NDTV Khabar

बिहार राजनीति


'बिहार राजनीति' - 360 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • जल जमाव के बाद बिहार की राजनीति में सुशील मोदी को लेकर इतने सवाल क्यों?

    जल जमाव के बाद बिहार की राजनीति में सुशील मोदी को लेकर इतने सवाल क्यों?

    पटना शहर से जल जमाव की समस्या फ़िलहाल ख़त्म हो गई है. इस जल जमाव के यूं तो कई कारण रहे लेकिन वो चाहे भाजपा समर्थक हों या विरोधी, सब मानते हैं कि अगर एक व्यक्ति जिसकी लापरवाही का सबने ख़ामियाज़ा उठाया वो हैं सुशील मोदी. और राजधानी पटना की इस नरकीय स्थिति ने सबसे ज़्यादा नुक़सान किसी की व्यक्तिगत और राजनीतिक छवि को पहुंचाया है तो वो हैं बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी. सुशील मोदी ने पटना की हर समस्या में आम लोगों के साथ खड़े होकर अपनी व्यक्तिगत राजनीतिक छवि चमकाई और साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी को लगातार पिछली पांच विधानसभा चुनावों से हर सीट पर जीत दिलाई. उसी सुशील मोदी ने इस बार के पानी में, उनके समर्थकों के अनुसार सब कुछ खोया है.

  • बिहार के CM नीतीश कुमार फिर से जद(यू) के निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए

    बिहार के CM नीतीश कुमार फिर से जद(यू) के निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए

    केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह सहित भाजपा के कई नेताओं ने राज्य में, खासतौर पर पटना में आई हालिया बाढ़ से निपटने में सरकार की अक्षमता सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर उनके नेतृत्व की आलोचना है. इसके अलावा भाजपा के एक अन्य नेता एवं विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) संजय पासवान ने यह मांग की है कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद के लिए अब भगवा पार्टी के किसी नेता का मार्ग प्रशस्त करें.

  • NEWS FLASH: बिहार की बाढ़ पर तेजस्वी यादव- नीतीश कुमार विकास की बात करते हैं, लेकिन विकास कहां है? उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए

    NEWS FLASH: बिहार की बाढ़ पर तेजस्वी यादव- नीतीश कुमार विकास की बात करते हैं, लेकिन विकास कहां है? उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए

    देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें...

  • बिहार में बाढ़ की स्थिति को लेकर कांग्रेस ने राज्य सरकार पर निशाना साधा

    बिहार में बाढ़ की स्थिति को लेकर कांग्रेस ने राज्य सरकार पर निशाना साधा

    पार्टी के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने यह भी कहा कि राज्य एवं केंद्र सरकार को कम से कम इंसानियत की खातिर राहत एवं बचाव कार्य तेज करना चाहिए. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘बिहार खासकर पटना की जो हालत हुई है उसे देखने के बाद इंसानियत वाले किसी भी व्यक्ति को नींद नहीं आएगी. सोनिया और राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं से लोगों की मदद करने की अपील की. उन्होंने एक भी शब्द में राजनीति नहीं की.’’

  • बिहार : उपमुख्यमंत्री सहित 2 पूर्व मुख्यमंत्रियों के घरों में घुसा पानी

    बिहार : उपमुख्यमंत्री सहित 2 पूर्व मुख्यमंत्रियों के घरों में घुसा पानी

    बिहार (Bihar) में रविवार को तीसरे दिन भी भारी बारिश जारी रही, जिससे आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और दो पूर्व मुख्यमंत्रियों सतेंद्र नारायण सिंह एवं जीतन राम मांझी के घरों में भी पानी घुस गया है. अधिकारियों ने कहा कि बाढ़ व बारिश की वजह से 24 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

  • क्या राजनीति से संन्यास लेंगे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह? दिए यह संकेत

    क्या राजनीति से संन्यास लेंगे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह? दिए यह संकेत

    केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) अपने बयानों की वजह से हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं. बिहार के बेगूसराय से BJP सांसद गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) एक बार फिर चर्चा में हैं. इस बार वह राजनीति से संन्यास लेने के संकेत देने की वजह से सुर्खियां बने हुए हैं.

