NDTV Khabar

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव


'मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव' - 340 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • राजस्थान : सचिन पायलट का बयान क्या सोनिया और राहुल गांधी के लिए है नसीहत?

    राजस्थान : सचिन पायलट का बयान क्या सोनिया और राहुल गांधी के लिए है नसीहत?

    मध्य प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे बड़े नेता को गंवा चुकी कांग्रेस के लिए अभी एक बड़ी चुनौती बनी हुई है. राजस्थान में विधानसभा चुनाव से पहले और बाद में जो घटनाक्रम हुए. वे मध्य प्रदेश से बिलकुल मिलते जुलते हैं. राजस्थान में कांग्रेस को दोबारा सत्ता में लाने के लिए सचिन पायलट की कड़ी मेहनत का ही परिणाम था. प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी संभालते ही सचिन पायलट ने कई मुद्दों पर सरकार को सड़क पर घेरा.

  • महाराष्ट्र के हाथ से फिसलने पर बीजेपी ने झोंकी झारखंड में ताकत

    महाराष्ट्र के हाथ से फिसलने पर बीजेपी ने झोंकी झारखंड में ताकत

    भाजपा के रणनीतिकारों का मानना है कि मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ के बाद महाराष्ट्र के भी हाथ से निकल जाने के बाद झारखंड में कम से कम बहुमत वाली जीत जरूरी है, तभी पार्टी हाल के विधानसभा चुनावों से खराब प्रदर्शन से खोई हुई लय वापस पा सकती है.भाजपा सूत्रों का कहना है कि हरियाणा में किसी तरह से सरकार बनी और बहुमत के अभाव में महाराष्ट्र में बनी सरकार गिर गई.

  • Election Results 2019: कमलनाथ का BJP पर हमला, कहा- वे निर्दलीय उम्मीदवारों के साथ 'जुगाड़' करेंगे, सरकार बनाएंगे, लेकिन लोग इसे नहीं भूलेंगे

    Election Results 2019: कमलनाथ का BJP पर हमला, कहा- वे निर्दलीय उम्मीदवारों के साथ 'जुगाड़' करेंगे, सरकार बनाएंगे, लेकिन लोग इसे नहीं भूलेंगे

    गुरुवार को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने हरियाणा (Haryana) में BJP को बहुमत नहीं मिलने पर कहा है कि भाजपा नेताओं को स्वीकार करना चाहिए कि उन्हें लोगों द्वारा अस्वीकार कर दिया गया है. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कांग्रेस (Congress) की बैठक में कमलनाथ ने कहा, ''हरियाणा में उन्हें (BJP) बहुमत नहीं मिला, भाजपा नेताओं को स्वीकार करना चाहिए कि उन्हें लोगों द्वारा अस्वीकार कर दिया गया है. अब वे अन्य दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों के साथ 'जुगाड़' करेंगे, वे सरकार बनाएंगे, लेकिन लोग इसे नहीं भूलेंगे.

  • TOP 5 NEWS: हरियाणा में कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने पार्टी छोड़ी, आरे में जंगल काटने का विरोध कर रहे 29 प्रदर्शनकारी गिरफ्तार

    TOP 5 NEWS: हरियाणा में कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने पार्टी छोड़ी, आरे में जंगल काटने का विरोध कर रहे 29 प्रदर्शनकारी गिरफ्तार

    हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने नाराज होकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने विधानसभा चुनाव को लेकर बांटे जा रहे टिकटों की खरीद-बिक्री का आरोप लगाया है.

  • सोनिया गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनते ही फॉर्म में आए दिग्विजय सिंह

    सोनिया गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनते ही फॉर्म में आए दिग्विजय सिंह

