NDTV Khabar

मॉब लिंचिंग


'मॉब लिंचिंग' - 117 न्यूज़ रिजल्ट्स

  • तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार पर तंज: मॉब लिंचिंग न रोक सकने वाला शासक बहादुर होता है?

    तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार पर तंज: मॉब लिंचिंग न रोक सकने वाला शासक बहादुर होता है?

    इसके अलावा सोमवार को भी बिहार में कानून-व्यवस्था को लेकर तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने ट्वीट किया था, 'बिहार की असंवेदनशील नीतीश सरकार पूरी तरह से निरंकुशता की ओर बढ़ चली है. किसानों को चौतरफा मार दी जा रही है. खाद उपलब्ध नहीं है. जो है उसमें खाद की काला बाजारी हो रही है. धान की खरीद अभी तक नहीं की गई है. मोदी जी और नीतीश जी केवल झूठ के सहारे अपनी नाकामी छुपा रहे है.' एक अन्य ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा है, 'मोदी जी किसानों के साथ किस बात का बदला ले रहे है? किसानों की कर्जमाफी और आय बढ़ाने के लिए क्या किया? नीतीश जी बताएं धान की खरीद क्यों नहीं हो रही? खाद की उपलब्धता क्यों नहीं है? खाद की कालाबाजारी क्यों हो रही है? सुखा पीड़ित किसानों को राहत पैकेज कब मिलेगा? जवाब दीजिए.'

  • लालू यादव ने बीजेपी को लिया आड़े हाथों, लोगों से की अपील - अपने बच्चों को जुमलेबाजों और नफरत की राजनीति करने वालों से बचाएं 

    लालू यादव ने बीजेपी को लिया आड़े हाथों, लोगों से की अपील - अपने बच्चों को जुमलेबाजों और नफरत की राजनीति करने वालों से बचाएं 

    आरजेडी के प्रमुख दिसंबर 2017 से ही सक्रिय राजनीति से दूर हैं. और फिलहाल चारा घोटाला मामले में रांची की एक जेल में सजा काट रहे हैं. हालांकि वह इस दौरान ट्विटर पर अपनी बात साझा करते रहते हैं. लालू प्रसाद यादव की यह अपील बीते कुछ समय से हिंदी भाषी प्रदेश में हो रही मॉब लिंचिंग और गौ रक्षक द्वारा की गई हिंसा जैसी घटनाओं के बाद आई है.

  • कबूतर चोरी की शिकायत की, तो भीड़ ने 70 साल के बुजुर्ग को कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डाला

    कबूतर चोरी की शिकायत की, तो भीड़ ने 70 साल के बुजुर्ग को कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डाला

    महाराष्ट्र में भीड़ द्वारा कथित रूप से पीट-पीटकर एक बुजुर्ग की हत्या (मॉब लिंचिंग) का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि पालघर जिले के वसई में नौ लोगों ने 70 वर्षीय एक बुजुर्ग की कथित रूप से सिर्फ इसलिये पीट-पीटकर हत्या कर दी, क्योंकि बुजुर्ग ने इन लोगों के खिलाफ चोरी की शिकायत दर्ज करायी थी. 

  • बिहार में बीजेपी के सत्ता में सहयोगी बनने के बाद से मॉब लिंचिंग की घटनाएं बढ़ीं : तेजस्वी यादव

    बिहार में बीजेपी के सत्ता में सहयोगी बनने के बाद से मॉब लिंचिंग की घटनाएं बढ़ीं : तेजस्वी यादव

    आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि जब से बिहार की सत्ता में बीजेपी आई है, यहां मॉब लिंचिंग की घटनाएं बढ़ गई हैं. बिहार में पिछले एक हफ्ते के दौरान मॉब लिंचिंग की दो घटनाएं हुई हैं.

  • टॉप 5 न्यूजः बिहार में भीड़ ने बुजुर्ग को पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, शिवसेना ने साधा BJP पर निशाना

    टॉप 5 न्यूजः बिहार में भीड़ ने बुजुर्ग को पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, शिवसेना ने साधा BJP पर निशाना

    बिहार (Bihar) के अररिया जिले में एक बुजर्ग की पीट-पीटकर हत्या कर देने का मामला सामने आया है.दिन भर की पांच प्रमुख खबरें पढ़ें एक साथ

  • PM मोदी ने राम मंदिर, सर्जिकल स्ट्राइक, चुनावी हार समेत कई मुद्दों पर की बात -Interview की 10 खास बातें...

