुट और राजद के बीच एक अलिखित सहमति के ऊपर अटकलों को बल मिला है.

  • कश्मीर पर आखिर सुशील मोदी ने नीतीश कुमार को सलाह दे डाली

    कश्मीर पर आखिर सुशील मोदी ने नीतीश कुमार को सलाह दे डाली

    पिछले दो दिनों से बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार को आर्टिकल 370 के मुद्दे पर विरोधियों से ज़्यादा अपने सहयोगियों और समर्थकों से सलाह और नसीहत मिल रही हैं. हर मुद्दे पर राजद को कोसने वाले नीतीश कुमार मंत्रिमंडल के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने भी इस मुद्दे पर नीतीश कुमार को कुछ सलाह दी है.

  • क्या बिहार के मंत्री अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भी नहीं सुनते? इस बात से उठ रहे सवाल...

    क्या बिहार के मंत्री अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भी नहीं सुनते? इस बात से उठ रहे सवाल...

    उत्तर बिहार में हर साल गर्मियों में 'चमकी' यानी दिमागी बुखार (एईएस) की बीमारी बच्चों पर काल बनकर टूटती है. मुजफ्फरपुर जिले में यह बीमारी खतरनाक रूप धारण कर चुकी है. बीते एक हफ्ते के भीतर 'चमकी' बुखार से 47 बच्चों की मौत से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है, लेकिन बिहार के स्वास्थ्य मंत्री को अब तक मुजफ्फरपुर का दौरा कर इन चीजों का जायजा करने का टाइम ही नहीं मिला है.

  • बुजुर्ग माता-पिता की सेवा नहीं की तो हो जाएगी जेल, भारत के इस राज्य में लिया गया फैसला

    बुजुर्ग माता-पिता की सेवा नहीं की तो हो जाएगी जेल, भारत के इस राज्य में लिया गया फैसला

    बिहार मंत्रिमंडल की मंगलवार को हुई बैठक में फैसला किया गया कि बिहार में रहने वाली संतानें अगर अब माता-पिता की सेवा नहीं करेंगी तो उन्हें जेल की सजा हो सकती है.

  • ब्लॉग : 'हिस्सेदारी' नीतीश कुमार का पीछा क्यों नहीं छोड़ती!

    ब्लॉग :  'हिस्सेदारी' नीतीश कुमार का पीछा क्यों नहीं छोड़ती!

    राजनीति में चीज़ें जितनी बदलती है उतनी ही अपने मूल स्वरूप में भी रह जाती हैं. ये सच बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष नीतीश कुमार से बेहतर कोई नहीं जानता जो पिछले 5 दिनों से केंद्र के सरकार में हिस्सेदारी को लेकर सुर्ख़ियों में हैं. हालांकि वह हर दिन एक बात की दुहाई देते हैं की NDA में है और अगर केंद्र के सरकार में हिस्सेदारी को लेकर उनकी बात नहीं बनी तो इसका मतलब बिहार में BJP के साथ सरकार पर कोई प्रतिकूल असर नहीं पड़ेगा और साथ ही वह केन्द्र और बिहार में एनडीए में ही रहेंगे. लेकिन वर्तमान विवाद और संकट का क्या समाधान होगा उसके लिए नीतीश कुमार की राजनीति को 25 साल पहले से देखना होगा. उस समय क्या हुआ था यह बिहार बीजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं जैसे सुशील मोदी और नंद किशोर यादव को अच्छी तरह से याद होगा. सत्ता में हिस्सेदारी का ही मामला था कि जब नीतीश कुमार ने लालू यादव से अलग होकर लोक समता पार्टी बनायी थी.

  • बिहार BJP में नित्यानंद राय के उत्तराधिकारी को लेकर मंथन, अध्यक्ष पद की दौड़ में ये कद्दावर नेता शामिल

    बिहार BJP में नित्यानंद राय के उत्तराधिकारी को लेकर मंथन, अध्यक्ष पद की दौड़ में ये कद्दावर नेता शामिल

    लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने बिहार में शानदार प्रदर्शन किया. बिहार बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय (Nityanand Rai) को केंद्रीय मंत्रिमंडल में भी स्थान मिल गया है. अब पार्टी राज्य में नए अध्यक्ष की नियुक्ति के लिए माथापच्ची कर रही है.

  • मंत्रिमंडल विस्तार के बाद नीतीश कुमार बोले- गठबंधन में सब कुछ ठीक, मन में न रखें कोई भ्रम 

    मंत्रिमंडल विस्तार के बाद नीतीश कुमार बोले- गठबंधन में सब कुछ ठीक, मन में न रखें कोई भ्रम 

    नीतीश कुमार ने मंत्रिमंडल विस्तार के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विधानसभा का सत्र आने वाला है इसलिए विस्तार हुआ है. उन्होंने कहा कि बिहार में सब कुछ ठीक है और किसी प्रकार का भ्रम किसी को मन में नहीं रखना चाहिए.

  • JDU-BJP में दरार? केसी त्यागी बोले- अब कभी भी NDA के कैबिनेट में नहीं होंगे शामिल

    JDU-BJP में दरार? केसी त्यागी बोले- अब कभी भी NDA के कैबिनेट में नहीं होंगे शामिल

    इसी बीच जदयू नेता केसी त्यागी ने कहा कि हमने फैसला किया है कि अब आगे कभी भी एनडीए के मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होंगे. न्यूज एजेंसी एएनआई ने त्यागी के हवाले से लिखा है, 'जो प्रस्ताव दिया गया था, वह जेडीयू को अस्वीकार्य था. इसलिए हमने तय किया है कि भविष्य में भी जेडीयू कभी भी एनडीए के नेतृत्व वाले केंद्रीय मंत्रिमंडल का हिस्सा नहीं होगी. यह हमारा फाइनल फैसला है.'

  • नीतीश कुमार ने कैबिनेट विस्तार में साधा अपने कोर वोटर को, बीजेपी को भी दिया संदेश

    नीतीश कुमार ने कैबिनेट विस्तार में साधा अपने कोर वोटर को, बीजेपी को भी दिया संदेश

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने मंत्रिमंडल में रविवार को जिन आठ लोगों को मंत्रिमंडल में शामिल कराया गया है उसमें सभी जनता दल यूनाइटेड के या तो विधायक हैं या विधान परिषद के सदस्य हैं. मंत्रिमंडल के इस विस्तार में कुछ पुराने चेहरे जैसे नरेंद्र नारायण यादव, श्याम रजक, अशोक चौधरी और बीमा भारती को फिर से मंत्री पद मिला वही नए चेहरों में 2 दिन पहले ही विधान परिषद सदस्य चुने गए संजय झा, पार्टी के प्रवक्ता नीरज कुमार लक्षमेंश्वर राय और राम बालक सिंह को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com