    सोनिया गांधी भले ही कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष बनी हों लेकिन वापसी होते ही दिग्विजय सिंह पूरी तरह से फॉर्म में आ गए हैं. यूपीए के शासनकाल में मध्य प्रदेश से लेकर दिल्ली तक खुलकर बयानबाजी करने वाले दिग्विजय सिंह को पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के कार्यकाल में खास  तवज्जो नहीं मिल रही थी.  हाल यह था कि मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान भी उन्होंने सार्वजनिक रूप से दर्द बयान करते हुए था, 'मेरे भाषण से कांग्रेस के वोट कटते हैं, इसलिए मैं रैलियों में नहीं जाता.' दरअसल उस समय चुनावी रैलियों में दिग्विजय सिंह नदारद रहते थे. मध्य प्रदेश की रैलियों में दिग्विजय सिंह का न होना कार्यकर्ता और मीडिया के बीच चर्चा का विषय था. इसकी एक वजह यह भी थी कि पार्टी के रणनीतिकारों को लगता था कि दिग्विजय सिंह के बयान पहले भी अच्छा-खासा नुकसान पहुंचा चुके हैं इसलिए उनसे उचित दूरी बनाए रखना ही ठीक है. यहां तक कि पोस्टरों में भी दिग्विजय सिंह नहीं दिखाए दे रहे थे.

  • मध्य प्रदेश के पूर्व CM बाबूलाल गौर का निधन, काफी समय से चल रहे थे बीमार

    मध्य प्रदेश के पूर्व CM बाबूलाल गौर का निधन, काफी समय से चल रहे थे बीमार

    ‘नर्मदा अस्पताल’ के निदेशक डॉक्टर राजेश शर्मा ने बताया कि दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया. वह वृद्धावस्था संबंधी बीमारियों से जूझ रहे थे और कुछ समय से अस्पताल में भर्ती थे. भाजपा के वरिष्ठ नेता गौर 2004-2005 में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे और अपनी परंपरागत गोविंदपुरा विधानसभा सीट से 10 बार चुनाव जीत थे. गौर का जन्म दो जून 1930 को उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में हुआ था.

  • कांग्रेस के लिए प्रचार करने वाले देवमुरारी बापू ने सीएम कमलनाथ को दी धमकी, कहा- कल करूंगा आत्मदाह

    कांग्रेस के लिए प्रचार करने वाले देवमुरारी बापू ने सीएम कमलनाथ को दी धमकी, कहा- कल करूंगा आत्मदाह

    वृंदावन के संत आचार्य देव मुरारी बापू अपनी दूसरी मांगों के अलावा मध्यप्रदेश गौ संवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति नहीं होने से नाराज़ हैं. केसरिया हिंदू वाहिनी संत सभा के राष्ट्रीय प्रमुख देवमुरारी बापू ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा 'मैंने पिछले साल नवंबर में मध्यप्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस को समर्थन देकर उसके पक्ष में प्रचार किया था.

  • मध्य प्रदेश विधानसभा में बीजेपी के दो विधायकों ने दिया कांग्रेस को समर्थन, बोले-यह हमारी 'घर वापसी' है

    मध्य प्रदेश विधानसभा में बीजेपी के दो विधायकों ने दिया कांग्रेस को समर्थन, बोले-यह हमारी 'घर वापसी' है

    ये दोनों विधायक पूर्व में कांग्रेसी नेता रहे हैं और पिछले साल मध्य प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए थे. भाजपा के इन दोनों विधायकों ने कहा कि यह उनकी 'घर वापसी' है. 

  • एमपी: आदिवासी या पिछड़ा को मिल सकती है कांग्रेस की कमान! जानें- इस रेस में कौन-कौन है शामिल

    एमपी: आदिवासी या पिछड़ा को मिल सकती है कांग्रेस की कमान! जानें- इस रेस में कौन-कौन है शामिल

    राज्य विधानसभा चुनाव में सफलता के बाद प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद की कुर्सी संभाली और उसके बाद उन्होंने अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी, मगर पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें लोकसभा चुनाव तक इस जिम्मेदारी पर बने रहने को कहा था. लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मध्य प्रदेश में 29 में से सिर्फ एक सीट मिली. देश में भी इसी तरह के नतीजे कांग्रेस के हिस्से आए. राज्य सरकार में मंत्री कमलेश्वर पटेल कांग्रेस की हार के लिए सभी मंत्रियों और नेताओं को जिम्मेदार मान रहे हैं. वहीं एक अन्य मंत्री उमंग सिघार राज्य में ऐसा अध्यक्ष चाहते हैं, जो सभी को साथ लेकर चले.

