NDTV Khabar

मुख्यमंत्री


'मुख्यमंत्री' - more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • बेंगलुरू हिंसा के पीछे की वजह सांप्रदायिक असंतोष नहीं, बल्कि राजनीतिक मतभेद : BJP 

    बेंगलुरू हिंसा के पीछे की वजह सांप्रदायिक असंतोष नहीं, बल्कि राजनीतिक मतभेद : BJP 

    कर्नाटक के गृह मंत्री बासवराज बोम्मई ने शुक्रवार को कहा कि हिंसा के पीछे स्थानीय स्तर के "राजनीतिक मतभेद" और कानून व्यवस्था बिगाड़ने की एसडीपीआई की बड़ी साजिश जैसे कारण थे.  उन्होंने मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा से मुलाकात के बाद यहां संवाददाताओं से कहा कि इन सभी पहलुओं पर जांच चल रही है. 

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का बुंदेलखंड के हजारों किसानों को नहीं मिल रहा लाभ

    प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का बुंदेलखंड के हजारों किसानों को नहीं मिल रहा लाभ

    प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ बुंदेलखंड के हजारों किसानों को नहीं मिल रहा है. खुद बीजेपी के विधायक इस बाबत मुख्यमंत्री से लेकर कृषि मंत्रालय तक को पत्र लिख चुके हैं लेकिन उसके बावजूद मुआवजा नहीं मिला.

  • पायलट की "घर वापसी" से बढ़ी गहलोत की ताकत, राजस्थान सरकार ने हासिल किया विश्वास मत; 10 अहम बातें

    पायलट की

    Rajasthan Floor Test: करीब एक महीने तक चली सियासी खींचतान (Rajasthan Crisis) और बगावत के थमने के बाद राजस्थान विधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के नेतृत्‍व वाली कांग्रेस सरकार ने आज बहुमत साबित कर दिया है. मुख्यमंत्री गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच सुलह के बाद विश्वास प्रस्ताव (Confidence Motion) पेश किया गया. शुक्रवार को विधानसभा का सत्र शुरू होने से ठीक पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में लिखा, "विधानसभा का सत्र आज से शुरू हो गया है. इसमें राजस्थान के लोगों और कांग्रेस विधायकों की एकता की जीत होगी. यह सच की जीत होगी. सत्यमेव जयते." 

  • सचिन पायलट ने इशारों-इशारों में फिर सब कुछ कह दिया?

    सचिन पायलट ने इशारों-इशारों में फिर सब कुछ कह दिया?

    राजस्थान कांग्रेस में सचिन पायलट सहित उनके कैंप के 18 विधायकों की वापसी के बाद राजस्थान में कांग्रेस सरकार ने ध्वनिमत से विश्वास मत हासिल कर लिया है. यानी अब अशोक गहलोत सरकार को अब कोई संकट नहीं है.. आज जब 11 बजे राजस्थान विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई तो बैठने की व्यवस्था की गई कि सचिन पायलट विपक्ष के नेताओं के करीब पहुंच गए. दरअसल अब वो कैबिनेट का हिस्सा नही हैं और उनको उप मुख्यमंत्री पद से भी हटा दिया गया था. वो पहले सत्तापक्ष में सीएम गहलोत की कुर्सी के पास बैठते थे. आज सदन के इस नजारे पर  उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने हालिया राजनीतिक व अन्य घटनाक्रम, पुलिस के विशेष कार्यबल द्वारा नोटिस दिए जाने सहित अनेक बातों में पायलट का जिक्र किया. इस पर सचिन पायलट ने उन्हें बीच में टोकते हुए 'वह (राठौड़) बार- बार मेरा नाम ले रहे हैं. मैंने सोचा कि हमारे अध्यक्ष व मुख्य सचेतक ने मेरी सीट यहां क्यों रखी है? मैंने दो मिनट सोचा और फिर देखा कि यह सरहद है एक तरफ पक्ष है और दूसरी तरफ विपक्ष.... तो सरहद पर किसको भेजा जाता है.  सबसे मजबूत योद्धा को भेजा जाता है.' पायलट ने कहा, 'आज इस विश्वास मत में जो चर्चा हो रही है...उसमें बहुत से बातें बोली गयीं बहुत सी बातें बोली जाएंगी. समय के साथ साथ सब बातों का खुलासा होगा.'