  • कौन हैं डॉ. संजय जायसवाल, जिन्हें BJP ने बनाया है बिहार का प्रदेश अध्यक्ष?

    कौन हैं डॉ. संजय जायसवाल, जिन्हें BJP ने बनाया है बिहार का प्रदेश अध्यक्ष?

    बिहार में जनता दल (युनाइटेड) के साथ मिलकर सरकार चला रही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को शनिवार को नया अध्यक्ष मिल गया है. भाजपा ने पश्चिमी चंपारण (बेतिया) से सांसद डॉ. संजय जायसवाल को बिहार इकाई का नया अध्यक्ष बनाया है. कम उम्र से ही राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ से जुड़े रहे जायसवाल को राजनीति विरासत में मिली है.

  • बिहार में भाजपा नेताओं को अचानक नीतीश कुमार के नेतृत्व से क्यों होने लगी है बोरियत?

    बिहार में भाजपा नेताओं को अचानक नीतीश कुमार के नेतृत्व से क्यों होने लगी है बोरियत?

    मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने शनिवार को रांची में झारखंड के आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. जहां उन्होंने शराबबंदी पर रघुबर दास सरकार को घेरा और बताया कि कैसे बिहार हर मामले में झारखंड से आगे निकल चुका हैं.

  • बिहार NDA में CM पद को लेकर तकरार? BJP एमएलसी ने नीतीश को दी नसीहत- डिप्टी CM के हवाले कर देनी चाहिए सत्ता

    बिहार NDA में CM पद को लेकर तकरार? BJP एमएलसी ने नीतीश को दी नसीहत- डिप्टी CM के हवाले कर देनी चाहिए सत्ता

    साथ ही संजय पासवान ने कहा, 'नीतीश कुमार के काम पर पूरा भरोसा है. लेकिन बिहार में उन्हें 15 साल हो गए, इस बार हमारे डिप्टी सीएम को पूरा मौका मिलना चाहिए. हम प्रमुख मुद्दों पर काम करेंगे और बिहार की जनता हमें जिताएगी.'

  • ब्लॉग : क्या नीतीश कुमार अब अपनी ही पार्टी जेडीयू के लिए 'कामचलाऊ' नेता बन गए हैं

    ब्लॉग :  क्या नीतीश कुमार अब अपनी ही पार्टी जेडीयू के लिए 'कामचलाऊ' नेता बन गए हैं

    क्या बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड अपने सुप्रीमो नीतीश कुमार को अब 'कामचलाऊ' और 'अस्थायी'  मानती है. ये सवाल सोमवार को पार्टी दफ़्तर के बाहर लगाए गये नए होर्डिंग के बाद लोग पूछ रहे हैं.  रविवार शाम , पटना में पार्टी दफ़्तर के बाहर नए होर्डिंग लगाए गए जिसमें नारा  था , ‘क्यूं करे विचार ठीके तो है नीतीश कुमार’.  निश्चित रूप से जिसने भी स्लोगन लिखा होगा उसमें पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ख़ासकर नीतीश कुमार के क़रीबी आरसीपी सिंह के सहमति से  ही ये होर्डिंग लगायी होगी. लेकिन पार्टी के ही नेताओं को लगता है ये नारा लोगों को पच नहीं रहा. ठीके का मतलब बिहार की राजनीति और गांव घर में यही होता हैं कि वो बहुत अच्छे तो नहीं लेकिन ठीक ठाक कामचलाऊ हैं.