    PM मोदी ने राम मंदिर, सर्जिकल स्ट्राइक, चुनावी हार समेत कई मुद्दों पर की बात -Interview की 10 खास बातें...

    चुनावी साल 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi Interview)ने समाचार एजेंसी ANI को दिए 95 मिनट के इंटरव्यू में कई मुद्दों पर बात की. इसमें राम मंदिर (Ram Temple), RBI बनाम सरकार, नोटबंदी (Demonetisation), जीएसटी (GST), मॉब लिंचिंग (Mob Lynching), तीन राज्यों में BJP की हार, कांग्रेस द्वारा की गई किसानों की कर्जमाफी, सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike), सीमापार आतंकवाद (Cross Border Terrorism) प्रमुख रूप से शामिल रहे. पीएम मोदी ने कहा कि हमारे लिए साल 2018 बेहद सफल रहा. साल के अंत में 5 राज्यों में चुनावी हार से मोदी लहर खत्म होने की बात को भी उन्होंने खारिज कर दिया. पीएम ने कहा कि हमनें कोई भी ऐसा कार्य नहीं किया है, जिससे देश की जनता हमारी सरकार से दूर जाने की कोशिश करे, मेरा देश की जनता जनार्दन और देश के युवाओं पर पूरा भरोसा है. पीएम ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सबका साथ-सबका विकास के मंत्र को लेकर के जनविश्वास को जीतते हुए प्रगति कर रही है और पूरे आत्म विश्वास से आगे बढ़ रही है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने पर फैसला न्यायिक प्रक्रिया के पूरा होने के बाद ही लिया जाएगा. आइये जानते पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें...

  • झारखंडः हत्या कर पेड़ पर लटकाने वाले कथित गौरक्षकों को मिली उम्रकैद तो क्या बोले परिजन ?

    झारखंडः हत्या कर पेड़ पर लटकाने वाले कथित गौरक्षकों को मिली उम्रकैद तो क्या बोले परिजन ?

    मार्च 2016 में गाय के नाम पर झारखंड के लातेहार जिले में परिवार के दो लोगों को मार दिया गया था. तथाकथित गौरक्षकों ने मारने के बाद इन दोनों का शव पेड़ से लटका दिया था.

  • बुलंदशहर हिंसा: गोकशी के आरोप में गिरफ्तारी पर उठे सवाल, जिनके नाम FIR में नहीं उन्हें किया अरेस्ट

    बुलंदशहर हिंसा: गोकशी के आरोप में गिरफ्तारी पर उठे सवाल, जिनके नाम FIR में नहीं उन्हें किया अरेस्ट

    गोकशी के मामले में बुधवार सुबह पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया. सरफुद्दीन का नाम एफआईआर में था, जो गारमेंट का काम करते हैं. सरफुद्दीन के परिवार का दावा है कि जिस दिन गांव में गोवंश के अवशेष मिले थे, उस दिन वह वहां से 40 किलोमीटर दूर इज्तिमा में थे. उनके भाई मोहम्मद हुसैन का कहना है, 'वह उस दिन इज्तिमा में थे और उनकी पार्किंग में ड्यूटी लगी हुई थी. मेरे पास सबूत हैं कि वह उस दिन वहां नहीं था. उसकी जीपीएस लोकेशन ट्रैक की जा सकती है और यह जांचा जा सकता है कि वह महाव में उस दिन थे या नहीं.'