  • राजस्थान व‍िधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने साबित किया बहुमत

    राजस्थान व‍िधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने साबित किया बहुमत

    सरकार की ओर से संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल ने विश्‍वास प्रस्ताव पेश किया किया. प्रस्ताव पर बहस की शुरुआत करते हुए धारीवाल ने कहा कि केंद्र की सरकार के इशारों पर मध्य प्रदेश व गोवा में चुनी हुई सरकारों को गिराया गया है. धारीवाल ने कहा कि धन बल व सत्ता बल से सरकारें गिराने की यह साजिश राजस्थान में कामयाब नहीं हो पाई.

  • राजस्थान के सियासी संकट के बीच 6 प्वाइंट्स में जानिए- क्या है विश्वास और अविश्वास प्रस्ताव?

    राजस्थान के सियासी संकट के बीच 6 प्वाइंट्स में जानिए- क्या है विश्वास और अविश्वास प्रस्ताव?

    राजस्थान कांग्रेस में चली महीने भर की खींचतान के बाद अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार से शुरू हो रही विधानसभा के विशेष सत्र में भारतीय जनता पार्टी की चुनौती का सामना कर रहे हैं. बीजेपी ने गुरुवार को घोषणा की थी कि पार्टी गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आएंगी. यानी अब गहलोत को सदन में अपना बहुमत साबित करना होगा. गहलोत शुरू से ही दावा करते रहे हैं कि उनके पास बहुमत का आंकड़ा है. यहां तक कि सचिन पायलट सहित 19 विधायकों के बगावत कर देने के बावजूद भी वो गवर्नर से इस दावे के साथ मिले थे कि उनके पास बहुमत है. लेकिन ये तो तय था कि विधानसभा सत्र शुरू होने के बाद उन्हें अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना पड़ सकता है.

  • राजस्थान : कांग्रेस ने पेश किया विश्वास प्रस्ताव, हमने यहां गोवा-MP नहीं बनने दिया : शांति धारीवाल

    राजस्थान : कांग्रेस ने पेश किया विश्वास प्रस्ताव, हमने यहां गोवा-MP नहीं बनने दिया : शांति धारीवाल

    राजस्थान (Rajasthan) में कांग्रेस (Congress) के बीच मची आंतरिक कलह का पटाक्षेप हो चुका है. बीते सोमवार राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) से मुलाकात की थी. जिसके बाद वह एक बार फिर कांग्रेस के हाथ से हाथ मिलाते हुए नजर आए. राजस्थान में आज (शुक्रवार) से विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हो चुका है, यानी एक ओर गहलोत सरकार के एजेंडों में कई बिलों को पास कराना होगा, तो वहीं अविश्वास-विश्वास प्रस्ताव को लेकर सियासी संग्राम भी शुरू हो गया है. दरअसल भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Govt) के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का ऐलान किया था. जिसके बाद मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा था कि वह सदन में विश्वास प्रस्ताव लेकर आएंगे. दोपहर में सत्र की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के प्रमुख व्हिप महेश जोशी ने विश्वास प्रस्ताव को लेकर स्पीकर को नोटिस दिया. जिसके बाद गहलोत सरकार में कानून और संसदीय कार्य मंत्री शांति कुमार धारीवाल ने सदन में विश्वास प्रस्ताव रखा. उन्होंने कहा कि हमने यहां (राजस्थान) गोवा, एमपी नहीं बनने दिया.

  • कोविड-19 की जांच के लिए नमूना लेने के बाद शिशु की मौत, परिवार ने लापरवाही का लगाया आरोप

    कोविड-19 की जांच के लिए नमूना लेने के बाद शिशु की मौत, परिवार ने लापरवाही का लगाया आरोप

    बच्चे की मां पापिया पाल साहा ने कहा कि उसका बेटा बुधवार को उसकी नाक से कोविड-19 के लिए नमूने लेने से पहले तक स्वस्थ था तथा उसके कुछ ही देर बाद उसकी मौत हो गयी. उसने कहा, ‘‘ मैंने डॉक्टरों से कहा कि उसकी नाक से बहुत खून बह रहा है. उन्होंने मुझे आश्वासन दिया कि वह ठीक हो जाएगा लेकिन मेरा बच्चा मेरी आंखों के सामने मर गया.’’