  • जीतनराम मांझी ने जताई बिहार का मुख्यमंत्री बनने की ख्वाहिश, शिवानंद तिवारी ने कहा- हमारा उपहास न उड़ाएं

    जीतनराम मांझी ने जताई बिहार का मुख्यमंत्री बनने की ख्वाहिश, शिवानंद तिवारी ने कहा- हमारा उपहास न उड़ाएं

    बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी को राज्य की राजनीति में कोई गंभीरता से नहीं लेता. अपने बयान के कारण सुर्ख़ियां में बने रहने की आदत से वह अपने सहयोगियों के लिए परेशानी का कारण बने रहते है. ताज़ा घटनाक्रम में जीतन राम मांझी ने महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनने की इच्छा जतायी हैं क्योंकि तेजस्वी यादव को अनुभव की कमी है. मांझी ने ऐसा बयान कोई पहली बार नहीं दिया है और उनके सहयोगी भी उनके बड़बोलेपन के कारण हमेशा सफ़ाई देते रहते हैं. लेकिन मांझी ने यह बयान महागठबंधन की बैठक के दो दिन के अंदर दिया है जब उन्हें मीडिया को ब्रीफ़ करने का ज़िम्मा दिया गया था. हालांकि उस ब्रीफ़िंग में माँझी ने कोई ऐसा बायन नहीं दिया लेकिन गुरुवार को उन्होंने अपनी इच्छा मीडिया के सामने जाहिर कर दिया.  

  • तेजस्वी का नीतीश कुमार पर निशाना, सुशासन का प्रशासन कर्तव्यनिष्ठा को सरेंडर कर चुका

    तेजस्वी का नीतीश कुमार पर निशाना, सुशासन का प्रशासन कर्तव्यनिष्ठा को सरेंडर कर चुका

    बिहार में विपक्ष और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को अपनी एक फेसबुक पोस्ट में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार सरकार को निशाना बनाया. उन्होंने बिहार में बढ़ते अपराधों के लिए सत्तारूढ़ दलों को जिम्मेदार ठहराया और नीतीश कुमार पर इस सबको अनदेखा करने का आरोप लगाया. तेजस्वी यादव ने कहा है कि 'बिहार में सरकार और पुलिस ने कानून व्यवस्था पर पूरी तरह से अपना इकबाल गंवा दिया है. बिहार में औसतन 50 हत्याएं हो रही हैं. पुलिस का एक मात्र कार्य सत्तारूढ़ दलों की घृणित राजनीति के प्यादे के रूप में अपनी उपयोगिता सिद्ध करना रह गया है. सुशासन का प्रशासन सत्ता के हनक और सनक के सामने अपनी कर्तव्यनिष्ठा को सरेंडर कर चुका है. अफसर सत्तारूढ़ नेताओं की गाड़ियों में घूम रहे हैं और अपराधी सरकारी गाड़ियों में.'

  • कैसे अरुण जेटली ने बिहार में लालू-राबड़ी युग का अंत किया और नीतीश कुमार को सीएम बनाने में अहम भूमिका निभाई

    कैसे अरुण जेटली ने बिहार में लालू-राबड़ी युग का अंत किया और नीतीश कुमार को सीएम बनाने में अहम भूमिका निभाई

    बिहार की राजनीति में अरुण जेटली की असल भूमिका चारा घोटाले के दौर से सक्रिय रूप में शुरू हुई. उस समय पटना हाईकोर्ट में जो याचिका सुशील मोदी, सरयू राय, शिवानंद तिवारी और लल्लन सिंह ने दायर की थी, जिसमें रविशंकर प्रसाद ने बहस कर ख्याति बटोरी थी. उस याचिका को ड्राफ़्ट करने से लेकर दायर करने तक अरुण जेटली की भूमिका अहम थी.

  • बिहार के तीन बार मुख्यमंत्री रहे जगन्नाथ मिश्र का 82 साल की उम्र में निधन, लंबे समय से चल रहे थे बीमार

    बिहार के तीन बार मुख्यमंत्री रहे जगन्नाथ मिश्र का 82 साल की उम्र में निधन, लंबे समय से चल रहे थे बीमार

    बिहार के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके मिश्र की बचपन से ही राजनीति में रुचि थी. उन्होंने कॉलेज के प्रोफेसर के रूप में अपना करियर प्रारंभ किया लेकिन इसके बाद वे राजनीति में आ गए और कांग्रेस में शामिल हो गए. डॉ. मिश्र केंद्रीय मंत्री का भी दायित्व संभल चुके थे. वे वर्तमान में जनता दल (युनाइटेड) में थे. 