  • क्या सुलझेगी इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या की गुत्थी? 10 प्वाइंट में जानें बुलंदशहर मामले में अब तक क्या हुआ

    क्या सुलझेगी इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या की गुत्थी? 10 प्वाइंट में जानें बुलंदशहर मामले में अब तक क्या हुआ

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर (Bulandshahr mob violence) में बीते सोमवार को गोकशी के शक में भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का मामला अभी भी नहीं सुलझ पाया है. हालांकि, इंस्पेक्टर की हत्या का मुख्य संदिग्ध आर्मी जवान जीतू फौजी (Jitu Fauji) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा. मगर जीतू ने हत्या करने की बात से साफ तौर पर इनकार कर दिया है. बताया जा रहा है कि सेना ने जीतू को रात करीब साढ़े बारह बजे पुलिस के हवाले कर दिया. एनडीटीवी से सूत्रों ने कहा कि वह पिछले 36 घंटे से पुलिस की रडार पर था. पुलिस की हिरासत में जीतू से पुछताछ हुई. पुलिस के सामने जीतू ने स्वीकार किया है कि वह भीड़ का हिस्सा था. दरअसल, बुलंदशहर में गोकशी के शक में भड़की हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई थी, जिनमें एक पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह थे और एक सुमित नाम का युवक था. चलिए अब तक इस मामले में क्या-क्या हुआ जानते हैं.

  • Bulandshar Violance: आरोपी जीतू फौजी के बचाव में उतरा भाई, कहा- साजिश के तहत फंसाया जा रहा  

    Bulandshar Violance: आरोपी जीतू फौजी के बचाव में उतरा भाई, कहा- साजिश के तहत फंसाया जा रहा  

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr Violence) में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का आरोपी जितेंद्र मलिक (Jitendra malik) उर्फ जीतू फौजी (Jitu Fauji) को हिरासत में ले लिया गया है. बताया जा रहा है कि जीतू फौजी राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात है और हिंसा के दिन मौके पर भी मौजूद था. हालांकि, जीतू के हिरासत की खबर सूत्रों ने दी है. उधर, धर्मेंद्र मलिक (जीतू के भाई) ने ANI से कहा कि उसके भाई को साजिश के तहत फंसाया जा रहा है.

  • उत्तर प्रदेश में कोई मॉब लिंचिंग नहीं, बुलंदशहर की घटना एक 'दुर्घटना': योगी आदित्यनाथ

    उत्तर प्रदेश में कोई मॉब लिंचिंग नहीं, बुलंदशहर की घटना एक 'दुर्घटना': योगी आदित्यनाथ

    उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में बीते दिनों हुई घटना को भीड़ की हिंसा यानी मॉब लिंचिंग की घटना मानने से यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इनकार कर दिया है. बुलंदशहर हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या पर शुक्रवार को चुप्पी तोड़ते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहर की घटना को महज एक दुर्घटना करार दिया. बता दें कि बुलंदशहर में गोकशी के शक में भड़की भीड़ की हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक आम युवक सुमित की जान चली गई थी. 

  • बुलंदशहर हिंसा में आर्मी जवान पर इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का शक, पुलिस की दो टीमें जम्मू-कश्मीर रवाना: सूत्र

    बुलंदशहर हिंसा में आर्मी जवान पर इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का शक, पुलिस की दो टीमें जम्मू-कश्मीर रवाना: सूत्र

    यूपी के बुलंदशहर भीड़ हिंसा मामले में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या को लेकर अब बड़ी खबर आई है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बुलंदशहर हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या जीतू उर्फ फौजी की गोली से हुई है. बताया जा रहा है कि छुट्टी पर जम्मू-कश्मीर से घर आया था फौजी. 

  • इंस्‍पेक्‍टर सुबोध कुमार सिंह के नाम रवीश कुमार का पत्र

    इंस्‍पेक्‍टर सुबोध कुमार सिंह के नाम रवीश कुमार का पत्र

    इस वक्त नयाबास और चिंगरावठी गांव के पिता असहाय और अकेला महसूस कर रहे होंगे. कोई पिता नहीं चाहता है कि उसके बेटे का नाम हत्या के आरोप में आए. रातों रात हत्या के आरोपी बन चुके अपने बच्चों को लेकर उन्हें कैसे-कैसे सपने आते होंगे. मैं यह सोच कर कांप जा रहा हूं.