  • राजस्थान : शाम 5 बजे होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, पायलट और गहलोत की भी होगी मुलाकात

    राजस्थान : शाम 5 बजे होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, पायलट और गहलोत की भी होगी मुलाकात

    राजस्थान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात के बाद मंगलवार को जयपुर लौटे थे. कांग्रेस नेतृत्व की ओर से उन्हें भरोसा दिया गया है कि उनकी शिकायतों को दूर किया जाएगा. हालांकि, उनके जयपुर पहुंचते ही मुख्यमंत्री गहलोत जैसलमेर के लिए निकल गए थे, जहां कांग्रेस के 100 विधायकों को रखा गया था.

  • कांग्रेस ने पलट डाला BJP का गेम, नई रणनीति तैयार करने को किया मजबूर

    कांग्रेस ने पलट डाला BJP का गेम, नई रणनीति तैयार करने को किया मजबूर

    राजस्थान (Rajasthan) विधानसभा का विशेष सत्र कल (शुक्रवार) से शुरू हो रहा है. प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) और बीजेपी (BJP) नेताओं ने आज (गुरुवार) सत्र को लेकर मुलाकात की. कांग्रेस (Congress) में मची आंतरिक कलह के बाद यह बीजेपी नेताओं की पहली मीटिंग है. सोमवार को सचिन पायलट (Sachin Pilot) अपने समर्थक विधायकों के साथ घर वापसी कर चुके हैं और इसी के साथ गहलोत सरकार पर बना कथित संकट खत्म हो गया.

  • CM अशोक गहलोत बोले - कांग्रेस की लड़ाई सोनिया-राहुल के नेतृत्व में लोकतंत्र बचाने की है

    CM अशोक गहलोत बोले - कांग्रेस की लड़ाई सोनिया-राहुल के नेतृत्व में लोकतंत्र बचाने की है

    मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट्स में लिखा, 'कांग्रेस की लड़ाई तो सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी के नेतृत्व में डेमोक्रेसी को बचाने की है. पिछले एक माह में कांग्रेस पार्टी में आपस में जो भी नाइत्तेफ़ाकी हुई है, उसे देश के हित में, प्रदेश के हित में, प्रदेशवासियों के हित में और लोकतंत्र के हित में हमें फॉरगेट एन्ड फॉरगिव, आपस में भूलो और माफ करो और आगे बढ़ो की भावना के साथ डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई में लगना है.'

  • सुलह के बाद भी राजस्थान कांग्रेस में 'सब कुछ ठीक' नहीं! क्या आज होगी पायलट-गहलोत की मुलाकात?

    सुलह के बाद भी राजस्थान कांग्रेस में 'सब कुछ ठीक' नहीं! क्या आज होगी पायलट-गहलोत की मुलाकात?

    सचिन पायलट और उनके समर्थन में उतरे 18 बागी विधायकों ने सोमवार को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मिलकर अपनी बात रखी थी और सुलह कर लिया था, इसके बाद ये सभी लोग राजस्थान लौट आए हैं. हालांकि, उन्हें लौटे हुए 48 घंटों से ज्यादा का वक्त हो गया है लेकिन अभी तक न ही उनसे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुलाकात की है, न ही नए प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने.

  • पंजाब सरकार की बड़ी पहल, सरकारी स्कूलों के 12वीं क्लास के छात्रों को स्मार्टफोन देने की शुरुआत की

    पंजाब सरकार की बड़ी पहल, सरकारी स्कूलों के 12वीं क्लास के छात्रों को स्मार्टफोन देने की शुरुआत की

    पंजाब सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 12वीं क्लास के छात्रों को स्मार्टफोन देना शुरू कर दिया है. इस पहल के तहत 1.73 लाख छात्रों को स्मार्टफोन दिए जा रहे हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने  ट्वीट करके बताया था कि राज्य सरकार अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस पर 1.73 लाख स्मार्टफोन बांटना शुरू करेगी.