  • मध्य प्रदेश में आदिवासियों से कट गए कांग्रेस के आदिवासी नेता

    मध्य प्रदेश में आदिवासियों से कट गए कांग्रेस के आदिवासी नेता

    मध्य प्रदेश में आदिवासी वर्ग की लगभग 22 प्रतिशत आबादी है. विधानसभा के 47 क्षेत्र इस वर्ग के लिए आरक्षित हैं. वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने इन 47 में से 30 स्थानों पर जीत दर्ज की थी.

  • जिन राज्यों में होने हैं विधानसभा चुनाव वहां से किन नेताओं को मिली है मोदी मंत्रिमंडल में जगह

    जिन राज्यों में होने हैं विधानसभा चुनाव वहां से किन नेताओं को मिली है मोदी मंत्रिमंडल में जगह

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की भी झलक देखी जा सकती है. महाराष्ट्र, झारखंड, बिहार, दिल्ली और हरियाणा में चुनाव होने हैं. इनमें दिल्ली को छोड़े दें तो हर राज्य में बीजेपी की ही सरकार है. साल 2018 के दिसंबर में हुए तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में अपनी सरकार गवां चुकी है. हालांकि लोकसभा चुनाव में इन राज्यों में बीजेपी ने जबरदस्त वापसी की और एक तरह से कांग्रेस का सूपड़ा साफ कर दिया.

  • लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस के सामने एक और संकट

    लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस के सामने एक और संकट

    लोकसभा चुनाव में करारी हार झेलने वाली कांग्रेस के मात्र 52 सांसद ही संसद पहुंचेंगे और उसको नेता विपक्ष का भी दर्जा नहीं मिलेगा. राहुल गांधी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने पर अड़े हुए हैं और अगर वह नहीं मानते हैं तो पार्टी की कमान कौन संभलेगा यह सबसे बड़ा सवाल बना हुआ है. इसी बीच मध्य प्रदेश और कर्नाटक की राज्य सरकारों पर संकट मंडराया हुआ है. कर्नाटक कांग्रेस के नेता केएन रजन्ना का कहना है कि पीएम मोदी के शपथ लेते ही राज्य सरकार गिर जाएगी. वहीं मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार को समर्थन  दे रहीं बीएसपी की विधायक का आरोप है कि बीजेपी उन्हें 50 करोड़ रुपये का ऑफर दे रही है. पार्टी अभी इन संकटों से जूझ रही है कि उसके आगे हरियाण, महाराष्ट्र और झारखंड के विधानसभा चुनाव भी खड़े हैं.

  • BSP विधायक का दावा: BJP ने दिया मंत्री पद और 50-60 करोड़ रुपये का ऑफर, कमलनाथ सरकार से समर्थन वापस लेने के लिए कहा

    BSP विधायक का दावा: BJP ने दिया मंत्री पद और 50-60 करोड़ रुपये का ऑफर, कमलनाथ सरकार से समर्थन वापस लेने के लिए कहा

    लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश में उनकी पार्टी की हार के लिए पथरिया विधानसभा क्षेत्र से विधायक रामबाई ने ईवीएम पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा, 'यह सब ईवीएम की गड़बड़ है. राजनीति में आने के बाद मैंने महसूस किया कि यह बहुत खराब चीज है.' इसके साथ ही उन्होंने योग गुरु रामदेव के उस बयान का भी समर्थन किया कि देश की आबादी रोकने के लिए परिवार के तीसरे बच्चे से वोट करने का अधिकारी छीन लेना चाहिए. उन्होंने कहा, 'मैं उनके बयान से सहमत हूं. ना केवल वोट का अधिकार, बल्कि सबी तरह की सरकारी सुविधाएं छीन लेनी चाहिए.' गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में बसपा कांग्रेस के साथ गठबंधन में है. प्रदेश में रामबाई सहित बसपा के दो विधायक हैं और उन्होंने कमलनाथ सरकार को समर्थन दे रखा है.

  • लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस के सामने खड़े हो गए यह 6 बड़े संकट...

    लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस के सामने खड़े हो गए यह 6 बड़े संकट...

    कांग्रेस पार्टी पर अब आने वाले तीन राज्यों में- हरियाणा, झारखंड और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन को लेकर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. इतना ही नहीं कांग्रेस के सामने मध्य प्रदेश, कर्नाटक और राजस्थान में सरकार बचाने का भी संकट है.