  • बुलंदशहर: हिंसा वाले दिन घटनास्थल से 100 मीटर दूर स्कूल में बच्चों को समय से पहले दिया गया था मिड डे मील, शिक्षक बोले- घर भेजने का मिला था आदेश

    बुलंदशहर: हिंसा वाले दिन घटनास्थल से 100 मीटर दूर स्कूल में बच्चों को समय से पहले दिया गया था मिड डे मील, शिक्षक बोले- घर भेजने का मिला था आदेश

    स्कूल में रसोइये और मिड डे मील परोसने वाले राजपाल सिंह ने कहा, ‘उस दिन, हमें भोजन जल्द बांटने और बच्चों को घर भेजने के आदेश मिले थे.’ इस स्कूल में प्राथमिक कक्षाओं के 107 और जूनियर माध्यमिक के 66 बच्चें हैं. स्कूल सुबह नौ बजे शुरू होकर दोपहर तीन बजे तक चलता है. प्राथमिक स्कूल के शिक्षक प्रभारी देशराज सिंह ने बताया, 'बच्चों को भोजन खिलाये जाने के बाद, उन्हें तुरंत घर भेज दिया गया.’

  • VIDEO : बंदूक छीनो...मारो...मारो - बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या से पहले का वीडियो वायरल

    VIDEO :  बंदूक छीनो...मारो...मारो - बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या से पहले का वीडियो वायरल

    बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr Violence)  से जुड़ा एक कथित वीडियो वायरल हुआ है. मोबाइल से बनाया गया यह सिर्फ तीन मिनट का वीडियो है. जिसमें खुलेआम भीड़ उत्पात करते हुए दिख रही है. पथराव करती हुई भीड़...मारो-मारो की आवाज लगा रही है. पथराव करती इसी भीड़ में सुमित नामक युवक भी शुमार दिख रहा है,

  • NDTV Exclusive: सुबोध कुमार सिंह के बेटे ने कहा- प्लीज बंद कीजिए हिंदू-मुस्लिम वायलेंस

    NDTV Exclusive: सुबोध कुमार सिंह के बेटे ने कहा- प्लीज बंद कीजिए हिंदू-मुस्लिम वायलेंस

    बुलंदशहर में हुई हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई. कथित गोकसी को लेकर यह हिंसा हुई. इंस्पेक्टर सिंह के बेटे अभिषेक सिंह से रवीश कुमार ने बातचीत की. अभिषेक का कहना है कि इस मॉब लिंचिंग कल्चर से कुछ हासिल नहीं होने वाला है. यदि हम हिंदू-मुस्लिम के नाम पर आपस में लड़ते रहे तो पाकिस्तान या चीन को कुछ करने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

  • Bulandshahr Violence: बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज ने VIDEO मैसेज जारी कर दी सफाई, कही यह बात...

    Bulandshahr Violence: बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज ने VIDEO मैसेज जारी कर दी सफाई, कही यह बात...

    बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr Violence) के मुख्य आरोपी बताए जा रहे फरार योगेश राज (Yogesh Raj) ने एक वीडियो संदेश जारी कर खुद को बेकसूर बताया है. इस वीडियो में वह ये कहता दिख रहा है कि उसे इस तरह से पेश किया जा रहा है जैसे उसका लंबा आपराधिक रिकॉर्ड रहा हो. उसका कहना है कि जिस हिंसा में इंस्पेक्टर की मौत हुई वह वहां माजूद ही नहीं था. 

  • बुलंदशहर हिंसा पर NDTV की पड़ताल: क्या है गोकशी की FIR की हकीकत, 7 में से 6 नाम निकले बोगस

    बुलंदशहर हिंसा पर NDTV की पड़ताल: क्या है गोकशी की FIR की हकीकत, 7 में से 6 नाम निकले बोगस

    गोकशी मामले में दर्ज कराई गई एफआईआर में सात लोगों को नामजद किया गया है. एनडीटीवी ने इस एफआईआर की पड़ताल की. पड़ताल में सामने आया कि सात में से छह नाम बोगस हैं. हमने ये जानने की कोशिश की है कि जो गोकशी के लिए सात लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर लिखी गई है सभी नयाबांस गांव के हैं? ये बात तो साफ हो गई कि सात में से दो नाबालिग बच्चे हैं तो बाकि पांच नाम कौन हैं?

Advertisement