  • कांग्रेस सांसद ने CM अमरिंदर सिंह पर साधा निशाना, बोले- मानसिक संतुलन खो चुके हैं मुख्यमंत्री

    कांग्रेस सांसद ने CM अमरिंदर सिंह पर साधा निशाना, बोले- मानसिक संतुलन खो चुके हैं मुख्यमंत्री

    कांग्रेस सांसद प्रताप सिंह बाजवा (Pratap Singh Bajwa) ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं क्योंकि उनकी अपनी पार्टी के नेताओं द्वारा हादसे में 121 मौतों पर सवाल उठाया गया था. न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में उन्होंने कहा, 'हमारे (सांसद प्रताप सिंह बाजवा और सांसद शमशेर सिंह दुल्लो) 121 मौतों पर सवाल पूछने के बाद कैप्टन साहब अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं.'

  • CM योगी ने किया अस्पताल का दौरा, बोले- यूपी में COVID-19 मरीजों के लिए 1.51 लाख से ज्यादा बेड उपलब्ध

    CM योगी ने किया अस्पताल का दौरा, बोले- यूपी में COVID-19 मरीजों के लिए 1.51 लाख से ज्यादा बेड उपलब्ध

    मुख्यमंत्री ने बताया कि इस समय राज्य में कोविड-19 मरीजों के लिए 1.51 लाख से अधिक बिस्तर उपलब्ध हैं. जिन मरीजों में कोई लक्षण नहीं हैं, उन्हें घर पर पृथकवास में भेजा जा सकता है, लेकिन हमें याद रखना चाहिए कि अगर घर पर शौचालय सहित पृथक कमरा नहीं है तो मरीज को कोविड-19 अस्पताल जाना चाहिए.

  • राजस्थान :  विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले CM गहलोत ने Tweet कर जताई ये उम्मीद

    राजस्थान :  विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले CM गहलोत ने Tweet कर जताई ये उम्मीद

    Rajasthan Crisis: मुख्यमंत्री गहलोत ने बुधवार को अपने ट्वीट में लिखा- "विधानसभा 14 अगस्त से शुरू हो रही है, मुझे उम्मीद है कि सत्र के दौरान हम राज्य में कोरोना की स्थिति और लॉकडाउन के बाद में आर्थिक रूप से जो स्थिति बनी है, उसे लेकर खुलकर चर्चा करने में सक्षम होंगे."

  • सुशांत सिंह राजपूत केस में शरद पवार मुंबई पुलिस के साथ, ठाकरे परिवार को मिली राहत

    सुशांत सिंह राजपूत केस में शरद पवार मुंबई पुलिस के साथ, ठाकरे परिवार को मिली राहत

    अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के केस की जांच कर रही मुंबई पुलिस (Mumbai Police) सवालों के घेरे में है. सुशांत के पिता ने साफ कह दिया है कि उन्हें मुंबई पुलिस पर भरोसा नहीं है. बिहार सरकार (Bihar Government) पहले ही जांच सीबीआई (CBI) को दे चुकी है. जांच के अधिकार को लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट में है. ऐसे में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) का खुलकर मुंबई पुलिस पर भरोसा जताना, मुंबई पुलिस ही नहीं राज्य सरकार के लिए भी बड़ी राहत है. खासकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनके परिवार के लिए.

  • LJP के बयानों पर JDU सांसद ललन सिंह ने कहा- कालिदास उसी डाल को काटने लगे जिस पर बैठे थे

    LJP के बयानों पर JDU सांसद ललन सिंह ने कहा- कालिदास उसी डाल को काटने लगे जिस पर बैठे थे

    लोकसभा में जेडीयू (JDU) संसदीय दल के नेता और मुंगेर के सांसद राजीव रंजन सिंह (Rajeev Ranjan Singh) उर्फ ललन सिंह ने लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के बयानों पर मीडिया से कहा कि वे क्या कहते हैं, ये वे ही जानें. एक कालीदास भी थे जिनके लिए प्रसिद्ध है कि जिस डाल पर बैठे थे उसी को काटने लगे. जहां तक कोरोना का प्रश्न है तो इस मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) बहुत ही सेंसेटिव हैं और आज की तारीख में बिहार में प्रतिदिन लगभग 83 हजार टेस्ट हो रहे हैं. इसे अगले तीन दिनों में एक लाख करने का लक्ष्य है. कल हुए 83 हजार टेस्ट में मात्र 3 हजार 771 पॉजिटिव पाए गए जो कि जांच का 5 प्रतिशत से भी कम है. बिहार का रिकवरी रेट भी लगभग 66% है.

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com