  • Results 2019: मध्य प्रदेश में दिग्विजय सिंह समेत कांग्रेस के कई बड़े नेताओं को मिला करारी हार, अब खतरे में कांग्रेस की राज्य सरकार

    Results 2019: मध्य प्रदेश में  दिग्विजय सिंह समेत कांग्रेस के कई बड़े नेताओं को मिला करारी हार, अब खतरे में कांग्रेस की राज्य सरकार

    विधानसभा चुनावों में जीत के बावजूद, लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मध्य प्रदेश में बड़ा झटका लगा. लगभग सारे आला नेता चुनाव हार गए. अब बीजेपी कह रही है कि राज्य सरकार का अस्तित्व खतरे में पड़ सकता है. मध्यप्रदेश में गुरुवार को बीजेपी दफ्तर में 2014 की तस्वीरों का रीप्ले दिखा, हर तरफ भगवा लहर.

  • तीन राज्यों की विधानसभा की जीत को नहीं भुना पाई कांग्रेस, जानें- राजस्थान, एमपी और छत्तीसगढ़ के आंकड़े

    तीन राज्यों की विधानसभा की जीत को नहीं भुना पाई कांग्रेस, जानें- राजस्थान, एमपी और छत्तीसगढ़ के आंकड़े

    राजस्थान की बात करें तो वहां भी मध्य प्रदेश जैसा ही कांग्रेस का हाल है. राजस्थान की 25 सीटों में से 24 पर भाजपा आगे हैं, वहीं कांग्रेस ने सिर्फ टोंक-सवाई माधोपुर सीट पर बढ़त बनाई हुई है. इस सीट से कांग्रेस के टिकट पर नमो नारायण मीणा चुनाव लड़ रहे हैं. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यहां सभी 25 सीटों पर जीत हासिल की थी. इसके अलावा छत्तीसगढ़ की 11 में से 9 सीटों पर भाजपा ने बढ़त बना रखी है. जबकि कांग्रेस केवल दो सीटों पर आगे दिख रही है. ये दो सीटें महासमुंद और बस्तर हैं. महासमुंद से कांग्रेस के धनेंद्र साहू और बस्तर से दीपक बैज कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं.

  • Elections 2019 : Exit Poll के बाद मध्यप्रदेश में सियासती हलचल, बीजेपी तलाश रही कमजोर कड़ी

    Elections 2019 : Exit Poll के बाद मध्यप्रदेश में सियासती हलचल, बीजेपी तलाश रही कमजोर कड़ी

    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) के नतीजे से पहले आए एग्जिट पोल (Exit Poll) के रुझानों ने मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की सियासत में हलचल पैदा कर दी है. निर्दलीय और दूसरे दलों के सहयोग से चल रही कमलनाथ सरकार की कमजोर कड़ी तलाशने के मकसद से भाजपा ने विधानसभा का सत्र बुलाने की मांग कर डाली है.

  • Exit Poll Results 2019 : एग्जिट पोल के नतीजों से उत्साहित बीजेपी ने मध्य प्रदेश विधानसभा में की 'शक्ति परीक्षण' की मांग

    Exit Poll Results 2019 : एग्जिट पोल के नतीजों से उत्साहित बीजेपी ने मध्य प्रदेश विधानसभा में की 'शक्ति परीक्षण' की मांग

    लोकसभा चुनाव को लेकर विभिन्न समाचार माध्यमों के एग्जिट पोल व सर्वे में भारतीय जनता पार्टी को बहुमत मिलने के आसार के बीच मध्य प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने विधानसभा का सत्र बुलाए जाने की मांग की है. नेता प्रतिपक्ष भार्गव ने सोमवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि एग्जिट पोल के अनुसार एक बार फिर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं, वहीं मध्य प्रदेश में कांग्रेस को दो से तीन सीटें मिलने वाली हैं, यह इस बात का संकेत है कि वर्तमान सरकार ने जनता का भरोसा खो दिया है. इसलिए उनकी मांग है कि राज्य विधानसभा का सत्र बुलाया जाए.  इसके लिए वे राज्यपाल को पत्र लिखने वाले हैं.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com