  • क्या बिखराव की ओर बढ़ रहा राष्ट्रीय जनता दल? तेजस्वी और तेजप्रताप के रवैये से उठा सवाल

    क्या बिखराव की ओर बढ़ रहा राष्ट्रीय जनता दल? तेजस्वी और तेजप्रताप के रवैये से उठा सवाल

    बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) क्या बिखराव की ओर है? शुक्रवार को पार्टी के विधायकों और जिलाध्यक्षों की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव के दोनों बेटे तेजप्रताप यादव और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव नदारद रहे. बैठक के बाद यह लगता रहा कि पार्टी के कई नेता अपनी राजनीति पर नए सिरे से विचार करने को मजबूर हैं. पटना में शुक्रवार को राष्ट्रीय जनता दल की बैठक सदस्यता अभियान की समीक्षा करने के लिए बुलाई गई थी.

  • पीएम नरेंद्र मोदी के एक फैसले के बाद बीजेपी उसके सहयोगियों की मजबूरी बन गई

    पीएम नरेंद्र मोदी के एक फैसले के बाद बीजेपी उसके सहयोगियों की मजबूरी बन गई

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपने एक निर्णय से राजनीति में एक नए अध्याय की शुरुआत कर दी है जिससे भाजपा (BJP) के सहयोगी भी अब उसके बिना नहीं चलने वाले. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने राज्यसभा में जैसे ही आर्टिकल 370 (Article 370) को खत्म करने की घोषणा की तो पहली बार सदन के अंदर और बाहर इस मुद्दे पर समर्थन करने की बीजेपी के विरोधियों में भी होड़ दिखी. बीजेपी के एक सहयोगी जनता दल यूनाइटेड के अलावा हर सहयोगी के मुंह से वाह-वाह निकल रहा था. बीजेपी की घोर विरोधी बहुजन समाज पार्टी (BSP), अरविंद केजरीवाल की 'आप' (AAP), चंद्रबाबू नायडू की तेलगू देशम और उसके अलावा हर मुद्दे पर अपना अलग स्टैंड लेने वाली जगनमोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस ने जहां इस मुद्दे पर अपना समर्थन देने में कोई देरी नहीं की.

  • तेजस्वी ने दिल की बात की, लेकिन अब न तो नीतीश का नाम लिखा, न ही व्यंग्य किया

    तेजस्वी ने दिल की बात की, लेकिन अब न तो नीतीश का नाम लिखा, न ही व्यंग्य किया

    बिहार की राजनीति से विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव नदारद हैं. वे अपनी पार्टी और पूरे विपक्ष के लिए परेशानी का कारण बन चुके हैं क्योंकि बिहार की राजनीति में वे शायद पहले विपक्ष के नेता हैं जो विधानसभा सत्र में मात्र दो दिन दिखे. न तो उन्होंने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया न ही चमकी बुखार से प्रभावित लोगों से मिलने के लिए गए.

  • क्या बिहार में मुस्लिम नेताओं की मजबूरी बनते जा रहे हैं नीतीश कुमार?

    क्या बिहार में मुस्लिम नेताओं की मजबूरी बनते जा रहे हैं नीतीश कुमार?

    इन दिनों बिहार की राजनीति में इस बात पर सबसे ज़्यादा बहस होती है कि क्या बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विपक्षी दलों के मुस्लिम नेताओं की पसंद के साथ मजबूरी बनते जा रहे हैं? दरअसल विपक्षी राजद और कांग्रेस के नेताओं के बीच सार्वजनिक रूप से नीतीश कुमार के कामकाज की तारीफ और फिर उनकी पार्टी में शामिल होने की होड़ लगी है. ऐसे में यह सवाल और भी ज्यादा पूछा जाने लगा है कि भले ही नीतीश कुमार बीजेपी के साथ सरकार चला हैं लेकिन वे क्या बिहार की राजनीति में सक्रिय मुस्लिम नेताओं की पहली पसंद हैं?